परिसीमन आयोग पर भरोसा नहीं : महबूबा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 18 दिसंबर 2021

परिसीमन आयोग पर भरोसा नहीं : महबूबा

mahbooba-not-trust-commission
जम्मू, 18 दिसंबर, पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को कहा कि उन्हें परिसीमन आयोग पर भरोसा नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि यह भाजपा के एजेंडे पर काम कर रहा है। उन्होंने भाजपा पर राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का इस्तेमाल करने का आरोप भी लगाया और कहा कि "पीडीपी इस तरह के कदमों से डरने वाली नहीं है। महबूबा ने राजौरी जिले में एक युवा सम्मेलन को संबोधित करने के बाद संवाददाताओं से कहा, "जहां तक ​​परिसीमन आयोग का सवाल है, यह भाजपा का आयोग है। उनका प्रयास अल्पसंख्यक के खिलाफ बहुसंख्यक को खड़ा करने तथा लोगों को और अधिक शक्तिहीन करने का है। वे भाजपा को लाभ पहुंचाने के लिए (विधानसभा) सीट की संख्या को इस तरह से बढ़ाना चाहते हैं।" उन्होंने कहा कि पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) को परिसीमन आयोग पर कोई भरोसा नहीं है। अगले सप्ताह नई दिल्ली में परिसीमन आयोग के सहयोगी सदस्यों की बैठक में भाग लेने के नेशनल कॉन्फ्रेंस के फैसले के बारे में पूछे जाने पर, पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, "यह उनका निर्णय है तथा मैं इसके बारे में और क्या कह सकती हूं।" जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा कृषि भूमि को गैर-कृषि उद्देश्यों में बदलने के लिए भूमि उपयोग कानूनों में बदलाव किए जाने के मुद्दे पर महबूबा ने दावा किया कि यह एक गलत निर्णय है और "भाजपा के छिपे हुए एजेंडे की साजिश" का हिस्सा है। उन्होंने आरोप लगाया, "वे चाहते हैं कि बाहर से अधिक से अधिक लोग आएं और जनसांख्यिकीय परिवर्तन के लिए यहां जमीन खरीदें।"

कोई टिप्पणी नहीं: