बिहार : 1 हजार प्रोत्साहन में दम नहीं, 21 हजार रूपये मानदेय से कम नहीं : शशि यादव - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 10 दिसंबर 2021

बिहार : 1 हजार प्रोत्साहन में दम नहीं, 21 हजार रूपये मानदेय से कम नहीं : शशि यादव

  • *पीएचसी पूसा परिसर में बिहार राज्य आशा कार्यकर्ता संघ का पूसा प्रखंड सम्मेलन संपन्न
  • *15 सदस्यीय प्रखंड कमिटी की अध्यक्ष कल्पना सिन्हा व उषा कुमारी चुनी गई सचिव
  • *आशा संघ के मुख्य संरक्षक माले प्रखंड सचिव अमित कुमार मनोनीत किए गए

need-21-thousand-for-asha-worker
पूसा। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, पूसा परिसर में बिहार राज्य आशा कार्यकर्ता संघ गोपगुट का पूसा प्रखंड सम्मेलन संपन्न हुआ। मुख्य वक्ता के रूप में मौजूद आशा संघ की राज्य अध्यक्ष शशि यादव ने संबोधित करते हुए आशाओं-फैसिलिटेटरों को सरकारी सेवक का दर्जा और मासिक मानदेय 21 हजार रूपये देने, आशाओं का एक हजार रूपये प्रोत्साहन राशि 2018 से नवंबर 2020 तक का बकाया का भुगतान अविलम्ब करने, आशाओं को देय राशि के भुगतान में स्थानीय स्तर पर व्याप्त कमीशनखोरी-भ्रष्टाचार-भेदभाव पर सख्ती से रोक लगाने, मासिक 'पारितोषिक' शब्द को बदलकर 'मानदेय'  करने तथा इसका बकाया सहित अद्यतन भुगतान करने,आशाओं को देय विभिन्न मदों की राशि के भुगतान को पारदर्शी बनाने, कोरोना काल में मृत हुई आशाओं के परिजनों को केंद्र सरकार द्वारा घोषित 50 लाख व बिहार सरकार की ओर से 4 लाख की राशि का भुगतान शीघ्र करने समेत देश में चल रहे मजदूर-किसानों, छात्र-नौजवान के लड़ाई के साथ भी एकजुट होने का आह्वान किया।  आगे शशि यादव ने कहा कि हड़ताल के क्रम में संपन्न वार्ता में यह स्पष्ट किया गया था कि आशाओं को 1000 रु. की जो राशि दी जाएगी, वह मानदेय होगी। लेकिन सरकार बाद में उसे पारितोषिक बताने लगी। मानदेय की जगह यह पारितोषिक शब्द नहीं चलेगा । यदि सरकार हमारी मांगों पर अविलंब अमल नहीं करती है तो और भी बड़े आंदोलनों की शुरूआत की जाएगी।  कार्यक्रम की अध्यक्षता आशा नेत्री उषा कुमारी व संचालन भाकपा-माले प्रखंड सचिव अमित कुमार ने किया। सम्मेलन में 15 सदस्यीय प्रखंड कमिटी का गठन किया गया। सर्वसम्मति से कल्पना सिन्हा अध्यक्ष व उषा कुमारी सचिव चुनी गई। इसके अलावा उपाध्यक्ष कुमारी मीरा, कोषाध्यक्ष कुमारी सीमा, सह सचिव प्रीति बाला कुमारी को मनोनीत किया गया। सदस्यों में राजू कुमारी, शांति देवी, शुशिला देवी, अर्चना झा, कुमारी अनुराधा, कुमारी सीमा, अनिता कुमारी, अनिता देवी, प्रभा कुमारी, माधुरी कुमारी,  सुनिता देवी आदि शामिल है। आशा संघ के मुख्य संरक्षक माले प्रखंड सचिव अमित कुमार मनोनीत किए गए। मौके पर अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ गोपगुट के जिला सचिव अजय कुमार ठाकुर , कल्याणपुर माले प्रखंड सचिव दिनेश कुमार, माले नेता रविन्द्र सिंह, महेश सिंह, सुरेश कुमार आदि मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं: