विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 03 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 3 दिसंबर 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 03 दिसंबर

 जिला पंचायत के अध्यक्ष पद हेतु आरक्षण प्रक्रिया 14 को


जिला पंचायत अध्यक्ष के पदो हेतु आरक्षण की कार्यवाही मंगलवार 14 दिसम्बर को नियत की गई है। आरक्षण संबंधी कार्यवाही जल एवं भूमि प्रबंधन संस्थान (वाल्मी संस्थान) भोपाल के ऑडिटोरियम में अपरान्ह 12 बजे से शुरू होगी। पंचायत राज संचालनालय के संचालक श्री आलोक सिंह के द्वारा जारी पत्र का हवाला देते हुए उप जिला निर्वाचन अधिकारी (स्थानीय निर्वाचन) ने बताया है कि मध्यप्रदेश पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम 1993 की धारा 32 एवं मध्यप्रदेश पंचायत (उप सरपंच, सरपंच, अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष) निर्वाचन नियम 1995 द्वारा प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुए एतद् द्वारा सर्वसंबंधितों की जानकारी हेतु सूचित किया जाता है कि मध्यप्रदेश की जिला पंचायतों के अध्यक्ष पद हेतु अनुसूचित जाति, अनूसूचित जनजाति, अन्य पिछडें़ वर्ग तथा सभी वर्गो में महिलाओं के लिए आरक्षण लॉट निकालकर किया जाना है। आरक्षण से संबंधित सम्पूर्ण कार्यवाही पूर्व उल्लेखित तिथि, स्थल एवं समय पर संपादित की जाएगी। 


विश्व विकलांग दिवस पर विविध कार्यक्रमो का आयोजन, दिव्यांगजनों को सदैव प्रोत्साहित करने का आव्हान


sehore news
आज विश्व विकलांग दिवस पर विदिशा जिला मुख्यालय पर विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया था। जिला खेल स्टेडियम परिसर में सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण तथा जिला शिक्षा केन्द्र (सर्व शिक्षा) के बैनर तले आयोजित कार्यक्रम में जिले के 250 से अधिक दिव्यांजनों ने विभिन्न प्रतियोगिता, सांस्कृतिक कार्यक्रमों में अपने हुनरो से दर्शकों का ध्यान आकर्षित कराया है। दिव्यांगजनों का हौंसला अफजाई करते हुए विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव ने कहा कि निःशक्तजन भी समाज के अंग है। शासन प्रशासन उनकी मदद के लिए सदैव तत्पर है। हम सबका भी दायित्व है कि वे किसी भी प्रकार से अपने-आप को कमजोर ना समझें की सीख देते हुए दिव्यांगों को आत्म निर्भर होने की ओर अभिप्रेरित करें। विदिशा जनपद पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती रामदेवी रंधीर सिंह ने दिव्यांग बच्चों के द्वारा बनाई गई रंगोली की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे भी किसी ना किसी क्षेत्र में हुनर रखते है अतः हम सबका दायित्व है कि हम उनकी कलाकृति के हुनर को बढावा देने का प्रयास करें। पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन ने कहा कि शासन की अनेक योजनाएं दिव्यांगो के पुर्नरोत्थान हेतु संचालित की जा रही है। पढाई के क्षेत्र में पीछे ना रहे इसके लिए दिव्यांग बच्चों के लिए विशेष विद्यालय संचालित किए जा रहे है। उन्होंने दिव्यांग बच्चों की मदद हेतु संचालित स्वंयसेवी संस्थाओं के कार्यो की भी उन्होंने भूरि-भूरि प्रशंसा की है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने दिव्यांग बच्चों से मिलकर उनका हौंसला अफजाई किया। साथ ही स्वंयसेवी संस्थाओं के संचालकों से कहा कि वे जिले में दिव्यांगो के लिए नवाचार की ओर अग्रसर हो। शासन प्रशासन की जहां मदद की जरूरत पडें तो संज्ञान में जरूर लाएं।


सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति

विश्व विकलांग दिवस आयोजन स्थल पर जिले में संचालित दिव्यांगजनों के पुर्नरोद्वार संस्थाओं में अध्ययनरत दिव्यांग छात्र-छात्राओं के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां प्रस्तुत की गई। जिसे अतिथियों के अलावा अन्य ने एकटक देखा और करतल ध्वनि से हौंसला अफजाई किया। दिव्यांगजनों के द्वारा एकल -सामूहिक गान एवं नृत्य के अलावा फेंसी ड्रेस प्रतियोगिता में सहभागिता निभाई है।


खेल में हुनर दिखाया

दिव्यांगजनों के लिए आयु वर्ग एवं दिव्यांगता ग्रुप आधार पर दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। उपरोक्त प्रतियोगिता के विजेताओं एवं अन्य के लिए अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया गया।


पुरस्कृत

कार्यक्रम में सम्मिलित हुए सभी दिव्यांगजनों को अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया गया है। विभिन्न विधाओं में आयोजित खेल सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले दिव्यांग भी पुरस्कृत हुए है।


मोटराईज्ड ट्राय-साइकिल प्रदाय

एडीपी योजना अंतर्गत बैटरी चलित मोटराईज्ड ट्राय-साइकिल आज विश्व विकलांग दिवस पर हितग्राहियों को प्रदाय की गई है। विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव ने स्वेच्छानिधि से तीन हितग्राहियों के लिए मोटराईज्ड ट्राय-साइकिल प्रदाय करने हेतु 17-17 हजार रूपए का अंशदान दिया है। जबकि शेष 25 हजार रूपए की राशि भारत सरकार के द्वारा प्रदाय की गई हैं इस प्रकार प्रत्येक मोटराईज्ड ट्रायासाइकिल की कीमत 42-42 हजार रूपए है। विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव, कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने आज अपने हाथो से जिन तीन दिव्यांगजनों को बैटरी चलित मोटराईज्ड ट्रायसाइकिल प्रदाय की है उनमें भगत सिंह कालोनी विदिशा के श्री गणेशराम कुमशवा, बंटीनगर के श्री प्रभुलाल सेन तथा ग्राम बेहलोट के श्री ख्याली वंशकार शामिल है। कार्यक्रम में सामाजिक न्याय एवं निःशक्त कल्याण विभाग के संचालक डॉ पीके मिश्रा ने आयोजन के उद्वेश्यों को रेखांकित करते हुए स्वागत प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन श्री विजय श्रीवास्तव ने किया इस अवसर पर स्वंयसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि, विभिन्न विभागो के अधिकारी, कर्मचारी व दिव्यांगजनों के पुनरोत्थान हेतु संचालित संस्थाओं के पदाधिकारी, बच्चे तथा स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे। 

 

आर्थिक मदद जारी


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना के एक प्रकरण में आर्थिक सहायता के आदेश जारी कर दिए है। जारी आदेशानुसार मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना के तहत नटेरन तहसील के ग्राम जौहद निवासी तुलसीराम पुत्र श्री लालजी देशवारी की मृत्यु खेत में पडे़ पाईप लाइन को उठाते समय खेत में पडें बिजली तार से करंट लगने से मृत्यु होने पर मृतक की वारिस पत्नि श्रीमती विद्याबाई देशवारी को चार लाख रूपए की एवं अंत्येष्टि अनुदान चार हजार रूपए इस प्रकार कुल राशि चार लाख चार हजार रूपए की आर्थिक सहायता अनुदान राशि स्वीकृत की गई है।


आपकी सरकार आपके साथ, आयोजन, उद्धेंश्यों से अवगत हुए


vidisha news
विदिशा जिले में भी आपकी सरकार आपके साथ, कार्यक्रम अंतर्गत हितग्राहियों मूलक योजनाओं का लाभ पात्रताधारियों को शत प्रतिशत दिलाया जाना सुनिश्चित किया जाएगा। आयोजन के उद्धेश्यों, क्रियान्वयन बिन्दुओं से अवगत कराते हुए आज एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन जिला मुख्यालय पर किया गया था। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित उपरोक्त बैठक व प्रशिक्षण में समस्त एसडीएम सहित अन्य विभागो के जिलाधिकारी मौजूद रहें। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने आपकी सरकार आपके साथ आयोजन की मंशा को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि शासन के दिशा निर्देशानुसार जिन विभागों के माध्यम से हितग्राहीमूलक योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है वे नवीन चिन्हांकित हितग्राहियों को शत प्रतिशत लाभांवित करेंगे ताकि विभागीय योजनाओं के लाभ से कोई वंचित ना रहें। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यक्रम के तहत क्रियान्वयन हेतु पृथक-पृथक दल गठित किए गए है। निकायों में मुख्य नगरपालिका अधिकारी तथा जनपदों में जनपद सीईओ की महत्वपूर्ण भूमिका रहेंगी। सम्पूर्ण कार्यक्रम की मॉनिटरिंग का दायित्व एसडीएम को सौंपा गया है। शासकीय कार्यालय एवं कार्य में सुशासन के आश्य, हितग्राहीमूलक योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राही को दिलाया जाना, इसके लिए तिथिवार संपादित किए जाने वाले कार्य, क्रियान्वयन हेतु अधिकृत अधिकारी की जानकारी भी इस दौरान दी गई हैं। जिला पंचायत सीईओ श्री योगेश भरसट ने कहा कि यह सुनहरा अवसर है कि हम योजनाओं के पात्रताधारियों को अविलम्ब योजना से लाभांवित कर उनके जीवन में आशातीत परिवर्तन ला सकते है। उन्होंने जनपदों के सीईओ से कहा है कि इस कार्य में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका है अधिकांश हितग्राही ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करते है। उन्हें योजनाओं की जानकारी नही रहती है इस कारण से वह कई बार पात्रता होने के बावजूद लाभ नही उठा पाते है। अतः हम सबका नैतिक दायित्व है कि डोर-टू-डोर सर्वे कर चिन्हित पात्रता हितग्राही को संबंधित योजना का लाभ अनिवार्य रूप से दिलाया जाए। इसके लिए सेक्टर स्तर पर अधिकारियों को दायित्व सौंपा गया है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में सामाजिक न्याय विभाग, श्रम विभाग, महिला एवं बाल विकास, स्वास्थ्य, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति तथा ग्रामीण विकास विभाग, ऊर्जा विभाग, पशुपालन, कृषि, उद्यानिकी, आदिम जाति कल्याण विभाग, स्कूल शिक्षा, राजस्व इत्यादि विभागो के माध्यम से क्रियान्वित योजनाओं पर उनके द्वारा प्रकाश डाला गया है। 


ग्रामीण शालाओं व आंगनबाड़ी केन्द्रों में ‘नल से जल’ की व्यवस्था, जल मिशन कार्यों को तीव्र गति से पूरा करेंः कलेक्टर


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के निर्देशन में जल मिशन कार्यों के अंतर्गत ग्रामीण शालाओं व आंगनबाड़ी केन्द्रों में नल से जल की व्यवस्था के कार्य तीव्र गति से संचालित किए जा रहे हैं। जिले की समस्त ग्रामीण शालाओं एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में नल से जल की व्यवस्था के लिए जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में कार्य किए जा रहे हैं। जिनमें विदिशा विकासखण्ड, नटेरन, ग्यारसपुर, बासौदा, कुरवाई, सिरोंज व लटेरी शामिल हैं। इन विकासखण्डों के अंतर्गत आने वाली प्राथमिक शालाओं, हाई स्कूल सहित समस्त आंगनबाड़ी केन्द्रों तक नल से जल की व्यवस्था कार्यों के माध्यम से सतत प्रयास किए जा रहे हैं। विदिशा विकासखण्ड की कुल 360 शालाओं में से 180, नटेरन की 340 शालाओं में से 235, ग्यारसपुर की 232 में से 154, बासौदा की 373 में से 202, कुरवाई की 248 में से 101, सिरोंज की 335 में से 200 और विकासखण्ड लटेरी की 219 शालाओं में से 143 शालाओं में नल से जल कार्यों को पूर्ण कर लिया गया है। वहीं विदिशा विकाखण्ड के आंगनबाड़ी केन्द्रों में कुल 165 में से 73, नटेरन के आंगनबाड़ी केन्द्रों में कुल 131 में से 115, ग्यारसपुर के आंगनबाड़ी केन्द्रों में कुल 107 में से 59, बासौदा के आंगनबाड़ी केन्द्रों में कुल 165 में से 75, कुरवाई के आंगनबाड़ी केन्द्रों में कुल 148 में से 63, सिरोंज के आंगनबाड़ी केन्द्रों में कुल 163 में से 89, लटेरी के आंगनबाड़ी केन्द्रों में कुल 146 में से 79 आंगनबाड़ी केन्द्रों में नल से जल पहुंचाने की व्यवस्था के कार्यों को पूर्ण कर लिया गया है। विदिशा जिले अंतर्गत कुल 2107 शालाएं हैं जिनमें से 1215 शालाओं के कार्य पूर्ण कर लिए गए हैं। वहीं कुल 1025 आंगनबाड़ी केन्द्रों में से 553 आंगनबाड़ी केन्द्रों में नल से जल की व्यवस्था के कार्य पूर्ण कर लिए गए हैं। शेष शालाओं और आंगनबाड़ी केन्द्रों में नल से जल की व्यवस्था के कार्य प्रगति पर हैं। कलेक्टर श्री भार्गव द्वारा संबंधितों को निर्देशित किया गया है कि ग्रामीण शालाओं एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में शेष रह गए कार्यों का समयवधि में पूरा करा लिया जावे।


अनुसूचित जाति वर्ग के बीपीएल हितग्राहियों को बैकयार्ड मुर्गी पालन 100 प्रतिशत अनुदान


पशुपालन एवं डेयरी विभाग ने बताया कि अनुसूचित जाति उपयोजना के लिये विशेष केंद्रीय सहायता मद के अंतर्गत वर्ष 2021-22 के लिये आय सृजनात्मक योजना (बैकयार्ड मुर्गी पालन) के लिये अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना अंतर्गत चयनित ग्रामों के अनुसूचित जाति वर्ग के बीपीएल हितग्राहियों को बैकयार्ड मुर्गी पालन 100 प्रतिशत अनुदान से लाभांवित कर पोषण आहार तथा अतिरिक्त आय उपलब्ध कराई जानी है। योजना के अंतर्गत प्रत्येक हितग्राही को लो इनपुट टेक्नोलॉजी वाले 28 दिवसीय 90 चूजे 2 किश्तों में 6 माह के अंतराल में प्रदाय किए जाने है। चूजों के साथ 40.5 किलोग्राम कुक्कुट आहार तथा दडवा बनाने के लिये 2 हजार 200 रूपये राशि का प्रावधान है। 


नेशनल लोक अदालत का आयोजन 11 दिसम्बर को


राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के दिशा-निर्देशानुसार 11 दिसम्बर, 2021 (शनिवार) को ‘‘राष्ट्रीय लोक अदालत’’ का आयोजन किया जायेगा। राष्ट्रीय लोक अदालत में विभिन्न न्यायालयों में लंबित प्रकरण जैसे क्लेम प्रकरण, सिविल प्रकरण, विद्युत प्रकरण, धारा 138 एन.आई.एक्ट के प्रकरण, वैवाहिक प्रकरण, भू-अर्जन, श्रम प्रकरण, उपभोक्ता विवाद संबंधी मामले, राजीनामा योग्य दांडिक प्रकरण, सर्विस मैटर व जिला न्यायालय में लंबित राजस्व मामलों के साथ प्रस्तुत होने वाले प्री-लिटिगेशन मामलों को आपसी समझौते की प्रक्रिया हेतु रखा जाना हैं। प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत चयनित ग्रामो में प्राथमिकता के अनुसार कार्य किया जाना है। चयनित ग्रामों में हितग्राही नहीं मिलने पर अन्य ग्राम के हितग्राहियों का चयन किया जा सकता है। उन्होंने अनुसूचित जाति वर्ग के बीपीएल हितग्राहियों से निकट की पशु चिकित्सा संस्था से संपर्क कर योजना का लाभ ले सकते हैं।


पशुपालकों से नवीन पशुधन बीमा योजनांतर्गत बीमा कराने की अपील


पशुपालक अपने पशुधन का बीमा करायें। राष्ट्रीय पशुधन मिशन अंतर्गत नवीन पशुधन बीमा योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। योजना में पशुपालकों को पशु की मृत्यु होने पर हुई आर्थिक हानि में राहत मिलती है। योजना में समस्त पशुधन जैसे गाय, भैंस, घोड़ा, बकरी आदि को शामिल किया गया है। योजनांतर्गत प्रति परिवार अधिकतम पांच पशुओं का बीमा करा सकते हैं। बीमे की अधिकतम राशि 55 हजार रूपये तक हो सकती है तथा प्रीमियम दर एक वर्ष के लिए 2.92 प्रतिशत है, जिसमें सामान्य वर्ग के लिए 50 प्रतिशत अनुदान तथा बीपीएल, एससी, एसटी के लिए 70 प्रतिशत अनुदान शासन द्वारा दिया जाता है। पशुपालक अधिक जानकारी के लिए अपने निकटतम पशु चिकित्सालय प्रभारी से संपर्क कर सकते हैं।


एसडीएम कोविड से मृत्यु के अनुग्रह राशि के आवेदनों का परीक्षण कर प्रस्तुत करेंगे


मध्यप्रदेश शासन द्वारा कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु पर अनुग्रह राशि मृतक के वारिसान को 50 हजार रूपये पात्रता अनुरूप प्रदाय किये जाने के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किये गये है। समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अपने-अपने क्षेत्र में कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु होने पर अनुग्रह राशि प्रदाय किये जाने हेतु आवेदक, वारिसान से आवेदन पत्र (परिशिष्ट-03) में प्राप्त करेगें। 


गैर-वित्तीय संस्थाओं के प्रति सावधान और सचेत रहने  की सलाह


कलेक्टर ने नागरिकों से असामान्य रूप से रिटर्न या सस्ते लोन देने वाली गैर-वित्तीय संस्थाओं के प्रति सावधान और सचेत रहने का आग्रह किया  है। आम नागरिकों से ऐसी संस्थाओं के पंजीयन के प्रति जागरूक रहने एवं उनकी प्रामाणिकता के संबंध में पहले जाँच पड़ताल करने की अपील की गयी है। ऐसी संस्थाओं के जमाकर्ताओं के लिये जागरूकता अभियान  भी चलाया जायेगा। गैर-वित्तीय संस्थाओं, कंपनियों के जमाकर्ताओं को संभावित आर्थिक धोखाधड़ी से बचाने के लिये जागरूकता अभियान शुरू किया जायेगा। सभी अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि वे समय-समय पर ऐसी संस्थाओं में  जमाकर्ताओं के हितों का संरक्षण अधिनियम और अनियमित जमा प्रतिबंध अधिनियम के प्रावधानों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करें। जमाकर्ताओं और आम जनता और सरकार के बीच परस्पर विश्वास बनाने रखने के लिये दोषी संस्थाओं पर सख्ती बरतते हुए कार्रवाई जारी रखने के निर्देश दिये गये हैं।


’खाद क्रय करते समय पक्का बिल अवश्य लें’


संयुक्त संचालक कृषि ने संभाग के सभी जिलों के समस्त कृषकों से अनुरोध किया है कि रबी मौसम की बुआई के दौरान खाद, बीज का क्रय जिन संस्थाओं से करते है, उसका पक्का बिल अवश्य लें । यदि कोई व्यापारी, दुकानदार पक्का बिल देने में आनाकानी करता है अथवा समय पर बिल नही देता है तो अविलम्ब इसकी जानकारी स्थानीय एसडीएम के संज्ञान में अवश्य लाएं । ताकि संबंधित विक्रेता के खिलाफ जांच पड़ताल कर कठोर कार्यवाही की जा सकें ।


आधार लिंक खाते में अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति सीधे जमा होगी


अल्पसंख्यक छात्रवृति योजनाएँ वर्ष 2021-22 के लिये विद्यार्थियों की स्वीकृत छात्रवृत्ति की राशि का भुगतान सीधे विद्यार्थियों के केवल आधार सीडेड बैंक खाते में ऑनलाइन हस्तांतरित की जाएगी। विद्यार्थी ने अपने ऑनलाइन आवेदन में अन्य बैंक खाते की जानकारी क्यों न भरी हो। विद्यार्थी का आधार सीडेड बैंक खाता सक्रिय मोड में होना अनिवार्य है ताकि छात्रवृत्ति का भुगतान विफल न हो। सहायक संचालक, पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण, ने बताया कि जिन विद्यार्थियों द्वारा अपने आवेदनों को भारत सरकार के छात्रवृत्ति पोर्टल पर बिना आधार के रजिस्टर कर ऑनलाइन आवेदन भरा गया है ऐसे प्रकरणों में नवीन छात्रवृत्ति अंतर्गत केवल आधार पंजीयन हेतु छात्रवृत्ति पोर्टल पुनः 31 दिसम्बर 2021 तथा नवीनीकरण छात्रवृत्ति अंतर्गत केबल आधार पंजीयन हेतु छात्रवृत्ति पोर्टल पुन 15 जनवरी 2022 तक खोला जाएगा। भारत सरकार द्वारा विद्यार्थियों को पोर्टल पर दर्ज किये गये मोबाइल नम्बर पर एसएमएस के माध्यम से सूचना दी जाएगी। उपरोक्त के संबंध में व्यापक प्रचार - प्रसार किया जाकर जिले में मान्यता प्राप्त समस्त शैक्षणिक संस्थाओं को सूचित किया जाये साथ ही शैक्षणिक संस्था के एल-1 के लिए अधिकृत नोडल अधिकारी से व्यक्तिगत अथवा दूरभाष पर संपर्क कर संस्था में अध्ययनरत विद्यार्थियों से वांछित कार्यवाही पूर्ण कराई जाना सुनिश्चित की जाएगी। 


राज्य रूपंकर कला पुरस्कार प्रदर्शनी के लिए 15 जनवरी तक कलाकृतियाँ आमंत्रित


उस्ताद अलाउद्दीन खाँ संगीत एवं कला अकादमी द्वारा मध्यप्रदेश राज्य रूपंकर कला पुरस्कार प्रदर्शनी-2022 का आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश के ख्यातिलब्ध कलाकारों के नाम से स्थापित रूपंकर एवं ललित कलाओं के दस पुरस्कारों के लिए अकादमी ने  15 फरवरी 2022 तक कलाकृतियाँ आमंत्रित की गई हैं। प्रत्येक पुरस्कार की राशि 51 हज़ार रुपये है। प्रदर्शनी में दो कलाकृतियों मान्य की जायेगी और 25 से 55 वर्ष तक की आयु के कलाकार भाग ले सकेंगे। कलाकारों को कलाकृतियों के साथ प्रदर्शनी में प्रवेश शुल्क के रूप में दो सौ रुपये नगद जमा करना होंगे।  कलाकारों की मौलिक कलाकृतियाँ जो दिसम्बर 2020 के बाद सृजित हो मान्य की जायेंगी। कला प्रदर्शनी की विवरणिका शासकीय ललित कला महाविद्यालय' जबलपुर, धार, खण्डवा, इंदौर, ग्वालियर तथा अकादमी कार्यालय से प्राप्त की जा सकती है। इच्छुक कलाकार अपनी कलाकृतियाँ उस्ताद अलाउद्दीन खाँ संगीत एवं कला अकादमी रवीन्द्रनाथ ठाकुर मार्ग, बाणगंगा चौराहा, भोपाल में 15 जनवरी, 2022 की शाम 5 बजे तक जमा करा सकेंगे। इसके बाद प्राप्त होने वाली कलाकृतियाँ स्वीकार नहीं की जायेगी। फेसबुक (www.facebook.com/kalamitrabpl) एवं अन्य माध्यम से डाउनलोड आवेदन विवरणिका की फोटो प्रतियाँ (ए4 साइज) भी प्रवेश-पत्र के रूप में स्वीकार की जायेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: