मधुबनी : नशा मुक्ति दिवस मनाए जाने के लिए बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 20 नवंबर 2021

मधुबनी : नशा मुक्ति दिवस मनाए जाने के लिए बैठक

nasha-mukti-meeting-madhubani
मधुबनी, आज दिनांक 20 नवंबर 2021 को श्री अमित कुमार, भा. प्र. से. जिला पदाधिकारी, मधुबनी की अध्यक्षता में आगामी 26 नवंबर 2021 को नशा मुक्ति दिवस मनाए जाने के संबंध में समाहरणालय के सभाकक्ष में बैठक का आयोजन हुआ। बताते चलें कि बिहार के कुछ जगहों में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों को बिहार सरकार द्वारा गंभीरता से लिया गया है और इसी परिप्रेक्ष्य में बिहार के सभी जिलों में मद्य निषेध को कड़ाई से लागू करने के साथ साथ नशा मुक्ति के प्रति जनजागरुकत के कार्यक्रम भी आयोजित किए जाने हैं। बैठक को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि शराब ने काफी जिंदगियां बर्बाद की हैं। मद्य निषेध को शत प्रतिशत लागू करने के प्रति जिला प्रशासन, मधुबनी पूर्ण रूप से प्रतिबद्ध है। इस सिलसिले में माननीय मुख्यमंत्री, बिहार द्वारा जिले में 26 नवंबर को नशा मुक्ति दिवस को प्रभावी तरीके से मानने और मद्यपान से होने वाले नुकसान को जन जन तक पंहुचाने के परिप्रेक्ष्य में सतत जन जागरूकता अभियान चलाए जाने के निर्देश प्राप्त हुए हैं। जिसके लिए जिले के सभी विभागों में आपसी समन्वय का होना अत्यंत आवश्यक है। जन सरोकार को देखते हुए, इसमें कई विभागों जैसे उत्पाद, शिक्षा, स्वास्थ्य, ऊर्जा, जीविका आदि के बेहतर समन्वय से नशा मुक्ति के संदेश को अधिक से अधिक लोगों तक पंहुचाया जा सकता है।  उन्होंने सभी विभागों के पदाधिकारियों को स्पष्ट किया कि 22  से 26 नवंबर तक जिले में विभिन्न विभागों द्वारा उनके स्तर से कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे एवं 26 नवंबर को जिला स्तर पर विस्तृत कार्यक्रम किया जाएगा, जिसके स्थल एवं कार्यक्रम की घोषणा शीघ्र की जाएगी। जिलाधिकारी ने बताया कि मद्य निषेध को ठीक प्रकार लागू करने के लिए हमें दो अलग अलग स्तरों पर प्रयास करने होंगे। एक तरफ छापामारी, गिरफ्तारी, जब्ती, नीलामी आदि के प्रयास तेज करने होंगे। साथ ही ये भी देखना होगा कि शराब के धंधे में लिप्त चल रहे लोगों को बेल आसानी से न मिले। दूसरी तरफ जन जागरूकता का दायरा भी विस्तृत करना होगा। जिसके लिए एकजुट होकर योजनाबद्ध तरीके से प्रयास करने होंगे। 


उनके द्वारा बिजली विभाग से उपस्थित अधिकारियों से अभियान चलाकर जिले के विभिन्न क्षेत्रों में ट्रांसफार्मर पर टॉल फ्री नंबर को नशा मुक्ति के स्लोगन के साथ अंकित करवाने के आदेश दिए गए हैं। बैठक के दौरान श्री नशीम अहमद, जिला शिक्षा पदाधिकारी, मधुबनी द्वारा विभाग की गतिविधियों के बारे में  जिलाधिकारी को अवगत कराया गया। इस पर संतोष व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी महोदय ने वाद विवाद, चित्रांकन, निबंध लेखन जैसे कार्यक्रमों को आयोजित कर जिला में आयोजित कार्यक्रम में पुरस्कार एवं प्रमाण पत्र प्रदान करने को कहा गया। उन्होंने प्रभात फेरी कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करने के निर्देश भी दिए। जिलाधिकारी ने जिले के सभी उच्च विद्यालय में शिक्षकों एवं छात्रों के बीच सोशल मीडिया समूह के माध्यम से नशा मुक्ति संबंधी जानकारी मुहिम चलाकर शेयर करने के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने शिक्षकों, टोला सेवकों, तालिमी मरकज, कला जत्था को भी नशा मुक्ति के संबंध में सक्रिय भूमिका को रेखांकित किया। जिलाधिकारी ने बताया कि मद्य निषेध को लेकर जिला स्तर पर एक बड़ी चित्रकला प्रतियोगिता भी आयोजित की जाएगी। जिसके लिए स्थल का चयन किया जा रहा है। मद्य निषेध के परिप्रेक्ष्य में जीविका की गतिविधियों को लेकर चलाए जा रहे कार्यक्रमों की जिलाधिकारी द्वारा सराहना की गई। साथ ही उनके द्वारा निर्देश दिया गया कि प्रभात फेरी, गोष्ठी, चौपाल, मेंहदी प्रतियोगिता आदि जैसे कार्यक्रमों  को प्रमुखता से अभियान चलाकर संपन्न करवाया जाए। 


जिला सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय को निर्देश दिए गए हैं कि नशामुक्ति से संबंधित होर्डिंग्स लगाए जाएं और जिले में चल रही नशा मुक्ति संबंधी विभिन्न गतिविधियों को प्रचारित और प्रसारित किया जाए। जिला कल्याण पदाधिकारी एवं सहायक निदेशक, सामाजिक सुरक्षा  को जिले के दिव्यांग जनों को भी नशामुक्ति अभियान से प्रमुखता से जोड़ने के निर्देश दिए गए। जिला उद्योग केन्द्र को आदेश दिया गया है कि जिले में ताड़ी से निड़ा बनाए जाने के वैकल्पिक तरीकों को प्रश्रय दिया जाए। जिलाधिकारी ने बताया कि आने वाले दिनों में सभी सरकारी विभागों में पोस्टिंग के समय गौर किया जाएगा कि उनकी संलिप्तता मद्य निषेध कानून को तोड़ने में न हो। साथ ही नशा मुक्ति के लिए बेहतर प्रयास करने वाले सरकारी कर्मियों को प्रोत्साहित भी किया जाएगा। उन्होंने निजी सुचिता और व्यावहारिक सतर्कता पर बल देते हुए सभी को मद्य निषेध को सफल बनाने हेतु आगे आने का आह्वान किया। बैठक में श्री अवधेश राम, अपर समाहर्ता, मधुबनी, श्री सुरेन्द्र राय, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला गोपनीय शाखा, मधुबनी, श्री शैलेन्द्र कुमार, जिला सूचना एवं जनसंपर्क पदाधिकारी, मधुबनी, श्री नसीम अहमद, जिला शिक्षा पदाधिकारी, मधुबनी, श्री विनोद शंकर सिंह, महाप्रबंधक, जिला उद्योग केंद्र, मधुबनी, श्री अभिषेक कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी, फुलपरास, श्री शैलेश कुमार चौधरी, अनुमंडल पदाधिकारी, झंझारपुर, श्रीमती मैत्रेय गार्गी, जिला परियोजना समन्वयक, जीविका के साथ साथ जिले के वरीय प्रशासनिक पदाधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: