एनपीपी ने नागरिकता संशोधन अधिनियम खत्म करने की मांग की - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 29 नवंबर 2021

एनपीपी ने नागरिकता संशोधन अधिनियम खत्म करने की मांग की

npp-demand-withdraw-caa
नयी दिल्ली 27 नवंबर, संसद के सोमवार से शुरू हो रहे शीतकालीन सत्र से पहले आज यहां राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग ) के सहयोगी दलों की बैठक में मेघालय की नेशनल पीपुल्स पार्टी ( एनपीपी ) ने नागरिकता संशोधन अधिनियम( सीएए ) को खत्म करने की मांग की। एनपीपी से लोकसभा सांसद अगाथा संगमा ने बैठक में यह मुद्दा उठाया। सुश्री संगमा ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, “ सरकार ने लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए कृषि कानूनों को रद्द करने की घोषणा की है, मैंने उनसे पूर्वोत्तर के लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए सीएए को खत्म करने का आग्रह किया है।” सूत्रों ने कहा कि अपना दल की सांसद और केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने बैठक में जाति आधारित जनगणना का मुद्दा उठाया। बैठक में सरकार के सहयोगियों ने संसद के सुचारू संचालन के लिए सरकार को समर्थन देने का आश्वासन दिया। बैठक के बाद संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि संसद के शीतकालीन सत्र में सरकार किसी भी विषय पर चर्चा एवं बहस के लिए तैयार है। सकारात्मक चर्चा होनी चाहिए। उन्होंने कहा , “ हमने विपक्ष से अपील की है कि आप बहस करिए और हम सरकार की ओर से हर मुद्दे पर बहस करके आपको जवाब देना चाहते हैं।” इससे पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की संसदीय कार्यकारिणी दल की बैठक भी हुई । पार्टी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सांसदों को सत्र के दौरान उपस्थित रहने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार कृषि कानूनों और पेगासस जासूसी विवाद जैसे मुद्दों सहित सभी मुद्दों पर विपक्ष का मुकाबला करने के लिए तैयार है। बैठक में सांसदों को संसद में पेश किए जाने वाले विधेयकों की जानकारी भी दी गई।  

कोई टिप्पणी नहीं: