भारतीय बल्लेबाज दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाजों से निबटने में सक्षम : पुजारा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 23 दिसंबर 2021

भारतीय बल्लेबाज दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाजों से निबटने में सक्षम : पुजारा

india-batsman-will-face-seemers-in-africa-pujara
सेंचुरियन, 23 दिसंबर, मध्यक्रम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने कहा कि भारत का मौजूदा बल्लेबाजी क्रम दक्षिण अफ्रीका में तेज गेंदबाजों के लिये अनुकूल पिचों पर मिलने वाले मूवमेंट से निबटने में सक्षम है और उन्हें इसमें कोई संदेह नहीं कि विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम यहां अच्छा प्रदर्शन करेगी। पुजारा ने कहा कि हाल में विदेशों में मिली जीत से भारत का आत्मविश्वास बढ़ा है और इसका प्रभाव रविवार से शुरू होने वाली तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला में दिखायी देगा। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें पुजारा ने कहा, ‘‘जब आप विदेश दौरे पर जाते हो तो आप जानते हो कि वहां तेजी और उछाल होगी और गेंद आखिरी क्षणों में मूव करेगी। भारत से बाहर तेज गेंदबाजों का सामना करना हमेशा बड़ी चुनौती होती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस टीम ने यह सीखा है और हमारे पास अधिक संतुलित बल्लेबाजी क्रम है। मुझे लगता है कि हम इससे निबटने में सक्षम होंगे। अपनी तैयारियों को देखते हुए मुझे पूरा विश्वास है कि हम अच्छा प्रदर्शन करेंगे।’’ पुजारा को लगता है कि दक्षिण अफ्रीका के खेलने के अनुभव का भी टीम को फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा, ‘‘अधिकतर (भारतीय) खिलाड़ी पूर्व में दक्षिण अफ्रीका में खेल चुके हैं। यह एक अनुभवी टीम है और तैयारी की दृष्टि से हम जानते हैं कि हमसे क्या उम्मीद की जाती है।’’ पुजारा ने कहा, ‘‘अधिकतर टीमें अपनी घरेलू परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन करती हैं और दक्षिण अफ्रीकी टीम भी अपवाद नहीं है। उनके पास सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आक्रमण है और सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में से एक का सामना करना हमेशा चुनौतीपूर्ण रहा है।’’ भारत ने साल की शुरुआत में चार मैचों की श्रृंखला में आस्ट्रेलिया को 2-1 से हराकर बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी बरकरार रखी थी। इसके बाद उसने इंग्लैंड के खिलाफ उसकी धरती पर चार मैचों में 2-1 से बढ़त बना रखी थी। कोविड-19 संक्रमण के कारण इस श्रृंखला का पांचवां टेस्ट नहीं हो पाया था। पुजारा ने कहा, ‘‘इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन करने से इस टीम के आत्मविश्वास में बड़ा अंतर आएगा। इससे टीम को भरोसा हो गया है हम विदेशों में जीत सकते हैं, हम किसी भी परिस्थिति में जीत सकते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘और जिस तरह से हमारी गेंदबाजी और बल्लेबाजी है उसे देखते हुए मुझे पूरा विश्वास है कि हम दक्षिण अफ्रीका में श्रृंखला जीतने में सक्षम हैं।’’ पुजारा 2020 से निरंतर एक जैसा प्रदर्शन नहीं कर पाये हैं। उन्होंने अपना आखिरी शतक जनवरी 2019 में आस्ट्रेलिया में लगाया था। पिछली 10 पारियों में उन्होंने दो अर्धशतक लगाये लेकिन वह जानते हैं कि दक्षिण अफ्रीकी परिस्थितियों में कैसे बल्लेबाजी करनी होगी। उन्होंने कहा, ‘‘जब मैं 2011 में यहां आया था तो डेल स्टेन और मोर्ने मोर्कल अपने चरम पर थे। मैं 2013 और 2017 में भी यहां के दौरे पर आया और इसलिए जानता हूं कि यहां कैसे बल्लेबाजी करनी है।’’

कोई टिप्पणी नहीं: