बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ हिंसा के लिए जिम्मेदार मुख्य संदिग्ध गिरफ्तार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 22 अक्तूबर 2021

बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ हिंसा के लिए जिम्मेदार मुख्य संदिग्ध गिरफ्तार

durgapuja-riot-accused-arrest-in-bangladesh
ढाका, 22 अक्टूबर, बांग्लादेश में दुर्गा पूजा उत्सव के दौरान हिंदुओं के खिलाफ हिंसा की हाल की घटनाओं में एक अहम संदिग्ध माने जा रहे 35 साल के एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया है। मीडिया में आयी रिपोर्टों में शुक्रवार को यह जानकारी दी गयी। ‘बीडीन्यूज24 डॉट कॉम’ की खबर के मुताबिक, इकबाल हुसैन को बृहस्पतिवार रात को कॉक्स बाजार से गिरफ्तार कर लिया गया। उस पर कोमिल्ला में एक दुर्गा पूजा स्थल पर कुरान की प्रति कथित तौर पर रखने का संदेह है। बांग्लादेश में दुर्गा पूजा उत्सवों के दौरान सोशल मीडिया पर कथित ईशनिंदा वाली पोस्ट के बाद गत बुधवार से मंदिरों पर हमलों की घटनाएं देखी जा रही हैं। रविवार देर रात को एक भीड़ ने 66 मकान क्षतिग्रस्त कर दिए और कम से कम 20 मकानों को फूंक दिया। कॉक्स बाजार के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रफीकुल इस्लाम ने बताया कि इकबाल को बृहस्पतिवार रात करीब दस बजे कॉक्स बाजार समुद्र तट से गिरफ्तार किया गया। गृह मंत्री असदुज्जमान खान कमाल ने इस गिरफ्तारी की पुष्टि की है। पुलिस ने बुधवार को बताया कि उन्होंने 13 अक्टूबर को शहर के नानुआ दिघिर पार में पूजा स्थल पर ‘कुरान की प्रति रखने’ वाले व्यक्ति की सीसीटीवी फुटेज से पहचान कर ली है। ढाका ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक, पुलिस ने गिरफ्तारी के अलावा और कोई जानकारी नहीं दी है। हुसैन के परिवार के सदस्यों ने दावा किया कि उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है और किसी ने इसका फायदा उठाकर उससे कुरान रखवाई होगी। खबर में बताया गया कि देशभर में फैली साम्प्रदायिक हिंसा में सात लोगों की मौत हो गयी और हिंदू समुदाय के कई मकानों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों को नुकसान पहुंचाया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: