ओमीक्रोन पर गृह सचिव की आपात बैठक, समूचे देश में रखी जायेगी कड़ी नजर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 28 नवंबर 2021

ओमीक्रोन पर गृह सचिव की आपात बैठक, समूचे देश में रखी जायेगी कड़ी नजर

home-secretary-emergency-meeting-on-chrome
नयी दिल्ली, 28 नवम्बर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देश मे कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा के एक दिन बाद केन्द्रीय गृह सचिव अजय भल्ला की अध्यक्षता में रविवार को हुई आपात बैठक में कोरोना के नये स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ के कारण उत्पन्न चिंताओं तथा इससे निपटने के उपायों पर चर्चा की गयी। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता के अनुसार बैठक में ओमीक्रोन वायरस के मद्देनजर देश भर में स्थिति की व्यापक समीक्षा की गयी। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि समूचे देश में कोरोना महामारी की स्थिति पर कड़ी नजर रखी जायेगी और उसके अनुसार जरूरी कदम उठाये जायेंगे। यह भी तय किया गया कि वैश्विक स्थिति को ध्यान में रखकर व्यावसायिक उडानों को शुरू करने के निर्धारित कार्यक्रम की भी समीक्षा की जायेगी और उसके आधार पर ही उडानों को शुरू करने के बारे में निर्णय लिया जायेगा। इसके अलावा अमल में लाये जा रहे विभिन्न बचाव उपायों तथा उन्हें और अधिक मजबूत बनाये जाने पर भी चर्चा की गयी। साथ ही अंतर्राष्ट्रीय उडानों से आने वाले यात्रियों विशेष रूप से ‘अत्यधिक खतरे’ की श्रेणी वाले यात्रियों की जांच और निगरानी की प्रक्रिया से संबंधित मानक संचालन प्रक्रिया की भी समीक्षा की गयी। इसके अलावा कोरोना के विभिन्न संस्करणों की जीनोम निगरानी में तेजी लाने तथा उसे और पुख्ता करने के बारे में भी बैठक में चर्चा की गयी। एयरपोर्ट तथा बंदरगाहों पर तैनात स्वास्थ्य अधिकारियों को भी सतर्क रहने तथा जांच आदि में लापरवाही न बरतने को कहा गया है। बैठक में विभिन्न विशेषज्ञों, नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डा वी के पॉल, प्रधानमंत्री के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार डा़ विजय राघवन तथा स्वास्थ्य, नागरिक उडय्यन और अन्य मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया। 

कोई टिप्पणी नहीं: