सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 30 नवम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 30 नवंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 30 नवम्बर

सीहोर जिला भाजपा का तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर 1 दिसंबर बुधवार से सलकनपुर में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान करेंगे शिविर का शुभारंभ


sehore news
आष्टा। केंद्रीय नेतृत्व की योजना अंतर्गत मध्यप्रदेश भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा के निर्देशानुसार 1 दिसंबर से 3 दिसंबर तक सीहोर जिला भारतीय जनता पार्टी का तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर सलकनपुर में आयोजित किया गया है। भारतीय जनता पार्टी सीहोर जिला अध्यक्ष रवि मालवीय ने जानकारी देते हुए बताया कि उक्त तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में विभिन्न सत्रों के दौरान प्रदेश भारतीय जनता पार्टी द्वारा तय किये गए 15 विषयों पर विभिन्न सत्रों में दिये गये विषयो के वक्ताओं द्वारा कार्यकर्ताओ को सम्बोधित करेंगे। 1 दिसंबर बुधवार को प्रातः 10 बजे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भाजपा सीहोर के उक्त 3 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ करेंगे।

आदिल की 104 रन शतकीय पारी की बदौलत काका रेड ने ब्लू को 73 रन से हराया


sehore news
सीहोर। शहर के बीएसआई पर इन दिनों पीपीसीए के तत्वाधान में पांच मैचों की एक दिवसीय सीरिज का आयोजन किया जा रहा है। मंगलवार को सीरिज के पहले मैच में अंडर-13 के आदिल की 110 गेंद पर 104 रन की शतकीय पाारी की बदौलत एक तरफा मुकाबले में काका रेड ने काका ब्लू को 73 रन से हराकर  सीरिज में 1-0 से बढ़त बना ली है। मंगलवार की सुबह खेल गए इस मैच में काका रेड ने पहले मैच निर्धारित 30 ओवर में सात विकेट के नुकसान पर 228 रन का ििवशाल स्कोर खड़ा किया। इसमें आदिल ने 110 गेंद पर 104 रन की शानदार शतकीय पारी खेली, इसके अलावा यश दुबे 45 रन, विरेन्द्र 19 रन और उत्सव ने 18 रन बनाए। वहीं काका ब्लू की ओर से अनंत ने तीन विकेट और साबिर ने दो विकेट हासिल किए। जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी काका ब्लू की पूरी टीम मात्र 28 ओवर में ढेर हो गई। जिसमें अंशु ने 45 रन और लक्की ने 15 रन बनाए। इसके अलावा कोई भी बल्लेबाज संघर्ष नहीं कर सका। वहीं काका रेड की ओर से पिं्रस राज भाटिया ने चार ओवर में 15 रन देकर तीन विकेट, यश दुबे ने तीन विकेट, विरेन्द्र-उत्सव ने दो-दो विकेट हासिल किए। इस तरह काका रेड ने 73 रन के विशाल अंतर से जीत हासिल कर पांच मैच की सीरिज में 0-1 से बढ़त हासिल की। मैच के अंत में पीपीसीए के कोच चेतन मेवाड़ा, मनोज दीक्षित मामा, अतुल त्रिवेदी और आदर्श राय आदि ने काका रेड के आदिल को मैन आफ द मैच का पुरस्कार प्रदान किया।

आज खेला जाएगा क्रिकेट प्रतियोगिता का फाइनल मैच


सीहोर। पीपीसीए के तत्वाधान में बीएसआई मैदान पर खेली जा रही अकादमी क्रिकेट प्रतियोगिता का फाइनल बुधवार की सुबह खेला जाएगा और प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण गुरुवार की शाम को साढ़े चार बजे किया जाएगा। आज होने वाला मुकाबला 90-90 ओवर का खेला जाएगा। डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि गत दिनों आरंभ हुई पीपीसीए के तत्वाधान में अकादमी क्रिकेट प्रतियोगिता में चार टीमों को शामिल किया गया था। प्रतियोगिता में शानदार खेला का प्रदर्शन करते हुए पीपीसीए रेड और पीपीसीए ब्लू के मध्य खेला जाएगा। इस प्रतियोगिता में अनेक खिलाडिय़ों ने शानदार खेला का प्रदर्शन करते हुए खेल के हर क्षेत्र में अपनी कला दिखाई है। बुधवार की सुबह नौ बजे 90-90 ओवर का यह दो दिवसीय मैच खेला जाएगा। इसके पहले दिन बल्लेबाजी करने वाली टीम 90 ओवर खेलेगी और उसके बाद गुरुवार दूसरी टीम 90 ओवर में लक्ष्य का पीछा करने उतरेगी। गुरुवार को समापन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेश राय, जिला क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष विधायक सुदेश राय, एसडीएम बृजेश सक्सेना, कोतवाली थाना प्रभारी नलिन बुधोलिया, समाजसेवी नितिन कुशवाहा, पंकज गुप्ता, जिला क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव अतुल तिवारी, वीरु वर्मा और राहुल सिंह आदि विजेता टीम को ट्राफ और अन्य पुरस्कारों को वितरण करेंगे। प्रतियोगिता में पीपीसीए के कोच चेतन मेवाड़ा, अतुल त्रिवेदी और आदर्श राय ने सभी खेल प्रेमियों से खिलाडिय़ों का उत्साहवर्धन करने की अपील की है। अपील करने वालों में कोच मदन कुशवाहा, आशीष शर्मा, हेमंत केसरिया, राकेश धनगर, संजय पटेल, महेन्द्र शर्मा, अभिषेक परसाई, कमलेश पारोच, संतोष पांडे, नागेन्द्र व्यास, राजेश विलय, गौरव पिचोनिया, अतुल कुशवाहा, प्रकेंश राय, सचिन कीर, अमित शर्मा आदि शामिल है।


पडोसी ने फर्जी दस्तावेजों से हड़पा लिया वृद्धा का मकान और जमीन


sehore news
सीहोर। वृद्ध महिला की कृषि भूमि एवं मकान व बाड़ा फर्जी तरीके से हड़पने का मामला सामने आया है। वृद्ध महिला ने मंगलवार को जनसुनवाई में पहुंचकर कलेक्टर के नाम शिकायती पत्र देकर मदद गुहार लगाई है। फरियादिया जहूर बी पुत्री अमीर खां आयु 68 वर्ष ने बताया की पिता अनीर खां का देहांत 1972 में हो गया था पति और बच्चों के साथ अपने पिता के पास नसरुल्लागंज में रहती थी मेरे पति घर दामाद बनकर रहते थे पिता की मृत्यु के पश्चात् में एक मात्र वारिस हुं। मेरे पिता की पैतृक कृषि भूमि  8 एकड़ व मकान एंव बाड़ा. मिया मोहल्ला में मौजूद है। पिता ने कृषि कार्य के लिए सईद खां आ0 रसूल खां को काम पर रखा था। आठ माह पहले जानकारी मिली की मेरी जमीन को सईद एवं उसके पुत्रों ने ग्राम के ही जुबेर खां पुत्र वहीद खा पटेल को फर्जी तौर पर बेच दी है। विरोध करने पर सईद एवं उसके पुत्रों ने जान से मारने की धमकी दी। विधवा वृद्धा ने सईद खां से जमीन व मकान वापस दिलाने की मांग की है।

जिला पंचायत सीईओ को ज्ञापन देकर दी चेतावनी, जिम्मेदारों की अनदेखी के कारण गंदगी का अंबार लगा


sehore news
सीहोर। तीन बार प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और अनेक बार कलेक्टर को ज्ञापन देने के बाद भी ग्रामीणों की समस्या का निदान नहीं हो रहा है। जिम्मेदारों की अनदेखी के कारण गंदगी का अंबार लगा है। इसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। गांव में नियमित सफाई नहीं कराए जाने से जगह-जगह गंदगी के ढेर लगे हैं। नाले-नालियां जाम होने से गंदा पानी सड़क पर बहता रहता है। गंदगी से परेशान ग्रामीण कई बार जिम्मेदार लोगों से शिकायत कर चुके हैं। लेकिन साफ-सफाई पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। गांव में गंदगी पसरी होने के कारण मच्छर पनप रहे हैं और संक्रामक बीमारियां फैल रही हैं। ये आरोप अजमत नगर के ग्रामीणों ने लगाते हुए मंगलवार को एक ज्ञापन जिला पंचायत में सीईओ को दिया है। इस संबंध में ग्रामीणों का कहना है कि कुछ लोगों ने खुमान सिंह, विनय सिंह और जगन्नाथ के निवास के सामने से जाने वाले रास्ते पर गंदे पानी और गोबर और कचरे के ढेर लगा दिया है। इस गंदगी से क्षेत्र में बीमारी का संक्रमण बढ़ता जा रहा है और दुर्गंध से लोग परेशान हैं। ज्ञापन में ग्रामीणों का कहना है कि कुछ लोगों द्वारा गंदगी फैलाई जा रही है। ग्रामीण खुमान सिंह गुर्जर ने बताया कि लोगों द्वारा शिकायत करने के बाद भी सफाई व्यवस्था पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इस कारण लोगों को कचरे के ढेरों के ऊपर से होकर निकलना पड़ता है। बरसात के मौसम में स्थिति ज्यादा खराब हो जाती है, क्योंकि कचरे में पानी भर जाने से दुर्गंध आती रहती है। लंबे समय से सफाई नहीं कराए जाने के कारण नाले-नालियों की कचरे से अटे हुए हैं। नालियों में इतना कचरा भरा है कि पानी की निकासी नहीं हो पाती है और घरों का गंदा पानी रोड के ऊपर होकर बहता रहता है। ज्ञापन देने वालों में जगदीश, रामनारायण, कमल सिंह, जगन्नाथ, अजब सिंह, हेम सिंह, मेहर, सुनील, राजेन्द्र सिंह आदि शामिल हैं। एक तरफ तो प्रशासन स्वच्छता को लेकर जागरूकता अभियान चला रहा है और दूसरी तरफ कुछ लोगों की मनमानी के कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण खुमान सिंह का कहना है कि अब तक तीन बार इस संबंध में गांव के लोगों ने गंदगी करने वाले लोगों के खिलाफ ज्ञापन जिला पंचायत सीईओ को दिया है। इसके बाद भी जिम्मेदारों ने रोड पर खुलेआम कचरा फैलाने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। गंदगी और कीचड़ के कारण रोड से गुजरने वालों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है और बीमारी का संक्रमण भी बढ़ रहा है।

श्रीराम और कृष्ण की बाल लीला सुन भक्त हुए भाव विभोर


sehore news
सीहोर। शहर के चाणक्यपुरी स्थित श्री गोंदन सरकार धाम हनुमान मंदिर में अनंत श्री विभूषित पंडित श्री महावीर शरण चतुर्वेदी दद्दा जी की पुण्य स्मृति के उपलक्ष्य में जारी श्रीराम कथा के चौथे दिन कथा व्यास पंडित श्री राघवेन्द्राचार्य महाराज ने श्रीराम, लक्ष्मण, शत्रुघ्न, भरत के नामकरण श्रीराम की बाल लीला, गुरुकुल में विद्याध्ययन को जाना, अयोध्या में विश्वामित्र का आगमन, राजा दशरथ से यज्ञ रक्षा के लिए राम-लक्ष्मण को अपने साथ ले जाने का आग्रह करना, ताड़का वध अहिल्या उद्धार का प्रसंग सुनाया। इस मौके पर उन्होंने भगवान श्री कृष्ण की बाललीलाओं का वर्णन भी किया। उन्होंने कहा कि श्रीराम कथा में जीवन का सार छिपा है। राम कथा के श्रवण मात्र से ही मानव जीवन धन्य हो जाता है तथा मनुष्य जीवन के सारे दुखों का नाश हो जाता है। उसे हर स्थिति में एक समान रहने की सीख मिलती है। राम नाम तो कण-कण में व्याप्त है। मात्र कुछ ही वक्त निकालकर अगर कोई रामकथा सुन ले तो उसका जीवन सफल हो जाता है। आज हर किसी के जीवन में उतार-चढ़ाव है। ऐसे में रामकथा उन्हें सच्चाई का अहसास कराती है। बिना सत्संग के मानव का जीवन अधूरा होता है। जीवन के सारे कष्टों का निवारण सिर्फ राम कथा से ही संभव है। मानव जीवन में तीन चीजें बहुमूल्य है। अमूल्य मानव शरीर से, अमूल्य समय में, अमूल्य परमात्मा का नाम जप करना ही मोक्ष का खुला द्वार है। जीवन में धर्म को नहीं छोडऩा चाहिए। उन्होंने कहा कि ईश्वर भजन के पुण्य फल से भगवान प्राप्त होते हैं। संतोष धन ही सबसे बड़ा धन होता है। भगवान के भक्तों को अंतिम समय तक माया से सावधान रहना चाहिए। क्योंकि माया चिता तक पीछा नहीं छोड़ती। इसलिए भगवान का स्मरण आखिरी समय में अवश्य करना चाहिए।

आज किया जाएगा कथा का विश्राम

इस संबंध में जानकारी देते हुए पंडित जितेन्द्र चतुर्वेदी ने बताया कि  शहर के चाणक्यपुरी स्थित श्री गोंदन सरकार धाम हनुमान मंदिर में अनंत श्री विभूषित पंडित श्री महावीर शरण चतुर्वेदी दद्दा जी की पुण्य स्मृति के उपलक्ष्य में जारी श्रीराम कथा का बुधवार को समापन किया जाएगा। इस मौके पर श्रीराम कथा सुबह ग्यारह बजे आयोजित की जाएगी। इस मौके पर श्रद्धांजली, कथा विश्राम और हवन एवं प्रसादी का वितरण भी किया जाएगा। उन्होंने सभी श्रद्धालुओं ने कथा का श्रवण करने और प्रसादी ग्रहण करने की अपील की है। 


कलेक्टर ने वैक्सीनेशन की गति बढ़ाने के दिए निर्देश, कलेक्टर ने की विभागीय गतिविधियों तथा लंबित प्रकरणों की समीक्षा


sehore news
कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित टीएल बैठक में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने विभागों के समय सीमा वाले लंबित पत्रों तथा विभागीय गतिविधियों की विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जिले में वैक्सीन के द्वितीय डोज लगने से जो व्यक्ति शेष रह गए हैं, उनसे व्यक्तिगत सम्पर्क कर एक दिसम्बर को चलाए जाने वाले महाअभियान में द्वितीय डोज लगाया जाना सुनिश्चित करें। बैठक में श्री ठाकुर ने एक जिला एक उत्पाद के तहत बुधनी के खिलौने का चयन पश्चात बुधनी को टॉय कलस्टर के रूप में विकसित करने के लिए अधिकारियों को दायित्व सौंपते हुए समय सीमा में काम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने पात्र हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ दिलाया जाना सुनिश्चित करने के लिए योजनाओं की कमांड सेंटर द्वारा मानिटरिंग करने के निर्देश दिए। श्री ठाकुर ने लोगों की समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिए कलस्टर लेवल पर समस्या निवारण शिविर आयोजित करने के निर्देश भी दिए। जिले में खाद की उलब्धता तथा धान उपार्जन के लिए बनाए गए केन्द्रों पर सभी आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए। श्री ठाकुर ने सीएम हेल्पलाइन में लंबित प्रकरणों की विभागवार समीक्षा करते हुए सभी जिला अधिकारियों को उनके विभाग से संबंधित प्रकरणों का प्राथमिकता के साथ निराकरण सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे। 

जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10143 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या10021  हैं। आज 572 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 147, श्यामपुर से 150, नसरूल्लागंज 35, आष्टा से 152 तथा बुधनी से 61 तथा इछावर से 27 सैंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सैंपल 303743 हैं। जिनमें से 291665 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।आज 500 सैंपलो की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कुल 1864 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।


मुख्यमंत्री श्री चौहान का दौरा कार्यक्रम


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एक दिसंबर को प्रात: 11.10 बजे भोपाल से प्रस्थान कर प्रात: 11.30 बजे सलकनपुर पहुँचेंगे। यहां वे स्थानीय कार्यक्रम में शामिल होने के पश्चात दोपहर 12:30 बजे भोपाल के लिए प्रस्थान करेंगे।


कोविड के दोनो टीके लगवाएं और कोरोना से पूर्णतः सुरक्षा पाएं, कलेक्टर श्री ठाकुर ने जिले के नागरिकों से की अपील


कोरोना महामारी के खिलाफ टीका ही हमारा सुरक्षा कवच है, टीका अवश्य लगवाएं और कोरोना से पूर्णतः सुरक्षा पाएं। यह अपील कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले के उन सभी नागरिकों से की हैं जिनको कोविड का द्वितीय डोज लगना बाकी रह गया है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि जिले के नागरिको का शत-प्रतिशत टीकाकरण के लिए 10 नवम्बर को कोविड वैक्सीनेशन महाअभियान चलाया जाएगा। सभी नागरिकों से आग्रह है कि जिन्होंने अभी तक कोविड वैक्सीन का पहला डोज नहीं लगवाया है तथा वें नागरिक जिनका दूसरा डोज लगवाने का समय पूरा हो चुका है, वे एक दिसम्बर को अपने नजदीकी टीकाकरण केंद्र पर जाकर कोविड का टीका जरूर लगवाएं। कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि जिले में सभी टीकाकरण केंद्रों पर नागरिकों की सुविधाओं के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई है। नागरिक आगे आएं और महाअभियान में भागीदार बन अपना टीकाकरण कराएं।


एक दिसम्बर को कोविड टीकाकरण महा-अभियान

  • जनप्रतिनिधियों, धर्म गुरुओं और प्रशासनिक अधिकारियों ने कोविड का द्वितीय डोज लगाने की नागरिकों से की अपील
  • "कोरोना को हराना है, वैक्सीन लगवाना है" की थीम पर एक दिसम्बर टीकाकरण महाअभियान के तहत कलेक्टर एवं जनप्रतिनिधियों ने की नागरिको से अपील

कोरोना टीकाकरण महाअभियान के तहत 01 दिसम्बर को वैक्सीन का द्वितीय डोज निर्धारित केन्द्रों पर लगाया जाएगा। कलेक्‍टर श्री चन्‍द्र मोहन ठाकुर ने सभी कोरोना वॉलेंटिंयर्स,  जन-प्रतिनिधि, स्वयंसेवी संस्थाओं, धर्मगुरुओं, समाज सेवियों, विभिन्न संगठनों से कोरोना टीकाकरण महाअभियान में सहयोग देकर इसे पूर्ण रूप से सफल बनाने की अपील की है। कलेक्‍टर श्री चन्‍द्र मोहन ठाकुर ने कहा कि जिले में 01 दिसम्बर को कोविड वैक्‍सीनेशन महाअभियान चलाया जा रहा है। इस एक दिवसीय अभियान में उन्होंने सभी से अपील की है कि जिन्‍होंने दूसरा डोज नही लगवाया है। वे लोग वैक्‍सीनेशन सेंटर पहुंचकर वैक्‍सीनेशन अवश्‍य कराएं और स्वयं को कोरोना से सुरक्षित कर लें। सीहोर विधायक श्री सुदेश राय, आष्टा विधायक श्री रघुनाथ मालवीय, इछावर विधायक श्री करण सिंह वर्मा ने जिले के सभी नागरिकों से अपील करते हुए कहा है कि कोरोना से बचाव के लिए जिले में 01 दिसम्बर को वैक्सीनेशन महाभियान चलाया जा रहा है। ज्यादा से ज्यादा लोग इस अभियान से जुड़ें और अपने नजदीकी टीकाकरण केंद्र में पहुंचकर वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाएं।


कोरोना को हराना है, वैक्सीन लगवाना है।

धर्मगुरू श्री पृथ्वीवल्लभ दुबे एवं फादर रोहित चौहान ने जिले के सभी नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि एक दिसम्बर को प्रदेश के साथ ही सीहोर जिले में वैक्सीनेशन महाअभियान चलाया जा रहा है। सभी नागरिक अपने निकटतम टीकाकरण केंद्र पहुंचकर कोविड वैक्सीन का दूसरा डोज अवश्य लगवाएं। जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोवर सहित अनेक वरिष्ठ अधिकारियों ने जिले के सभी नागरिकों से कोविड वैक्सीनेशन टीकाकरण करवाने की अपील की है।


जनसुनवाई में आए आवेदनो का निराकरण करने दिए निर्देश


मंगलवार को कलेक्ट्रेट में आयोजित जनसुनवाई के दौरान शहर सहित जिले के दूर-दराज अंचलों से आए 33 आवेदकों ने अपनी समस्याओं से संबंधित आवेदन प्रस्तुत किए। प्रत्येक आवेदक से चर्चा कर उनकी समस्याएं जानी और संबंधित कार्यालय प्रमुखों को समय-सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिए।


समाधान योजना में सात हजार से अधिक उपभोक्ताओं ने कराया पंजीयन, 15 दिसंबर तक योजना का लाभ उठाएं


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के कार्यक्षेत्र में भोपाल, नर्मदापुरम्, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के 16 जिलों के निम्न आय घरेलू उपभोक्ताओं के बिजली बिलों के भुगतान के लिए लागू "समाधान योजना" में अब तक 7 हजार से अधिक उपभोक्ताओं ने योजना का लाभ लेने के लिए पंजीयन कराया है। योजना के तहत पहले विकल्प में कुल 6 हजार 319 उपभोक्ताओं एवं दूसरे विकल्प में 487 उपभोक्ताओं ने पंजीयन कराया है। कंपनी द्वारा उपभोक्ताओं को विकल्प के अनुसार योजना का लाभ प्रदान किया जा रहा है। कोरोना महामारी के चलते बिजली कंपनी द्वारा एक किलोवॉट तक के बिजली कनेक्शनों के बिलों की 31 अगस्त 2020 तक की मूल बकाया राशि एवं अधिभार की वसूली रोक दी गई थी। इस आस्थगित राशि के भुगतान में उपभोक्ताओं को राहत देने के उद्देश्य से "समाधान योजना" लागू की गई है। समाधान योजना के विकल्प में आस्थगित मूल राशि का 60 प्रतिशत एकसाथ भुगतान करने पर 100 प्रतिशत अधिभार की राशि एवं शेष 40 प्रतिशत मूल बकाया राशि माफ की जाएगी। दूसरे विकल्प के तहत आस्थगित मूल राशि का 75 प्रतिशत, 6 समान मासिक किश्तों में भुगतान करने पर 100 प्रतिशत अधिभार की राशि एवं शेष 25 प्रतिशत मूल बकाया राशि माफ की जाएगी। उपभोक्ता कंपनी के पोर्टल portal.mpcz.in के माध्यम से, कंपनी की अधिकृत पीओएस मशीन, यू-पेय एप, कॉमन सर्विस सेन्टर एवं एमपी ऑनलाइन के माध्यम से भी विकल्प का चुनाव कर भुगतान कर सकते हैं। विद्युत वितरण कंपनी ने स्पष्ट किया है कि "समाधान योजना में 15 दिसंबर 2021 तक विकल्प का चुनाव कर भुगतान करने वाले उपभोक्ताओं को ही इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। योजना की अंतिम तिथि तक किसी भी विकल्प का चुनाव नहीं करने वाले उपभोक्ताओं की बकाया राशि उनके आगामी माह के देयक में जोड़ कर दी जाएगी। बकायादार उपभोक्ताओं को आस्थगित बकाया राशि की सूचना एवं योजना के विकल्पों की जानकारी कंपनी में रजिस्टर्ड उनके मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से भी दी जा रही है। योजना के संबंध में अधिक जानकारी के लिए अपने नजदीकी विद्युत वितरण केंद्र मे संपर्क कर योजना का लाभ उठाएं।


रक्तदान शिविर में 43 लोगो ने किया रक्तदान


फॉर्मेसी सप्ताह के अवसर पर जिला चिकित्सालय में रक्तदान शिविर आयोजित किया गया। इस शिविर में श्री सत्यसांई चिकित्सा एवं तकनीकि संस्थान के फॉर्मेसी विभाग द्वारा वृहद् रक्तदान शिविर आयोजित कर 43 यूनिट रक्त संग्रहित किया गया।


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना-कृषकों से फसलों का बीमा करवाने की अपील


संभागायुक्त श्री गुलशन बामरा ने संभाग के सभी जिलों के कृषकों से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत अपनी रबी फसलों को बीमित करवाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि रबी सीजन शुरू हो गया है। सभी किसान बड़ी मेहनत से फसल का उत्पादन करते है। बुवाई से लेकर कटाई तक अपनी फसल ध्यान रखते है। जैसा की आप सभी जानते है कि फसल के अच्छे उत्पादन के लिए प्रकृति का सहयोग और अनुकूल होना बहुत जरूरी होता है। श्री बामरा ने कहा कि लेकिन कई बार मौसम परिवर्तन या किसी प्राकृतिक आपदा जैसे की बाढ़, आलोवृष्टि, सूखा, बेमौसम वर्षा, चक्रवाती वर्षा, बदल फटना, भू-स्खलन कीट व्याधि इत्यादि कारणों से कई बार फसलों का उत्पादन प्रभावित होता है, अपितु कृषक और उसके परिवार की आर्थिक रूप से भी हानि होती है। उन्होंने कहा है कि ऐसे में प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले नुकसान से कृषक की आर्थिक नुकसान से सुरक्षा प्रदान करने के लिए केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार मिलकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का संचालन करती है। संभाग के जिलों में इस योजना का क्रियान्वयन अलग-अलग इंश्योरेंस कंपनी कर रही है।  संभाग के समस्त कृषक बंधुओं से अपील की गई हे कि नजदीकी जन सेवा केन्द्र सीएससी सेंटर, अथवा बैंक शाखा में जाकर अपनी फसल का बीमा करवए। जिसमें कृषक को मात्र 1.5 प्रतिशत की प्रीमियम दर में बीमा सुरक्षा मिलती है।


कोरोना से बचाव के लिए अनुकूल व्यवहार अपनाने की अपील


कोरोना संक्रमण के नए वैरिएंट से बचाव के लिए लोगों को आम जीवन में  अनुकूल व्यवहारों को अपनाना जरूरी है। कोरोना से बचाव के लिए विशेषज्ञों ने अनुकूल व्यवहार का पालन करने की आम लोगों को सलाह दी है। इन व्यवहारों को अपनाने की सलाह देते हुए लोगों से कहा है कि अभिवादन के लिए आपस में उचित दूरी रखते हुए एक दूसरे का अभिवादन करें, एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर रखें, घर पर बना पुनः उपयोग होने वाला फेस कवर-मास्क हर समय पहनें, अपनी आँख, नाक या मुँह को छूने से बचें, अपनी श्वास स्वच्छता बनाएं रखें, अपने हाथों को नियमित रूप से और अच्छे से धोएं, अक्सर छुए जाने वाली सतहों को नियमित रूप से साफ और कीटाणु रहित करें। इसके अतिरिक्त तंबाकू उत्पादों का ना सेवन करें, ना सार्वजनिक स्थानों पर थूकें, अनावश्यक यात्रा ना करें, किसी के साथ भेदभाव ना करें, भीड़-भाड़ से बचें, सुरक्षित रहें, असत्यापित और नकारात्मक जानकारी को सोशल मीडिया पर प्रसारित ना करें, कोविड के बारे में विश्वसनीय स्त्रोतों से जानकारी लें, मानसिक तनाव या परेशानी होने पर मनोसामाजिक सहायता सेवाओं का सहयोग लें।


कोविड संक्रमण से बचाव के लिए सावधानियां बरतें- स्वास्थ्य विभाग


स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिये सावधानियां रखना अति आवश्यक है और कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिये हमे अपने व्यवहार में अनुकूल परिवर्तन लाना भी आवश्यक है और बार-बार अपनी आँख नाक और मुंह को छूने से बचें, दूर से अभिवादन करें न किसी से हाथ मिलाये, न गले मिले, आपस में दो गज की दूरी जरूर रखें। घर से बाहर निकलने पर हमेशा मास्क पहनें। खांसते और छींकते समय अपने मुंह तथा नाक को ढक कर रखे। श्वसन संबंधी शिष्टाचार का पालन करें। बार-बार साबुन तथा पानी अथवा अल्कोहल युक्त सेनेटाइजर से हाथों को धोयें। सार्वजनिक स्थानों पर न थूकें, तंबाकू गुटका खैनी पान आदि खाकर यहां-वहां न थूकें।  स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि बार-बार छुए जाने वाली सतहों को नियमित रूप से विसंक्रमित करें। अनावश्यक यात्रा से बचें। कोरोना को लेकर किसी से भेदभाव न करें। अनावश्यक भीड़भाड़ इकट्ठा न होने दें। अफवाहों पर ध्यान न दें और सोशल मीडिया पर किसी भी अपुष्ट जानकारी को प्रसारित न करें। सूचना के भरोसेमंद स्त्रोतों से ही जानकारी लें। आपस में सभी एक-दूसरे को मनोवैज्ञानिक रूप से सहयोग प्रदान करे।


गेहूं की फसल को जड़ माहू कीट से बचाएं


मौसम की प्रतिकूलता के कारण गेहूं फसल में जड़ माहू कीट का प्रकोप होने की संभावना रहती है। अतः किसान भाई अपने खेत की सतत निगरानी करें। 

                           

जड़ माहू कीट के लक्षण

यह कीट गेहूं फसल में पौधो की जड़ो से रस चूसता है जिसके कारण पौधा पीला पड़ने लगता है और धीरे-धीरे सूखने लगता है। शुरूआत में खेतों में जगह जगह पीले पडे़ हुए पौधे दिखाई देते है, बाद में पूरा खेत सूखने की संभावना रहती है।  

                           

जड़ माहू कीट की पहचान

यह कीट हल्के पीले रंग से गहरे हरे रंग का होता है जो जड़ों का रस चूसता हुआ दिखाई पड़ता है। गेहूं के पौधो को जड़ से उखाडने पर ध्यानपूर्वक देखने से यह कीट आसानी से दिखाई देता है।

                          

जड़ माहू कीट प्रबंधन

इस कीट के प्रबंधन हेतु इमीडाक्लोप्रिड 17.8 एसएल दवा की 70 एमएल मात्रा प्रति एकड अथवा एसीटोमेप्रिड 20 प्रतिशत एसपी दवा की 150 ग्राम मात्रा प्रति एकड़ अथवा थायोमिथाक्जॉक 25 प्रतिशत डब्ल्यूजी दवा की 50 ग्राम मात्रा प्रति एकड़ 150-200 लीटर पानी में घोल बनाकर पूरे खेत में अच्छी तरह से छिडकाव करें। यह दवाएं सिस्टेमिक प्रकार की होती है जिनसे पूरा पौधा जहरीला हो जाता हैं और जब कीट या रस चूसता है तो वह मर जाता है।


विश्व दिव्यांग दिवस 3 दिसम्बर को


सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण विभाग से प्राप्त जानकारी अनुसार दिव्यांग व्यक्ति (समान अवसर, अधिकार संरक्षण और पूर्ण भागीदारी) अधिनियम 2016 के अंतर्गत दिव्यांग व्यक्तियों के सामर्थ्य प्रदर्शन के लिए प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी विश्व दिव्यांग दिवस 03 दिसम्बर, 2021 को मनाया जाएगा।   विभाग बताया कि आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में कोविड-19 नियमों का पालन करते हुए मास्क अनिवार्य रूप से पहनना प्रतिबद्ध करें साथ ही भारत सरकार, राज्य सरकार, स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी की गई गाइडलाइन का पालन आवश्यक रूप से सुनिश्चित करते हुए विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का भी आयोजन किया जाए। ऐसे दिव्यांग जिनके दिव्यांगता प्रमाण-पत्र नहीं बने है। उनके दिव्यांगता प्रमाण-पत्र एवं युनिवर्सल आई.डी. बनाये जाने हेतु जिला मेडिकल बोर्ड के सदस्यों को आवश्यक निर्देश दिये गए।


राज्य रूपंकर कला पुरस्कार प्रदर्शनी - 15 जनवरी तक कलाकृतियाँ आमंत्रित


उस्ताद अलाउद्दीन खाँ संगीत एवं कला अकादमी द्वारा मध्यप्रदेश राज्य रूपंकर कला पुरस्कार प्रदर्शनी-2022 का आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश के ख्यातिलब्ध कलाकारों के नाम से स्थापित रूपंकर एवं ललित कलाओं के दस पुरस्कारों के लिए अकादमी ने  15 फरवरी 2022 तक कलाकृतियाँ आमंत्रित की हैं। प्रत्येक पुरस्कार की राशि 51 हज़ार रुपये है। प्रदर्शनी में दो कलाकृतियों मान्य की जाएगी और 25 से 55 वर्ष तक की आयु के कलाकार भाग ले सकेंगे। कलाकारों को कलाकृतियों के साथ प्रदर्शनी में प्रवेश शुल्क के रूप में दो सौ रुपये नकद जमा करना होंगे।  कलाकारों की मौलिक कलाकृतियाँ जो दिसम्बर 2020 के बाद सृजित हो मान्य की जायेंगी।   इच्छुक कलाकार अपनी कलाकृतियाँ उस्ताद अलाउद्दीन खाँ संगीत एवं कला अकादमी रवीन्द्रनाथ ठाकुर मार्ग, बाणगंगा चौराहा, भोपाल में 15 जनवरी, 2022 की शाम 5 बजे तक जमा करा सकेंगे। इसके बाद प्राप्त होने वाली कलाकृतियाँ स्वीकार नहीं की जायेगी। फेसबुक (www.facebook.com/kalamitrabpl) एवं अन्य माध्यम से डाउनलोड आवेदन विवरणिका की फोटो प्रतियां (ए4 साइज) भी प्रवेश-पत्र के रूप में स्वीकार की जायेगी।


मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा खादी वस्त्रों पर विशेष छूट


मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा आम जन को समस्त प्रकार के खादी वस्त्र, कबीरा खादी गारमेंट्स एवं ग्रामोद्योग विंध्या वैली उत्पाद क्रय को प्रोत्साहित करने के लिए 31 दिसम्बर 2021 तक समस्त प्रकार के खादी वस्त्रों की फुटकर बिक्री पर विशेष डिस्काउंट 20 एवं 10 प्रतिशत एवं विंध्या वैली के ब्रांड उत्पादों की फुटकर बिक्री पर 20 एवं 10 प्रतिशत विशेष डिस्काउंट दिया जाएगा।  राष्ट्रीय स्तर की खादी संस्थाओं एवं ग्रामोद्योग इकाईयों के उत्कृष्ट खादी उत्पाद एवं राज्य शासन की स्व-रोजगार मूलक योजनाओं के अन्तर्गत वित्त पोषित इकाईयों, स्व-सहायता समूहों द्वारा उत्पादित विंध्यावैली ब्राण्ड एवं अन्य ग्रामोद्योग सामग्री विक्रय हेतु उपलब्ध रहेंगे।


नेशनल लोक अदालत 11 दिसम्बर को


नेशनल लोक अदालत का आयोजन शनिवार 11 दिसम्बर 2021 को किया जायेगा। जिसमें सभी प्रकार के मामले निराकरण के लिए रखे जायेंगे। सभी विभागों के न्यायालयीन प्रकरण से संबंधित नोडल व समन्वय अधिकारियों से कहा गया है कि वे अपने विभाग से संबंधित शमनीय प्रकरण नेशनल लोक अदालत में रखें। इन सभी प्रकरणों की जानकारी अनिवार्य रूप से प्रिंसिपल रजिस्ट्रार उच्च न्यायालय की ई-मेल आई.डी. mphcisc@gmail.com  एवं महाधिवक्ता कार्यालय के ई-मेल आई.डी. sectionwb@gmail.com  पर भेजने के निर्देश है।  नेशनल लोक अदालत में प्रकरणों के निराकरण पर कोर्ट फीस पक्षकार को वापसी योग्य होती है। लोक अदालत में दोनों पक्षकारों की जीत होती हैं, किसी भी पक्ष की हार नहीं होती है। लोक अदालत में दोनों पक्षों की सहमति से मामला रखा जाकर सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में विवाद का निराकरण किया जाता है, जिससे पक्षकारों के अमूल्य समय तथा व्यय होने वाले धन की बचत होती है तथा पक्षकारों में परस्पर स्नेह भी बना रहता है। लोक अदालत में मामला अंतिम रूप से निराकृत होता है, इसके आदेश की कोई अपील अथवा रिवीजन नहीं होती है।


कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के चलते सावधानियां जरूरी - मुख्यमंत्री श्री चौहान


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने अपील की है कि तीसरी लहर जैसी किसी समस्या या आशंका को ध्यान में रखकर कोरोना से बचाव के सभी आवश्यक उपायों पर अमल करें। मास्क लगाएं, हाथों को समय-समय पर साफ करें और दूसरों से आवश्यक दूरी अवश्य बनाकर रखें। कुछ देशों में कोरोना के नए वेरिएंट के मामले सामने आ रहे हैं। अभी तक भारत में इसकी उपस्थिति की कोई सूचना नहीं है, लेकिन सावधानियाँ अत्यंत जरूरी है। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से प्रदेशवासियों से यह अपील की गई है।  मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपील में कहा है कि कोविड वैक्सीन अवश्य लगवाएँ। दिसम्बर माह तक वैक्सीन के दोनों डोज प्रदेश के सभी नागरिकों को लगाना हमारी प्राथमिकता है। यही कोरोना से बचाव का सबसे कारगर उपाय है। अभी सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक नहीं होगी लेकिन संक्रमण रोकने के सभी नियमों और सावधानियों का पालन प्रदेशवासी अवश्य करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि दूसरे देशों से मध्यप्रदेश आने वाले यात्रियों के संबंध में भारत सरकार के सर्विलांस नियमों का कड़ाई से पालन किया जाएगा। उन्होंने ने दूसरे देशों से आने वाले व्यक्तियों से असहयोगात्मक रवैया अपनाने की अपील की है। उन्होंने ने कहा कि जिन लोगों को संक्रमण के जरा भी लक्षण दिखते हैं, वे तुरंत टेस्ट करवाएँ। बिल्कुल भी असावधान न रहें, संक्रमण फैलने से रोकने के जो आवश्यक नियम हैं, उन सबका पालन करें। सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी। राज्य सरकार की कोशिश है कि तीसरी लहर न आ पाए।


सुशासन राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता: मुख्यमंत्री श्री चौहान


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में सुशासन की दिशा में कार्य करना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। लोगों को बिना लिये- दिये सेवा समय पर मिले, यह सुशासन है। पात्रों को सुविधाजनक ढंग से लाभ दिलाना सुनिश्चित किया जाये। हितग्राहीमूलक योजनाओं का लाभ बिना किसी असुविधा के लोगों को मिल सके, इसके लिए दढ़-संकल्पित होकर कार्य करें। उन्होंने ने लाभ स्वीकृति के बाद हितलाभ वितरण की प्रक्रिया को आधार से जोड़कर आसान और पारदर्शी बनाने के निर्देश दिए। सभी स्तरों पर टेक्नॉलॉजी का ऑटोमेशन करने के निर्देश दिए। उन्होंने 15 नवंबर से चलाये जा रहे सुशासन अभियान में जन-प्रतिनिधियों और क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों का भी सहयोग लेने को कहा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रत्येक ग्राम और प्रत्येक वार्ड में हितग्राही मूलक योजना की पात्रता के आधार पर छूटे हुए हितग्राहियों से आवेदन प्राप्त कर आवेदन प्राप्ति के अधिकतम 15 दिन बाद शिविर लगाकर जन-प्रतिनिधियों की उपस्थिति में हितग्राहियों को हित लाभ के स्वीकृति पत्र वितरित करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हर हाल में शिकायतों का समय-सीमा में निराकरण के निर्देश दिए।


भू-माफियाओं से मुक्त करायें जमीन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिन दबंगों एवं भू- माफियाओं ने जमीनों पर अतिक्रमण कर रखा है उसे मुक्त करायें। भू- माफिया से मुक्त कराई गई जमीन गरीबों को दें, जिससे उनके आवास बन सकें। हितग्राही मूलक योजनाओं का लाभ पहुँचाने के लिए पूरी ताकत से अभियान चलायें। पात्र हितग्राही लाभ से वंचित नहीं रहे। सीएम हेल्पलाइन, जन-सुनवाई, मुख्यमंत्री के भ्रमण और जनदर्शन में मिले आवेदनों का प्राथमिकता से निराकरण किया जाये। सभी कलेक्टर्स ध्यान देकर मुख्यमंत्री को प्राप्त आवेदनों का संवेदनशीलता के साथ संतुष्टिपूर्ण निराकरण करें। उन्होंने कहा कि सीएम हेल्पलाइन की शिकायतें अधिक समय तक लंबित न रहें।


पारदर्शी हो हितग्राहियों को हितलाभ वितरण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हितग्राहियों को लाभ स्वीकृत करने के बाद वितरण की व्यवस्था पारदर्शी ढंग से हो। जन-प्रतिनिधियों, समाज-सेवियों, क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की उपस्थिति में स्वीकृति पत्र बाँटे जाएँ। पात्र लोगों को योजनाओं का लाभ व्यापक प्रचार- प्रसार कर तेजी से पहुँचायें। हितग्राहियों को लाभ पहुँचाना सबसे महत्वपूर्ण अभियान है।


तीसरी लहर नहीं आने दी जाए

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना की समीक्षा करते हुए कहा कि ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए जहाँ भी पीएसए प्लांट की स्थापना हो रही है उन्हें चालू कराने की कार्यवाही क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की उपस्थिति में करें। इसके लिए पहले से ट्रायल रन कर लिया जाए। उन्होंने ने कहा कि सभी जिलों में 90 प्रतिशत से अधिक प्रथम डोज लगाने का लक्ष्य प्राप्त कर लिया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना के नए वेरिएंट की दुनिया भर में चर्चा है। इसलिए तीसरी लहर रोकने का हरसंभव उपाय करें। उन्होंने कहा कि जो लोग मास्क नहीं पहन रहे हैं उन्हें रोकना-टोकना शुरू करें। आवश्यक व्यवस्थाओं की समीक्षा कर चुस्त-दुरुस्त रहें। लापरवाही नहीं करें। मुख्यमंत्री ने सिकल सेल एनीमिया मिशन की समीक्षा करते हुए कहा कि यह लाल रक्त कोशिकाओं का अनुवांशिक रोग है। हीमोग्लोबिन की संरचना में बदलाव के कारण खून की कमी हो जाती है। इस रोग की जागरूकता के लिए जन-भागीदारी सुनिश्चित करें।


मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिनके पास रहने की जमीन नहीं है, उन्हें प्लाट देना अत्यंत महत्वपूर्ण अभियान है। रहने की जमीन का टुकड़ा बुनियादी अधिकार है। व्यवस्थित प्लाटों का आवंटन सुनिश्चित किया जाए। पात्र आवेदकों को चिन्हित कर सामूहिक रूप से पट्टे दिए जाएँ। धारणाधिकार योजना में भी समय-सीमा निर्धारित कर पट्टे दिये जायें। उन्होंने कहा कि भूमि के रिकॉर्ड से जुड़ी सभी सेवाएँ अत्यंत महत्त्वपूर्ण हैं। इन सेवाओं की डिलीवरी में और काम करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अविवादित नामांतरण, अविवादित बँटवारा प्रकरणों के निराकरण में भी गति लाने की आवश्यकता है। अभिलेख शुद्धिकरण अभियान के द्वारा लोगों को और जागरूक किया जाएँ। अभियान में जन-प्रतिनिधियों को भी जोड़े। उन्होंने ने कहा कि राजस्व विभाग से जुड़ी सभी सेवाएँ विधि और नियमों से बंधी होती हैं, इनमें किसानों के लिए किए गए परिवर्तनों और नियमों के सरलीकरण की जानकारी किसानों के संगठनों को होनी चाहिए। उन्होंने ने आवासीय भू-अधिकार योजना का क्रियान्यवन स्वमित्व योजना के सामान करने के निर्देश दिए। धारणधिकार योजना में और अधिक ध्यान दिया जाये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि ऋण पुस्तिका अब किसी भी समय ऑनलाइन निकाली जा सकेगी। इसे लोक सेवा केंद्र, एमपी ऑनलाइन केंद्र से प्राप्त किया जा सकेगा। उन्होंने ने साइबर तहसील की अवधारणा को 4-5 माह में मूर्त रूप देने के निर्देश दिए। जिससे अधिक से अधिक लोगों को इसका लाभ मिल सकें। उन्होंने ने निर्देशित किया कि भू-अभिलेखों में रिकॉर्ड किये जाने वाले ट्रांजेक्शन में ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग सुनिश्चित किया जाए।


रोजगार-स्वरोजगार के हों विशेष प्रयास

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि रोजगार के लिए नौकरी ही नहीं अन्य काम-धंधों पर ध्यान दिया जाए। स्वरोजगार के लिए शिविर लगाकर हितग्राहियों को लाभ पहुँचायें। रोजगार-स्वरोजगार मेला लगाने का प्लान तैयार करें। कलेक्टर ध्यान देकर समय-सीमा में स्व-रोजगार के लिए पात्र हितग्राहियों को लोन दिलायें। स्व-सहायता समूहों के लिये क्रेडिट लिंकेज का कार्य प्राथमिकता से करें। निर्धारित लक्ष्य को सर्वोच्च प्राथमिकता से प्राप्त करें। महिला स्व-सहायता समूहों के सशक्तिकरण के तेजी से प्रयास हों।  एक जिला- एक उत्पाद योजना के तहत तेजी से कार्य करें। इसकी रिपोर्ट सभी जिले भेजना सुनिश्चित करें।


रोजगार दिवस मनाया जाए

मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना में स्वामी विवेकानंद जी की जयंती पर रोजगार दिवस मनाया जाए। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम में रोजगार देने के कार्य में तेजी लायें। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में लोगों की मदद कर लाभान्वित करें। योजनाओं का लाभ दिलाकर मध्यप्रदेश का परिदृश्य बदला जा सकता है। रोजगार संबंधी योजनाओं को एक प्लेटफॉर्म पर लाकर लाभ दिलायें। उन्होंने ने कहा कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना प्रधानमंत्री स्वरोजगार सृजन कार्यक्रम, स्व-सहायता समूह, मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना, पीएम स्वनिधि, मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना, स्व-रोजगार ऋणों एवं निजी क्षेत्रों में रोजगार के माध्यम से प्रति माह 2 लाख तक रोजगार, स्व-रोजगार के अवसर उपलब्ध करा सकते हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी संबंधित विभागों को समन्वय पूर्व जिलों में प्रत्येक माह रोजगार दिवस आयोजित करने के निर्देश दिए। उन्होंने ने जिलों में डीएलसीसी की बैठक नियमित रूप से आयोजित करने एवं इनमें सभी योजनाओं की प्रभावी समीक्षा करने के निर्देश दिए।


जिला पंचायत में आयोजित किया गया विधिक साक्षरता शिविर

  • गाँव के प्रथम न्यायाधीश है सरपंच - प्रधान न्यायाधीश श्री चंद

सरपंच गाँव का प्रथम न्यायाधीश होता है। सरपंच पंचायत बुलाकर अथवा पंचो को बैठाकर आपसी विवादो का निपटारा करा सकते है। यह बात प्रधान जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री आरएन चंद ने जिला पंचायत में आयोजित विधिक साक्षरता शिविर में कहीं। प्रधान जिला न्यायाधीश श्री चंद ने कहा कि पंचायती राज व्यवस्था के प्रथम ध्रुव महात्मा गांधी थे। वे देश में पंचायत राज व्यवस्था के माध्यम से सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलकर न्याय व्यवस्था स्थापित करना चाहते थे। उन्होने कहा कि नेशनल लोक अदालत में भी आपसी राजीनामा के आधार पर प्रकरणों का निराकरण कराने में ग्राम सरपंच को श्रीकृष्ण की भूमिका निभानी चाहिए। प्रथम न्यायाधीश श्री संजय कुमार शाही ने भी नेशनल लोक अदालत में निराकरण किए जाने वाले प्रकरणो के बारे में जानकारी दी। शिविर में अपर जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री मुकेश कुमार दांगी ने जिला प्राधिकरण द्वारा आयोजित किये जाने वाले ‍शिविरों एवं विधिक सेवा प्राधिकरण की गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। सरपंचो को उनके ग्रामीण क्षेत्रों में 11 दिसम्बर को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत का  प्रचार-प्रसार कर ग्रामवासियों को जागरूक करने एवं न्यायालय में लंबित प्रकरणों को नेशनल लोक अदालत में राजीनामा के आधार पर निपटारा करने की अपील की है। शिविर में जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह, जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री अनीस अब्बासी, जनपद पंचायत सीईओ श्री सिद्धगोपाल वर्मा एवं ग्राम पंचायतों के सरपंच उपस्थित थे।               


कोविड के दोनो टीके लगवाएं और कोरोना से पूर्णतः सुरक्षा पाएं, कलेक्टर श्री ठाकुर ने जिले के नागरिकों से की अपील


कोरोना महामारी के खिलाफ टीका ही हमारा सुरक्षा कवच है, टीका अवश्य लगवाएं और कोरोना से पूर्णतः सुरक्षा पाएं। यह अपील कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले के उन सभी नागरिकों से की हैं जिनको कोविड का द्वितीय डोज लगना बाकी रह गया है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि जिले के नागरिको का शत-प्रतिशत टीकाकरण के लिए 01 दिसम्बर को कोविड वैक्सीनेशन महाअभियान चलाया जाएगा। सभी नागरिकों से आग्रह है कि जिन्होंने अभी तक कोविड वैक्सीन का पहला डोज नहीं लगवाया है तथा वें नागरिक जिनका दूसरा डोज लगवाने का समय पूरा हो चुका है, वे एक दिसम्बर को अपने नजदीकी टीकाकरण केंद्र पर जाकर कोविड का टीका जरूर लगवाएं। कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि जिले में सभी टीकाकरण केंद्रों पर नागरिकों की सुविधाओं के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई है। नागरिक आगे आएं और महाअभियान में भागीदार बन अपना टीकाकरण कराएं।


दो डोज पूर्ण, सुरक्षा संपूर्ण के संदेश को सार्थक कर रहे, बुजुर्गों ने कहा - कोरोना से निपटने टीका ही कारगर


जिले में वैक्सीनेशन को लेकर बुजुर्गो ने दो डोज पूर्ण, सुरक्षा संपूर्ण के संदेश को सार्थक किया  है। वैक्सीनेशन के बाद उनका कहना है कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन ही कारगर है। जिले की श्यामपुर तहसील के 80 वर्षीय  इनाम खां एवं छोकी बरखेड़ाखरेट निवासी 96 वर्षीय जानकी बाई ने वैक्सीन का दूसरा डोज लगाकर कोरोना से बचाव का संदेश दिया। नसरूल्लागंज तहसील के ग्राम खडगांव में 85 वर्षीय भगवती बाई तथा डीमावर में 84 वर्षीय लक्ष्मी बाई ने वैक्सीन का दूसरा डोज उत्साह के साथ लगवाया। वैक्सीन लगाने वाले सभी बुजुर्गों ने कहा कोरोना का बहुत बुरा समय उन्होंने अपनी आंखो से देखा है, कोविड का टीका ही इस गंभीर बीमारी से बचाव का उपाय है।


एड्स जन जागरूकता सप्ताह पर स्लोगन एवं भाषण प्रतियोगिता आयोजित


राष्ट्रीय सेवा योजना ने शासकीय चंद्रशेखर आजाद स्नातकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय में एड्स जन जागरूकता सप्ताह के तहत स्लोगन तथा भाषण प्रतियोगिता आयोजित की गई। इस प्रतियोगिता में एनएसएस के युवाओं ने बताया कि एड्स से बचाव के लिए सही जानकारी होना आवश्यक है। महाविद्यालय प्राचार्य डॉ उर्मिला सलूजा तथा कार्यक्रम अधिकारी डॉ जय सिंह यादव के निर्देश पर यह कार्यक्रम आयोजित किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: