मधुबनी : पोषाहार योजना के नई पद्धति की शुरुआत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 2 दिसंबर 2021

मधुबनी : पोषाहार योजना के नई पद्धति की शुरुआत

meal-scheems-for-school
मधुबनी,  आज दिनांक 02 दिसंबर 2021 को श्री अमित कुमार, भा. प्र. से. जिला पदाधिकारी, मधुबनी द्वारा जिला पंजीकरण सह परामर्श केंद्र, मधुबनी के माध्यम से जिले के विद्यालयों में पोषाहार योजना को  संचालित किए जाने वाली नई पद्धति की जिले में शुरुआत की गई। जिला पंजीकरण सह परामर्श केंद्र, मिठौली, रहिका के परिसर में बिहार राज्य मध्यान भोजन समिति, मधुबनी के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम के दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी महोदय ने कहा कि यह एक बहुप्रतीक्षित कदम है। जिले के सरकारी विद्यालयों में पोषाहार दिए जाने से जहां बच्चों के विद्यालय में आवक बढ़ेगी वहीं बच्चों में पोषण के स्तर को बढ़ाया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि पहले कक्षा एक से आठ तक के विद्यालयों में  मध्यान भोजन योजना के नाम से पोषाहार योजना संचालित थी। अब इसकी पद्धति के साथ साथ इसके नाम में भी बदलाव किया गया है। अब इसे प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना के नाम से जाना जाएगा। इसके वित्तीय लेन देन भी नए तरीके अर्थात् पी एफ एम एस या पब्लिक फाइनेंस मैनेजमेंट सिस्टम से किया जाएगा। यह केंद्र सरकार द्वारा वित्तीय लेन देन की ऑन लाइन व्यवस्था है। यह एक सॉफ्टवेयर है जिसका इस्तेमाल विगत कई वर्षों से मध्यान भोजन योजना में जिला स्तर पर किया जाता रहा है और अब इसका उपयोग विद्यालय स्तर पर भी किया जाना है। उन्होंने जानकारी दी कि पहले नकद में किए जाने वाले सभी व्यय अब नकद नहीं किए जायेंगे। विभागीय निदेेश के आलोक में विद्यालय द्वारा संचालित पूर्व के सभी खातों को बंद करने के उपरांत प्रखंड संसाधन केंद्रों पर कैंप लगाकर नया खाता एच डी एफ सी बैंक में खोला गया है। अब विद्यालय प्रधान द्वारा राशि का भुगतान सीधे भेंडर या दुकानदार के खाते में जमा किया जाएगा। पी एम एफ एस के अंतर्गत तीन यूजर्स होंगे। इसमें एडमिन, मेकर और चेकर होंगे जिनके द्वारा पी एम एफ एस में डाटा अपलोड कर भुगतान की प्रक्रिया ऑनलाइन की जाएगी । इसमें एडमिन एवं मेकर संबंधित विद्यालय के प्रधान/ प्रभारी प्रधान एवं चेकर संबंधित प्रखंड के प्रखंड साधन सेवी, मध्यान भोजन योजना होंगे। उन्होंने उम्मीद जताई गई कि इस नई पद्धति के आने से व्यय की गई सरकार की राशि का लेखा जोखा सही समय पर उपलब्ध हो सकेगा।  बताते चलें कि आज जिलाधिकारी द्वारा जिला पंजीकरण सह परामर्श केंद्र, मधुबनी से जिले के रहिका एवं बाबूबरही प्रखंड के विद्यालय प्रधानों को पी एफ एम एस की जानकारी प्रदान करने से कार्यक्रम की शुरुआत की गई है। विद्यालय प्रधान की संख्या को दृष्टिगत रखते हुए चरणबद्ध रूप से जिले के अलग अलग हिस्सों में इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।   मौके पर श्री विनोद कुमार झा, जिला योजना पदाधिकारी, श्री नसीम अहमद, जिला शिक्षा पदाधिकारी, मधुबनी, श्री चंदन प्रभाकर, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, समग्र शिक्षा, मधुबनी, श्री नजीबुल्लाह, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, मध्यान भोजन योजना, मधुबनी, श्री नवीन कुमार ठाकुर, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, लेखा एवं योजना, मधुबनी के साथ साथ जिले के रहिका एवं बाबूबरही प्रखंडों के प्रखंड साधन सेवी, मध्यान भोजन योजना और विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: