कुलगाम में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में पांच आतंकवादी ढेर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 17 नवंबर 2021

कुलगाम में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में पांच आतंकवादी ढेर

5-terorist-killed-in-kulgaam
श्रीनगर 17 नवंबर, जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में बुधवार शाम दो अलग-अलग मुठभेड़ों में ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ के कमांडर समेत पांच आतंकवादी मारे गये। पुलिस ने बताया कि कुलगाम जिले के पोम्बई और गोपालपोरा गांवों में आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना मिलने पर पुलिस, सेना और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की संयुक्त टीमों ने दो अलग-अलग घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किये। इसी दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गयी। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि दोनों अभियानों में पांच आतंकवादी मारे गये हैं। पहली मुठभेड़ जिले के पोम्बई गांव में हुई। पुलिस के मुताबिक इस मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये। एक घंटे बाद, कुलगाम के ही गोपालपोरा में सुरक्षा बलों के अभियान के दौरान टीआरएफ के एक जिला कमांडर सहित दो आतंकवादी मारे गये। पुलिस ने कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक के हवाले से एक ट्वीट कर कहा, “प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन टीआरफ का कमांडर अफाक सिकंदर मुठभेड़ में मारा गया।” गोपालपोरा मुठभेड़ में मारे गये एक अन्य आतंकवादी की पहचान इरफान लोन के रूप में की गयी है। इससे पहले दिन में उत्तरी कश्मीर के बारामूला जिले में ग्रेनेड हमले में घायल हुए चार लोगों में सीआरपीएफ के दो जवान शामिल थे। पुलिस ने बताया कि पलहालन पट्टन में सुबह करीब 11.30 बजे सीआरपीएफ की एक रोड ओपनिंग पार्टी की ओर ग्रेनेड फेंका गया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि विस्फोट में सीआरपीएफ के दो जवान और दो नागरिक घायल हो गये। सीआरपीएफ के घायल जवानों की पहचान एएसआई अशोक कुमार और हेड कांस्टेबल आशीष दास के रूप में की गयी है। बाद में सुरक्षा बलों ने हमलावरों को पकड़ने के लिए इलाके की घेराबंदी की। इस बीच, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बुधवार को बताया कि उसने लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को गिरफ्तार कर और दोनों के पास से दो शक्तिशाली विस्फोटक उपकरण (आईईडी) बरामद कर एक बड़ी घटना होने से रोक दी। 

कोई टिप्पणी नहीं: