सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 20 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 20 दिसंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 20 दिसंबर

सादगी के साथ प्रदीप रानू व्यास ने जिला पंचायत के वार्ड चार से जमा किया नामांकन


sehore news
सीहोर। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जिला पंचायत के वार्ड चार के लिए युवा समाजसेवी प्रदीप रानू व्यास जताखेड़ ने सादगी के साथ अपने समर्थकों के साथ पहुंचकर नामांकन जमा कर अपने अभियान की शुरूआत कर दी है। उन्होंने कहा कि जनता का आशीर्वाद मेरे साथ है। लगातार जिला पंचायत के वार्ड क्रमांक चार में सक्रिय रहने वाले युवा नेता और समाजसेवी श्री व्यास किसी पहचान के मोहताज नहीं है। पिछली बार भी वह उप विजेता के रूप में अपनी उपस्थित दर्ज करा चुके है। इस बार उन्होंने जनता का आशीर्वाद लेकर नामांकन पत्र जमा किया है और उनका सपना है कि क्षेत्र का विकास हो। इस मौके पर उन्होंने सोमवार को एक दर्जन से अधिक गांवों में पहुंचकर मतदाताओं का आशीर्वाद लिया।


आयुषी पंसारी एवं माया गौर बरकतउल्ला विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व


sehore news
सीहोर। शहर के चर्च मैदान पर जारी प्रशिक्षण शिविर में अनेक प्रतिभाशाली खिलाडिय़ों को मंच मिल रहा है। जिसके कारण इन खिलाडिय़ों को शहर का नाम करने का अवसर प्रदान हो रहा है। दो महिला खिलाड़ी आयुषी पंसारी और माया गौर बरकताउल्ला विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व करेंगी। इस संबंध में जानकारी देते हुए जिला फुटबाल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष सुदीप व्यास ने बताया कि शहर की प्रतिभाशाली फुटबाल खिलाड़ीआयुषी पंसारी पूर्व में दो बार मध्यप्रदेश फुटबॉल टीम का प्रतिनिधित्व कर चुकी है उत्तरांचल एवं राजस्थान में माया गौर पहली बार बरकतउल्ला विश्वविद्यालय टीम का प्रतिनिधित्व कर रही है आयुषी पंसारी डिफेंडर की पोजीशन पर खेलती है माया गोल मिडफील्डर की पोजीशन पर खेलती है इनके प्रशिक्षक ललिता सैनी ने बताया कि दोनों ही खिलाड़ी कड़ा अभ्यास करती है जिसके फलस्वरूप जिला फुटबॉल संघ को लगातार सफलता मिल रही है हम जिले के वरिष्ठ अधिकारी जिलाधीश चंद्र मोहन ठाकुर एवं पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी एवं जिला फुटबॉल संघ के पदाधिकारियों का आशीर्वाद एवं सहयोग मिलता रहता है जिसके फलस्वरूप जिला फुटबॉल संघ की प्रतिमा को लगातार सफलता मिल रही है यह प्रतियोगिता जयपुर में 21 दिसंबर से आयोजित की जा रही है। खिलाडिय़ों के चयन पर विधायक सुदेश राय, मध्यप्रदेश फुटबाल एसोसिएशन के संरक्षक रमेश सक्सेना, चेयरमैन अखिलेश राय, फुटबाल एसोसिएशन के अध्यक्ष शशांक सक्सेना, जिला खेल अधिकारी अरविन्द इलियाजर, सुदीप व्यास, कमलेश अग्रवाल, मधुर विजयवर्गीय, हिमांशु राय आनंद उपाध्याय अत्ताउल्लाह खान  आनंद उपाध्याय संजय कर्मा प्रभात मेवाड़ा, मदन कुशवाह वीरू वर्मा आदि ने बधाई एवं शुभकामनाएं दी। 


महिला क्रिकेटर मुस्कान का संभाग स्तरीय टीम में चयन


sehore news
सीहोर। शहर की प्रतिभाशाली महिला खिलाड़ी मुस्कान मालवीय का आगामी दिनों में जबलपुर में होने वाली संभागीय स्तरीय महिला क्रिकेट प्रतियोगिता के लिए होशंगाबाद अंडर-16 महिला टीम में हुआ है। इस संबंध में उनके कोच अक्षय दुबाने ने बताया कि शहर के बीएसआई मैदान पर अभ्यास करने वाली मुस्कान कक्षा 12 वीं की छात्रा है और बल्लेबाजी के साथ गेंदबाजी करती आ रही है। प्रतियोगिता का आयोजन आगामी 22 दिसंबर से जबलपुर में होने जा रहा है और यह खुशी की बात है कि शहर की प्रतिभाशाली बेटी मुस्कान का चयन टीम में हुआ है। होशंगाबाद में इन दिनों पांच दिवसीय शिविर में चयनीत खिलाड़ी अभ्यास कर रहे है। टीम आगामी दिनों में रीवा, उज्जैन और शहडोल आदि के खिलाफ खेलेगी। मुस्कान के चयन पर उनकी महिला खिलाड़ी निधि भारद्वाज, अंजली मालवीय, रीतिका मेवाड़ा, रानू मेवाड़ा और आस्था राठौर सहित जिला क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बधाई दी है। बधाई देने वालों में अतुल तिवारी, वीरु वर्मा, आशीष शर्मा, मदन कुशवाहा, मनोज दीक्षित मामा, महेन्द्र शर्मा बंटी विलय, सचिन कीर, गौरव खरे, रुपेश पारोचे और कमलेश पारोचे आदि शामिल है। 


परस्पर विरोधी जहरीले जीव जंतू है शिव के श्र्रंृंगार, एकता समरसता से जीने को कहते है शिव संस्कार- पंडित राजेश गुरू
  • भागवत कथा में हुआ शिव पार्वती का विवाह झूम उठे श्रद्धालु

सीहोर। शिव और शव में ई का हीं अंतर है संस्कार हींन शव के समान हीं होता है एकता समरसता से जीना हीं शिव संस्कार है। भगवान शिव के परस्पर विरोधी मानसिकता के जहरीले जीव जंतू श्रृंगार है। भगवान शिव हीं शांति भक्ति शक्ति से जीने का संदेश देते है उक्त विचार सोमवार को भोपाल नाका स्थित परिसर में आयोजित श्रीमद भागवत कथा के दूसरे दिन पंडित राजेश शर्मा गुरू के द्वारा शिव विवाह प्रसंग के दौरान श्रोताओं के समक्ष रखे गए। उन्होने शुकदेव परिक्षित मिलन प्रसंग सुनाते हुए कहा की व्यक्ति को केवल भगवान पर भरोशा कर दुनिया के कार्य करना चाहिए सफलता मिलना निश्चित होता है। संसार के लोग धोका दे सकते है लेकिन भगवान हमेशा भक्त को उन्नती के मौके देते रहते है। भगवान शिव और माता पार्वती शक्ति रूप है शिव आराधना की महिमा देवताओं के साथ असुरों ने भी गाई है। इस लिए भगवान शिव को देवों के देव महादेव कह जाता है। कार्यक्रम के दौरान शिव और श्रीकृष्ण भजनों पर श्रद्धालु नृत्य करते रहे। मुख्य यजमानों के द्वारा विधिवत भगवत जी की पूजा अर्चना की गई। सार्वजनिक भागवत उत्सव समिति के तत्वाधान में श्रीमद् भागवत कथा महामहोत्सव का सात दिवसीय भव्य आयोजन कराया जा रहा है। कथा दोपहर एक बजे से प्रारंभ हो रहीं है। मंगलवार को ध्रव चरित्र प्रहलाद कथा और वामन अवतार प्रसंग प्रस्तुत किया जाएगा। 


आज से शुरू होगी चैम्पियन लीग टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता, पहला मैच पीपीसीए और सीहोर जूनियर के मध्य खेला जाएगा


सीहोर। शहर के बीएसआई मैदान पर सोमवार से लगातार 15 दिनों चलने वाली चैम्पियन लीग टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता का शुभारंभ किया जाएगा। इस मौके पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में जिला क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव अतुल तिवारी और कोषाध्यक्ष वीरु वर्मा सहित अन्य खिलाड़ी मौजूद रहेगे। प्रतियोगिता का शुभारंभ मैच सुबह पीपीसीए टीम और सीहोर जूनियर के मध्य खेला जाएगा। प्रतियोगिता के आयोजन समिति के अक्षय दुबाने ने प्रतियोगिता की सफलता के लिए एक समिति का गठन किया है। जिसमें सभी खिलाडिय़ों और पदाधिकारियों को शामिल किया गया है।  डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि मंगलवार से आरंभ होने वाली इस प्रतियोगिता में हजारों रुपए के इनामों के साथ ही हर मैच में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाडिय़ों को पुरस्कार दिया जाएगा। प्रतियोगिता का पहला मैच सुबह नौ बजे पीपीसीए और सीहोर जूनियर के मध्य खेला जाएगा। इसके अलावा दोपहर बारह बजे एक अन्य मैच डीसीए बायस और जफरलाल फैड्स क्लब के मध्य खेला जाएगा। प्रतियोगिता के लिए यहां पर मौजूद पदाधिकारियों ने पूरी तैयारियां कर ली है। कोच राजेश विलय, मदन कुशवाहा ने बताया कि पिच से बल्लेबाजों को मदद मिलने की उम्मीद है, बीच के ओवरों में स्पिनर्स भी गेंद घुमाने में कामयाब होंगे। दोनो टीमों के पास कई बिग हिटर हैं, जो अपने बल्ले का कमाल दिखा सकते हैं।  जिला क्रिकेट एसोसिएशन के तत्वाधान में होने वाली चैम्पियन लीग टी-20 प्रतियोगिता में आठ टीमों को शामिल किया गया है। इन आठ टीमों को ए और बी ग्रुप चार-चार टीमों को शामिल किया गया है। प्रतियोगिता में प्रतिदिन दो-दो मैचों का आयोजन किया जाएगा। लेदर बाल से होने वाली प्रतियोगिता में प्रत्येक टीम 20-20 ओवर खेलेगी। प्रतियोगिता के लिए जिला क्रिकेट एसोसिएशन सचिव अतुल तिवारी, कोषाध्यक्ष वीरु वर्मा, आशीष शर्मा, मदन कुशवाहा, महेन्द्र शर्मा बंटी विलय अलावा सचिन कीर, गौरव खरे, रुपेश पारोचे और कमलेश पारोचे आदि को शामिल किया गया है।


मां नर्मदा के तट पर सिखाई जाएगी देव भाषा


sehore news
सीहोर - जिले के बुधनी स्थित  करुणाधाम आश्रम में संस्कृतभारती की ( गोष्ठी) बैठक  सम्पन्न हुई ,  जिसमें माँ  नर्मदा  के तट पर सात दिन  संस्कृत  भाषा  सीखने -   सिखाने   का कार्य  संस्कृत भारती  द्वारा  किया  जायेगा । संस्कृत भारती  प्रांत संगठन मंत्री श्री नीरज जी दीक्षित  ने इस अवसर पर कहा कि भारत की गौरवशाली परंपरा की ज्ञान निधि आदि भाषा, देव भाषा संस्कृत को पुनः जन भाषा बनाने में सतत् प्रयासरत संस्कृतभारती मध्यभारत प्रांत द्वारा सप्त दिवसीय आवासीय भाषा प्रबोधन वर्ग दिनांक 24  से 31 दिसंबर 2021 तक नर्मदा माता के पावन तट करुणाधाम आश्रम ग्वाड़ीघाट बुधनी में आयोजित किया जा रहा है , वर्ग में 7 दिन योग , व्यायाम , विज्ञान प्रदर्शनी , ध्यान , प्रातः स्मरण सहित संस्कृत संभाषण का अभ्यास कराया जाएगा।  शिविर में मध्यभारत प्रांत के 16 जिलों से लगभग 70 अभ्यार्थी भाग लेंगे संस्कृतभारती के प्रशिक्षित 12 शिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा । प्रांत  साहित्य प्रमुख श्री गोविन्द जी पांडे ने कहा कि अखिल भारतीय स्तर पर विगत 42 वर्षों से संस्कृत भाषा को जन भाषा बनाने का प्रयास संस्कृतभारती   कर रही है ,  इसी क्रम में संस्कृतभारती के मध्यभारत प्रांत द्वारा प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी संस्कृत संभाषण की शीतकालीन शिविर का आयोजन किया जा रहा है  । 

संस्कृतभारती
भारत की गौरवशाली परंपरा के ज्ञान निधि आदि भाषा देवभाषा संस्कृत को पुनः जन भाषा बनाने में सतत प्रयासरत है । बैठक में प्रबोधन वर्ग  के संचालन  व व्यवस्था  पर विस्तृत चर्चा की गई । इस गोष्ठी में  संस्कृत भारती  के कार्यकर्ताओं ने सहभागिता की ।


प्रेक्षक श्री सिंह ने किया एआरओ एवं मतदान केन्द्रों का निरीक्षण, केन्द्रों पर सभी जरूरी व्यवस्थाओं के दिए निर्देश



sehore news
राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा सीहोर जिले के लिए नियुक्त प्रेक्षक श्री राजेन्द्र सिंह (सेवानिवृत्त आईएएस) ने सीहोर जनपद के बिलकिसगंज, थुनाकलां, बरखेड़ी एआरओ केन्द्र तथा मतदान केन्द्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने नाम निर्देशन पत्र जमा करने की प्रक्रिया और व्यवस्था का अवलोकन किया। प्रेक्षक श्री सिंह ने एआरओ केन्द्र एवं मतदान केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान केन्द्र की विभिन्न व्यवस्थाओं का विस्तार से जायजा लिया। उन्होंने मतदान केन्द्रों में साफ-सफाई, पानी, बिजली एवं अन्य निर्वाचन गतिविधियों के लिए अनिवार्यतः व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए कहा। उन्होंने  नामांकन, संवीक्षा, नाम वापसी तथा समस्त निर्वाचन प्रक्रिया में राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। प्रेक्षक श्री सिंह ने पंचायत आम निर्वाचन के तहत बनाए गए मतदान केन्द्रों, प्रशिक्षण व्यवस्था एवं ईव्हीएम व्यवस्था के संबंध में अधिकारियों से चर्चा की। निर्वाचन के लिए ईव्हीएम एवं मतदान पत्र व्यवस्था की तैयारियों के संबंध में भी अधिकारियों से जानकारी ली। मतदान दलों की एवं मतदान केन्द्रों के लिए रवानगी एवं मतदान सामग्री वितरण करने की व्यवस्था के संबंध में भी प्रेक्षक श्री सिंह द्वारा जानकारी ली गई। निरीक्षण के दौरान एसडीएम श्री बृजेश सक्सेना, प्रेक्षक के लायजनिंग अधिकारी श्री एसके पाठक तथा जनपद सीईओ सहित अनेक अधिकारी उपस्थित थे। 


घर बैठे पाए आयुष चिकित्सा का लाभ 'आयुष क्योर' एप पर


मध्यप्रदेश शासन आयुष विभाग ने कोरोना की तीसरी लहर की रोकथाम के लिए जन सामान्य को आयुष स्वास्थ्य सेवा घर पर ही सुलभ कराने के उद्देश्य से यह टेलीमेडिसिन एप लॉन्च किया है। इस  "आयुष क्योर" एप  का उपयोग रोगी तथा चिकित्सक दोनों कर सकेंगे।  इसके द्वारा रोगी सीधे वीडियो कॉल के माध्यम से चिकित्सक से परामर्श प्राप्त कर सकेंगे। "आयुष क्योर" एक एंड्रॉयड  आधारित  ऐप है। यह गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकेगा। रजिस्ट्रेशन के बाद आप अपनी पसंद की आयुष चिकित्सा पद्धति (आयुर्वेद, होम्योपैथी और यूनानी) के विशेषज्ञ चिकित्सक  से अपनी सुविधा अनुसार अपॉइंटमेंट बुक कर सकेंगे। चुने गए चिकित्सक द्वारा निर्धारित समय अनुसार ही ऐप के माध्यम से वीडियो कॉल कर चिकित्सा परामर्श दिया जाएगा। आयुष  चिकित्सा पद्धति को  घर-घर तक पहुंचाने के लिए एवं जो रोगी  चिकित्सालय में  पहुंच पाने में असमर्थ है, उनके लिए यह सुविधा अच्छी साबित होगी। 



शासकीय महाविद्यालय में दो दिवसीय युवा उत्सव आयोजित


sehore news
शासकीय चन्द्रशेखर आजाद स्नातकोत्तर महाविद्यालय में दो दिवसीय युवा उत्सव आयोजित किया गया। युवा उत्सव में पहले दिन विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं आयोजित की गई, जिसमें विद्यार्थियों ने भाग लिया। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. सुमन रोहिला ने विद्यार्थियों को युवा उत्सव के सांस्कृतिक एवं पारंपरिक महत्व के बारे में जानकारी दी। साथ ही युवा शक्ति की प्रतिभा को निखारने का माध्यम बताया, जो आगे चलकर सामाजिक जीवन में महत्वपूर्ण योगदान देती है। रंगोली प्रतियोगिता में प्रथम स्थान मनीषा, द्वितीय स्थान अंकिता वर्मा, तृतीय स्थान शांति पटेल एवं स्पॉट पेंटिग में प्रथम स्थान सृष्टि सिंह, द्वितीय स्थान सुनीता मालवीय, तृतीय स्थान नीरज भारिया ने प्राप्त किया। क्ले मॉडलिंग प्रतियोगिता में प्रथम स्थान कार्तिक सिंह सिसोदिया, द्वितीय स्थान सुनील सोलंकी, तृतीय स्थान हृदेश वर्मा एवं वाद-विवाद प्रतियोगिता पक्ष में प्रथम स्थान मेघा कीर, द्वितीय स्थान विष्णु प्रसाद, तृतीय स्थान तनीषा वर्मा तथा विपक्ष में प्रथम स्थान अंबर शर्मा, द्वितीय स्थान प्राची खुराना, तृतीय स्थान अजय परमार ने, इसके साथ ही मूक अभिनय प्रतियोगिता में प्रथम स्थान संदीप समूह, द्वितीय स्थान आरती समूह, तृतीय स्थान तनु वर्मा ने प्राप्त किया। इसके अलावा नृत्य प्रतियोगिता भी आयोजित की गई। युवा उत्सव कार्यक्रम में महाविद्यालय का समस्त स्टॉफ उपस्थित था।


दिव्यांगजनों का स्वास्थ्य परीक्षण कर सहायक उपकरण वितरित करने किया रजिस्ट्रेशन


आईईडीएसएस योजना के तहत सामाजिक न्याय एवं निशक्त कल्याण विभाग द्वारा जिला विकलांग पुनर्वास केंद्र ने विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों के लिए सीडब्ल्यूएसएन दिव्यांगता परीक्षण शिविर का आयोजन शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बुधनी में किया। इस शिविर में दिव्यांगजनों का स्वास्थ्य परीक्षण कर सहायक उपकरण वितरण के लिए रजिस्ट्रेशन किए गए। शिविर में मेडिकल बोर्ड की टीम ने 21 दिव्यांगजनों का परीक्षण कर दिव्यांगता प्रमाण पत्र वितरित किए तथा नि:शुल्क सहायक उपकरण वितरण के लिए 07 हितग्राहियों का चिन्हांकन किया गया। इन हितग्राहियों को हियरिंग एड, ट्रायसिकल, व्हीलचेयर, आर्टिफिशियल लिंब,  वैशाखी,  एवं चश्में प्रदाय करने के लिए रजिस्ट्रेशन किया गया।


जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10143 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या10021  हैं। आज 402 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 188, श्यामपुर से 70, नसरूल्लागंज 39, आष्टा से 60, तथा बुधनी से 45 सैंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सैंपल 317296 हैं। जिनमें से 305091 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 1369 सेंपलो की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1991  सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।



प्रेक्षक श्री सिंह ने किया जिले के अनेक एआरओ केन्द्रों का निरीक्षण


sehore news
राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा सीहोर जिले के लिए नियुक्त प्रेक्षक श्री राजेन्द्र सिंह (सेवानिवृत्त आईएएस) ने इछावर जनपद के एआरओ केन्द्र, मतदान केन्द्र, क्लस्टर पर नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुती, स्ट्रांग रूम, मतगणना एवं सारणीकरण स्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने नाम निर्देशन पत्र जमा करने की प्रक्रिया और व्यवस्था का अवलोकन किया। प्रेक्षक श्री सिंह ने केन्द्र की विभिन्न व्यवस्थाओं का विस्तार से जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने मतदान केन्द्रों पर सभी आवश्यक व्यवस्थाओं तथा नामांकन, संवीक्षा, नाम वापसी तथा समस्त निर्वाचन प्रकिया में राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों का पालन करने के निर्देश दिए।

 

मुख्य पोस्टमास्टर जनरल ने नायक के परिवार को डाक जीवन बीमा का चेक प्रदान किया


मध्यप्रदेश परिमंडल के मुख्य पोस्टमास्टर जनरल श्री जितेन्द्र गुप्ता ग्राम धामन्दा निवासी वीर नायक स्व. श्री जितेन्द्र वर्मा के परिवारजनों से मिले। उन्होंने परिजनों को डाक जीवन बीमा पॉलिसी के मृत्यु दावे की 09 लाख 06 हजार रूपये की राशि का चेक प्रदान किया। इस अवसर पर सीहोर डाकघर अधीक्षक श्री प्रवीण श्रीवास्तव, डीडीएम पीएलआई भोपाल श्री अभिषेक चौबे, सहायक अधीक्षक श्री सुनील सोलंकी तथा उप संभागीय निरीक्षक डाकघर आष्टा श्री आशीष सिसोदिया उपस्थित थे।


त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन-2021-22 चरणवार ईव्हीएम की एफएलसी


त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2021-22 की प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है। आयोग द्वारा ईव्हीएम की एफएलसी रेण्डमाईजेशन एवं कमीशनिंग के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। प्रदेश में पंचायत आम निर्वाचन 03 चरणों में कराए जा रहे हैं। जिले में किसी एक चरण में उपयोग की गई ईव्हीएम को अगले चरण के निर्वाचन में भी उपयोग किया जाएगा। प्रत्येक चरण के पूर्व ईव्हीएम की एफएलसी डीईओ एवं आरओ रेण्डमाईजेशन तथा कमीशनिंग की प्रक्रिया पृथक-पृथक कराई जाएगी। इस के लिए समयसीमा निर्धारित की गई है। प्रथम चरण की एफएलसी  कार्य किया जा चुका है। द्वितीय चरण 12 से 17 जनवरी तक तथा तृतीय चरण 03 से 07 फरवरी तक किया जाएगा। डीईओ रेण्डमाईजेशन प्रथम चरण 21 दिसम्बर, द्वितीय चरण 17 जनवरी को तथा तृतीय चरण 07 फरवरी को किया जाएगा। इसी प्रकार आरओ रेण्डमाईजेशन प्रथम चरण 24 दिसम्बर को, द्वितीय चरण 18 जनवरी को और तृतीय चरण 08 फरवरी को किया जाएगा। कमीशनिंग प्रथम चरण 24 से 30 दिसम्बर तक, द्वितीय चरण 19 से 25 जनवरी तक तथा तृतीय चरण 08 से 13 फरवरी तक की जाएगी । जिले में प्रथम चरण की मतगणना और डीएमएम सीलिंग के उपरांत मुक्त ई.व्ही.एम. को दूसरे चरण के निर्वाचन के लिए जिला मुख्यालय पर लाकर निर्धारित समयावधि में एफएलसी कराई जाएगी। यही प्रक्रिया तीसरे चरण के निर्वाचन की एफएलसी के लिए भी अपनाई जाएगी। जिले में विकासखण्डवार कमीशनिंग से लेकर मतगणना तक नियोजित किए जाने वाले ईसीआईएल के सभी इंजीनियर्स द्वारा जिला मुख्यालय पर ईजीएम की एफएलसी का कार्य कराया जाएगा।



त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन-2021-22 में, अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित पदों के निर्वाचन की कार्यवाही स्थगित


त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन- 2021-22 में अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित पदों के निर्वाचन की कार्यवाही स्थगित कि गई है। प्रथम एवं द्वितीय चरण के लिए अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य के पदों के लिए 17 दिसम्बर तक प्राप्त हुए नामनिर्देशन पत्रों एवं उनके अभिलेखो को सीलबद कर सुरक्षित अभिरक्षा में रखा जाएगा। इन पदों के निर्वाचन के संबंध में आयोग द्वारा पृथक से निर्देश जारी किये जायेंगे। शेष प्रवर्गों एवं अनारक्षित पदों पर निर्वाचन प्रक्रिया पूर्व में जारी समय अनुसार यथावत जारी रहेगी। इस संबंध में संबंधित रिटर्निंग ऑफिसर, सहायक रिटर्निंग ऑफिसर, विकासखण्ड और ग्राम पंचायत के सूचना पटल पर इस आशय की सूचना चस्पा की जाएगी। अन्य पिछड़ा वर्ग हेतु आरक्षित पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य के पदों के लिए ऑनलाईन नामनिर्देशन पत्र प्राप्त करने की कार्यवाही वर्तमान में स्थगित रहेगी। आयोग द्वारा प्रथम एवं द्वितीय चरण के अन्य पिछड़ा वर्ग हेतु आरक्षित पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य के पदों हेतु अब तक प्राप्त किये गये नामनिर्देशन पत्रों की प्रविष्टि IEMS में नही करने के निर्देश दिए गये।


नाम निर्देशन पत्र के अंतिम दिन जिला पंचायत सदस्य के लिए 33 अभ्यर्थियों ने जमा किए नामांकन पत्र


नाम निर्देशन पत्र के अंतिम दिन जिला पंचायत सदस्य के लिए प्रथम चरण एवं द्वितीय चरण में कुल 33 अभ्यर्थियों ने नाम निर्देशन पत्र जमा किए है। सीहोर (मुख्यालय) से जिला पंचायत सदस्य के लिए प्रथम चरण में पुरूषों के 08 एवं महिलाओं के 13 नामांकन पत्र तथा द्वितीय चरण में पुरूषो के 08 एवं महिलाओं के 04 नामांकन पत्र प्राप्त हुए है।


पल्स पोलियो अभियान 23 से 25 जनवरी तक


राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान का क्रियान्वयन 23 से 25 जनवरी तक आयोजित किया जाएगा। जिसमें पांच वर्ष तक के सभी बच्चों को दो बूंद पोलियो विमुक्ति की खुराक दी जाएगी। स्वास्थ्य विभाग ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए है कि विकासखण्डवार स्थानीय भौगोलिक परिस्थितियों को ध्यान रखते हुए माइक्रो प्लान तैयार किया जाए जिसमें टीम ए, बी, सी, वैक्सीनेशन डिस्ट्रीब्यूशन अपने-अपने क्षेत्र हाई रिस्क एरिया का सुपर विजन प्लान तैयार कर राज्य स्तर को प्रेषित किया जाना है। राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान कार्यक्रम के प्रथम दिवस 23 जनवरी 2022 को टीम बी द्वारा बूथों पर बच्चों को पोलियो ड्राप की खुराक दी जाएगी।  अभियान के शेष तिथियां 24 एवं 25 जनवरी को घर-घर जाकर इस बात का पता लगाया जाएगा कि कोई बच्चा पोलियो दवा पीने से छूटा तो नहीं है यदि ऐसा पाया जाएगा तो मौके पर स्वास्थ्य टीम के द्वारा पोलियो विमुक्ति दवा की खुराक दी जाएगी। ऐसे बच्चो की अंगुलियों एवं घरों पर निशान के साथ टेली शीट के साथ-साथ रिपोर्टिंग की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को अभियान के दौरान कोविड 19 के प्रोटोकॉल का पालन करने के निर्देश दिए है।


नए वैरिएंट के चलते सावधानी बरतने की अपील


स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि अन्य राज्यों में बढ़ रहे कोरोना और ओमिक्रॉन मरीजों की संख्या के दृष्टिगत रखते हुए नागरिकों से कोविड अनुकूल व्यवहार अपनाने का अनुरोध किया गया है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कहा गया है कि कोरोना संक्रमण के नए वैरिएंट से बचाव के लिए लोगों को आम जीवन में अनुकूल व्यवहारों को अपनाना जरूरी है। कोरोना से बचाव के लिए विशेषज्ञों ने अनुकूल व्यवहार का पालन करने की आम लोगों को सलाह दी है। इन व्यवहारों को अपनाने की सलाह देते हुए लोगों से कहा है कि अभिवादन के लिए आपस में उचित दूरी रखते हुए एक दूसरे का अभिवादन करें, एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर रखें, घर पर बना पुनः उपयोग होने वाला फेस कवर-मास्क हर समय पहनें, अपनी आँख, नाक या मुँह को छूने से बचें, अपनी श्वास स्वच्छता बनाएं रखें, अपने हाथों को नियमित रूप से और अच्छे से धोएं, अक्सर छुए जाने वाली सतहों को नियमित रूप से साफ और कीटाणुरहित करें।  स्वास्थ्य विभाग ने सलाह दी है कि  तंबाकू उत्पादों का ना सेवन करें, ना सार्वजनिक स्थानों पर थूकें, अनावश्यक यात्रा ना करें, किसी के साथ भेदभाव ना करें, भीड़-भाड़ से बचें, सुरक्षित रहें, असत्यापित और नकारात्मक जानकारी को सोशल मीडिया पर प्रसारित ना करें, कोविड के बारे में विश्वसनीय स्त्रोतों से जानकारी लें, कोविड से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी के लिए केन्द्रीय टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर 1075 या राज्यों के हेल्पलाइन नम्बरों पर कॉल करें तथा किसी भी तरह के मानसिक तनाव या परेशानी होने पर मनोसामाजिक सहायता सेवाओं का सहयोग लें।


पंचायत अभ्यर्थियों के लिए मार्गदर्शिका पुस्तिका उपलब्ध


पंचायत आम निर्वाचन 2021-22 के लिये ऑनलाइन नाम-निर्देशन नामक अभ्यर्थी के लिये मार्गदर्शिका पुस्तिका का शासकीय केन्द्रीय मुद्रा भोपाल के माध्यम से जिले के समस्त कलेक्टरों को उपलब्ध कराई गई है। पुस्तिका का मूल्य 10 रूपये निर्धारित किया गया है। पुस्तिका जिला पंचायत सदस्य एवं जनपद पंचायत सदस्य को ही विक्रय की जाना है। आवश्यकतानुसार ऑनलाइन नाम-निर्देशन पुस्तिका संबंधित रिटर्निग ऑफीसरों से खरीदी जा सकती है।


मुद्रण एवं प्रकाशन की जानकारी देना अनिवार्य


त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2021-22 के निर्वाचन की घोषणा उपरांत आदर्श आचार संहिता प्रभावशील हो गई है। राज्य निर्वाचन आयोग के द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार निर्वाचन पम्पलेटो, पोस्टरों आदि के मुद्रण एवं प्रकाशन को प्रतिबंधित करते हुए लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम-1951 की धारा-27 क के उपबंधों द्वारा विनियमित किया गया है। जिले में स्थित समस्त मुद्रणालय एवं उनके स्वामियों तथा प्रकाशको को आदेश प्रसारित किए है कि किसी भी पम्पलेट या पोस्टर मुद्रण, मुद्रित सामग्री पर मुद्रक तथा प्रकाशकों के नाम व पते का स्पष्ट रूप से उल्लेख किया जाए। यह भी कोई व्यक्ति किसी निर्वाचन पम्पलेट अथवा पोस्टर का मुद्रण नही करेंगे और ना ही मुद्रित करवाएंगे जब तक की प्रकाशको की पहचान की घोषणा उनके द्वारा हस्तांक्षरित तथा दो व्यक्ति जो उन्हें व्यक्तिगत रूप से जानते हो उनके द्वारा सत्यापित होना जरूरी है।  अनुबंध क में प्रकाशको से घोषणा प्राप्ति कर जिला निर्वाचन कार्यालय को भेजी जाएगी अनुबंध ख में मुद्रित सामग्री तथा घोषणा के साथ प्रिन्टर कागजातों की प्रतियों की संख्या मुद्रण के लिए वसूल की गई कीमत का ब्यौरा देना होगा। उक्त आदेशों का कढाई से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश प्रिंटिंग प्रेसो को जारी किए गए है यदि कही त्रुटि पाई जाती है तो राज्य के संगत कानूनो के तहत प्रिंटिंग प्रेस के लाइसेंस का प्रतिसंहरण भी हो सकता है।


राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कारों के लिए प्रक्रिया निर्धारित


राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस समारोह में 24 अप्रैल को भारत सरकार, पंचायती राज मंत्रालय नई दिल्ली द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों को पुरस्कृत किया जाता है। आगामी 24 अप्रैल के पुरस्कारों के लिए ऑनलाईन नामांकन पोर्टल लिंक  http://panchayataward.gov.in  के माध्यम से किये जा सकते हैं। नामांकन निर्धारित ऑनलाईन प्रपत्र में अलग-अलग श्रेणियों हेतु किये जा सकेंगे। मूल्यांकन वर्ष 2020-21 के आधार पर होगा। राज्य शासन द्वारा दिए गए निर्देश अनुसार दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार विषयात्मक श्रेणी के लिए तीनों स्तर की पंचायतों को, नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार ग्राम सभा के उत्कृष्ट कार्य निष्पादन हेतु, ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार ( GPDP ) - ग्राम पंचायत को और बाल हितैषी ग्राम पंचायत पुरस्कार से ग्राम पंचायत को पुरस्कृत किया जायेगा। पुरस्कारों हेतु नामांकन शीघ्र प्रस्तुत किये जाना है। पांचवी अनुसूची क्षेत्र की जनपद पंचायतें और ग्राम पंचायतें आनुपातिक रूप से अधिक संख्या में अपने नामांकन प्रस्तुत कर सकती हैं। जिले से 02 जनपद पंचायतों एवं 02 ग्राम पंचायतों से अधिक नामांकन अग्रेषित नहीं किये जाने के निर्देश भी दिए गए हैं।  जिला पंचायत को प्रमाण पत्र के साथ राशि 50.00 लाख रूपये, जनपद पंचायत को प्रमाण पत्र के साथ राशि 25.00 लाख रूपये एवं ग्राम पंचायतों को उनकी जनसंख्या के अनुसार प्रमाण पत्र के साथ राशि 5 लाख रूपये से 15 लाख रूपये तक पुरस्कार स्वरूप राशि प्रदान की जाती है। पंचायतों के चयन का कार्य राज्य एवं खण्ड स्तर पर गठित समितियों के माध्यम से किया जाता है।


रूपंकर कला पुरस्कार प्रदर्शनी के लिए प्रविष्टियां आमंत्रित


उस्ताद अलाउद्दीन संगीत एवं कला अकादमी द्वारा आयोजित मध्यप्रदेश राज्य रूपंकर कला पुरस्कार प्रदर्शनी 2022 के लिये प्रविष्टियाँ आमंत्रित की हैं। पुरस्कार प्रदर्शनी में भाग लेने के लिये कलाकार का मध्यप्रदेश मूल निवासी होना या मध्यप्रदेश में सृजन के क्षेत्र में सक्रियता पूर्वक 10 वर्ष का अनुभव होना आवश्यक है। प्रत्येक पुरस्कार के लिये 51 हजार रूपये सम्मान राशि प्रदान की जाएगी। प्रदर्शनी में 25 से 55 वर्ष तक की आयु वर्ग के कलाकार भाग ले सकेंगे। पुरस्कार प्रदर्शनी में आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 जनवरी 2022 है। इच्छुक कलाकार आवेदन के लिये प्रविष्टि-पत्र अकादमी के फेसबुक पेज से प्राप्त कर सकते हैं।  पुरस्कार प्रदर्शनी में विशेष रूप से प्रदेश के ललित कलाओं के प्रसिद्ध कलाकारों के नाम से 10 पुरस्कारों का सृजन किया गया है। पुरस्कारों का चयन अकादमी द्वारा मनोनीत किये गये निर्णायक मंडल द्वारा किया जाएगा। प्रदर्शनी के लिये सभी ललित कला के माध्यम में कलाकृतियों को स्वीकार किया जाएगा।


पेंशनधारियों से साइबर अपराधियों के झांसे में नहीं आने की अपील


पेंशन निदेशालय ने साइबर अपराधियों द्वारा पेंशनधारियों को जीवन प्रमाण-पत्र को ऑनलाइन अपडेट करने के संबंध में की जाने वाली फर्जी कॉल से बचाव की सलाह दी है। पेंशन निदेशालय ने जानकारी दी है कि अपराधी के पास पेंशनधारक का पूरा डाटा, नियुक्ति दिनांक, पीपीओ नम्बर, आधार नम्बर, सेवानिवृत्ति तिथि जैसी सभी जानकारी उपलब्ध होने के कारण पेंशनधारकों को ऑनलाइन अपडेशन के संबंध में भरोसा दिया जाता है। वर्तमान में साइबर अपराधियों द्वारा पेंशन निदेशालय का हवाला देकर पेंशनरों को पूरा डाटा बताकर जीवन प्रमाण-पत्र अपडेट करने के लिए ओटीपी साझा करने की बात प्रकाश में आई है । पेंशनर द्वारा गलती से ओटीपी साझा करने पर अपराधी को बैंक खाते का डायरेक्ट एक्सेस कन्ट्रोल मिल जाता है और पेंशनर के खाते की राशि फर्जी खाते में स्थानांतरित कर दी जाती है। पेंशनरों को जागरूक रह कर हमेशा सावधानी बरतने की जरूरत है। पेंशन निदेशालय द्वारा कभी भी किसी पेंशनर का जीवन प्रमाण-पत्र ऑनलाइन अपडेट करने के लिए कॉल नहीं किया जाता है और न ही ऑनलाइन जीवन प्रमाण-पत्र अपडेट किया जाता है।


जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण का गठन


राजस्व विभाग द्वारा जारी निर्देशों के अनुपालन में कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु होने पर मृतक के वारिसान को अनुग्रह राशि 50 हजार रूपये दिए जाने हेतु निर्देशित किया गया हैं आवेदनों की स्वीकृति के लिए गृह विभाग द्वारा अधिसूचना जारी कर जिले में जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) का गठन किया गया है।   जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अध्यक्ष कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट स्वयं होंगे। इसके अलावा समिति में पुलिस अधीक्षक, जिला पंचायत सीईओ, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, डिस्ट्रिक्ट कमाण्डेंट होमगार्ड तथा नगरपालिका अधिकारी को शामिल किया गया है।


मधुमेह जागरूकता के माध्यम से नियंत्रित किया जा सकता है


मधुमेह एक ऐसी बीमार है जिसके लक्षण सामान्य होते हैं पर यह धीरे-धीरे शरीर को कमजोर कर देता है। यह बीमारी सीडेंटरी लाइफ स्टाइल, अनहेल्दी फूड खाने एवं आनुवांशिक भी होती है। धीरे-धीरे मधुमेह के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है इसे जन जागरूकता के माध्यम से नियंत्रित किया जा सकता है। मधुमेह की सही समय पर पहचान उसके उपचार एवं जन जागरूकता के लिए स्वास्थ्य संस्थाओं में मधुमेह के संभावित रोगियों एवं उपचाररत रोगियों के लिए परामर्श सत्रों एवं जन जागरूकता गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा।  मधुमेह के उपचार के लिए असंचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत मरीजों को नि:शुल्क उपचार की सुविधा प्रदान की जाती है। बार-बार पेशाब आना, वजन का घटना या भूख कम लगना, बहुत ज्यादा प्यास लगना, कमजोरी अथवा थकान होना मधुमेह के मुख्य लक्षण है। मधुमेह की रोकथाम के लिए शरीर के वजन को सामान्य बनाए रखना, पौष्टिक आहार का सेवन, नियमित व्यायाम,  चलना अथवा दौड़ना जैसी गतिविधियां करना,  नशीले पदार्थों तंबाकू एवं शराब का सेवन नहीं करना महत्वपूर्ण है। मधुमेह के जांच एवं उपचार की नि:शुल्क सुविधा सभी हेल्थ एंड वैलनेस केंद्रों पर भी उपलब्ध कराई गई है। जिससे की मरीजों को नियमित रूप से दवाओं की प्राप्ति एवं फॉलो किया जा सके एवं उन्हें दूर के चिकित्सालय तक इलाज के लिए  नहीं जाना पड़े। मधुमेह के साथ सामान्य जीवन बचाया जा सकता है। मधुमेह की नियमित रूप से जांच कराये जाना बेहद आवश्यक है जिससे कि मधुमेह की पड़ताल उसकी प्रारंभिक अवस्था में ही हो सके।



वरिष्ठ नागरिकों के लिए एल्डर लाइन नम्बर 14567


वरिष्ठजन के साथ शारीरिक या भावनात्मक रूप से दुर्व्यवहार किया जा रहा है, तो वह एल्डर लाइन नंबर 14567 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार तथा सामाजिक न्याय और निशक्तजन कल्याण विभाग के अंतर्गत वरिष्ठ नागरिकों की सुविधाओं एवं मार्गदर्शन हेतु सहायता के लिए हेल्पेज इंडिया द्वारा हेल्पलाइन टोल फ्री नम्बर जारी किया गया है।  वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्थापित एक योजना है, जो मप्र के सभी जिलों में संचालित है। यह हेल्पलाइन सप्ताह के सातों दिन सुबह 08 बजे से रात 08 बजे तक कार्य करती है। एल्डर लाइन के अतंर्गत सेवाओं के एक भाव के रूप में मुफ्त कानूनी मार्गदर्शन प्रदान किया जाता है तथा वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण और रख-रखाव के अधिनियम 2007 के बारें में और पेंशन योजनाओं के बारें में जानकारी प्रदाय की जाती है। यदि किसी वरिष्ठजन के साथ शारीरिक या भावनात्मक रूप से दुर्व्यवहार किया जा रहा है, तो वह इस हेल्पलाइन नंबर पर रिपोर्ट कर सकतें है। कोई भी वरिष्ठजन अकेला हो या भावनात्मक रूप से कमजोर महसूस कर रहा हों, वे फोन करके बात कर सकतें है। हेल्पलाइन के माध्यम से भावनात्मक परामर्श प्रदान करने, परित्यक्त वृद्ध लोगों को अस्थाई आश्रय प्रदान करनें, उन्हें फिर से उनके परिवार के साथ मिलाने में मदद की जाती है। इसके अलावा वृद्धाश्रम, देखभाल करने वाली संस्थाओं, अस्पतालों आदि के बारें में भी जानकारी प्रदान की जाती है।


आठ वर्षों में 10 गुना उत्पादन बढ़ाया है ग्रीन ऊर्जा का : मुख्यमंत्री श्री चौहान


मध्यप्रदेश सदैव ही पर्यावरण संरक्षण के लिये कार्य करता रहा है। यही कारण है कि हमारे प्रदेश को सर्वाधिक वन होने का गौरव प्राप्त रहा है। हम पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में विभिन्न प्रकार से कार्य करते रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ग्रीन ऊर्जा उत्पादन के क्षेत्र में प्रदेश तेजी से आगे बढ़ रहा है। पिछले 8 वर्षों में इसके उत्पादन को 10 गुना से अधिक बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2012 में सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, बायोमास ऊर्जा और लघु जल विद्युत में हमारा उत्पादन 438.24 मेगावॉट हुआ करता था, जो 2021 में बढ़कर लगभग 5500 मेगावॉट हो चुका है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भविष्य ग्रीन ऊर्जा का है, क्योंकि ऊर्जा के पारंपरिक संसाधन निश्चित तौर पर धीरे-धीरे समाप्त हो जायेंगे, जिसकी आहट अभी से सुनाई पड़ने लगी है, ऊर्जा उत्पादन में कोयला भंडारों का दोहन होने से आपूर्ति का संकट मंडराने लगा है। उन्होंने कहा कि सूर्य से हमें अक्षय ऊर्जा मिलती है। सूर्य, पवन और बायोमास से मिलने वाली ऊर्जा सस्ती होने के साथ पर्यावरण संरक्षण में भी सहायक है। सूर्य, पवन और सौर ऊर्जा का अधिकाधिक प्रयोग विश्व में कार्बन उत्सर्जन को कम करने में भी मददगार होगा, जिसके वैश्विक स्तर पर निरंतर प्रयत्न किये जा रहे हैं। केन्द्रीय नवीन एवं नवकरणीय मंत्रालय द्वारा देश में वर्ष 2022 तक सौर गीगावॉट (एक लाख मेगावॉट) की सौर परियोजनाओं की स्थापना का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसमें से मध्यप्रदेश द्वारा वर्ष 2022 तक 5 हजार 675 मेगावॉट क्षमता की सौर परियोजनाओं का लक्ष्य है। वर्तमान में प्रदेश में 2400 मेगावॉट क्षमता की सौर परियोजनाएँ स्थापित हैं। लगभग 5000 मेगावॉट क्षमता की परियोजनाएँ स्थापनाधीन हैं। प्रदेश शासन का यह लक्ष्य देश के महत्वाकांक्षी ग्रीन ऊर्जा लक्ष्य प्राप्ति में महत्वपूर्ण योगदान देगा। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में प्रदेश ने प्रगति के नये प्रतिमान स्थापित किये हैं। प्रदेश में अब तक 128 सौर ऊर्जा परियोजनाओं से 2386 मेगावॉट विद्युत उत्पादन किया जा रहा है। प्रदेश में वर्ष 2012 में पवन ऊर्जा से 315 मेगावॉट विद्युत का उत्पादन हो रहा था, जो अब पवन ऊर्जा में पंजीकृत 105 परियोजाओं के माध्यम से 5 हजार मेगावॉट तक बढ़ गया है। बायोमास आधारित विद्युत परियोजनाओं को विकसित करने के लिये विभिन्न उपाय किये गये हैं। प्रदेश में अक्टूबर 2011 को जारी नीति अनुसार 117 मेगावॉट की 33 परियोजनाएँ स्थापित हैं। कुल 16 मेगावॉट की 2 परियोजनाएँ और स्थापित की जा रही हैं। प्रदेश में ग्रीन ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिये किसानों को सोलर ऊर्जा उत्पादन के लिये प्रोत्साहित किया जा रहा है। केन्द्रीय नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा किसानों के लिये प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा उत्थान महा-अभियान (कुसुम) संचालित है। प्रधानमंत्री कुसुम '(अ)-योजना' में किसान अपनी उपजाऊ या बंजर ज़मीन में सोलर संयंत्र की स्थापना कर राज्य शासन को बिजली बेच सकते हैं। परियोजना में प्रदेश के 357 किसानों ने 2961 एकड़ भूमि पर 600 मेगावॉट क्षमता की सोलर परियोजनाएँ लगाने की सहमति दी है। वर्ष 2021-22 में 100 मेगावॉट का लक्ष्य रखा गया है। योजना से किसानों को अतिरिक्त आय होगी। प्रधानमंत्री कुसुम '(ब)-योजना (मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना)' में प्रदेश के किसानों को भरपूर सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के लिये सोलर पंप की स्थापना की जा रही है। इस वर्ष लगभग 7 हजार सोलर पंप किसानों के यहाँ स्थापित किये जा चुके हैं। लगभग 23 हजार 500 किसानों ने सोलर पंप स्थापना के लिये पंजीयन करवाया है। खेतों पर जुलाई 2023 तक 45 हजार सोलर पंप स्थापित करने का लक्ष्य निर्धारित है। प्रधानमंत्री कुसुम '(स)-योजना' में ग्रिड कनेक्टेड सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा से उर्जीकृत किया जाता है। योजना में संपूर्ण फीडर का सोलराइजेशन अथवा फीडर पर कनेक्टेड सिंचाई पंप का अलग-अलग सोलराइजेशन किया जा सकता है। योजना में केन्द्र शासन द्वारा 30 प्रतिशत अनुदान दिया जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं: