बिहार : जहांगीर कव्वाल कव्वाली के जरिए लोगों को कर रहे हैं जागरूक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 2 दिसंबर 2021

बिहार : जहांगीर कव्वाल कव्वाली के जरिए लोगों को कर रहे हैं जागरूक

  • कोविड19 जागरूकता रथ और सांस्कृतिक कार्यक्रमों से आमजनों को किया जा रहा है जागरूक

awareness-by-qawwali
पटना/मुजफ्फरपुर, 02 दिसंबर, कोविड 19 टीकाकरण और जन कल्याणकारी योजनाओं के प्रति आमजनों को जागरूक करने के उद्देश्य से सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के रीजनल आउटरीच ब्यूरो पटना द्वारा बिहार के 18 जिलों में जागरूकता रथ चलाया जा रहा है। इसी क्रम में आज मुजफ्फरपुर जिले के कुढ़नी प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में जागरूकता रथ चलाया गया। ब्यूरो के क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी पवन कुमार सिन्हा एवं विभागीय कलाकार आरती झा की मौजूदगी में आज बसौली पंचायत स्थित मोरनिस्फ गांव में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम को देखने के लिए सैकड़ों की संख्या में लोग एकत्रित हुए।  लोगों को संबोधित करते हुए क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी पवन कुमार सिन्हा ने कहा कि इस जागरूकता रथ और सांस्कृतिक कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य कोविड19 टीकाकरण के प्रति लोगों को जागरूक करना और केंद्र सरकार की योजनाओं के बारे में लोगों को जागरूक करना है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने अभी तक टिका नहीं लिया है, वैसे लोगों को लक्षित करने के लिए और जहां पर टीकाकरण न्यूनतम रहा है, वैसे लोगों को जागरूक करने के लिए जागरूकता रथ विभाग द्वारा चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं जागरूकता रथ, लोगों को जागरूक करने का एक सशक्त माध्यम है। इससे लोगों को सीधा संदेश प्रभावी तरीके से दिया जा रहा है। कोविड-19 के तीसरी लहर को देखते हुए इस तरीके के जागरूकता कार्यक्रमों के दूरगामी प्रभाव देखने को बिहार में मिलेंगे। कुढ़नी प्रखंड के राजकीय इंटर कॉलेज में भी सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जहां स्कूल के छात्र-छात्राएं और शिक्षक मौजूद थे। मौके पर स्कूल के सह प्राचार्य रामप्रवेश कुमार, भौतिकी के शिक्षिका नूतन कुमारी, राजनीति विज्ञान के शिक्षक प्रवीन कुमार श्रीवास्तव सहित अन्य शिक्षक मौजूद थे। दोनों कार्यक्रम स्थलों पर आमजनों को 2 गज की दूरी अपनाने, बार-बार हाथ धुलने और मास्क पहनने जैसी आवश्यक कोविड-19 नियमों के पालन करने की बात कही गई। इसके साथ ही लोगों से कोविड-19 टीकाकरण करवाने को भी जागरूक किया गया। मंत्रालय के पंजीकृत सांस्कृतिक दल दरभंगा के जहांगीर कव्वाल एवं नूरजहां की टीम ने कोविड-19 टीकाकरण से जुड़े कई कव्वाली प्रस्तुत किए। कव्वाली के माध्यम से ही उन्होंने लोगों को कोविड-19 टीकाकरण और कोविड-19 नियमों के बारे में लोगों को जागरूक किया। कव्वाली के संदेशों को सुन लोगों ने बहुत सराहा। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के रीजनल आउटरीच ब्यूरो (आरओबी), पटना द्वारा 22 नवंबर को राज्य के 18 जिलों के लिए 7 जागरूकता रथों को रवाना किया गया था। बिहार सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क तथा जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने हरी झंडी दिखा कर इन रथों को रवाना किया था। कोविड 19 टीकाकरण एवं अन्य जन-कल्याणकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार हेतु चलाए जा रहे जागरूकता रथ को मुख्य रूप से अल्पसंख्यक, नक्सल प्रभावित, सीमावर्ती, एस्पीरेशनल जिलों में तथा जहां कम टीकाकरण हुए हैं, वहां चलाया जा रहा है। मंत्रालय के पंजीकृत सांस्कृतिक दलों के द्वारा लगभग 140 जगहों पर जागरूकता कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जा रहा है। जिन 18 जिलों में जागरूकता रथ और सांस्कृतिक दलों के कार्यक्रम हो रहे हैं, उनमें औरंगाबाद, अरवल, सीतामढ़ी,  पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, वैशाली, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, सुपौल, अररिया, कैमुर, रोहतास, खगड़िया, कटिहार, किशनगंज, लक्खीसराय, शेखपुरा और जमुई शामिल हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं: