बिहार : आगमन का दूसरा रविवार 5 दिसंबर को - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 4 दिसंबर 2021

बिहार : आगमन का दूसरा रविवार 5 दिसंबर को

second-sunday-tomorow
पटना. ईसाई समुदाय का आगमन काल चल रहा है.क्रिसमस से पहले आगमन काल के चार रविवार होते हैं.इसमें हम ईश्वर की प्रतीक्षा करते हैं जो हमारी खोज में आ रहा है. यह येसु का हमारी ओर आने के साथ हमारा भी उनकी ओर जाने का समय है. इसका मतलब है कि हमारी भूमिका ईश्वर को स्वीकारने में निष्क्रिय नहीं सक्रिय है.ईश्वर हमारे सृष्टिकर्ता हैं और हमारी ओर सृष्टि का रूप धारण करके आते हैं.28 नवंबर को बैगनी मोमबत्ती जला क्रिसमस के आगमन का प्रथम रविवार को विदा किये.आगमन के पहले रविवार पर गिरिजाघरों में बैंगनी रंग की मोमबत्ती आशा के प्रतीक के रूप में जलाई गयी. इस वर्ष आगमन का दूसरा रविवार 5 दिसंबर को है.दूसरे रविवार को भी विश्वास और प्रेम की प्रतीक बैंगनी रंग की मोमबत्ती लगाएंगे.आगमन का तीसरा 12 दिसंबर को है.तीसरे रविवार को चरवाहों की खुशी की प्रतीक गुलाबी रंग की मोमबत्ती लगाएंगे.  आगमन का चौथा रविवार 19 दिसंबर को है.चौथे रविवार शांति के संदेश की प्रतीक बैंगनी रंग की मोमबत्तियां लगाई जाएंगी. इसके बाद प्रभु के जन्म के अवसर पर 24 दिसंबर की मध्यरात्रि को प्रभु यीशु के जन्म की ज्योति के रूप में निर्मलता का प्रतीक सफेद रंग की मोमबत्ती लगाई जाएगी. ये मोमबत्तियां कैथोलिक ईसाई समुदाय के शहर में मौजूद गिरिजाघरों में लगाई जाएंगी. आज हार्टमन बालिका उच्च विघालय में परम्परागत गौशाला को आधुनिकता का आवरण पहनाया गया. प्रभु येसु मसीह के आगमन काल के उद्देश्य और प्रयोजन के रूप में आगमन की मोमबत्ती जलाते हुए साथ ही साथ गौशाला बनाया गया.यह सब हाथ से बनाया गया.तारे और फुलझड़ियां और तरह-तरह के सुंदर रंग-बिरंगे आकर्षक लालटेन बनाए गए. यूं लग रहा था मानो अब क्रिसमस आ ही गया.लड़कियों ने अपने अनुभव तथा सुंदर रचनात्मक स्मृतियों से विभिन्न विभिन्न कलाकृतियां बनाई.अपनी योग्यता सिद्ध की और इसमें सिस्टर मेरी विद्या सभी टीचर्स का सहयोग रहा.जिससे विद्यालय में प्रभु ईसा के क्रिसमस की तैयारी की जोश देखते बना.   हार्टमन बालिका उच्च विघालय की टीचर प्रतिमा दीपक दिव्या और राजकुमार सर के नेतृत्व में 12वीं कक्षा की छात्राओं ने स्टार बनाया.टीचर प्रियंका मैम अजय सर के नेतृत्व में दसवीं कक्षा की छात्राओं ने फुलझड़ियां और तरह-तरह के गौशाला बनवाएं.टीचर दीपिका संजू और जयश्री प्रेमा के नेतृत्व में 6 और 7 कक्षा की छात्राओं ने क्रिसमस ट्री बनाएं. 22 दिसंबर को क्रिसमस गैदरिंग डे है.उसी दिन पुरस्कार वितरण किया जाएगा.यहां पर 4 हाउस है, ग्रीन रेड, ब्लू और येलो.हाउस के अनुसार वितरण होगा. 

कोई टिप्पणी नहीं: