बिहार : तेजस्वी ने नीतीश सुशील मोदी पर हमला बोला - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 29 नवंबर 2021

बिहार : तेजस्वी ने नीतीश सुशील मोदी पर हमला बोला

tejaswi-attack-nitish
पटना : बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के नीति आयोग वाले बयान पर पलटवार करते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि डेढ़ दशक तक नीतीश कुमार संग बिहार को गरीबी, पलायन और बेरोजगारी की गहरी अंधेरी खाई में धकेलने वाले ये महाशय कह रहे है कि ‘गीदड़ को शेर का मुखौटा लगा दो, वह शेर बन जाएगा’। विदित हो कि बीते दिन सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा कि नीति आयोग यदि इस आधार पर कोई रैंकिंग रिपोर्ट जारी करे कि सड़क, बिजली, पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य, कानून-व्यवस्था और प्रति व्यक्ति आय जैसे मानकों पर किसी राज्य ने 10 साल में कितनी प्रगति की है, तो इसमें बिहार सबसे आगे होगा। आयोग को राज्यों से परामर्श कर विकास की गति मापने वाले नये पैमाने बनाने चाहिए। सुमो ने कहा था कि नीति आयोग की जिस रिपोर्ट का हवाला दिया जाता है, वह एक तो 2015-16 के छह साल पुराने आंकड़ों पर आधारित है। दूसरे वह रिपोर्ट देश के पंजाब-गुजरात जैसे सम्पन्न राज्यों, गोवा-उत्तराखंड जैसे छोटे राज्यों और बिहार-उड़ीसा जैसे पिछड़े राज्यों की भिन्न आर्थिक-भौगोलिक परिस्थितियों का कोई आकलन नहीं करती। नीति आयोग को आबादी, संसाधन और क्षेत्रफल जैसे आधार पर राज्यों का वर्गीकरण करना चाहिए। फिर प्रत्येक वर्ग की प्रगति का आकलन करते समय यह भी ध्यान रखना चाहिए कि दस साल पहले वह राज्य दस मुख्य मानकों पर कहां खड़ा था। राज्यों के आकलन की नयी पद्धति विकसित होनी चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं: