बिहार : एनसीसी के विकास में बिहार सरकार देगा पूर्ण समर्थन : आलोक रंजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 28 नवंबर 2021

बिहार : एनसीसी के विकास में बिहार सरकार देगा पूर्ण समर्थन : आलोक रंजन

bihar-will-suport-ncc-development
पटना : दुनिया का सबसे बड़ा वर्दीधारी युवा संगठन राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) 28 नवंबर' 2021 को अपनी स्थापना की 73वीं वर्षगांठ मना रहा है। इस महत्वपूर्ण अवसर  के सिलसिले में  एल.एस. कॉलेज, मुजफ्फरपुर में एक भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में गार्ड ऑफ ऑनर, ध्वज क्षेत्र प्रदर्शन, सांस्कृतिक नृत्य और ऐच्छिक विषय के रूप में एनसीसी पर वाद विवाद शामिल था। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बिहार के कला,संस्कृति और युवा मामलों के मंत्री आलोक रंजन झा उपस्थित थे। विशिष्ट अतिथि के रूप में कला संस्कृति और युवा मामलों के निदेशक संजय सिन्हा (आईएएस) और एल.एस.कॉलेज के प्राचार्य डॉ ओ.पी.राय भी इस कार्यक्रम में मौजूद थे। बिहार-झारखंड एनसीसी निदेशालय के एडीजी मेजर जनरल एम. इंद्रबालन मुख्य मेजबान थे। इस अवसर पर मंत्री आलोक रंजन ने बिहार के युवाओं के विकास में एनसीसी की भूमिका और बिहार में एनसीसी को लोकप्रिय बनाने और मजबूत करने के लिए एनसीसी निदेशालय द्वारा की गई कई पहलों की सराहना की। उन्होंने एनसीसी के और आगे विकास के लिए अपने विभाग के पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया। मुख्य मेजबान मेजर जनरल इंद्रबालन ने बिहार सरकार की मदद से विकसित एक अनुकूलित ऐप 'नेटसा' के माध्यम से डिजिटल नामांकन को सफलतापूर्वक लागू करने वाले पहले निदेशालय के रूप में बिहार झारखंड एनसीसी निदेशालय की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने एनसीसी और कला, संस्कृति और युवा मामलों के विभाग द्वारा आयोजित आगामी 'पटना हाफ मैराथन' के बारे में भी बताया। एनसीसी दिवस पूरे देश भर में मनाया जा रहा है जिसमें जुलूस,रक्तदान शिविर और सामाजिक विकास कार्यक्रमों में कैडेट्स हिस्सा लेते हैं। बीते वर्ष में एनसीसी ने कोरोना महामारी के दौरान लगाए गए प्रतिबंधों को सफलतापूर्वक पार करते हुए दिए गए मिशन को प्रभावी ढंग से निष्पादित किया। महामारी के प्रबंधन में विभिन्न पहलुओं के माध्यम से कैडेट्स के योगदान की देशभर के लोगों ने व्यापक रूप से सराहना की है। झांसी में 19 नवंबर 2021 को आयोजित एक भव्य समारोह में प्रधानमंत्री द्वारा एनसीसी के पूर्व छात्रों के संघ के शुभारंभ ने एनसीसी के गौरव में एक और अध्याय जोड़ा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस प्रतिष्ठित पूर्व छात्र संघ का पहला सदस्य बनाया गया था। वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को इस एसोसिएशन का दूसरा सदस्य बनाया गया था। बिहार में पूर्व कैडेटों को इसमें नामांकित करने के लिए प्रोत्साहन दिया जा रहा है। संगठन के उद्देश्यों को आगे बढ़ाने और समाज व समुदाय की आम भलाई में प्रभावी रूप से भाग लेने के लक्ष्य हेतु यह एसोसिएशन एनसीसी में सेवा करने वाले सभी पूर्व कैडेटों और वर्दीधारी व्यक्तियों को एक मंच पर लाएगा। इस तरह एनसीसी आज के युवाओं को कल के जिम्मेदार नागरिक बनाने की दिशा में अपने अथक प्रयास जारी रखे हुए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: