आज विश्व मानसिक स्वास्थ दिवस है - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 10 अक्तूबर 2021

आज विश्व मानसिक स्वास्थ दिवस है

mental-health-day
अंबिकापुर।आज विश्व मानसिक स्वास्थ दिवस है। इस  अवसर पर 10 अक्टूबर को नशा मुक्ति सह उपचार केंद्र, मिशन चौक, केदारपुर, अंबिकापुर में जिला मानसिक कार्यक्रम के वी के एन मेडिकल ऑफिसर डॉ रितेश सिंह एवं चिकित्सा मनोवैज्ञानिक सी पी सुमन कुमार द्वारा कार्यक्रम किया गया I


नशा मुक्ति सह उपचार केंद्र में कार्यक्रम इस प्रकार रहा -

1 - पूर्ण रूप से नशा छोड़ चुके रोगी द्वारा नशा मुक्ति केंद्र में नशा करने वाले रोगियों को नशा छोड़ने का तरीका बताया गया एवं उन्होंने क्या क्या तरीका अपनाया उसे वशेष रूप से सबसे साझा किया I

2- मानसिक रोग एवं नशा विषय पर नशा करने वाले रोगियों के बीच वाद विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया I


3- मानसिक रोग, नशा पर जागरूकता –

(A) डॉ रितेश सिंह द्वारा मानसिक रोग, नशा से होने वाले नुकसान, बचने के उपाय के बारे में विस्तार से बताया गया डॉ. रितेश ने बताया की आज के समय में 4 में से 1 व्यक्ति मनोरोग होता है जरुरी है उनका पहचान कर के जल्द से जल्द दवा, थेरेपी एवं काउंसलिंग करवाया जाये I

(B)   चिकित्सा मनोवैज्ञानिक ने रोगियों को क्रेविंग (तड़प) करने में क्या करे एवं नशा मुक्ति केंद्र से जब वापस अपने घर जाये तो क्या क्या सावधानिया अपनाये इसपर विस्तार से प्रकाश डाले, एवं रोगियों रिलैक्सेशन थेरेपी भी करवाया गया I चिकित्सा मनोवैज्ञानिक ने बताया की आबादी का 1 % सिजोफ्रेनिया, 2 % मूड डिसऑर्डर, 5 % ओ सी डी,  10 % अवसाद एवं 20 % एंजायटी जैसे मानसिक रोग पाया जाता है I

(C)   कार्यक्रम में संस्था के कमल अग्रवाल एवं अमित सिंह ने नशे से दूर रहने के टिप्स दिए I


कार्यक्रम में संस्था के वैदिक ठाकुर, विक्टर जॉन, वेदांत, सालिक, मुकेश एवं अन्य स्टाफ मौजूद थे I इससे पूर्व  9 अक्टूबर  को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के आदेशानुसार, नोडल अधिकारी जिला मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम डॉ पी के सिन्हा सर, डी पी एम डॉ पुष्पेंद्र राम सर के मार्गदर्शन में विश्व मानसिक स्वास्थ्य सप्ताह (04-11 October) के अवसर पर चिकित्सा अधिकारी डॉ रितेश सिंह, क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट सी पी सुमन कुमार, साइकेट्रिक नर्स नीतू केशरी, मेडिकल रिकॉर्ड ऑफिसर लकी कल्पना तिर्की द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बंदना ब्लॉक मैनपाट सरगुजा में मानसिक स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया गया जहां कुल 70 मानसिक रोगी की पहचान कर ईलाज किया गया. साथ ही लोगों को पंपलेट बांट कर जागरूकता प्रदान की गई। इस अवसर पर चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रणव ठाकुर,  डॉ मनुप्रताप, RMA दिव्यलोचन, सभी मितानिनों, एवम सभी कर्मचारियों का  सहयोग रहा। वहीं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पी एस सिसोदिया के आदेशानुसार, नोडल अधिकारी जिला मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम डॉ पी के सिन्हा सर, डी पी एम डॉ पुष्पेंद्र राम सर के मार्गदर्शन में विश्व मानसिक स्वास्थ्य सप्ताह (04-11 October) के अवसर पर चिकित्सा अधिकारी डॉ रितेश सिंह, क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट सी पी सुमन कुमार  द्वारा ग्राम पंचायत-बन्दना मैनपाट ब्लॉक सरगुजा में चौपाल कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें मानसिक व शारीरिक परेशानियों और उसके निदान, साथ ही बेहतर मानसिक स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने हेतु रणनीति तैयार किया गया l मानसिक रोग के कारण, लक्षण, भ्रांतियों, और उपचार के बारे में बताया गयाI इस दौरान सभी ग्राम वासियों का सहयोग रहा। दिनांक -08 अक्टूबर को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पी. एस. सिसोदिया के निर्देशानुसार, जिला नोडल अधिकारी  डॉ. पी. के. सिन्हा, डी पी एम् डॉ पुष्पेंद्र राम के मार्गदर्शन में,   वी. के. एन. चिकित्सा अधिकारी डॉ रितेश सिंह, चिकित्सा मनोवैज्ञानिक सी पी सुमन कुमार, साइकियाट्रिक नर्स श्रीमती नीतू केशरी, मेडिकल रिकॉर्ड ऑफिसर लकी कल्पना तिर्की द्वारा एम्. एस. डब्लू. विभाग, होली क्रॉस विमेंस कॉलेज, अंबिकापुर में कार्यक्रम रखा गया।


महाविद्यालय में कार्यक्रम इस प्रकार रहा -

1- जागरूकता कार्यक्रम - डॉ. रितेश सिंह द्वारा मॉनसिक स्वस्थ्य, रोग, ग़लतफ़हमी पर प्रकाश डाला गया I

श्रीमती नीतू केशरी - एंजायटी (चिंता रोग ) पर प्रकाश डाला गया एवं मानसिक रोग होने से क्या करे I

लकी कल्पना तिर्की- स्पर्श क्लिनिक के ओ पी डी के बारे में बताया गया I


2- छात्रों का मनोवैज्ञानिक जाँच- सी पी सुमन कुमार, चिकित्सा मनोवैज्ञानिक द्वारा  -

अ - शेक का वाक्य पूर्ति परिक्षण द्वारा समस्या छेत्र को देखा गया I

आ- हैमिलटन एंजाइटी स्केल द्वारा एंजायटी को जांचा गया I


3- छात्रों द्वारा नाटक का आयोजन - विश्व मानसिक स्वास्थ्य सप्ताह की थीम पर I

4- जैकब्सन प्रोग्रेसिव रिलैक्सेशन थेरेपी - सी पी सुमन कुमार द्वारा I


कार्यक्रम में प्रिंसिपल डॉ सिस्टर शांता जोसेफ, प्राध्यापक डॉ ममता अवस्थी, डॉ सीमा मिश्रा, सहायक प्राध्यापक मिस प्रेरणा लकड़ा, श्रीमती दिव्या सिंह, मिस काजल, उपस्थित थे I कार्यक्रम को प्रिंसिपल ने तहे दिल से सराहा एवं धन्यवाद ज्ञापन की I

कोई टिप्पणी नहीं: