बिहार : जिलों को आर्म्ड फोर्स की अलग से व्यवस्था करने का निर्देश - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 10 दिसंबर 2021

बिहार : जिलों को आर्म्ड फोर्स की अलग से व्यवस्था करने का निर्देश

bihar-dgp-order-to-create-special-task-force-all-district
पटना : जिला पुलिस को सशस्त्र बल (आर्म्ड फोर्स) की अलग से व्यवस्था करने को कहा गया है। इसको लेकर बिहार के डीजीपी एसके सिंघल ने सभी जिलों को दिशा- निर्देश भी जारी कर दिया है। इस फोर्स का गठन गंभीर आपराधिक मामलों में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी और कार्रवाई के लिए हो रही है। रेंज मुख्यालय वाले जिलों में आर्म्ड फोर्स की एक कंपनी रहेगी। वहीं, अन्य जिलों में फरार अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए सशस्त्र बल की एक या दो प्लाटून गठित करने को कहा है। बता दें कि बिहार में अपराध को नियंत्रित करने के लिए जिला स्तर पर सशस्त्र बलों की कंपनी और प्लाटून गठित करने का काम पहली बार हो रहा है। इससे पहले कभी इस तरह की व्यवस्था नहीं की गई थी। वैसे, अभी तक पुलिस द्वारा गंभीर मामलों को निपटाने के लिए SIT का गठन करती थी, लेकिन अब गंभीर आपराधिक मामलों में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी और कार्रवाई के लिए सशस्त्र बल का गठन किया जा रहा है। पुलिस मुख्यालय ने सशस्त्र बल के सिपाहियों से विधि-व्यवस्था का कार्य लेने को कहा है। मुख्यालय का साफ़ आदेश है कि सशत्र बालों से कार्यालय का काम लिया जाना अनुचित है। मुख्यालय ने जिलों के एसपी से कहा कि कार्यालय का काम साधारण बल से लेना है। सशस्त्र बल के सिपाहियों को फील्ड में तैनात किया जाय और विधि-व्यवस्था और गंभीर कांडों में गिरफ्तारी और इससे जुड़े कार्य लिए जाएं।

कोई टिप्पणी नहीं: