कृषि एवं जनजातीय संप्रभुता अभियान सह मृदा स्वास्थ्य संवाद कार्यक्रम - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 2 दिसंबर 2021

कृषि एवं जनजातीय संप्रभुता अभियान सह मृदा स्वास्थ्य संवाद कार्यक्रम

farmer-public-interaction
आज दिनांक 02 दिसम्बर, 2021 को वाग्धारा परिसर कूपडा में कृषि एवं जनजातीय संप्रभुता अभियान 2021-22 के अंतर्गत मृदा स्वास्थ्य संवाद कार्यक्रम राजस्थान राज्य सरकार के जल संसाधन विभाग एवं इंदिरा गाँधी नहर परियोजना में कैबिनेट मंत्री माननीय महेन्द्रजीत सिंह मालवीया के मुख्य आतिथ्य और ज़िला अध्यक्ष श्री चांदमल जैन, नगर परिषद् अध्यक्ष श्री जैनेन्द्र त्रिवेदी, ज़िला परिषद् सदस्य श्री ललित पाटीदार एवं पंचायत समिति बागीदौरा सदस्य श्री रणछोड़ पटेल के विशिष्ट आतिथ्य में संपन्न हुआ I कैबिनेट मंत्री महेंद्रजीत सिंह मालवीया ने इस अवसर पर बोलते हुए कहा की सबसे पहले मैं वाग्धारा संस्था के सचिव भाई जयेश जोशी  का आभार व्यक्त करना चाहता हूं कि इनकी संस्था ने  जनजाति क्षेत्र में विकास के कार्यों को गति देने के लिए जो बीड़ा उठाया है, उसमे अब हम साथ मिलकर इस गति को तेज करेंगे और हम सब की एक ही मंशा है कि बांसवाड़ा ज़िले के कोने-कोने तक माही का पानी पहुंचे I राज्य सरकार द्वारा गत वर्ष राज्य के विभिन्न जिलों में 50 एनीकट बनाने की घोषणा की गई थी, उसे बढ़ाकर अब हमारे विभाग द्वारा 100 नये एनीकट का निर्माण किया जाएगा I  माहि नदी  के सुदृढ़ीकरण के लिए  450 करोड़ की लागत से जो नहरे जर्जर हो चुकी है जिनमे जगह-जगह पानी का रिसाव होता है उनका पुनरुद्धार होगा I  दीर्घकालीन योजनाओ को लागु किया जायेगा किसानों को स्वाबलंबी बनाया जायेगा जिससे किसान की तक़दीर व तस्वीर बदलेगी आने बाले दिनों में हमारे द्वारा सभी लोगो को सरकार की योजनाओ से लाभान्वित किया जायेगा I हिमालय से जोधपुर तक आने वाली इंद्रा गाँधी नहर परियोजना की जिमेदारी भी सरकार द्वारा मुझे दी गयी है I बाँसवाड़ा में अन्देश्वर, आनंदपुरी, कुशलगढ़, सज्जनगढ़ इत्यादि नहरों के लिए हमें 2000 करोड़ की आवश्यकता थी परन्तु हमने 1600 करोड़ की व्यवस्था कर दी है और जल्द ही कार्य शुरू कर दिया जाएगा I 


वाग्धारा संस्था सचिव जयेश जोशी द्वारा बताया गया की माननीय मालवीया जी के जन्मदिन के उपलक्ष्य में संस्था के द्वारा 75 परिवारों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सिरोही नस्ल की बकरे एवं बकरिया दे कर लाभान्वित किया गया, साथ ही संस्था परिवार के साथ केक काटकर मालवीया जी का जन्मदिवस मनाया गया I   इस मौके पर कांग्रेस ज़िला अध्यक्ष  श्री चांदमल जैन के द्वारा बताया गया की जनजातीय  क्षेत्र में वाग्धारा का कार्य बहुत ही सराहनीय है जिस से हर वंचित परिवारों को फायदा पहुंचा है और अब वह आत्म निर्भर हो रहे है I नगर परिषद सभापति श्री जेनेद्र त्रिवेदी जी के द्वारा बताया की संस्था ने कोरोना काल में आगे आकर हर वर्ग के लोगों तक पहुँच कर उनको तात्कालिक मदद पहुंचाई है I जिसमें निशुल्क राशन सामग्री, खेती के लिए बीज, CHC व PHC में ऑक्सीजन कंसनट्रेटर, बागीदौरा व छोटी सरवन CHC में ऑक्सीजन प्लांट्स इत्यादि उपलब्ध करवाएं I  माजिद खान द्वारा बताया गया की आज मृदा स्वास्थ्य संवाद कार्यक्रम के तहत संस्था के कार्यक्षेत्र से स्थानीय स्वराज मित्र, सहजकर्ता व संगठन सदस्यों ने अपनी सहभागिता निभाई और पूर्व में मृदा संरक्षण को लेकर जो भी अभियान संस्था द्वारा जनजाति क्षेत्र में चलाएं गये है उनसे जो बदलाव अब समुदाय स्तर पर देखने को मिल रहे है उनको साँझा किया गया है I समुदाय में लोग मृदा संरक्षण को लेकर योजनाएं बना रहे है और ग्राम पंचायत के माध्यम से भूमि समतलीकरण, मृदा स्वास्थ्य परिक्षण, मृदा को बचाएं रखने के लिए जल को रोका गया जिसके लिए चेक डेम, एनीकेट, फार्म पोंड, तालाब निर्माण इत्यादि कार्यों में समुदाय सहभागिता से सम्पन्न करवाएं गये I सच्ची खेती कार्यक्रम प्रभारी पी.एल.पटेल द्वारा बताया गया की हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी दिनांक 5 दिसम्बर को विश्व मृदा दिवस के अवसर पर राजस्थान, मध्यप्रदेश व गुजरात राज्य के 1000 गांवों में विश्व मृदा दिवस अभियान का आयोजन किया जाएगा, जिसमे स्थानीय ग्राम विकास बाल अधिकार समिति, सक्षम समूह, जनजातीय स्वराज संगठन,स्वयं सेवक, स्वराज मित्र, स्थानीय जनप्रतिनिधि इत्यादि की सहभागिता से मृदा स्वास्थ्य व संरक्षण को लेकर कार्यक्रम आयोजित किये जाएँगे जिसमे मिट्टी पूजा व धरती माता की आरती, मृदा को लेकर सामूहिक स्थान पर हलमा और संवाद किया जाएगा I कार्यक्रम का संचालन सतीश आचार्य जी द्वारा किया गया एवं परमेश पाटीदार द्वारा समस्त अतिथियों व सहभागियों का आभार व्यक्त किया गया I 

कोई टिप्पणी नहीं: