विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 29 नवम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 29 नवंबर 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 29 नवम्बर

विदिशा अहमदपुर सड़क निर्माण के लिए विधायक भार्गव ने किया चक्काजाम, सड़क निर्माण के लिए 1 करोड़ 8 लाख रुपए मंजूर


vidisha news
विदिशा,  विदिशा अहमदपुर की खस्ताहाल सड़क से आवागमन को लेकर क्षेत्र के नागरिक कई दिनों से परेशान हैं।विधायक शशांक भार्गव को पिछड़ा वर्ग कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ शिवराज पिपरोदिया के साथ ग्रामीणों ने अपनी समस्या से अवगत करवाया।विधायक भार्गव ने पूर्व में भी सड़क निर्माण के लिए विभागीय अधिकारियों को पत्र लिखकर समस्या हल करने के निर्देश दिए थे लेकिन भाजपा सरकार की उदासीनता से कोई पहल नहीं की गई।पिछड़ा वर्ग कांग्रेस के आव्हान पर सरकार को चेतावनी देने के लिए विधायक भार्गव व पिछड़ा वर्ग कांग्रेस अध्यक्ष डॉ शिवराज पिपरोदिया ने ग्रामीणों के साथ ग्राम भाटनी के पुल पर आज दोपहर 12ः00 बजे से चक्का जाम किया। चक्काजाम में ग्राम भाटनी के अलावा अहमदपुर,  हांसुआ, आदमपुरए भोंरिया,  गुरारिया,  चिडोरिया, कछवा, बरखेड़ा, खरवई, परशुखेड़ी, जेतपुरा, सतपाड़ा, बेरखेड़ी जेतू के ग्रामीण भी शामिल हुए। चक्काजाम से पुल के दोनों ओर वाहनों की लंबी.लंबी कतारें लग गई। चक्का जाम की खबर मिलते ही प्रशासन सक्रिय हुआ और मौके पर एमपीआरडीसी के सहायक प्रबंधक डीके जैन जिला मैनेजर के साथ चक्काजाम स्थल पर पहुंचे।सड़क निर्माण के लिए राशि स्वीकृति और तीन हफ्ते के अंदर सड़क निर्माण कार्य शुरू करने की जिद पर अड़े विधायक भार्गव की अधिकारियों ने एमपीआरडीसी के संभागीय प्रबंधक एम एच रिजवी से दूरभाष पर चर्चा कराई जिन्होंने विदिशा.अहमदपुर.गढ़ी सड़क निर्माण के लिए 1 करोड़ 8 लाख रुपए राशि की स्वीकृति प्रदान की ओर 21 दिनों में सड़क निर्माण कार्य प्रारंभ करवाने का आश्वासन दिया। इसके बाद विधायक भार्गव व प्रदर्शनकारियों ने चक्काजाम खोला। मीडिया से चर्चा करते हुए विधायक भार्गव ने कहा की भारतीय जनता पार्टी की सरकार विदिशा के नागरिकों के साथ भेदभाव का व्यवहार कर रही है।मुख्यमंत्री अपने भाषणों में विदिशा को अपना घर कहते हैं।लेकिन उन्हें और उनके प्रतीकात्मक सांसद महोदय विदिशा की जन समस्याओं से कोई सरोकार नहीं है।विधानसभा क्षेत्र की जनता के हितों के लिए मेरा संघर्ष जारी रहेगा। इस दौरान प्रमुख रूप से नरेंद्र रघुवंशी, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष दीवान किरार, शिवचरण शर्मा, निलेश कृष्ण शास्त्री, महाराज सिंहए  उमराव सिंह कुशवाह, विजयकांत रैकवार, कुलदीप मीणा, हरिओम किरार, मुकेश मीणा, लालसिंह रघुवंशी, आकाश कुशवाह, रामभरोसे लोधी, आखेराम मीणा, चंद्रभान सिंह राजपूत, शाहबुद्दीन खान, इंद्रपाल राजपूत, चरण लोधीए तुलसीराम मीणाए हरिनारायण मीणा, भीकम मीणा, राजा मीणा, इंद्रजीत कुशवाहए अशरफ पठान, सुलेमान शाहए इंदल सिंह मीणा, रेहान खान, मालम साहू, अमर सिंह मीणा, गोपाल महाराजए घनश्याम शर्माए सुनील शर्माए हेमराज मीणाए प्रदीप शर्माए विक्रम मीणाए उमेश शर्माए धवल मीणाए शुभम विश्वकर्माए अमित मीणाए सौरभ मीणाए गोलू सेनए सरवन मीणाए दातार मीणाए राहुल मीणाए अरविंद प्रजापतिए  एम एल लहरियाए दशरथ सेनए दिलीप विश्वकर्माए संतोष गौड़, उमाशंकर अहिरवारए दिनेश विश्वकर्मा, रामदयाल यादवए हाकम खानए इदरीश पठानए हरप्रसाद रैकवार सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजन मौजूद रहे। 


कोरोना के नए वेरिएंट से सिर्फ चिंतित नहीं सावधान भी रहें, विद्यालयों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ लगेंगी कक्षाएँ

  • तीसरी लहर की आशंका को करना है निर्मूल, सभी स्तरों की क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों की बैठकें जल्द होंगी

प्रदेश में जीनोम सीक्वेंसिंग से जानेंगें संक्रमण की जानकारी, दवाइयों सहित सभी व्यवस्थाएँ करेंगे सुनिश्चित, टेस्ट संख्या प्रतिदिन 70 हजार तक बढ़ाएँगे, दिसम्बर तक सेकेंड डोज सभी को लगाने का लक्ष्य, सभी लोग मॉस्क लगाएँ, पर्याप्त दूरी भी रखें, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की आमजन से अपील

vidisha news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में नवम्बर माह में इस सप्ताह  कोरोना संक्रमण के लगभग 100 केस आए हैं, जो चिंता का विषय न भी हों लेकिन हमें सजग रहने का संदेश दे रहे हैं। हम कोरोना के नए वेरिएंट से चिंतित ही नहीं सावधान भी रहें। यही हमारी ड्यूटी है। प्रदेश में अभी स्कूल पचास प्रतिशत विद्यार्थी क्षमता के साथ खुले रहेंगे। अभिभावकों की सहमति से ही विद्यार्थी विद्यालय आएँगे। साथ ही ऑनलाइन शिक्षा का विकल्प उपलब्ध रहेगा। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को ध्यान में रखकर कोरोना से बचाव के सभी आवश्यक उपायों पर अमल किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज निवास पर प्रदेश में कोरोना नियंत्रण और वर्तमान स्थिति पर अधिकारियों के साथ चर्चा कर रहे थे। बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कुछ देशों में कोरोना के नए वेरिएंट के आने से उत्पन्न परिस्थितियों पर विचार-विमर्श किया। उन्होंने कहा कि दिसंबर माह में सभी लोगों को कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन का दूसरा डोज लगे और मध्यप्रदेश की उपलब्धि शत-प्रतिशत हो जाए, इसके पूरे प्रयास करना हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मास्क का उपयोग अनिवार्य है, सभी नागरिक इसका उपयोग करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिला और ब्लाक स्तर के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठकें बुलाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि किसी स्तर पर सावधानियाँ न हटे।


शीघ्र होंगी जिला और ब्लॉक स्तर के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठकें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि अभी सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक नहीं होगी, लेकिन संक्रमण रोकने के सभी नियमों और सावधानियों का पालन किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान एक दिसंबर को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों से चर्चा करेंगे।


मुख्यमंत्री श्री चौहान के प्रमुख निर्देश

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विदेशों में कोरोना के नए वेरिएंट के फैलने की सूचना है। अभी तक भारत में नए वेरिएंट की उपस्थिति की कोई सूचना नहीं है, लेकिन सावधानियाँ अत्यंत जरूरी है। इसलिए आज ही हमने बैठक करके कुछ फैसले किए हैं। विदेश से आने वाले यात्रियों पर नजर रखी जाएगी। जो लोग अन्य देशों की उड़ानों से आए हैं, उनका टेस्ट करवाने के साथ ही आवश्यक हुआ तो आइसोलेशन में रखा जायेगा। दूसरे देशों से मध्यप्रदेश में आने वाले यात्रियों के संबंध में भारत सरकार के सर्विलांस में नियमों का कड़ाई से पालन किया जाए। एक महीने में जितने भी लोग अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों से यहाँ आए हैं, उनकी कोरोना की जाँच करना है और अगर कोई कोरोना संदिग्ध पाया जाता है तो उसे आइसोलेशन में रखा जाए। प्रदेश में जीनोम सीक्वेंसिंग के सैम्पलों की भी संख्या बढ़ाई जाएगी, जिससे अगर कहीं कोरोना संक्रमण की कोई स्थिति बने तो जानकारी का अभाव न रहे। जीनोम सीक्वेंसिंग एक तरह से किसी वायरस का बायोडाटा होता है। कोई वायरस कैसा है, किस तरह दिखता है, इसकी जानकारी जीनोम से मिलती है। जितनी आवश्यक दवाइयाँ हैं, उनकी उपलब्धता सुनिश्चित कर ली जाए। चाहे वह रेमडेसिविर इंजेक्शन हो या अन्य दूसरी दवाइयाँ हों। अस्पताल में ऑक्सीजन की लाइनों से लेकर अन्य व्यवस्थाएँ, ऑक्सीजन प्लांट्स जो हमने लगाए हैं उनको भी चलाकर देखे क्योंकि कई जगह उसकी जरूरत पड़ ही नहीं रही थी और इसलिए जितनी आवश्यक तैयारी है वे सभी तैयारियाँ अस्पतालों में, दवाई की उपलब्धता के स्तर पर सुनिश्चित की जाए। प्रतिदिन हो रहे टेस्ट की संख्या भी बढ़ाई जाए। वर्तमान में 58 से 60 हजार टेस्ट प्रतिदिन हो रहे हैं, उसकी संख्या और बढ़ाए। यह प्रयास हो कि प्रतिदिन कम से कम 70 हजार टेस्ट अवश्य हों। भारत सरकार और डब्ल्यूएचओ के निर्देशों का पूरी तरह से पालन किया जाए। 18 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए सबसे ज्यादा सावधानी की जरूरत है क्योंकि उनका टीकाकरण नहीं हुआ है। इसलिए तय किया गया है कि तत्काल प्रभाव मतलब सोमवार से स्कूल खुलेंगे, लेकिन स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति 50 प्रतिशत होगी। स्कूलों में 50 प्रतिशत बच्चे एक दिन आएँगे और शेष 50 प्रतिशत बच्चे दूसरे दिन आएँगे। इस तरह सप्ताह में तीन दिन वे विद्यालय जाएँगे। इसके साथ ही स्कूलों को ऑनलाइन क्लासेज चालू करनी पड़ेगी, जिससे पालकों के पास विकल्प रहे कि अगर वे बच्चों को स्कूल नहीं भेजना चाहते तो ऑनलाइन पढ़ाई हो जाए। इसलिए विकल्प सामने रहे। पैरेंट्स की इच्छा होगी तभी बच्चे स्कूल जाएँगे। पैरेंट्स की अनुमति के बिना बच्चे स्कूल नहीं बुलाए जाएँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना वैक्सीन की सेकेण्ड डोज लगभग 62.5 प्रतिशत लोगों को लग चुकी है। टीके प्रतिदिन लग रहे हैं। एक दिसंबर को टीकाकरण का महाअभियान है। सभी से मैं अपील करता हूँ कि पूरी ताकत के साथ जुटकर शेष बचे लोगों को कोरोना की सेकण्ड डोज या फर्स्ट डोज लगाकर टीकाकरण पूरा किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 29 नवंबर को हो रही कलेक्टर-कमिश्नर्स कॉन्फ्रेंस में नए वेरिएंट को देखते हुए सभी आवश्यक निर्देश दिए जाएँगे। प्रदेश पूरी तरह से एलर्ट पर रहेगा। एक दिसंबर की प्रातरू क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों से चर्चा होगी। प्रत्येक स्तर की क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों को  हम तैयार रखेंगे कि अगर तीसरी लहर आती है तो उससे लड़ने के लिए पूरी तरह तैयार रहें। तीसरी लहर की आशंका को निर्मूल करना है। समाज के सहयोग के बिना लड़ाई जीतना कठिन होता है। पहले भी हमने समाज के सहयोग से ही लड़ाई जीती है। सबसे जरूरी है फेस मॉस्क लगाना और परस्पर दूरी बनाना। अभी हम कार्यक्रमों पर प्रतिबंध नहीं लगा रहे हैं। स्थिति पर नजर रखी जा रही है। लेकिन ये अपील और आग्रह सभी प्रदेशवासियों से है कि कार्यक्रम में जाएँ तो अनिवार्य रूप से मॉस्क लगाएँ। यथा-संभव दूरी भी बनाए रखें। हाथ पहले की तरह साफ रखें और संक्रमण के जरा भी लक्षण दिखते हैं तो तुरंत टेस्ट करवाएँ। अभी स्थिति चिंताजनक नहीं है। प्रमुख रूप से दो शहरों इंदौर और भोपाल में पॉजीटिव केस आ रहे हैं। इनकी संख्या भी ऐसी नहीं है कि जो हमारे में मन में डर पैदा करे। लेकिन सावधानी जरूरी है। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग भी जरूरी है। जो पॉजीटिव पाए गए हैं उनका पूरा ध्यान रखा जाए, उन्हें आइसोलेशन में रखा जाए, अस्पताल जाने की व्यवस्था आदि की जाए। अफ्रीका और दुनिया के कई देशों में नया कोरोना वेरिएंट जो ज्यादा तेजी से फैलता है, पाया गया है। इसलिए सावधानी आवश्यक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मैं  प्रदेशवासियों से अपील करता हूँ कि बिल्कुल भी असावधान न रहे, संक्रमण फैलने से रोकने के जो आवश्यक नियम हैं, उन सबका पालन करें। सरकार आपके साथ मिलकर कोई कसर नहीं छोड़ेगी। हमारी कोशिश रहेगी कि तीसरी लहर न आ पाए। विदिशा के एनआईसी कक्ष में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव, पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला के अलावा विभिन्न विभागो के जिलाधिकारी मौजूद रहें। कलेक्टर श्री भार्गव ने व्हीसी के उपरांत अधिकारियों को प्राप्त दिशा निर्देशो के अनुसार कार्यो को शीघ्रतिशीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिए है। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एपी सिंह, सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ संजय खरे को निर्देश दिए है कि कोरोना की तीसरी लहर को ध्यानगत रखते हुए तमाम प्रबंध अभी से सुनिश्चित किए जाए। आवश्यक दवाईयों, उपकरणो तथा पीपीई कीट इत्यादि की आपूर्ति में किसी भी प्रकार का अवरोध ना हो का विशेष ध्यान रखते हुए कार्यो का संपादन करें।


कलेक्टर ने कोरोना वायरस से बचाव के संसाधनो का उपयोग करने की आमजनों से अपील की


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले के सभी सम्मानीय नागरिकों से अपील की है कि कोविड की तीसरी लहर की संभावना को ध्यानगत रखते हुए बचाव को उपायों का पालन करें। हम सब अपने-अपने दायित्वों का निर्वह पालन कर जिले को कोरोना की तीसरी लहर से प्रभावित होने से वंचित रखें। कलेक्टर श्री भार्गव ने आमजनों से अपीलीय आग्रह किया है कि मास्क को पुनः प्रेक्टिस में लाकर पहनना आरंभ करने, कोविड के आने वाले खतरे से हम सपरिवार सुरक्षित रह सकें। किन्हीं कारणो से वैक्सीन का कोई भी डोज लगवाने से रहा गया है तो तुरंत वैक्सीन लगवा लें। हाथो की नियमित सफाई की आदत बनाए। भीड़ भाड वाले स्थानों पर जाने से बचें। यदि जाना आवश्यक है तो मास्क को लगाएं और फिजिकल डिस्टेंसिग का पालन पूर्वानुसार करें।  


झंडा दिवस की राशि जमा करें


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने झंडा दिवस के रूप में संकलित की जाने वाली राशि जमा कराने हेतु जिन विभागो को जिम्मेदारी सौंपी गई है उन विभागो के जिलाधिकारियों से उन्होंने शीघ्रतिशीघ्र राशि जमा कराने की बात कही है। सैनिको के कल्याण में उपयोग की जाने वाली उक्त राशि जमा कराने में जिला पीछे ना रहे का ध्यान रखते हुए उन्होंने जिला नाजिर कक्ष क्रमांक 144 में सशस्त्र सेना झंडा दिवस राशि पुनित मानवीय सेवार्थ हेतु जमा कर अनुग्रहित करें। 


मुख्यमंत्री बाल संवर्धन योजना, प्रदेश में विदिशा जिला द्वितीय स्थान पर


मुख्यमंत्री बाल संवर्धन योजना के अंतर्गत इस वर्ष के माह अपै्रल से अगस्त तक की क्रियान्वित सूची महिला एवं बाल विकास विभाग के संचालनालय द्वारा जारी की गई है। विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे ने बताया कि पूर्व उल्लेखित माह में विदिशा जिले में संपादित किए गए कार्यो के फलस्वरूप जारी प्रदेश स्तरीय सूची में विदिशा जिले ने द्वितीय रैंक हासिल की है। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे ने बताया कि अपै्रल से अगस्त 2021 में परियोजना स्तर से चिन्हित पंजीकृत सेम से मेम एवं सेम से सामान्य में हुए सुधार का 83 प्रतिशत कार्य पूर्ण होने पर जारी रैंकिंग सूची अनुसार विदिशा जिला प्रदेश में द्वितीय स्थान पर है।


एक लाख से अधिक की अवैध मदिरा जप्त, छह प्रकरण पंजीबद्ध


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में मिलावट खोरो के खिलाफ सघन अभियान सतत संचालित करने के निर्देश संबंधित विभागो के जिलाधिकारियों को दिए है के परिपालन में आबकारी विभाग द्वारा अवैध मदिरा के धारण परिवहन, निर्माण एवं विक्रय की रोकथाम हेतु विशेष पहल की जा रही है। जिला आबकारी अधिकारी श्री शैलेष जैन ने बताया कि विभाग के अधिकारियों की टीम उपरोक्त कार्यो को प्राप्त सूचनाओं के आधार पर अविलम्ब कार्यवाही कर मूर्तरूप दे रही है। सहायक आबकारी अधिकारी एवं नोडल अधिकारी श्री राहुल ढोंके के नेतृत्व में संचालित आबकारी विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा की जा रही कार्यवाही से अवैध मदिरा के क्रय विक्रय व भण्डारण व निर्माण पर अंकुश लगाने के कार्य संपादित किए जा रहे है। सहायक आबकारी अधिकारी श्री ढोंके ने बताया कि जिले में अवैध मदिरा का किसी भी प्रकार से निर्माण, विक्रय, परिवहन ना हो इसके लिए हर स्तर पर सूचनाएं प्राप्ति के लिए माइक्रोप्लान तैयार किया गया है। विभागो को विभिन्न स्तरों से प्राप्त होने वाले संदेशो के आधार पर छापामार कार्यवाही सतत की जा रही है। रविवार को विभिन्न ग्रामों में छापामार कार्यवाही कर करीब एक लाख दस हजार रूपए बाजार मूल्य की अवैध मदिरा एवं निर्माण पदार्थो को जप्त करने की कार्यवाही की गई है आबकारी विभाग के अधिकारियों ने अन्य विभागो के अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर रविवार को ग्राम जरदौली, राजापुर, रूसिया टपरा, खुरावली टपरा, भौरासा, बरेठ में दबिश देकर तीन अज्ञात आरोपी सहित आरोपी चमेली बाई, सोनम बाई, लक्ष्मी बाई के कब्जे से 70 लीटर हाथभट्टी तथा एक हजार छह सौ किलो ग्राम मिश्रित महुआ लहान जप्त कर आबकारी अधिनियमों के तहत कुल छह प्रकरण पंजीबद्ध किए गए है उपरोक्त कार्यवाही विभाग के उप निरीक्षक डॉ अर्चना जैन, श्री महेश विश्वकर्मा, श्री पुष्पेंन्द्र ठाकुर, तथा आबकारी आरक्षकों व होमगार्ड सैनिकों के संयुक्त समन्वय से संभव हुआ है। 


दिव्यांग बच्चों का चिकित्सीय परीक्षण व मूल्यांकन शिविर का आयोजन हुआ, 125 का स्वास्थ्य परीक्षण व 83 को उपकरण वितरण


vidisha news
दिव्यांग बच्चों का चिकित्सीय परीक्षण एवं मूल्यांकन शिविर का आयोजन आज जनपद शिक्षा केन्द्र विदिशा के परिसर में आयोजित किया गया था। शिविर में पंजीकृत किए गए 125 दिव्यांग बच्चों का चिकित्सीय परीक्षण एवं मूल्यांकन एलिमको उज्जैन के डाक्टरों की टीम के द्वारा एवं स्वास्थ्य विभाग के मेडिकल टीम के द्वारा परीक्षण किया गया है। शिविर में शामिल 83 दिव्यांगो को आवश्यक उपकरणों का वितरण अतिथियों के द्वारा किया गया है। दिव्यांग बच्चों के लिए आयोजित चिकित्सीय परीक्षण मूल्यांकन शिविर का शुभांरभ जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी तथा विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलित कर किया। जिला पंचायत अध्यक्ष श्री दांगी ने कहा कि दिव्यांग छात्र-छात्राओं का विशेष ध्यान राज्य सरकार द्वारा रखा जा रहा है। उन्होंने पालको से आग्रह किया कि वे सेवा भावी भाव से बच्चों की देखभाल करें। ऐसे बच्चें जिन्हें शासन की योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है उनके पालक तथा अभिभावकगण जानकारी में लाएं ताकि योजनाओं का लाभ प्राप्ति में किसी भी प्रकार का अवरोध ना हो सकें। विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव ने कहा कि जनपद शिक्षा केन्द्र विदिशा द्वारा दिव्यांग बच्चों के लिए विशेष शिविर आयोजित कर सराहनीय पहल की है। उन्होंने मेडिकल बोर्ड के सदस्यों से कहा कि सभी बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण करें, जिन्हें प्रमाण पत्र की आवश्यकता है उन्हें प्रमाण पत्र प्रदाय किया जा सकें। वहीं शासकीय योजना की पात्रता के लिए आवश्यक दस्तावेंजो की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएं। जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, विधायक श्री शशांक भार्गव ने परीक्षण कक्षों में पहुंचकर दिव्यांग बच्चों से संवाद किए वहीं परीक्षण गतिविधियों का अवलोकन भी किया गया है। इस अवसर पर बीआरसी श्री लक्ष्मण सिंह यादव, एपीसी श्रीमती ज्योति केदारे के द्वारा आयोजन के उद्धेश्यों पर गहन प्रकाश डाला तथा अतिथियों को जानकारियों से अवगत कराया है।


सत्यापन कार्य जारी


vidisha news
विदिशा नगरपालिका क्षेत्र में निवासरत ऐसे हितग्राही जिन्हें सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम के अंतर्गत पेंशनप्रदाय की जा रही है उन सभी हितग्राहियों के सत्यापन का कार्य वार्डवार शिविर आयोजित कर किया जा रहा है। मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री सुधीर सिंह ने बताया कि निकाय क्षेत्र के अब तक 4367 हितग्राहियों का सत्यापन कार्य पूर्ण किया जा चुका है। मंगलवार तीस नवम्बर को हितग्राहियो के सत्यापन संबंधी शिविर पुराना जिला दिव्यांग पुर्नवास केन्द्र, हलाली कालोनी में आयोजित किया गया है। यह शिविर प्रातः दस बजे से शुरू होगा जो सायं पांच बजे तक जारी रहेगा। नगरपालिका अधिकारी श्री सुधीर सिंह ने सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम के तहत पेंशन प्राप्त कर रहे हितग्राहियों से आग्रह किया है कि वे उपरोक्त शिविर में उपस्थित होकर दस्तावेंजो का सत्यापन कार्य अवश्य करा लें ताकि किसी भी प्रकार की असुविधाओं से बचा जा सकें। 


टीएल बैठक आज


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक प्रत्येक सोमवार को आयोजित की जाती है। इस सोमवार को मुख्यमंत्री जी द्वारा कलेक्टर्स, कमिश्नर्स कांफ्रेस का आयोजन किया गया था इस कारण से टीएल बैठक मंगलवार तीस नवम्बर को आयोजित की गई हैं यह बैठक नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में दोपहर तीन बजे से शुरू होगी।


आधार लिंक खाते में अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति सीधे जमा होगी


अल्पसंख्यक छात्रवृति योजनाएँ वर्ष 2021-22 के लिये विद्यार्थियों की स्वीकृत छात्रवृत्ति की राशि का भुगतान सीधे विद्यार्थियों के केवल आधार सीडेड बैंक खाते में ऑनलाइन हस्तांतरित की जाएगी। विद्यार्थी ने अपने ऑनलाइन आवेदन में अन्य बैंक खाते की जानकारी क्यों न भरी हो। विद्यार्थी का आधार सीडेड बैंक खाता सक्रिय मोड में होना अनिवार्य है ताकि छात्रवृत्ति का भुगतान विफल न हो। सहायक संचालक, पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण, ने बताया कि जिन विद्यार्थियों द्वारा अपने आवेदनों को भारत सरकार के छात्रवृत्ति पोर्टल पर बिना आधार के रजिस्टर कर ऑनलाइन आवेदन भरा गया है ऐसे प्रकरणों में नवीन छात्रवृत्ति अंतर्गत केवल आधार पंजीयन हेतु छात्रवृत्ति पोर्टल पुनः 31 दिसम्बर 2021 तथा नवीनीकरण छात्रवृत्ति अंतर्गत केबल आधार पंजीयन हेतु छात्रवृत्ति पोर्टल पुन 15 जनवरी 2022 तक खोला जाएगा। भारत सरकार द्वारा विद्यार्थियों को पोर्टल पर दर्ज किये गये मोबाइल नम्बर पर एसएमएस के माध्यम से सूचना दी जाएगी। उपरोक्त के संबंध में व्यापक प्रचार - प्रसार किया जाकर जिले में मान्यता प्राप्त समस्त शैक्षणिक संस्थाओं को सूचित किया जाये साथ ही शैक्षणिक संस्था के एल-1 के लिए अधिकृत नोडल अधिकारी से व्यक्तिगत अथवा दूरभाष पर संपर्क कर संस्था में अध्ययनरत विद्यार्थियों से वांछित कार्यवाही पूर्ण कराई जाना सुनिश्चित की जाएगी। 


विद्यार्थियों की पचास प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित कराने के निर्देश


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने आज जिला शिक्षा अधिकारी श्री अतुल मुदगल को निर्देश दिए है कि स्कूल शिक्षा विभाग के उप सचिव के द्वारा जारी निर्देशो का अनुपालन विदिशा जिले में भी सुनिश्चित किया जाए। गौरतलब हो कि प्रदेश के समस्त विद्यालयों की कक्षा एक से बारहवीं तक की कक्षाएं कोविड 19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए पचास प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित करने के दिशा निर्देश प्रसारित किए गए है। विद्यालयों में कक्षावार नियत दिवसों के अतिरिक्त अन्य दिवसों में डिजीटल माध्यम से ऑन लाइन कक्षाएं संचालित की जा सकेगी। समस्त विद्यालयों में अर्द्ववार्षिक परीक्षाएं पूर्व निर्धारित कार्यक्रम अनुसार संचालित होगी। जारी नवीन आदेश का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के भी निर्देश प्रसारित किए गए है। 


गेंहू की फसल को जड़ माहू कीट से बचाएं


मौसम की प्रतिकूलता के कारण गेंहू फसल में जड़ माहू कीट का प्रकोप होने की संभावना रहती है। अतः किसान भाई अपने खेत की सतत निगरानी करें।


जड़ माहू कीट के लक्षण

यह कीट गेंहू फसल में पौधो की जड़ो से रस चूसता है जिसके कारण पौधा पीला पड़ने लगता है और धीरे-धीरे सूखने लगता है। शुरूआत में खेतों में जगह जगह पीले पडे़ हुए पौधे दिखाई देते है, बाद में पूरा खेत सूखने की संभावना रहती है।


जड़ माहू कीट की पहचान

यह कीट हल्के पीले रंग से गहरे हरे रंग का होता है जो जड़ों का रस चूसता हुआ दिखाई पड़ता है। गेंहू के पौधो को जड़ से उखाडने पर ध्यानपूर्वक देखने से यह कीट आसानी से दिखाई देता है।


जड़ माहू कीट प्रबंधन

इस कीट के प्रबंधन हेतु इमीडाक्लोप्रिड 17.8 एसएल दवा की 70 एमएल मात्रा प्रति एकड अथवा एसीटोमेप्रिड 20 प्रतिशत एसपी दवा की 150 ग्राम मात्रा प्रति एकड़ अथवा थायोमिथाक्जॉक 25 प्रतिशत डब्ल्यूजी दवा की 50 ग्राम मात्रा प्रति एकड़ 150-200 लीटर पानी में घोल बनाकर पूरे खेत में अच्छी तरह से छिडकाव करें। यह दवाएं सिस्टेमिक प्रकार की होती है जिनसे पूरा पौधा जहरीला हो जाता हैं और जब कीट या रस चूसता है तो वह मर जाता है।


आईटीआई में रिक्त सीटों के लिए प्रवेश की अंतिम तिथि आज


आईटीआई में रिक्त विभिन्न ट्रेडो के लिए प्रवेश हेतु आवेदन आज 30 नवम्बर तक आमंत्रित किए गए है। तत्संबंध में अन्य जानकारी के लिए आईटीआई कार्यालय से कार्यालयीन दिवसों में अवधि में सम्पर्क कर प्राप्त की जा सकती है। जिन ट्रेडो में रिक्त स्थान होंगे उन ट्रेडो में भर्ती हेतु ऑनलाइन आवेदन दाखिल किए जा सकते है। एमपीआनलाइन पोर्टल पर पूर्व से रजिस्टर्ड आवेदक नई च्वाईस फिलिंग कर अथवा ऐसे आवेदक जिनका एमपी ऑनलाइन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन नही है वे आवेदक भी तीस नवम्बर तक ऑन लाइन पोर्टल से रिक्त सीटो की जानकारी प्राप्त कर स्पॉट रजिस्ट्रेशन एवं च्वाईस फीलिंग का प्रवेश ले सकेंगे।


आईडेंटिफिकेशन प्रतियोगिता में आवेदन करने की अंतिम तिथि आज


ईको पर्यटन विकास बोर्ड द्वारा आयोजित की जा रही फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी और ट्रैकिंग रूट आईडेंटिफिकेशन प्रतियोगिता में आवेदन करने की अंतिम तिथि आज 30 नवंबर 2021 है।  इसके साथ ही फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी प्रतियोगिता की शर्तों में संशोधन करते हुए प्रतिभागियों को न्यूनतम तीन ईको पर्यटन स्थलों के फोटोग्राफ्स या वीडियो की जगह अब न्यूनतम एक  ईको पर्यटन स्थल के फोटोग्राफ या वीडियो भेजे जाने आवश्यक होंगे। 

कोई टिप्पणी नहीं: