बिहार : जब मुखियाजी हार को नहीं पचा पाएं - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 15 अक्तूबर 2021

बिहार : जब मुखियाजी हार को नहीं पचा पाएं

loosing-mukhiya-bihar
फतेहपुर. बिहार के गया जिले में पंचायत चुनाव  24 सितंबर से 08 दिसंबर तक 10 चरणों में संपन्न किया जाएगा. गया जिले के प्रथम चरण में 24 सितंबर को बेलागंज एवं खिजरसराय प्रखंड में, दूसरा चरण में 29 सितम्बर को टिकारी एवं गुरारू प्रखंड में और तीसरा चरण में 8 अक्टूबर को मोहड़ा, अतरी एवं नीमचक बथानी में पंचायत चुनाव हुआ.चौथा चरण में 20 अक्टूबर को कोंच एवं गुरुआ में पंचायत चुनाव होगा.चुनाव की तैयारी को लेकर जिला प्रशासन कार्य में तेजी से जुट गई है. गया जिले में पंचायत चुनाव में हारे हुए प्रत्याशी अपनी हार नहीं पचा पा रहे हैं.इसी के चलते हारने के बाद एक मुखिया प्रत्याशी ने जेसीबी से सड़क खोदकर दस फीट गड्ढा कर दिया. जिससे लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.एक नहीं पांच-छह गांव के लोग परेशान हैं. दरअसल तीसरे चरण में मोहड़ा, नीमचक बथानी और अतरी के लिए 8 अक्टूबर को मतदान था. मोहड़ा प्रखंड के तेतर पंचायत में मुखिया पद के लिए 16 उम्मीदवार चुनाव में खड़े थे. जिसमें से एक नाम चरवारा गांव के धीरेंद्र कुमार का भी था. जिसका परिणाम 10 अक्टूबर को सामने आया था. चुनाव परिणाम घोषित हुआ तो धीरेंद्र कुमार 341 मत प्राप्त कर बुरी तरह से हार गए. वहीं, पूर्व मुखिया चुन्नु सिंह की पत्नी शिल्पी सिंह भी खड़ी थी. जहां वो 1646 मतों से विजयी हुई.इस पंचायत से पूर्व मुखिया शिल्पी सिंह भी चुनाव लड़ी थीं. इस बार ग्रामीणों ने दोबारा उन्हें ही मुखिया बनाया है. इस हार से बौखलाए मुखिया प्रत्याशी धीरेंद्र यादव ने सोमवार की दोपहर चरवारा गांव से होकर गुजरने वाली कच्ची सड़क को जेसीबी से करीब दस फीट की दूरी तक खोद दिया. अब इस कारण आधा दर्जन गांव के लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.यह सड़क से चरवारा, जमुनापर, नाओड़िहा, सोहाडी, सीतारामपुर गांव को जोड़ती है.जानकारी के मुताबिक सड़क बनाने के लिए उसी प्रत्याशी ने जमीन दी थी जिनकी हार हो गई. उनका मानना था कि लोगों को सुविधा होगी तो वोट भी देंगे, लेकिन पंचायत चुनाव के परिणाम आए तो मुखिया प्रत्याशी की हार हो गई. जिसके बाद समर्थकों को साथ ले हारे हुए मुखिया प्रत्याशी ने सड़क पर गड्ढा कर दिया. इसी बीच बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राजगीर से सड़क मार्ग होते हुए गया पहुंचे थे. जहां आक्रोशित लोगों ने सीएम के काफिला के सामने प्रदर्शन कर विरोध जताया. साथ ही मुखिया प्रत्याशी और उसके सर्मथकों पर कार्रवाई करने की मांग की.


स्थानीय ग्रामीणों ने थाने में इसकी शिकायत की है और प्रसाशनिक अधिकारियों को भी इसके बारे में बाताया लेकिन किसी ने निरीक्षण नहीं किया है. इस मामले में तेतर पंचायत से नवनिर्वाचित मुखिया शिल्पी सिंह ने बताया कि इसकी सूचना स्थानीय थाने को दी गई है. अभी तक संज्ञान नहीं लिया गया है.बताया कि पंचायत के नवडीहा गांव के अवधेश यादव व उनके साथ जा रहे लोगों के साथ ऐर गांव के समीप दर्जनों लोगों ने मिल मारपीट की है और गुजरने वाले लोगों को धमकी भी दी है। चौथा चरण में 20 अक्टूबर को कोंच एवं गुरुआ में पंचायत चुनाव होगा.चुनाव की तैयारी को लेकर जिला प्रशासन कार्य में तेजी से जुट गई है.पंचायत आम निर्वाचन 2021 का सफल संचालन को लेकर मतदान पदाधिकारी व चुनाव कर्मियों का मंगलवार से गया कॉलेज के मुंशी प्रेमचंद सभागार में प्रशिक्षण कैम्प का आयोजन किया गया है.इस अवसर पर डीडीसी सुमन कुमार ने कहा कि सरपंच एवं पंच पद का चुनाव बैलट बॉक्स से किया जाएगा.इसके अलावा अन्य चार पद यथा ग्राम पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत मुखिया, पंचायत समिति सदस्य एवं जिला परिषद सदस्य का चुनाव ईवीएम मशीन से कराया जाएगा.प्रशिक्षण सत्र में उन्होंने कहा कि चुनाव में प्रशिक्षण का काफी महत्व है.मतदान कर्मी यदि अच्छे से प्रशिक्षित हो जाएंगे तो पंचायत चुनाव कराना आसान हो जाएगा. जिला पंचायत राज पदाधिकारी सुनील कुमार ने कहा कि पंचायत चुनाव को लेकर राज्य चुनाव आयोग की ओर से जो भी गाइडलाइन जारी किया गया है.उसके अनुसार ही प्रशिक्षण में बातें बताई जाएगी.सभी मास्टर ट्रेनर गंभीरता पूर्वक प्रशिक्षण प्राप्त करें तथा चुनाव की तकनीक को अच्छी तरह समझें.पंचायत चुनाव को लेकर शुरू हुआ यह प्रशिक्षण आगे भी जारी रहेगा. इस प्रशिक्षण को 10 सुपर मास्टर ट्रेनर प्रशिक्षण दे रहे हैं.मास्टर ट्रेनरों में प्रमोद कुमार, शशिकांत कुमार, इमरान खान, कृष्ण कुमार शास्त्री, कमलेश कुमार पाठक, कुंदन कुमार, संतोष कुमार, संजय सिंह, डॉ. मुरली मनोहर शामिल हैं.

कोई टिप्पणी नहीं: