जीत के साथ सीधे फाइनल में पहुंचना चाहेंगे दिल्ली और चेन्नई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 10 अक्तूबर 2021

जीत के साथ सीधे फाइनल में पहुंचना चाहेंगे दिल्ली और चेन्नई

delhi-chennai-wants-to-enter-final
दुबई, 09 अक्टूबर, आईपीएल के मौजूदा 2021 सीजन की पहले और दूसरे नंबर की टीमें क्रमश: दिल्ली कैपिटल्स (डीसी) और चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) यहां रविवार को पहले क्वालीफायर मुकाबले में जीत के साथ सीधे फाइनल में पहुंचना चाहेंगे। गुरु महेंद्र सिंह धोनी के सामने उनके चेले ऋषभ पंत होंगे, जिन्होंने इस सीजन अब तक बहुत अच्छी कप्तानी की है। दोनों टीमों के पास बेशक हार के बाद भी एक अतिरिक्त मौका होगा, लेकिन दोनों टीमों की नजरें जीत और जोश के साथ फाइनल में पहुंचने पर होंगी। चेन्नई की टीम इस जीत के साथ नौंवी बार आईपीएल का फाइनल खेलेगी, जबकि दिल्ली कैपिटल्स का यह दूसरा फाइनल होगा। आंकड़ों की बात करें तो सीएसके 10 बार प्लेआॅफ और आठ बार फाइनल में पहुंचा है। उसने तीन बार खिताब जीता है और पांच बार रनर अप रहा है। वहीं दिल्ली कैपिटल्स पांच बार प्लेऑफ में पहुंचा है, जबकि एक ही बार फाइनल खेला है और उसमें भी रनर अप रहा है।इसमें कोई दो राय नहीं है कि दोनों ही टीमों ने इस सीजन अच्छा क्रिकेट खेला है, खास कर दिल्ली का यूएई में दूसरा चरण बहुत अच्छा रहा है। चेन्नई का भी दूसरा सीजन अच्छा जा रहा था, लेकिन पिछले तीन मैचों में हार का असर कहीं न कहीं उसके आत्मविश्वास पर पड़ेगा, हालांकि चेन्नई मजबूत वापसी के लिए जाना जाता है, क्योंकि उसके पास बिग मैच प्लेयर हैं जो बड़े मौकों पर विपक्षी टीमों पर बेहद हावी होते हैं। दिल्ली की मजबूत कड़ी उसकी गेंदबाजी है। उसकी बल्लेबाजी भी अच्छी है, लेकिन अधिकतर मैचों में जीत उसके गेंदबाजों की अच्छी गेंदबाजी की बदौलत आई है। एनरिक नॉर्त्जे, कैगिसो रबादा, आवेश खान और अक्षर पटेल सभी गेंदबाज घातक गेंदबाजी कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर बल्लेबाजी में शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, श्रेयस अय्यर, शिमरन हेत्मायर और खुद कप्तान ऋषभ पंत अच्छी पारियां खेल रहे हैं। चेन्नई की बात करें ताे उसका टॉप ऑर्डर कहर बरपा रहा है। विशेषतौर पर रुतुराज गायकवाड़ अलग ही लय में दिख रहे हैं और अनुभवी फाफ डु प्लेसिस उनका साथ बखूबी निभा रहे हैं। दूसरे चरण के लगभग सभी मैचों में दोनों सलामी बल्लेबाजों ने अच्छी और आक्रामक शुरुआत दी है। डु प्लेसिस जहां 14 मैचों में 546 रन बनाकर इस सीजन सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में दूसरे, वहीं रुतुराज 14 मैचों में 533 रनों के साथ चौथे स्थान पर हैं। गेंदबाजी में ड्वेन ब्रावो, जॉश हेजलवुड, शार्दुल ठाकुर, दीपक चाहर और रवींद्र जडेजा अच्छा कर रहे हैं। डु प्लेसिस ने पांच अर्धशतक जड़े हैं, जबकि रुतुराज ने तीन अर्धशतक और एक शतक लगाया है। दोनों टीमों के लिए क्वालीफायर मुकाबले में जीत उनकी फाइनल में जगह सुनिश्चित करेगी, हालांकि हार के बावजूद उन्हें फाइनल में पहुंचने का एक और मौका मिलेगा। हारने वाली टीम को शारजाह में सोमवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच खेले जाने वाले एलिमिनेटर मुकाबले के विजेता का सामना करना होगा। 

कोई टिप्पणी नहीं: