कलिंग साहित्य महोत्सव आरंभ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 10 दिसंबर 2021

कलिंग साहित्य महोत्सव आरंभ

kaling-litreture-festival-starts
भुवनेश्वर, 10 दिसंबर, कोरोना वायरस महामारी के कारण पिछले साल रद्द हुए कलिंग साहित्य महोत्सव (केएलएफ) का आठवां संस्करण शुक्रवार को भुवनेश्वर में शुरू हो गया। उड़िया भाषा, साहित्य और संस्कृति मंत्री ज्योति प्रकाश पाणिग्रही ने तीन दिवसीय समारोह का उद्घाटन किया, जिसमें नेपाल इस वर्ष का भागीदार देश है। उद्घाटन समारोह में नेपाल के प्रभारी राजदूत राम प्रसाद सुबेदी, कवि सीताकांत महापात्र और रमाकांत रथ शामिल हुए। कवि श्रीनिवास उदगाता को कलिंग साहित्य पुरस्कार दिया गया, जबकि कवि अरुण कमल को कलिंग साहित्य अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: