बिहार : शराब की बोतलों की होगी फोरेंसिक जांच - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 30 नवंबर 2021

बिहार : शराब की बोतलों की होगी फोरेंसिक जांच

nitish-order-forensic-test-for-alcohal-bottel
पटना : बिहार में नीतीश कुमार की सरकार की पुलिस शराबबंदी को लेकर इतनी सतर्क है कि बिहार विधानसभा परिसर में शराब की बोतलें मिलने पर अब उनके ऊपर लगे उँगलियों के निशान की जांच करवाई जाएगी। फोरेंसिक टीम उसकी जांच कर रही है। इन बोतलों की जांच उत्पाद विभाग की प्रयोगशाला में की जा रही है। कहा जा रहा है कि बिहार की सरकार और पुलिस शराब की खाली बोतल का पोस्टमार्टम करके ये जानेगी कि बोतल की शराब को किसने पिया और पिने के बाद किसने उसे नीतीश कुमार के चैम्बर के पास फेंका। बता दें कि ,मंगलवार को बिहार विधानमंडल में जारी शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन विधानसभा की पार्किंग में शराब की बोतलें बरामद हुई ,जिसके बाद विपक्ष के नेता ने इस मसले को लेकर सरकार की शराबबंदी कानून को आड़े हाथ लिया और इसके लिए खुद मुख्यमंत्री तक तो जिम्मेवार बता दिया। जिसके बाद सरकार ने अपने ऊपर लगे रहे आरोपों से पला झाड़ने की कोशिश करते हुए यह जरूर कहा कि विधानसभा के मालिक अध्य्क्ष होते हैं मुख्यमंत्री नहीं ,लेकिन तभी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मसले पर अपनी बात रखते हुए कहा कि यदि अध्य्क्ष इजाजत देते हैं तो इस मामले की तुरंत जांच करवाई जाएगी। इसके बाद सीएम अपने चैम्बर में चले गए और उन्होंने मुख्य सचिव और डीजीपी को तलब किया और उन्होंने तत्काल इस पर कड़ी करवाई करने को कहा उसके बाद डीजीपी एसके सिंघल बाहर निकले तो बोले हम और मुख्य सचिव साहब यहां आये हैं। जहां पर शराब की खाली बोतलें मिली थीं उस स्थान को घेर कर बोतलों को जब्त कर लिया गया है। शराब की खाली बोतलों की फोरेंसिक साइंस लेबोरेट्री में जांच करायी जा रही है। इसके अलावा उत्पाद विभाग की भी एक लैब यानि प्रयोगशाला है। वहां से भी शराब की खाली बोतलों की जांच करायी जायेगी। उत्पाद विभाग की लैब से भी संपर्क साधा गया है। डीजीपी ने कहा कि उनकी पुलिस ने पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है। जांच का रिजल्ट आएगा तो लोगों को बता दिया जायेगा कि ये क्या मामला है? डीजीपी ने बताया कि पुलिस ने उस जगह को देखा है जहां शराब की खाली बोतलें मिली हैं।वहां सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा है लेकिन थोड़ी दूर पर सीसीटीवी कैमरे हैं। उनके फुटेज को देखा जायेगा। वहीँ, मुख्य सचिव ने कहा कि किसी मकसद से ही शराब की बोतलें यहां फेंकी गयी है। सरकार सारे पहलु की जांच करेगी। ये कोई सामान्य घटना तो है नहीं। हम इसकी पूरी जांच करायेंगे। विधानसभा से शराब की खाली बोतलों पर बिहार के मद्य निषेध मंत्री सुनील कुमार ने कहा कि जांच में सब पता चल जायेगा कि किसने शराब की बोतल फेंकी है। सरकार उसे छोड़ेगी नहीं।

कोई टिप्पणी नहीं: