बिहार : बाइक और टायर वाली बैलगाड़ी के बीच भिड़ंत में अतुल की मौत - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 दिसंबर 2021

बिहार : बाइक और टायर वाली बैलगाड़ी के बीच भिड़ंत में अतुल की मौत

road-accident-death-bihar
बगहा. एक दोस्त के घर मुंडन समारोह में भोज खाने 15 नवंबर 2021 को जा रहे थे.बाइक का नंबर BR22A M6034 है. उसे अतुल कुमार चला रहे थे.बाइक के पीछे पर पिंटू चौधरी और जयप्रकाश चौधरी  बैठे थे.शाम के करीब 6.30 बज रहा था.बाइक और टायर वाली बैलगाड़ी के बीच में भिड़ंत हो जाती है.इसमें बाइक चालक अतुल कुमार की मौत हो गयी.इसके बाद पीछे बैठने वाले नौ दो ग्यारह हो गये.कुछ लोगों का कहना है कि उसकी हत्या उन्हीं दो लोगों ने की थी जो पीछे बैठे थे. इस संदर्भ में पश्चिम चम्पारण जिले के चखनी गांव के वार्ड नम्बर 03 के निवासी प्रकाश मदनु ने बिहार मानवाधिकार आयोग 9, बेली रोड, बिहार को 27 दिसबंर 2021को ईमेल के जरिये पूरी जानकारी दी है.ईमेल में लिखा है कि अतुल कुमार पुत्र पीटर ओस्ता, रतनपुरवा गांव, वार्ड नं. 08, चिउताहा पो, चिउताहा पीएस, पश्चिम-चंपारण में रहते हैं.सिकतिया मचरगाँव की घटना है बाइक और टायर वाली बैलगाड़ी के बीच में भिड़ंत हो जाती है.उसमें 15 नवंबर 2021को शाम के करीब 6.30 बज रहा था,अतुल कुमार की मौत हो जाती है. उन्होंने लिखा है कि इस दारूण घटना के बारे में परिवार के सदस्यों को कुछ भी पता नहीं है.पोस्टमॉर्टम करवाने के दौरान पुलिस रिपोर्ट लिखने आई थी.परिवार के कुछ सदस्यों ने कहा कि किसी जांच की आवश्यकता नहीं है क्योंकि उनकी मृत्यु बैलगाड़ी से टकराने से हो गई.बाद में परिजनों के साथ अन्य लोगों को शक हुआ है कि शायद उन्हीं दो लोगों ने उसकी हत्या कर दी है,जो बाइक पर पीछे बैठे थे. परिजनों व ग्रामीणों के द्वारा शंका व्यक्त करने के आधार पर, मैंने यानी प्रकाश मदनु ने एक आवेदन देकर बगहा-1 थाने में एक शिकायत पूर्ण मामला दर्ज करवाया.बगहा-1 थाने में 18 नवंबर 2021 को प्रेषित आवेदन में इस मामले की जांच कराने के लिए कहा गया है.प्रकाश मदनु ने शिकायत आवेदन की प्राप्ति कॉपी मांगी तो बगहा-1 थाने के थानाध्यक्ष ने नहीं दिया और न ही सच्चाई का पता लगाने व आवश्यक पूछताछ करने के लिए मृतक अतुल कुमार के घर और पीछे बैठने वाले पिंटू चौधरी और जयप्रकाश चौधरी के घर दिनांक 27 नवंबर 2021 तक पूछताछ नहीं किये.इन 12 दिनों में कोई पूछताछ नहीं हुई.यदि वे देरी करते हैं तो सभी गवाहों का सफाया हो जाएगा. प्रकाश मदनु ने उनसे अनुरोध किया  कि जांच जल्द से जल्द करें ताकि सच्चाई सामने आ सके.  प्राप्त जानकारी के अनुसार बिहार मानवाधिकार आयोग ने जवाब में कहा है कि 27 नवंबर 2021, 2:12 पूर्वाह्न एचआरसीनेट की शिकायत प्रति ईमेल फ़ाइल सफलतापूर्वक अपलोड की गई ( downloadfile.jpg.आगे कहा है कि प्रिय प्रकाश मदनु, आयोग ने आपकी शिकायत प्राप्त कर ली है और इसने डायरी नंबर 905/IN/2021 के रूप में निर्दिष्ट किया है.

कोई टिप्पणी नहीं: