एमएसआरटीसी ने 376 कर्मचारियों को निलंबित किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 9 नवंबर 2021

एमएसआरटीसी ने 376 कर्मचारियों को निलंबित किया

msrtc-suspend-376-employee
मुंबई, नौ नवंबर, महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) ने मंगलवार को अपने 376 कर्मचारियों को हड़ताल में भाग लेने के लिए निलंबित कर दिया। इस बीच, एमएसआरटीसी कर्मचारियों की हड़ताल आज 13वें दिन में प्रवेश कर गयी । अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि इन कर्मचारियों को कथित तौर पर दूसरों को आंदोलन में शामिल होने के लिए उकसाने के आरोप में निलंबित किया गया है। उन्होंने कहा कि जिन कर्मचारियों को निलंबित किया गया है, वे एमएसआरटीसी के 45 बस डिपो में तैनात हैं। अधिकारी ने कहा कि सांगली और नांदेड़ संभाग से सबसे अधिक 58-58 कर्मचारियों को निलंबित किया गया है, इसके बाद यवतमाल संभाग से 57 कर्मचारियों को निलंबित किया गया है। मंगलवार सुबह एमएसआरटीसी के 250 में से 247 डिपो में बस संचालन ठप रहा। कर्मचारी एमएसआरटीसी का विलय राज्य सरकार में करने की मांग कर रहे हैं। कर्मचारियों को निलंबित करने का कदम तब उठाया गया है जब मामले में बम्बई उच्च न्यायालय ने महाराष्ट्र सरकार की ओर से पूरा सहयोग देने और राज्य सरकार के साथ एमएसआरटीसी के विलय की उनकी मांग पर विचार करने के लिए एक पैनल गठित करने के बावजूद हड़ताल समाप्त नहीं करने के उनके ‘‘अड़ियल रवैये’’ की निंदा की। इससे पहले दिन में, महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब ने कहा था कि हड़ताल को लेकर अवमानना ​​याचिका दायर की जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं: