असम में बदमाशों ने क्रिसमस उत्सव में खलल डाला - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 26 दिसंबर 2021

असम में बदमाशों ने क्रिसमस उत्सव में खलल डाला

christmus-disturbed-in-assam
सिलचर (असम), 26 दिसंबर, असम में कछार जिले के सिलचर में बदमाशों ने यह मांग करते हुए क्रिसमस कार्यक्रम में खलल डाला कि हिंदुओं को इस जश्न से दूर रहना चाहिए। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने रविवार को बताया कि शनिवार शाम को हुई इस घटना में शामिल सात युवाओं को अभी तक हिरासत में लिया गया है। कछार की पुलिस अधीक्षक रमनदीप कौर ने बताया कि यह घटना शहर में एक खुले मैदान में क्रिसमस के जश्न के दौरान हुई। उन्होंने कहा, ‘‘कुछ लड़के आयोजन स्थल पर गए और उन्होंने अन्य हिंदुओं से समारोह में भाग न लेने के लिए कहा। उन्होंने इस उत्सव का जश्न मना रहे ईसाइयों को नहीं रोका।’’ कौर ने कहा कि पुलिस को घटना के संबंध में शिकायत नहीं मिली है लेकिन फिर भी उसने इसमें शामिल युवकों को हिरासत में लिया है। पुलिस अधीक्षक ने कहा, ‘‘हम घटना की जांच कर रहे हैं। हमारे पास अभी तक किसी भी समूह की संलिप्तता की जानकारी नहीं है।’’ बहरहाल, स्थानीय लोगों ने दावा किया कि बदमाशों का संबंध बजरंग दल से है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, भगवा चोला पहन रखे इन युवाओं ने आयोजन स्थल पर मौजूद लोगों से हाथापाई शुरू कर दी तथा ‘जय श्री राम’ के नारे लगाए। यह घटना रात करीब नौ बजे हुई जब आयोजन स्थल पर काफी लोग मौजूद थे। जब वहां मौजूद लोगों ने युवकों से पूछा कि वे जश्न समारोह पर आपत्ति क्यों उठा रहे हैं तो उन्होंने कथित तौर पर कहा कि हिंदू होने के नाते उन्हें ‘तुलसी दिवस’ मनाना चाहिए जो क्रिसमस के दिन ही मनाया जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं: