कृषि कानून वापस होने तक डटे रहेंगे : टिकैत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 11 नवंबर 2021

कृषि कानून वापस होने तक डटे रहेंगे : टिकैत

protest-continue-till-law-withdraw-tikait
गाजियाबाद, 11 नवंबर, भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के नेता राकेश टिकैत ने बृहस्पतिवार को कहा कि जब तक केंद्र द्वारा विवादित कृषि कानूनों को निरस्त नहीं किया जाता तब तक किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। किसान नेता ने जोर देकर कहा कि केवल विवादास्पद कानूनों को निरस्त करने से ही विरोध का अंत सुनिश्चित होगा। टिकैत ने हिंदी में ट्वीट किया, “जब तक तीनों काले कानूनों की वापसी और न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गारंटी कानून नहीं बनता तब तक आन्दोलन देश भर में जारी रहेगा ।” उन्होंने कहा, “बिल वापसी ही घर वापसी है।” भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि यह आंदोलन “जल, जंगल और जमीन” की सुरक्षा के लिये है। भाकियू किसान आंदोलन का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) का हिस्सा है और नवंबर 2020 से दिल्ली के तीन सीमा बिंदुओं सिंघू, टीकरी और गाजियाबाद में प्रदर्शन कर रहा हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: