शीर्ष पर पहुंचने की जंग में एक दूसरे का सामना करेंगे चेन्नई और दिल्ली - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 4 अक्तूबर 2021

शीर्ष पर पहुंचने की जंग में एक दूसरे का सामना करेंगे चेन्नई और दिल्ली

delhi-chennai-fight-for-top
दुबई, तीन अक्टूबर, दोनों टीमें प्लेऑफ में अपनी जगह पक्की कर चुकी हैं लेकिन चेन्नई सुपर किंग्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच सोमवार को यहां होने वाला मैच बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे काफी हद तक यह तय हो जाएगा कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में कौन सी टीम शीर्ष पर रहकर आगे बढ़ेगी। चेन्नई शीर्ष स्थान की इस जंग में पिछले मैच में मिली हार से उबरकर दिल्ली का सामना करेगा। इन दोनों टीमों ने इस आईपीएल में अब तक दबदबा बनाये रखा है और ऐसे में यह मैच बेहद रोमांचक होने की संभावना है। यूएई चरण में दोनों टीमों ने अब तक एक-एक मैच गंवाये हैं और उनकी निगाह अब शीर्ष दो स्थान पर रहना है जिससे उन्हें फाइनल में पहुंचने के दो मौके मिलें। पिछले सत्र में निराशाजनक प्रदर्शन करने वाली चेन्नई की टीम ने इस बार पासा पलटा और वह प्लेऑफ में जगह बनाने वाली पहली टीम बनी। महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली टीम को हालांकि शनिवार को राजस्थान रॉयल्स के शानदार प्रदर्शन के कारण हार झेलनी पड़ी। चेन्नई ने चार विकेट पर 189 रन बनाये लेकिन यशस्वी जायसवाल और शिवम दुबे की शानदार पारियों से वह इस मजबूत स्कोर का बचाव नहीं कर पाया। रॉयल्स ने 17.3 ओवर में जीत दर्ज कर दी। यह यूएई में उसकी पहली हार और 12 मैचों में कुल तीसरी पराजय है। उसके अब दिल्ली के समान 12 मैचों में 18 अंक हैं लेकिन बेहतर रन गति के कारण धोनी की टीम शीर्ष पर बनी हुई है। अभी रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के पास भी शीर्ष दो में पहुंचने का मौका है और ऐसे में चेन्नई और दिल्ली इस मैच में किसी तरह की ढिलायी नहीं बरतना चाहेंगे।


इस सत्र में चेन्नई की बल्लेबाजी शानदार रही है। रुतुराज गायकवाड़ ने अब तक शानदार प्रदर्शन करके सर्वाधिक 508 रन बनाये हैं। रॉयल्स के खिलाफ भी उन्होंने 60 गेंदों पर नाबाद 101 रन बनाये। उनकी टीम भले ही मैच हार गयी लेकिन दिल्ली को गायकवाड़ से सतर्क रहने की जरूरत होगी। उनके अलावा फाफ डु प्लेसी, मोईन अली, अंबाती रायुडु और रविंद्र जडेजा ने भी अच्छा प्रदर्शन किया। धोनी फिर से पुराने रंग में लौटते हुए दिख रहे हैं। रॉयल्स के खिलाफ मैच को छोड़ दिया जाए तो चेन्नई के गेंदबाजों – तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड, दीपक चाहर, ड्वेन ब्रावो और शार्दुल ठाकुर तथा स्पिनर जडेजा और मोईन ने अच्छा प्रदर्शन किया है। रॉयल्स के खिलाफ हालांकि ठाकुर को छोड़कर उसका कोई भी गेंदबाज नहीं चल पाया। उसके गेंदबाज दिल्ली के खिलाफ ऐसी किसी ढिलायी से बचना चाहेंगे। ऋषभ पंत की अगुवाई में दिल्ली की टीम इस बार खिताब जीतने के लिये प्रतिबद्ध दिखती है। वह पिछली बार उप विजेता रही थी। कोलकाता नाइट राइडर्स से हार के बाद दिल्ली ने मौजूदा चैंपियन मुंबई इंडियन्स पर चार विकेट से जीत दर्ज करके अच्छी वापसी की थी। पिछले दो मैचों में हालांकि दिल्ली के बल्लेबाज संघर्ष करते हुए नजर आये। पिछले मैच में पंत और श्रेयस अय्यर की पारियों से टीम जीत दर्ज कर पायी लेकिन अन्य बल्लेबाजों को भी योगदान देने की जरूरत है। दुबई में हालांकि स्ट्रोक खेलना आसान होगा और ऐसे में शिखर धवन, स्टीव स्मिथ और पृथ्वी सॉव से अच्छी पारियों की उम्मीद की जा सकती है। दिल्ली का गेंदबाजी आक्रमण मजबूत है जिसमें कैगिसो रबाडा, एनरिच नोर्किया और रविचंद्रन अश्विन जैसे गेंदबाज हैं जो चेन्नई के बल्लेबाजों की कड़ी परीक्षा ले सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: