काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण वाराणसी के लिए ऐतिहासिक : मोदी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 13 दिसंबर 2021

काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण वाराणसी के लिए ऐतिहासिक : मोदी

kashi-vishwanath-inaugration-historical-modi
वाराणसी, 12 दिसंबर, प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के वाराणसी में नवनिर्मित काशी विश्वनाथ धाम के सोमवार को होने वाले लोकार्पण को देश की सांस्कृतिक राजधानी रूप में विख्यात वाराणसी के लिए ऐतिहासिक दिन बताया है। काशी में अपने कार्यक्रम के बारे में एक ट्वीट में मोदी ने कहा कि श्री काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण से काशी की जीवंतता और पुष्ट होगी। उन्होंने लोगों से कल के कार्यक्रम में शामिल होने का अनुरोध किया। एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13-14 दिसंबर को वाराणसी के दौरे पर रहेंगे। मोदी 13 दिसंबर को दोपहर करीब एक बजे काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना करेंगे। इसके बाद वह करीब 339 करोड़ रुपये की लागत से बने श्री काशी विश्वनाथ धाम के पहले चरण का उद्घाटन करेंगे। काशी विश्वनाथ मंदिर आने के पहले प्रधानमंत्री दोपहर लगभग 12 बजे काशी के कोतवाल काल भैरव मंदिर दर्शन करने के लिए जाएंगे। फि‍र शाम को करीब 06 बजे रो-रो जहाज पर सवार होकर मां गंगा की भव्‍य आरती देखेंगे। प्रधानमंत्री दो दिवसीय काशी यात्रा के दौरान 14 दिसंबर को भाजपा शासित राज्यों असम, अरुणाचल प्रदेश, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, मणिपुर, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों के एक सम्मेलन में भी भाग लेंगे। इस सम्मेलन में बिहार और नगालैंड के उपमुख्यमंत्री भी भाग लेंगे। यह सम्मेलन शासन संचालन (गर्वनेंस) से संबंधित सर्वोत्तम प्रथाओं या तौर-तरीकों को साझा करने का अवसर प्रदान करेगा। इतना ही नहीं, यह टीम इंडिया की भावना को आगे बढ़ाने के प्रधानमंत्री के विजन के अनुरूप है। प्रधानमंत्री 14 दिसंबर को दोपहर लगभग साढ़े तीन बजे वाराणसी स्थित स्‍वर्वेद महामंदिर में सद्गुरु सदाफलदेव विहंगम योग संस्थान के 98वें वार्षिकोत्सव में शामिल होंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: