सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 06 नवम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 6 नवंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 06 नवम्बर

बुधनी के लकड़ी खिलौनों को वर्ल्ड फेम बनाकर जीआई टैग दिलाने के होंगे प्रयास - मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • "एक जिला - एक उत्पाद" योजना में बुधनी के लकड़ी के खिलौनों का चयन, बुधनी की पहचान बने खिलौने, बुधनी में खोला जाएगा सीएम राइज स्कूल, शिक्षा के साथ खेलों को भी देंगे प्रोत्साहन, बुधनी खिलौना महोत्सव में मुख्यमंत्री ने गाया "नदिया चले चले रे धारा" गीत, सभी प्रतियोगिताओं के सभी बच्चों को 5-5 हजार रूपये देने की घोषणा, खिलौना महोत्सव में लगे विभिन्न स्टॉलों का किया अवलोकन

sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बुदनी के खिलौना उत्पादों को बुदनी के नाम से विश्वविख्यात बनाने के लिए जीआई टैग लिए जाने के प्रयास होंगे। उन्होंने कहा कि विश्व बाजार से प्रतिस्पर्धा के लिए क्लस्टर बनाकर लकड़ी के अलावा अन्य खिलौने भी बनाये जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान शनिवार को खिलौनाकारी बुदनी खिलौना महोत्सव को सम्बोधित कर रहे थेl 14 नवम्बर तक होने वाले इस महोत्सव में सांसद श्री रमाकांत भार्गव, मुख्यमंत्री श्री चौहान की धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह सहित जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शिल्पियों और ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि उनकी जानकारी में है कि अनेक व्यवसायी ऑनलाइन मार्केटिंग करके अधिक कीमत कमाते है उन्होंने कहा कि कुछ ऑनलाइन कम्पनी तो 5 गुना तक ज्यादा कीमत में बुदनी के खिलौने बेचती है। उन्होंने कहा कि उनका प्रयास है कि यह काम स्थानीय कारीगर ही करें और सरकार इसके लिए नेटवर्क तैयार करेगी। उन्होंने कहा कि खिलौने ही नही यहाँ के गेहूं और बासमती चावल सहित अन्य उत्पादों को जीआई टैग दिलवाने के हर सम्भव प्रयास होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के आव्हान पर प्रदेश में शुरू की गई एक जिला एक उत्पाद योजना में सीहोर जिले में खिलौना उत्पाद को शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि खिलौनों की कम लागत, फिनिशिंग के लिए क्लस्टर बनाकर प्रशिक्षण दिलाया जाएगा और अन्य खिलौने निर्माण के लिए आवश्यक मशीनरी भी लगाई जाएगी। उन्होंने स्थानीय शिल्पियों के व्यवसाय को और बेहतर बनाने के लिए बुदनी के ही गड़रिया नाला के समीप दुकानें बनाकर बाजार विकसित करने की घोषणा भी की। मुख्यमंत्री ने कहा कि बुदनी को अलग पहचान देने के लिए पारंपरिक रूप से सजावट की जाएगी, आकर्षक प्रवेश द्वार बनाये जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्वसहायता समूहों को आश्वस्त किया कि उनके उत्पादों को बेहतर बाजार उपलब्ध करवाने के लिए भी प्रयास होंगे। उन्होंने युवाओं को उनकी रुचि का प्रशिक्षण देकर रोजगार उपलब्ध करवाने की बात कही। उन्होंने कहा कि मुद्रा योजना के अलावा प्रधानमंत्री स्ट्रीट और मुख्यमंत्री पथ विक्रेता योजना का युवा लाभ ले। उन्होंने कहा कि सरकार ने इस तरह के लोन पर ब्याज अनुदान देने का फैसला भी किया है।


3 दिवसीय बुदनी उत्सव होगा

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि अब नर्मदा जयंती पर बुदनी में भी 3 दिनों का बुदनी उत्सव आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि धार्मिक आयोजन नर्मदा जी के घाट पर होंगे जबकि अन्य रंगारंग कार्यक्रम बुदनी के बीचोबीच खुले स्थानों पर आयोजित होंगें। महोत्सव को सांसद श्री भार्गव और पूर्व विधायक श्री राजेन्द्र सिंह ने भी सम्बोधित किया। मुख्यमंत्री ने सांस्कृतिक कार्यक्रमो में सम्मलित प्रतिभागियों को 5-5 हज़ार रुपये की पुरस्कार राशि दिए जाने की घोषणा भी की।


बुधनी में खोला जाएगा सीएम राइस स्कूल

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बुधनी के बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले और वे आगे बढ़े, इसके लिए बुधनी में सीएम राइस स्कूल खोला जाएगा l सीएम राइस स्कूल में  गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ ही आधुनिक लैब, स्मार्ट क्लास, लाइब्रेरी, बस सुविधा, सभी कुछ निजी स्कूलों की तर्ज पर होगाl उन्होंने कहा कि बुधनी के बच्चे आगे बढ़े इसके लिए 10वीं और 12वीं में प्रथम ,द्वितीय,  तृतीय स्थान पर आने वाले बच्चों को क्रमशः एक लाख रुपए , 75 हजार तथा 50 हजार रुपये का पुरस्कार दिया जाएगाl इसके साथ ही बुधनी क्षेत्र के बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए नि:शुल्क कोचिंग की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी l जिन बच्चों का मेडिकल,  आईआईटी,  आईआईएम में चयन होगा उनकी फीस सरकार देगी l बच्चों के समग्र विकास और मनोरंजन के लिए खेल बहुत आवश्यक है l गत् वर्ष की भांति इस वर्ष भी खेल प्रतियोगिता आयोजित की जाएगीl  इसमें क्रिकेट के अलावा  खो-खो, कबड्डी,  कुश्ती आदि खेलों को भी शामिल किया जाएगाl यह प्रतियोगिता पंचायत स्तर पर  विकासखंड स्तर पर तथा विधानसभा स्तर पर आयोजित की जाएंगीl  कार्यक्रम में सांसद श्री रमाकांत भार्गव और पूर्व विधायक श्री राजेंद्र सिंह राजपूत ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवीय,  श्री महेश उपाध्याय,  श्री राजेश पाल सहित अन्य जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थेl


बच्चों के साथ मुख्यमंत्री भी ने भी खेली चम्मच रेस


sehore news
खिलौनाकारी यानी बुदनी खिलौना महोत्सव के दौरान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान खुद बच्चे बन गए और उन्होंने 5 साल के बच्चों के साथ खुद भी चम्मच रेस में सहभागी बने। सुखद था कि मुख्यमंत्री ने रेस पूरी की और उनकी चम्मच से कन्चा गिरा भी नही। महोत्सव में मुख्यमंत्री श्री चौहान अपनी धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह के साथ सम्मलित हुए। इससे पहले बच्चो की लकड़ी की तिपहिया साइकिल रेस भी हुई। बुदनी दशहरा मैदान पर उपस्थित ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री की सहभागिता के लिए जोरदार तालियों से उनका स्वागत किया।


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 450 मुख्यमंत्री बाढ़ राहत आवासों का किया वर्चुअल लोकार्पण सेमलवाड़ा में हुआ मुख्य कार्यक्रम


sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि ग्रामीण अधोसंरचना से गांव की बदहाली दूर कर मध्यप्रदेश की अर्थव्यवस्था को स्वावलंबी बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान शनिवार को मुख्यमंत्री बाढ़ राहत आवास योजना के तहत बुदनी और नसरुल्लागंज तहसील के 47 गांव में निर्मित लगभग साढ़े 400 आवासों का ग्राम सेमलवाड़ा से वर्चुअल गृह प्रवेश कराने से पूर्व ग्रामीणों को सम्बोधित कर रहे थे। सांसद श्री रमाकांत भार्गव भी इस अवसर पर उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गांव के उत्पादों और हुनर को अर्थव्यवस्था से जोड़ने के लिए महिलाओं के स्वसहायता समूह को प्रशिक्षण देने के अलावा उन्हें बैंक से वित्तीय मदद उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि इन उत्पादों के क्लस्टर बनाकर मार्केट भी उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने कलेक्टर को निर्देश दिए कि सोमलवाड़ा सहित अन्य सभी गांव में जहाँ महिला स्वसहायता समूहों को बैंक से नही जोड़ा गया है, ऐसे सभी ग्रुप को जोड़कर उनकी ट्रेनिग भी कराए। मुख्यमंत्री ने बताया कि बुदनी और नसरुल्लागंज के करीब 47 गांव गत् वर्ष बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हुए थे। इन गांवों में मुख्यमंत्री राहत आवास के तहत 626 आवासों का पुनः निर्माण करवाया गया है, जिसमे से आज करीब 450 आवास में आज गृह प्रवेश करवाया जा रहा है। दर्जनों गांव सेमलवाड़ा में हुए गृह प्रवेश कर्यक्रम से वर्चुअल रूप से जुडे। इन आवासों के लिए मुख्यमंत्री राहत के रूप में 95 हज़ार 100, मनरेगा से 17 हज़ार रुपये  के अलावा पशुपालक हितग्राहियों को अतिरिक्त सहायता भी दी गई थी।


स्कूल,आंगनवाड़ी भवन एवं सड़क की स्वीकृति

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने ग्रामीणों की मांग पर सेमलवाड़ा में स्कूल और आंगनवाड़ी के लिए नवीन भवन निर्माण के साथ ही ग्राम पंचायत नांदमेर से सेमलवाड़ा तक के 6 गांव को जोड़ने वाले मार्ग तथा पुल निर्माण को स्वीकृत करने की घोषणा भी की।


मुख्यमंत्री ने कराया गृह प्रवेश

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कार्यक्रम में रिमोट से लगभग एक दर्जन गांव में वर्चुअल गृह प्रवेश कराने के बाद सेमलखेडा गांव में श्री मुकेश और जगदीश के घर पहुंचकर उनका विधिवत् गृह प्रवेश करवाया। मुख्यमंत्री ने यहाँ परिवारजनों के साथ चाय भी पी और अन्य लाभान्वित परिवारो से संवाद भी किया। उन्होंने सेमलवाड़ा में ग्रामीणों द्वारा पुनः निर्मित किये गए  आवासों के लिए ग्रामीणों की तारीफ भी की। सांसद श्री भार्गव ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया।


मुख्यमंत्री बाढ़ राहत आवास

मुख्यमंत्री बाढ़ राहत आवास अगस्त 2020 में बुदनी विधानसभा क्षेत्र के बाढ़ से ध्वस्त हुए मकानों के पुर्ननिर्माण हेतु मुख्यमंत्री  द्वारा राहत राशि एवं मनरेगा के अभिसरण से आवासों के निर्माण की घोषणा की गयी थी। बुदनी जनपद के 18 ग्रामों के 224 तथा नसरूल्लागंज जनपद पंचायत के 29 ग्रामों के 402 हितग्राही, इस प्रकार दोनों जनपद पंचायत अंतर्गत कुल 47 ग्रामों के 626 हितग्राहियों को बाढ़ राहत आवास स्वीकृत किये गये । प्रत्येक हितग्राही को 95 हजार 100 रुपये आरबीसी 6,4 से तथा मनरेगा योजना से 90 दिवस की मजदूरी राशि रू 17100 कुल 112200 रुपये प्रति हितग्राही स्वीकृत किये गये। ऐसे पशुपालक जिनके आवास बाढ़ से क्षतिग्रस्त हो गये थे, उन्हें पशुओं के प्रकार और संख्या के आधार पर केटल शेड निर्माण हेतु मनरेगा योजना से अतिरिक्त राशि स्वीकृत की गयी। दोनों जनपदों के 210 बाढ़ पीडित,  पशु पालकों को कैटल शेड निर्माण हेतु 46 हजार रुपये से लेकर 99 हजार रुपये तक की राशि प्रदान की गयी 5 कुल 25 बकरी पालकों को 46 हजार प्रति हितग्राहीं, 183 पशु पालकों को 63 हजार रुपये प्रति हितग्राही एवं 02 पशुपालकों को 99 हजार रुपये प्रति हितग्राही के मान से राशि स्वीकृत की गयी। आज दिनांक तक कुल स्वीकृत 626 आवासों में से 450 आवास पूर्ण चुके हैं 176 प्रगतिरत हैं। सेमलवाड़ा ग्राम में 44 आवास स्वीकृत किये गये थे , इनमें से 44 आवास पूर्ण हो चुके हैं। सेमलवाड़ा में 40 बाढ़ पीड़ित हितग्राहियों को पशु शेड भी स्वीकृत किये गये हैं। इन सभी हितग्राहियों को 63 हजार रुपये की राशि मनरेगा योजना से प्रदान की जायेगी।


आस्था और उत्साह के साथ कायस्थ समाज ने की कलम-दवात की पूजा


sehore news
सीहोर। शनिवार को चित्रगुप्त पूजा पर कायस्थ परिवार शहर के शुगर फैक्ट्री स्थित मंदिर में एकत्र हुए। सभी ने समाज को संगठित रखने की शपथ ली। यमद्वितीया, दीपावली के दो दिन बाद कायस्थ जाति के संस्थापक और पूज्य देव भगवान चित्रगुप्त के पूजन का पर्व भी मनाया जाता है। देश भर के विभिन्न राज्यों में रहने वाले कायस्थ जाति के लोग बड़ी धूमधाम से श्री चित्रगुप्त भगवान के पूजन का अलग-अलग विधि-विधान से आयोजन करते है। पिछले दो साल के बाद एक साथ पर्व मनाए जाने का मौका मिला और कायस्थ समाज के द्वारा शनिवार को सुबह से ही भगवान चित्रगुप्त मंदिर में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस संबंध में जानकारी देते हुए कायस्थ महासभा के जिलाध्यक्ष प्रदीप कुमार सक्सेना ने बताया कि हर साल की तरह इस साल भी आस्था के साथ यम द्वितीया का पर्व कायस्थ समाज के तत्वाधान में मनाया गया। शनिवार को शहर के शुगर फैक्ट्री स्थित भगवान चित्रगुप्त मंदिर में सुबह भगवान का अभिषेक किया गया और उसके पश्चात पारंपरिक रूप से कलम दवात की पूजा की गयी। उन्होंने बताया कि सबसे पहले मंदिर में अभिषेक किया गया था, शाम को पांच बजे हवन और उसके पश्चात महा आरती का आयोजन किया गया था। इस मौके पर बड़ी संख्या में समाजजन शामिल थे। उन्होंने बताया कि रविवार को चित्रांश मिलन एवं दीपावली मिलन समारोह में स्नेह भोज का भी आयोजन किया जा रहा है जो शाम  साढ़े छह बजे से किया जाएगा। 


स्थानीय युवाओं को मिले उद्योगों में नियोजन :मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • बुधनी के विकास को लेकर सीएम ने ली बैठक                                               

sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्थानीय युवाओं को विभिन्न औद्योगिक संस्थानों में नियोजन के लिए जिला प्रशासन अपने प्रयासों में वृद्धि करें। रोजगार मेले लगाकर भी युवाओं को विभिन्न रोजगार योजनाओं से जोड़ा जाए। लघु, मध्यम और सूक्ष्म औद्योगिक इकाइयों में बेरोजगार युवाओं को जोड़ने के प्रयासों की कलेक्टर द्वारा सतत् समीक्षा भी की जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज निवास पर सीहोर के बुधनी क्षेत्र के विकास कार्यों पर अधिकारियों से चर्चा कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बुधनी में लकड़ी के खिलौनों के व्यवसाय को प्रोत्साहित करने, लघु व्यवसायियों को लाभान्वित करने, उनके व्यवसाय की कठिनाइयों को दूर करने और अंचल में टॉय क्लस्टर के विकास के कार्य को गति देने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री मनीष रस्तोगी, सचिव श्री एम. सेलवेन्द्रन, प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास श्री मनीष सिंह, सचिव सूक्ष्म, लघु, मध्यम एवं उद्ययम उद्योग और आयुक्त उद्योग श्री पी. नरहरि तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना, मुद्रा योजना और स्ट्रीट वेण्डर्स योजना में लाभ दें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बेरोजगारों को मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना, मुद्रा योजना के साथ ही स्ट्रीट वेण्डर्स कल्याण योजना में लाभान्वित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में पथ विक्रेताओं के आर्थिक उन्नयन के लिए उनके सर्वे का कार्य किया गया है। पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाए।


स्व-सहायता समूहों को गतिविधियों से जोड़े

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि महिला स्व-सहायता समूहों को विभिन्न आजीविका गतिविधियों से जोड़ा जाए। समूहों को प्रावधान के अनुसार आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध करवाई जाएँ।


संचार, विद्युत और सड़क सुविधाओं का विकास करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में संचार, विद्युत और सड़क सुविधाओं का विकास किया जाए। विभिन्न संचार कंपनियों के टॉवर स्थापित करने और नए विद्युत उप केन्द्र की स्थापना के लिए प्राप्त प्रस्तावों पर क्रियान्वयन की कार्यवाही की जाए। शहरी क्षेत्रों में जिस तरह वर्षाकाल में क्षतिग्रस्त सड़कों के सुधार का कार्य सतत् रूप से किया जा रहा है। उसी तरह ग्रामीण क्षेत्रों में भी कार्यों को पूर्ण करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्रामीण क्षेत्र में आवश्यकतानुसार वाटर टैंक निर्माण, बायपास निर्माण और सी.एम. राइज स्कूलों के प्रस्ताव, सामुदायिक भवन, नर्मदा घाट का विकास और पंचायत भवन में अतिरिक्त कक्ष निर्माण की समीक्षा भी की।


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्राम जैत में ग्राम वासियों की समस्या सुनी और निराकरण के अधिकारियों को दिए निर्देश


sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सपत्नीक गृह ग्राम जैत में खेड़ा-माता मंदिर, हनुमान मंदिर और माँ नर्मदा घाट पर पूजा-अर्चना की। उन्होंने पूजा-अर्चना कर प्रदेशवासियों की सुख-समृद्धि की कामना की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी ग्राम वासियों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं दी। श्री चौहान ने ग्राम जैत में ग्राम वासियों की समस्याएं सुनी और उनके त्वरित निराकरण के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। ग्राम जैत के अलावा आसपास के कई गांव के ग्रामवासी पहुंचे थे। ग्राम वासियों की ज्यादातर समस्याएं सड़क, बिजली, पानी, राशन से संबंधित थी। ग्राम वासियों की समस्याएं सुनते समय श्री चौहान ने अधिकारियों को हिदायत दी कि लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी उन्होंने लोगों की समस्याओं का गंभीरता के साथ शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर सांसद श्री रमाकांत भार्गव, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवीय, श्री वीर सिंह चौहान, श्री महेश उपाध्याय, श्री नरेंद्र चौहान भी उपस्थित थेl


जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, वर्तमान में कोरोना एक्टिव पॉजिटिव की संख्या शून्य


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10142है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10020 हैं। आज 212 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 114, श्यामपुर से 60, आष्टा से 24, बुदनी से 13, सैंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सैंपल 290656 हैं। जिनमें से 279110 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज129 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कुल 1333 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सैंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।


क्रेडिट आउटरीच कैम्पेन 15 नवम्बर तक


जिला मुख्यालय और विकासखण्ड स्तर पर पब्लिक सेक्टर बैंकों तथा आरआरबी द्वारा 15 नवम्बर तक क्रेडिट आउटरीच कैम्पेन चलाया जाएगा, जिसमें मैगा शिविरों का आयोजन होगा। इनमें केन्द्र और राज्य शासन की योजनाओं के पात्र हितग्राहियों को बैंक ऋण स्वीकृत और वितरित किए जाएंगे। यह कार्य राज्य-स्तरीय बैंकर्स कमेटी के तत्वावधान में होगा।


बच्चों के लिए बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने की नई पहल                                                                       


कोरोना संक्रमण के चलते मानसिक रूप से प्रभावित हो रहे बच्चों के लिए बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने नई पहल की है। आयोग ने "संवेदना" नाम से टोल फ्री टेली काउंसलिंग शुरू की है। इसके लिए टोल फ्री नम्बर 1800-1212-830 जारी किया गया है, जिस पर बच्चे कॉल कर विशेषज्ञों से बात कर अपनी समस्या का समाधान पा सकते हैं। कोविड-19 के दौरान 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा असर पड़ा है। ऐसे बच्चे टोल फ्री नम्बर पर सुबह 10 से 1 बजे तक और दोपहर 3 से रात्रि 8 बजे तक सोमवार से शनिवार तक अपनी समस्याओं पर विशेषज्ञों एवं  काउंसलरों से बात कर सकते हैं।


शासकीय आईटीआई में सीएलसी राउण्ड हेतु रजिस्ट्रेशन एवं च्वाइस फिलिंग 07 नवम्बर तक


शासकीय आईटीआई में प्रवेश वर्ष 2021 के लिए संस्था लेवल काउंसलिंग सीएलसी राउण्ड हेतु रजिस्ट्रेशन एवं च्वाईस फिलिंग 07 नवम्बर, 2021 तक प्रारंभ है। कौशल विकास संचनालय मध्यप्रदेश के अंतर्गत संचालित शासकीय आईटीआई में संचालित एनसीवीटी, एससीवीटी के पाठ्यक्रमों में प्रवेश के इच्छुक अभ्यार्थी इंटरनेट के माध्यम से अपने स्तर से अथवा एम.पी. ऑनलाइन के अधिकृत सहायता केन्द्रों से अथवा एम.पी. आनलाईन के मध्यप्रदेश स्थित किसी भी कियोस्क से iti.mponline.gov.in के माध्यम से आवेदन कर सकते है।


आईडेंटिफिकेशन प्रतियोगिता में आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 नवंबर


आईडेंटिफिकेशन प्रतियोगिता में आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 नवंबर ईको पर्यटन विकास बोर्ड द्वारा आयोजित की जा रही  फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी और ट्रैकिंग रूट आईडेंटिफिकेशन प्रतियोगिता में आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 नवंबर 2021 तक बढ़ाई गई है। इसके साथ ही फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी प्रतियोगिता की शर्तों में संशोधन करते हुए प्रतिभागियों को न्यूनतम 3 ईको पर्यटन स्थलों के फोटोग्राफ्स या वीडियो की जगह अब न्यूनतम एक ईको पर्यटन स्थल के फोटोग्राफ या वीडियो भेजे जाने आवश्यक होंगे।


पंचायत निर्वाचन की सूचना जारी करने संबंधी दिशा-निर्देश


आगामी त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन के लिए जिला पंचायत सदस्य, जनपद पंचायत सदस्य, सरपंच एवं पंच हेतु निर्वाचन की सूचना केवल आइईएमएस  के माध्यम से जारी किया जाना है। आयोग द्वारा जारी निर्वाचन कार्यक्रम के अनुसरण में जिले में रिक्त पदों की स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए निर्वाचन की सूचना जारी करना होगी। जारी करने के पूर्व जिला पंचायत, जनपद पंचायत, ग्राम पंचायत, वार्डों की संख्या मतदान केन्द्र की जाँच व मिलान किया जाना आवश्यक है। पंचायत निर्वाचन के लिए डीईओ लॉगिन से निम्नानुसार मेपिंग का कार्य के निर्देश दिए गए हैं। ग्राम पंचायत, जिला पंचायत, वार्ड के साथ मेपिंगl ग्राम पंचायत की, जनपद पंचायत, वार्ड के साथ मेपिंग। जनपद पंचायत की जिला पंचायत वार्ड के साथ मेपिंग। पंचायत के लिए आरक्षण की स्थिति की त्रुटिरहित प्रविष्टि जिला स्तर पर किया जाना है। प्रविष्टि उपरांत आरक्षण की स्थिति की जाँच एवं मिलान करें। आरक्षण की प्रविष्टि के अभाव में निर्वाचन की सूचना जेनरेट नहीं हो सकेगी। आरक्षण की प्रविष्टि केवल उन पदों के लिए की जाए जिनकी प्रविष्टि रिक्त पदों हेतु की गई है। निर्वाचन की सूचना जारी करने के लिए आइईएमएस एप्लिकेशन में पदों का विवरण जिनके लिए निर्वाचन होगा, रिटर्निंग ऑफिसर का नाम पदनाम नामनिर्देशन पत्र प्राप्ति का स्थान नामनिर्देशन पत्रों की संवीक्षा का स्थान, अभ्यर्थिता वापस लेने का स्थान मतों की गणना करने का स्थान की जानकारी की प्रविष्टि जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा की जायेगी। सामान्य तौर पर जिलों में ग्राम पंचायतों के समूह बनाकर सेक्टर स्तर पर नामनिर्देशन पत्र प्राप्त करने सम्बंधी कार्यवाहियों की जाती है। एप्लीकेशन की सहायता से ग्राम पंचायतों को समूहबद्ध कर समूह के लिए रिटर्निंग ऑफिसर का नाम व पदनाम नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति का स्थान नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा का स्थान अभ्यर्थिता वापस लेने का स्थान, मतों की गणना करने का स्थान की जानकारी की प्रविष्टि की जा सकती है जिलों द्वारा निर्वाचन की सूचना जारी करने में किसी भी प्रकार की तकनीकी समस्या आने पर आयोग की हेल्पडेस्क टीम से सम्पर्क करे। अतः उपर्युक्त निर्देशों से सभी रिटर्निंग ऑफिसर, सहायक रिटर्निंग ऑफिसर एवं समस्त संबंधितो को पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गए हैं।


सुकन्या खाते खुलवाकर बेटी को समृद्ध बनाने का आह्वान


सुकन्या समृद्धि खाता खुलवाएं घर-घर में खुशहाली लाएं की अवधारणा के साथ भारत सरकार द्वारा बेटी बचाओ एवं बेटी पढ़ाओ के तहत बालिकाओं की उच्च शिक्षा तथा विवाह हेतु व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए यह योजना शुरू की गई है। इस योजना के अन्तर्गत जन्म से लेकर 10 वर्ष की आयु तक की बेटियों का खाता खुलवाया जा सकता है, जमाकर्ता बेटी के नाम से एक ही खाता खोल सकता है। यदि माता-पिता या संरक्षक दो बेटियों के अलग-अलग एक खाता खोल सकते हैं, यदि जुड़वा बेटियां है तो जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने पर तीसरा खाता भी खोला जा सकता है, यह खाता एक वित्तीय वर्ष में 250 रूपये से शुरू किया जा सकता है। बच्ची की उम्र 18 वर्ष पूर्ण होने पर सुकन्या समृद्धि खाता में जमा राशि का 50 प्रतिशत राशि निकाला जा सकता है।  बेटी की उम्र 21 वर्ष पूर्ण होने पर खाता परिपक्व होगा, बालिका का विवाह 18 वर्ष के बाद या 21 वर्ष के पहले होता है तो खाता बंद कर दिया जाएगा और ब्याज सहित समस्त रकम दे दी जाएगी। इसी प्रकार इस योजना से आयकर में छूट का लाभ भी मिलता है और देश के किसी भी हिस्से में स्थानांतरित किया जा सकता है। खाता खोलने के लिए जरूरी दस्तावेज, जन्म प्रमाण पत्र, माता-पिता का फोटो पहचान पत्र, एड्रेस प्रूफ और माता-पिता की फोटो आवश्यक है। खाते में न्यूनतम 250 रुपये अधिकतम 01 लाख 50 हजार रुपये वार्षिक जमा किया जा सकता है। इस खाते की अवधि कुल 21 वर्ष है।

कोई टिप्पणी नहीं: