बिहार : कैबिनेट बैठक में 17 एजेंडों पर मुहर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 7 दिसंबर 2021

बिहार : कैबिनेट बैठक में 17 एजेंडों पर मुहर

bihar-cabinet-meeting
पटना : नीतीश कुमार की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक बुलाई गई। इस कैबिनेट बैठक में कुल 17 एजेंडे पर मुहर लगी है। इस बैठक की सबसे अहम बात यह रही की 17 एजेंडों में से 9 सिर्फ स्वास्थ विभाग से जुड़ा रहा। इसमें चार डॉक्टरों को बर्खास्त किया गया तो वहीं, एक डॉक्टर को अनिवार्य सेवानिवृत्त कर दिया गया। इस कैबिनेट बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने निर्णय लेते हुए एलान किया कि बालू खनन कार्य संवेदकों के माध्यम से अगले आदेश तक किया जा सकता है। वहीं, 2019 के बंदोबस्ती धारियों से प्राप्त 10% प्रतिभूति राशि 267.83 करोड़ वापस किए जाएंगे। इसके साथ ही कैबिनेट बैठक में वाल्मीकिनगर में 102 कमरों का कन्वेंशन सेंटर बनाने को मंजूरी प्रदान की गई है। वाल्मीकि नगर में बनने वाले कन्वेंशन सेंटर की लागत में करीब 120 करोड़ 21 लाख रुपये खर्च होंगे। कन्वेंशन सेंटर में चार ब्लॉक में बनाए जाएंगे। वहीं, सिमुलतला आवासीय विद्यालय, जमुई में एक प्राचार्य, एक उप प्राचार्य, 62 शिक्षक और 63 शिक्षकेतर कर्मियों के लिए 127 अस्थाई पद स्वीकृत किया गया है। इसके लिए 7 करोड़ 30 लाख 31 हजार ₹868 की स्वीकृति भी दी गई है।


इसके साथ ही बेगूसराय में राजकीय अयोध्या शिवकुमारी आयुर्वेद महाविद्यालय सह चिकित्सालय में 150 नामांकन क्षमता के आयुर्वेद महाविद्यालय, 200 बेड के चिकित्सालय और छात्रावास आवासीय भवनों के निर्माण के लिए दो अरब 57 करोड़ 46 लाख की स्वीकृति दी गई है। जबकि, मुजफ्फरपुर के आरबीटीएस होम्योपैथिक चिकित्सा कॉलेज और अस्पताल में 120 नामांकन क्षमता के होम्योपैथिक कॉलेज के भवनों के निर्माण के लिए एक अरब 21 करोड़ 1 लाख की स्वीकृति दी गई है। वहीं, दरभंगा के मोहनपुर राजकीय महारानी रामेश्वरी भारतीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान में 120 नामांकन क्षमता आयुर्वेद चिकित्सा महाविद्यालय और 150 बेड के आयुर्वेदिक कॉलेज अस्पताल के भवनों के निर्माण के लिए एक अरब 95 करोड़ 63 लाख 34 हजार की स्वीकृति दी गई है। साथ ही पटना के एनएमसीएच परिषर में राजकीय तिब्बी कॉलेज कदमकुआं के नए परिसर भवन को बनाने के लिए दो अरब 64 करोड़ 44 लाख 91 हजार की मंजूरी दे दी गई है गोपालगंज जिले के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. असलम हुसैन को सेवा से बर्खास्त कर दिया है। उन पर लगातार अनधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने का आरोप लगा था। गया के अतरी PHC चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. कवींद्र प्रसाद सिंह को जबरन रिटायर्मेंट दिया गया है। किशनगंज सदर हॉस्पिटल के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. सुनील कुमार चौधरी और छतरगाछ रेफरल अस्पताल डॉ. शिवानी सिंह को बर्खास्त किया गया है। पूर्णियां सदर अस्पताल चिकित्सा पदाधिकारी डॉ.मो सबाह अंसारी को बर्खास्त किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं: