सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 05 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 5 दिसंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 05 दिसंबर

ग्राम रोलू खेड़ी में आज किया जाएगा पार्थिव शिवलिंग का निर्माण


सीहोर। सोमवार को दोपहर बारह बजे ग्राम रोलू खेड़ी स्थित प्राचीन भगवान शिव के मंदिर में शिव प्रदोष समिति और क्षेत्रवासियों के द्वारा पांच दिवसीय धार्मिक महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है इसके अंतर्गत पार्थिव शिवलिंग का निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा सुबह भगवान शिव का विशेष अभिषेक किया जाएगा और उसके पश्चात दोपहर में आस्था और उत्साह के साथ शिवलिंगों का निर्माण किया जाएगा। इस संबंध में जानकारी देते हुए समाजसेवी और आयोजन समिति के विष्णु परमार ने बताया कि इन दिनों ग्राम रोलूखेड़ी त्रिवेणी नदी तट पर स्थित प्राचीन भगवान भोलेनाथ के मंदिर में पांच दिवसीय दिव्य अनुष्ठान का आयोजन किया जा रहा है। जिससे क्षेत्र शिवमय वातावरण छाया हुआ है। मंदिर में भव्य रुद्राभिषेक और आलौकिक शिव श्रृंगार देखने के लिए लोग हमेशा तत्पर रहते हैं और भोलेनाथ की झलक पाते ही अत्यंत सुख से आनंदित हो उठते हैं। इस क्रम को आगे बढ़ते हुए क्षेत्रवासियों के सहयोग से पांच दिवसीय कार्यक्रम के अंतर्गत सोमवार को दोपहर बारह बजे ग्राम रोलूखेड़ी त्रिवेणी नदी तट पर स्थित प्राचीन भगवान भोलेनाथ के मंदिर में पुजारी रमेश बैरागी, कुणाल व्यास के सानिध्य में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के द्वारा पार्थिव शिवलिंग का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि पार्थिव शिवलिंग मिट्टी, जल, भस्म, चन्दन और शहद आदि को मिश्रित करके अपने हाथों से निर्मित किया जाता है। इसके लिए छानी हुई शुद्ध मिट्टी, गाय का गोबर, गुड़, मक्खन, शहद, चन्दन और भस्म मिलाकर शिवलिंग का निर्माण किया जाता। पार्थिव शिवलिंग के पूजन से जन्म-जन्मांतर के पाप नष्ट हो जाते हैं। अकाल मृत्यु का भय खत्म हो जाता है। अपार शिव कृपा की प्राप्ति होती है। क्षेत्रवासियों ने शिव लिंग निर्माण कार्यक्रम में आने की अपील की है। अपील करने ग्राम कचनारिया के किशोरीलाल मेवाड़ा, विष्णु, लाल सिंह, दुर्गा प्रसाद, दिनेश, रमेश, देव नारायण विश्वकर्मा, गेंदालाल, किशोर पटेल, अमर पटेल मुंडला, भगवत सिंह मेवाड़ा टीपी, चंदर सिंह, जुझार सिंह, बाला प्रसाद, लाड सिंह पटेल, बने सिंह भाई, मांगीलाल मेवाड़ा आदि शामिल है। 


बीएसआई मैदान पर खेली जा रही टी-20 लीग सीजन-2 क्रिकेट प्रतियोगिता, मैच के अंतिम ओवर में डीसीए ने पीपीसीए को दो विकेट से हराया


sehore news
सीहोर।  शहर के बीएसआई मैदान पर जारी स्वर्गीय मथुरा प्रसाद केसरिया की स्मृति में जिला क्रिकेट एसोसिएशन और बीएसआई हेल्थ एंड स्पोट्र्स के तत्वाधान में टी-20 लीग सीजन-2 क्रिकेट प्रतियोगिता के एक रोमांचक मुकाबले में डीसीए टीम ने पीपीसीए के हराकर प्रतियोगिता के फाइनल में स्थान पक्का किया है। मैच में हारने के उपरांत भी अंकों के आधार पर पीपीसीए फाइनल में पहुंच गई है। आगामी दिनों में प्रतियोगिता का फाइनल मैच डीसीए और पीपीसीए के मध्य खेला जाएगा। रविवार को खेले गए इस मुकाबले पहले बल्लेबाजी करने उतरी पीपीसीए ने निर्धारित 20 ओवर में आठ विकेट खोकर 159 रन का स्कोर खड़ा किया था। इसमें अक्षय दुबाने ने मात्र 57 गेंद पर आतिशी 108 रन की शतकीय पारी खेली। वहीं हेमंत केसरिया और अभिषेक परसाई ने 12-12 रन बनाए। वहीं डीसीए के ओर से सुनील जलोदिया ने चार ओवर में 25 रन देकर चार विकेट, शुभम ने दो विकेट और स्वप्रिल ने एक विकेट हासिल किया। चुनौती का पीछा करने उतरी डीसीए ने मैच के अंतिम ओवर में आठ विकेट खोकर यह मैच रोमांचक तरीके से जीत लिया। इसमें अमित शर्मा ने 48 रन, गौरव खरे ने 45 रन और शुभम 30 रन बनाए थे। इसके अलावा पीपीसीए टीम की ओर से गेंदबाजी करते हुए अभिषेक परसाई ने तीन विकेट, मानस ने दो विकेट और अतुल त्रिवेदी-सचिन कीर ने एक-एक विकेट हासिल किया।


टाइगर इलेवन ने यंग स्टार को हराया

डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि एक अन्य मैच में टाइगर इलेवन ने यंग स्टार को चार विकेट से हराकर प्रतियोगिता में तीसरा स्थान ग्रहण किया। इस मैच यंग स्टार ने निर्धारित 20 ओवर में 130 रन बनाए थे, वहीं इलेवन टाइगर ने यह मैच चार विकेट से जीत लिया। इस मैच में शाकिब ने 49 रन की धमाकेदार पारी खेली।


शुभम और शाकिब बने मैन आफ द मैच

मैच के अंत में भाजपा नेता सन्नी गौरव महाजन, समाजसेवी लखन मेवाड़ा, रामू सोनी,  सचिन जोशी, डॉ. केशव राठौर, संजय पटेल, मोहनिश त्रिवेदी, आशीष शर्मा, अमन धावरी, हेमंत केसरिया, अतुल कुशवाहा, राकेश धनगर, हितेश केसरिया, मदन कुशवाहा, चेतन मेवाड़ा, मयंक जैन आदि ने डीसीए के आल राउंडर शुभम राठौर को उनके दोहरे प्रदर्शन और इलेवन टाइगर के शाकिब को 49 रन की पारी की बदौलत मैन आफ द मैच प्रदान किया।


समय प्रबंधन और बेहतर आन्सर राइटिंग निश्चित सफलता दिलाएगी - कलेक्टर श्री ठाकुर

  • कलेक्टर ने यूपीएससी-एमपीपीएससी की तैयारी कर रहे छात्र-छात्राओं को दिए सफलता के मंत्र

sehore news
नगरपालिका सीहोर के लाइब्रेरी में सीहोर जिले के यूपीएससी एवं एमपीपीएससी तैयारी कर रहे छात्र-छात्राओं को कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने प्रतियोगी परीक्षा की तैयारियों के लिए सफलता के मंत्र दिए। उन्होंने छात्रों को बताया कि किस विषय की कैसे तैयारी की जाए और परीक्षा में प्रश्न पत्र कैसे हल किया जाए।   कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि क्षमता के अनुसार समय प्रबंधन करें और उसको कितना अचीव कर पाए मंथन करे। उन्होंने कहा कि बढे़ लक्ष्य को हासिल करने के लिए छोटे-छोटे लक्ष्य बनाएं और उसे समय-सीमा में पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि किताब लेकर अधिक समय तक बैठना मायने नहीं रखता है बल्कि मायने रखता है कि आप कितना अधिक समझ पाए। हमें उस कार्य में अधिक मन लगाना चाहिए जो हमें लक्ष्य की ओर लेकर जाए। कलेक्टर श्री ठाकुर ने प्रश्न पत्र हल करने पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उत्तर लिखने से पहले प्रश्न को समझना ज्यादा जरूरी है, कि वह क्या चाहता है और उसके लिए कितने अंक निर्धारित है। फिर उत्तर लिखे और सामान्य बाते कम एवं विशेष बातें अधिक लिखे, जिससे सामान्य छात्र से अधिक अंक मिलेंगे और यही सफलता का आधार होगा। उन्होंने कहा कि उत्तर लेखन में पुराने माइंडसेट के स्थान पर क्रिएटिव माइंडसेट रखें, तभी ज्यादा स्कोर होगा। उल्लेखनीय है कि कलेक्टर श्री ठाकुर की पहल पर आदर्श परिवार एवं आधुनिक नालंदा के सहयोग से यूपीएससी एवं एमपीपीएससी की निःशुल्क कोचिंग नगरपालिका लाइब्रेरी में संचालित की जा रही है। इस अवसर पर तहसीलदार डॉ. अमित सिंह तथा छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।


कोरोना से बचाव के लिए अनुकूल व्यवहार अपनाने की अपील


स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना संक्रमण के नए वैरिएंट से बचाव के लिए लोगों को आम जीवन में  अनुकूल व्यवहारों को अपनाना जरूरी है। कोरोना से बचाव के लिए विशेषज्ञों ने अनुकूल व्यवहार का पालन करने की आम लोगों को सलाह दी है। स्वास्थ्य विभाग ने सलाह देते हुए लोगों से कहा है कि अभिवादन के लिए आपस में उचित दूरी रखते हुए एक दूसरे का अभिवादन करें, एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर रखें, घर पर उपयोग होने वाला फेस कवर-मास्क हर समय पहनें, अपनी आँख, नाक या मुंह को छूने से बचें, अपनी श्वास स्वच्छता बनाए रखें, अपने हाथों को नियमित रूप से और अच्छे से धोएं, अक्सर छुए जाने वाली सतहों को नियमित रूप से साफ और कीटाणु रहित करें।   इसके अतिरिक्त तंबाकू उत्पादों का ना सेवन करें, ना सार्वजनिक स्थानों पर थूकें, अनावश्यक यात्रा ना करें, किसी के साथ भेदभाव ना करें, भीड़-भाड़ से बचें, सुरक्षित रहें, असत्यापित और नकारात्मक जानकारी को सोशल मीडिया पर प्रसारित ना करें, कोविड के बारे में विश्वसनीय स्त्रोतों से जानकारी लें, कोविड से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी के लिए केन्द्रीय टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर 1075 या राज्यों के हेल्पलाइन नम्बरों पर कॉल करें तथा किसी भी तरह के मानसिक तनाव या परेशानी होने पर मनोसामाजिक सहायता सेवाओं का सहयोग लें।


प्रधानमंत्री फसल बीमा के लिए अऋणी किसान 31 दिसम्बर तक प्रीमियम भरें


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत जिले के सभी अऋणी किसान भाई फसल बीमा का लाभ लेने के लिए 31 दिसम्बर 2021 तक प्रीमियम भरकर लाभ उठा सकेंगे। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग ने बताया कि जिले में रबी मौसम 2021-22 के लिए गेंहू सिंचित, असिंचित, चना फसल पटवारी हल्का स्तर पर एवं मसूर फसल जिला स्तर पर अधिसूचित की गई है। जिसका स्केल ऑफ फाइनेंस के आधार 1.5 प्रतिशत के मान से गेंहू सिंचित 525 रूपए प्रति हेक्टेयर तथा असिंचित गेंहू के लिए 394.50 रूपये, चना के लिए 525 रूपए प्रति हेक्टेयर तथा मसूर के लिए 330 रूपए प्रति हेक्टेयर कृषकों द्वारा फसल बीमा प्रीमियम राशि रबी 2021-22 हेतु जमा की जानी है।  अऋणी कृषकों द्वारा पूर्व उल्लेखित प्रीमियम राशि के साथ आवश्यक दस्तावेज भू-अधिकार पुस्तिका, सक्षम अधिकारी (पटवारी अथवा ग्राम पंचायत) द्वारा जारी बुआई प्रमाण पत्र, पूर्णतः भरा हुआ प्रस्ताव फार्म एवं पहचान पत्र (आधार कार्ड) के साथ कृषक की बैंक खाता पासबुक की फोटो कॉपी जिसमें आईएफएससी कोड एवं बैंक खाता क्रमांक स्पष्ट रूप से अंकित होना अनिवार्य है ताकि देय बीमा क्लेम राशि कृषक के खाते में समायोजित हो सकें।  अऋणी कृषकों द्वारा रबी फसल बीमा कराए जाने के लिए बैंक में प्रस्ताव जमा कराने की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2021 है। संबंधित कृषक भाईयों से आग्रह किया गया है कि अधिसूचना अनुसार फसल बीमा हेतु निर्धारित प्रीमियम राशि एवं पूर्व उल्लेखित दस्तावेज सहित अंतिम तिथि तक बैंक में जमा कराकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ उठाएं। अन्य किसी प्रकार की जानकारी के लिए कृषि विभाग के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, विकासखण्ड में पदस्थ वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी एवं सहकारी बैंक शाखा, राष्ट्रीयकृत बैंक शाखा एवं बीमा कंपनी द्वारा नियुक्त जिला प्रतिनिधि तहसील स्तर पर नियुक्त किए गए बीमा कंपनी के प्रतिनिधि से सम्पर्क कर प्राप्त की जा सकती है।


नेशनल लोक अदालत 11 दिसम्बर को, बिजली चोरी एवं अनियमितताओं के प्रकरण का समझौते से होगा निराकरण


मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के तहत भोपाल, नर्मदापुरम, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के 16 जिलों में 11 दिसम्बर को कोविड-19 की गाईडलाईन का पालन करते हुए एवं स्थानीय परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए लगाई जाने वाली नेशनल लोक अदालत में बिजली चोरी एवं अनियमितताओं के प्रकरण को समझौते के माध्यम से निराकृत किया जाएगा। कंपनी द्वारा विद्युत उपभोक्ताओं एवं उपयोगकर्ताओं से अपील की गई है कि वे अप्रिय कानूनी कार्यवाही से बचने के लिए अदालत में समझौता करने के लिए संबंधित बिजली कार्यालय में संपर्क करें। कंपनी द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि धारा 126 एवं 135 के तहत लंबित प्रकरण एवं ऐसे प्रकरण जो न्यायालय में दर्ज नहीं हो सके हैं, ऐसे प्रकरणों के त्वरित निराकरण तथा धारा 126 के तहत बनाए गए ऐसे प्रकरण जिनमें उपभोक्ताओं द्वारा अ कमेटी के समक्ष आपत्ति अपील प्रस्तुत नहीं की गई है, की प्रीलिटिगेशन के माध्यम से निराकरण के लिये निम्नदाब श्रेणी के समस्त घरेलू, समस्त कृषि, 5 किलोवॉट तक के गैर घरेलू एवं 10 अश्व शक्ति भार तक के औद्योगिक उपभोक्ताओं को छूट दी जाएगी।


प्रिलिटिगेशन स्तर पर

कंपनी द्वारा आंकलित सिविल दायित्व की राशि पर 30 प्रतिशत एवं आंकलित राशि के भुगतान में चूक किये जाने पर निर्धारण आदेश जारी होने की तिथि 30 दिवस की अवधि समाप्त होने के पश्चात् छः माही चक्रवृद्धि दर अनुसार 16 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर से लगने वाले ब्याज की राशि पर 100 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।


न्यायालयीन लंबित प्रकरणों में

कंपनी द्वारा आंकलित सिविल दायित्व की राशि पर 20 प्रतिशत एवं आंकलित राशि के भुगतान में चूक किये जाने पर निर्धारण आदेश जारी होने की तिथि से 30 दिवस की अवधि समाप्त होने के पश्चात् प्रत्येक छः माही चक्रवृद्धि दर अनुसार 16 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर से लगने वाले ब्याज की राशि पर 100 प्रतिशत छूट दी जाएगी।


जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10143 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10021  हैं। आज 676 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 197, श्यामपुर से 171, नसरूल्लागंज 66, आष्टा से 167, बुधनी से 28 तथा इछावर से 47 सैंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सैंपल 306868 हैं। जिनमें से 294307 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 626 सैंपलो की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कुल 2347 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।


“समाधान योजना” का लाभ लेने 15 दिसम्बर तक करा सकते हैं पंजीयन


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी कार्यक्षेत्र के भोपाल, नर्मदापुरम्, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के 16 जिलों के निम्न आय घरेलू उपभोक्ताओं के बिजली बिलों के भुगतान के लिए लागू “समाधान योजना” में अब तक 7 हजार से अधिक उपभोक्ताओं ने योजना का लाभ लेने के लिए पंजीयन कराया है। योजना के पहले विकल्प में कुल 6 हजार 319 उपभोक्ताओं एवं दूसरे विकल्प में 487 उपभोक्ताओं ने पंजीयन कराया है। कंपनी द्वारा उपभोक्ताओं को विकल्प के अनुसार योजना का लाभ प्रदान किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि राज्य शासन के निर्णयानुसार कोरोना महामारी के चलते बिजली कंपनी द्वारा एक किलोवॉट तक के बिजली कनेक्शनों के बिलों की 31 अगस्त 2020 तक की मूल बकाया राशि एवं अधिभार की वसूली रोक (आस्थगित) दी थी। कंपनी द्वारा इस रोकी गई बकाया राशि के भुगतान के लिए पृथक से जमा करने की बात उस दौरान कही गई थी। राज्य शासन के आदेशानुसार इस आस्थगित राशि के भुगतान में उपभोक्ताओं को राहत देने के उद्देश्य से “समाधान योजना” लागू की गई है।


"समाधान योजना" में विकल्प

समाधान योजना में बकाया भुगतान राशि जमा करने के लिए दो विकल्प दिए गए हैं। विकल्प ‘अ‘ में आस्थगित मूल राशि का 60 प्रतिशत एकमुश्त भुगतान करने पर 100 प्रतिशत अधिभार की राशि एवं शेष 40 प्रतिशत मूल बकाया राशि माफ की जाएगी। विकल्प ‘ब‘ में आस्थगित मूल राशि का 75 प्रतिशत, 6 समान मासिक किश्तों में भुगतान करने पर 100 प्रतिशत अधिभार की राशि एवं शेष 25 प्रतिशत मूल बकाया राशि माफ की जाएगी।


विकल्प एवं भुगतान की सुविधा उपलब्ध

उपभोक्ता कंपनी के पोर्टल  portal.mpcz.in के माध्यम से विकल्प का चुनाव कर भुगतान कर सकते हैं। उपभोक्ता Whatsapp Chatbot तथा यूपेय एप के माध्यम से भुगतान कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त कॉमन सर्विस सेन्टर एवं एमपी ऑनलाइन के माध्यम से विकल्प अनुसार भुगतान की सुविधा उपलब्ध है। कंपनी की अधिकृत पीओएस मशीन के माध्यम से विकल्प अनुसार भुगतान की सुविधा है। कंपनी ने स्पष्ट किया है कि “समाधान योजना“ में 15 दिसंबर 2021 तक विकल्प का चुनाव कर भुगतान करने वाले उपभोक्ताओं को ही इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। योजना की अंतिम तिथि तक किसी भी विकल्प का चुनाव नहीं करने वाले उपभोक्ताओं की बकाया राशि उनके आगामी माह के देयक में जोड़ कर दी जाएगी। कंपनी ने कहा है कि बकायादार उपभोक्ताओं को आस्थगित बकाया राशि की सूचना एवं योजना के विकल्पों की जानकारी कंपनी में रजिस्टर्ड उपभोक्ताओं को उनके मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से भी दी जा रही है। योजना के संबंध में अधिक जानकारी के लिए अपने नजदीकी बिजली वितरण केन्द्र में संपर्क कर योजना का लाभ उठाएँ।  


अनुसूचित जाति वर्ग के बीपीएल हितग्राहियों को बैकयार्ड मुर्गीपालन में 100 प्रतिशत अनुदान


पशुपालन एवं डेयरी विभाग ने बताया कि अनुसूचित जाति उपयोजना के लिये विशेष केंद्रीय सहायता मद के अंतर्गत वर्ष 2021-22 के लिये आय सृजनात्मक योजना (बैकयार्ड मुर्गीपालन) के लिये अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना अंतर्गत चयनित ग्रामों के अनुसूचित जाति वर्ग के बीपीएल हितग्राहियों को बैकयार्ड मुर्गीपालन 100 प्रतिशत अनुदान से लाभांवित कर पोषण आहार तथा अतिरिक्त आय उपलब्ध कराई जानी है।   योजना के तहत प्रत्येक हितग्राही को लो इनपुट टेक्नोलॉजी वाले 28 दिवसीय 90 चूजे 2 किश्तों में 6 माह के अंतराल में प्रदाय किए जाने है। चूजों के साथ 40.5 किलोग्राम कुक्कुट आहार तथा दडवा बनाने के लिये 2 हजार 200 रूपये राशि का प्रावधान है।   प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत चयनित ग्रामो में प्राथमिकता के अनुसार कार्य किया जाना है। चयनित ग्रामों में हितग्राही नहीं मिलने पर अन्य ग्राम के हितग्राहियों का चयन किया जा सकता है। उन्होंने अनुसूचित जाति वर्ग के बीपीएल हितग्राहियो से निकट की पशु चिकित्सा संस्था से संपर्क कर योजना का लाभ ले सकते हैं।  


ऑनलाइन गेम - साइबर सेल ने जारी की एडवाइजरी


प्रदेश में भी ऑनलाइन गेम खेलने के चक्कर में कई युवा और बच्चे अपनी जान गंवा चुके है। इस बात को ध्यान में रखते हुए राज्य साइबर सेल ने एडवाइजरी जारी की है। राज्य साइबर सेल द्वारा जारी एडवाइजरी में अभिभावकों से कहा गया है कि बच्चों को हो सके तो मोबाइल नहीं दें। ऑनलाइन क्लॉसेस के लिए बिना सिम कार्ड का मोबाइल दें, बच्चों को वाईफाई से इंटरनेट इस्तेमाल करने दें।  बच्चों की ऑनलाइन एक्टिविटी पर नजर रखें। परिवार के सभी सदस्यों के मोबाइल में प्ले स्टोर पर पैरेंटल कंट्रोल ऑन करें।  पासवर्ड बच्चों को नहीं बताएं, बच्चों को हर तरह के ट्रांजेक्शन की छूट नहीं दें। खाते से पैसे कटने का मैसेज आते ही बच्चों से पैसे कटने का कारण अवश्य पूछें।


अनुसूचित जनजाति वर्ग के युवाओं के लिए सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना


प्रदेश सरकार द्वारा अनुसूचित जनजाति वर्ग के युवाओं को शैक्षणिक प्रोत्साहन देने, उनके कौशल उन्नयन तथा उच्च शिक्षा प्राप्ति के लिए विभिन्न योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इन योजनाओं से युवाओं को अपने सपनों को साकार करने में मदद मिल रही है।  इन्हीं में से एक योजना है सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना, जिसके तहत मध्यप्रदेश प्रदेश लोक सेवा आयोग तथा संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा तथा साक्षात्कार में सफल होने पर प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है। शासन द्वारा अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं जिनकी मदद से हम अपने लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं। बस जरूरत है तो अपना लक्ष्य निर्धारित करते हुए उसे प्राप्त करने के लिए पूरी लगन, निष्ठा और मेहनत से प्रयास करने की। शासन द्वारा स्कूली शिक्षा से उच्च शिक्षा प्राप्ति के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही है।


किसानों के लिए अतिरिक्त आय का बेहतर जरिया है मछलीपालन


मत्स्य पालन कार्य में रूचि रखने वाले किसान, जो विभिन्न प्रकार से मछली पालन कर अपनी आय बढ़ाना चाहते हैं, उनसे प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के तहत आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। योजना के तहत स्वयं की भूमि पर तालाब निर्माण, आरएएस, मत्स्यबीज संवर्धन जलक्षेत्र निर्माण, केज कल्चर, बायोफ्लॉक, हैचरी, फिश फीड मील, बर्फ संयत्र-आइस प्लांट, मत्स्य परिवहन के लिए मोटर साइकिल, तीन पहिया वाहन, साइकिल, मछली की फुटकर दुकान सहित विभिन्न गतिविधियों से जुड़कर इच्छुक किसान लाभ ले सकते हैं। प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के तहत अनुसूचित जाति एवं जनजाति तथा महिला को योजना प्रावधान का 60 प्रतिशत और शेष को 40 प्रतिशत अनुदान दिया जाता है। पहले आओ पहले पाओ के आधार पर मत्स्य पालन कर शासकीय योजनाओं का लाभ लेने के इच्छुक व्यक्ति 05 दिसम्बर 2021 तक संबंधित क्षेत्रीय अधिकारी के माध्यम से प्रस्ताव जिला मत्स्योद्योग कार्यालय में प्रस्तुत कर सकते हैं।


सेवानिवृत्त होने वाले शासकीय सेवक का पेंशन के लिए संयुक्त बैंक खाते अनिवार्य


जिले के समस्त आहरण एवं वितरण अधिकारी अपने कार्यालय में आगामी सेवानिवृत्त होने वाले शासकीय सेवकों के संयुक्त बैंक खाते ओर (सेवा पुस्तिका में नॉमिनी अनुसार ) अनिवार्यता खुलवाए जाये तथा आईएफएमआइएस में पेंशन फार्म तभी सबमिट किया जाकर जनरेट किया जाए जब सेवानिवृत्त होने वाले शासकीय सेवक का पेंशन हेतु अधिकृत बैंक शाखा में संयुक्त बैंक खाते में प्रथम नाम शासकीय सेवक का एवं द्वितीय नाम परिवार पेंशनर का हो बैंक में संयुक्त खाता धारक के नाम नॉमिनेशन प्रस्तुत किया गया हो एवं जिसे बैंक शाखा द्वारा मान्य किया गया हो। यह प्रक्रिया दिसम्बर एवं आगामी माह में सेवानिवृत्त, मृत या वीआरएस ले रहे हो एसे सभी शासकीय सेवकों पर लागू रहेगी तभी परिवार पेंशन प्रारंभ करना सुनिश्चित किया जाये। साथ ही पी.पी.ओ. में यदि परिवार पेंशनर का नाम अंकित हो तो संबंधित परिवार पेंशनर द्वारा पेंशनर का मृत्यु प्रमाणपत्र बैंक पासबुक की छायाप्रति, वैधानिक परिचय पत्र तथा आधार, पेन कार्ड, वोटर आई डी सहित आवेदन प्रस्तुत करने पर तथा अन्य आवश्यक औपचारिकताओं की पूर्ति यथाशीघ्र करने पर परिवार पेंशन प्रारंभ की जाएगी।


मधुमेह जागरूकता के माध्यम से नियंत्रित किया जा सकता है


मधुमेह एक ऐसी बीमार है जिसके लक्षण सामान्य होते हैं पर यह धीरे-धीरे शरीर को कमजोर कर देता है। यह बीमारी सीडेंटरी लाइफ स्टाइल, अनहेल्दी फूड खाने एवं आनुवांशिक भी होती है। धीरे-धीरे मधुमेह के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है इसे जन जागरूकता के माध्यम से नियंत्रित किया जा सकता है। मधुमेह की सही समय पर पहचान उसके उपचार एवं जन जागरूकता के लिए स्वास्थ्य संस्थाओं में मधुमेह के संभावित रोगियों एवं उपचाररत रोगियों के लिए परामर्श सत्रों एवं जन जागरूकता गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा।  मधुमेह के उपचार के लिए असंचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत मरीजों को नि:शुल्क उपचार की सुविधा प्रदान की जाती है। बार-बार पेशाब आना, वजन का घटना या भूख कम लगना, बहुत ज्यादा प्यास लगना, कमजोरी अथवा थकान होना मधुमेह के मुख्य लक्षण है। मधुमेह की रोकथाम के लिए शरीर के वजन को सामान्य बनाए रखना, पौष्टिक आहार का सेवन, नियमित व्यायाम,  चलना अथवा दौड़ना जैसी गतिविधियां करना,  नशीले पदार्थों तंबाकू एवं शराब का सेवन नहीं करना महत्वपूर्ण है। मधुमेह के जांच एवं उपचार की नि:शुल्क सुविधा सभी हेल्थ एंड वैलनेस केंद्रों पर भी उपलब्ध कराई गई है। जिससे की मरीजों को नियमित रूप से दवाओं की प्राप्ति एवं फॉलो किया जा सके एवं उन्हें दूर के चिकित्सालय तक इलाज के लिए  नहीं जाना पड़े। मधुमेह के साथ सामान्य जीवन बचाया जा सकता है। मधुमेह की नियमित रूप से जांच कराये जाना बेहद आवश्यक है जिससे कि मधुमेह की पड़ताल उसकी प्रारंभिक अवस्था में ही हो सके।


अनुमति के बिना ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध


जिले में त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन 2021-22 को दृष्टिगत रखते हुए निर्वाचन प्रचार-प्रसार कार्य में लाउड स्पीकर के अनियंत्रित उपयोग से होने वाली जन परेशानी, ध्वनि प्रदूषण व शांति व्यवस्था को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकरी श्री चन्द्र मोहन ठाकुर द्वारा मध्यप्रदेश कोलाहल नियंत्रण अधिनियम 1985  की धारा 18  के अंतर्गत आदेश 04 दिसम्बर 2021 से दिनांक 23 फरवरी 2022 तक की अवधि के लिए सीहोर जिले की सीहोर, आष्टा, इछावर, नसरूल्लागंज, बुधनी में त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2021-22 की सीमाओं को कोलाहल नियंत्रण क्षेत्र (सायलेंस जोन) घोषित किया किया गया है। इस दौरान विहित प्राधिकारी की लिखित अनुमति के बिना ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। यह आदेश तत्काल प्रभाव से प्रभावशील होगा। इस अधिनियम की धारा 2 (घ) के अंतर्गत जिले के सीहोर, आष्टा, इछावर, नसरुल्लागंज, बुधनी में पदस्थ अनुविभागीय दण्डाधिकारी तहसीलदार एवं अतिरिक्त/नायब तहसीलदारों को उनके मुख्यालय क्षेत्रान्तर्गत इस अधिनियम के तहत विहित प्राधिकारी घोषित किया गया है। आम सभा, जुलूस एवं प्रचार कार्य हेतु लाउडस्पीकर/ध्वनि विस्तारक यंत्रों के प्रयोग की अनुमति पंचायत क्षेत्र में सुबह 06.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे तक दी जा सकेगी। ट्रक, जीप, टेम्पो, ऑटो रिक्शा, तांगा आदि वाहनों से चुनाव प्रचार-प्रसार की अनुमति आवेदन करने पर ही दी जा सकेगी। आवेदन पत्र में वाहन के पंजीयन क्रमांक का उपयोग अनिवार्य होगा। बिना अनुमति के लाउडस्पीकर/ध्वनि विस्तारक यंत्र द्वारा प्रसारण एवं प्रचार-प्रसार करने पर या अनुमति के निर्दिष्ट अवधि के पश्चात लाउड स्पीकर या संबंधित उपकरण के उपयोग को जप्त कर नियमानुसार दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी। 


23 फरवरी 2022  तक के लिए शस्त्र लायसेंस निलंबित


sehore news
जिले की सीहोर, आष्टा, इछावर, नसरूल्लागंज, बुधनी, त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2021-22 को शांतिपूर्वक सम्पन्न कराए जाने के लिए तथा कानून व्यवस्था एवं लोक प्रशांति बनाए रखने और मानव जीवन की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री चन्द्र मोहन ठाकुर द्वारा शस्त्र अधिनियम 1959 की धारा 17 की उपधारा 3 के अंतर्गत जिले के समस्त शस्त्र अनुज्ञप्तिधारियों को प्रदत्त शस्त्र अनुज्ञप्तियां 04 दिसम्बर 2021 से निर्वाचन सम्पन्न होने तक 23 फरवरी 2022 तक शस्त्र लायसेंस निलम्बित किए गए हैं।अग्नेय शस्त्र 23 फरवरी 2022  तक संबंधित थाने में ही जमा रखने के आदेश दिए गए हैं। यह आदेश कानून एवं व्यवस्था के कार्य में लगे पुलिस अधिकारियों/कर्मचारियों/ समस्त केन्द्र शासन/राज्य शासन के विभागों में कार्यरत सेवानिवृत्त अधिकारी/कर्मचारी केन्द्र/राज्य शासन के उपक्रमों के अधिकारी/कर्मचारी, बैंक गार्ड के तौर पर कार्यरत लायसेंसियों पर लागू नहीं होगा। यह आदेश सीहोर जिले की सम्पूर्ण सीमा में प्रभावशील होगा और 23 फरवरी 2022 तक प्रभावशील रहेगा।


जिले में पंचायत चुनाव तीन चरण में सम्पन्न होगा: कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री ठाकुर


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने बताया कि सीहोर जिले में पंचायत चुनाव तीन चरण में संपन्न होगा। पंचायत निर्वाचन में 17 जिला पंचायत सदस्य, 112 जनपद पंचायत सदस्य, 497 सरपंच और 7 हजार 785 पंचों का चुनाव संपन्न कराया जाएगा। पंचायत चुनाव में जिले के 7 लाख 62 हजार 812 मतदाता मतदान कर सकेंगे। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री ठाकुर ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में पंचायत निर्वाचन के संबंध में प्रेसवार्ता के दौरान यह जानकारी दी। श्री ठाकुर ने बताया कि जिले में पंचायत चुनाव की तैयारियां प्रांरभ कर दी गई है जिससे जिले में पंचायत चुनाव का कार्य स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्वक संपन्न कराया जा सके। उन्होंने बताया कि पंचायत निर्वाचन के लिए सीहोर जिले में एक हजार 398 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। सीहोर जनपद में 407, आष्टा में 391, इछावर में 187, बुधनी में 159, नसरूलागंज में 254 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि पंचायत निर्वाचन प्रक्रिया के लिए कर्मचारियों का डाटाबेस तैयार कर लिया गया है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री ठाकुर ने बताया कि पंचायत चुनाव सुचारू रूप से सम्पन्न कराने के लिए 31 नोडल अधिकारी तथा 85 सहायक नोडल अधिकारी बनाए गए हैं। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री ठाकुर ने कहा कि जिले में आदर्श आचरण संहिता लागू हो चुकी है। अधिकारी-कर्मचारियों सहित सभी नागरिकों को आदर्श आचरण संहिता का पालन करना होगा। जिले के सभी मतदान केन्द्रों में मास्क, सैनेटाईजर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। सरपंच और पंचों के मतों की गणना मतदान केन्द्रों में की जाएगी। जिला पंचायत सदस्य और जनपद पंचायत सदस्य के मतों की गणना मुख्यालय में होगी। मतदान केन्द्रों में प्रकाश, फर्नीचर, रेम्प, पेयजल की समुचित व्यवस्था की जाएगी। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री मयंक अवस्थी, जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर तथा डिप्टी कलेक्टर श्री आदित्य जैन एवं अनेक मीडिया संस्थानों के पत्रकार उपस्थित थे।


त्रि-स्तरीय पंचायतो की सामान्य जानकारी

जिले के जनपद पंचायत सीहोर में मतदान केंद्रो की संख्या 407, जिला पंचायत सदस्य 05, जनपद पंचायत सदस्य 25, ग्राम पंचायत सदस्य 144, सरपंच 144, ग्राम पंचायत वार्ड 2316, पंच 2316, पुरूष मतदाता 01 लाख 17 हजार 571, महिला मतदाता 01 लाख 9 हजार 343, अन्य मतदाता 07 एवं कुल मतदाता 02 लाख 26 हजार 921 है। इसी प्रकार जनपद पंचायत आष्टा में मतदान केंद्रो की संख्या 391, जिला पंचायत सदस्य 05, जनपद पंचायत सदस्य 24, ग्राम पंचायत सदस्य 134, सरपंच 134, ग्राम पंचायत वार्ड 2104, पंच 2104, पुरूष मतदाता 01 लाख 09 हजार 892, महिला मतदाता 01 लाख 687 एवं कुल मतदाता 02 लाख 10 हजार 579 है। इसी प्रकार जनपद पंचायत इछावर में मतदान केंद्रो की संख्या 187, जिला पंचायत सदस्य 02, जनपद पंचायत सदस्य 21, ग्राम पंचायत सदस्य 70, सरपंच 70, ग्राम पंचायत वार्ड 1080, पंच 1080, पुरूष मतादाता 55 हजार 11, महिला मतदाता 50 हजार 434, अन्य मतदाता 01 एवं कुल मतदाता 01 लाख 05 हजार 446 है।  इसी प्रकार जनपद पंचायत बुधनी में मतदान केंद्रो की संख्या 159, जिला पंचायत सदस्य 02, जनपद पंचायत सदस्य 17, ग्राम पंचायत सदस्य 62, सरपंच 62, ग्राम पंचायत वार्ड 877, पंच 877, पुरूष मतदाता 43 हजार 531, महिला मतदाता 39 हजार 748, अन्य मतदाता 01 एवं कुल मतदाता 83 हजार 280 है। इसी प्रकार जनपद पंचायत नसरूल्लागंज में मतदान केंद्रो की संख्या 254, जिला पंचायत सदस्य 03, जनपद पंचायत सदस्य 25, ग्राम पंचायत सदस्य 87, सरपंच 87, ग्राम पंचायत वार्ड 1408, पंच 1408, पुरूष मतदाता 70 हजार 671, महिला मतदाता 65 हजार 899, अन्य मतदाता 16 एवं कुल मतदाता 01 लाख 36 हजार 586 है। जिले में कुल मतदान केंद्रो की संख्या 1398, जिला पंचायत सदस्य 17, जनपद पंचायत सदस्य 112, ग्राम पंचायत सदस्य 497, सरपंच 497, ग्राम पंचायत वार्ड 7785, पंच 7785, पुरूष मतदाता 03 लाख 96 हजार 676, महिला मतदाता 03 लाख 66 हजार 111, अन्य मतदाता 25 एवं जिले में कुल मतदाता 07 लाख 62 हजार 812 है।


किसी सम्पत्ति को विरूपित करना दण्डनीय अपराध होगा


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (स्थानीय निर्वाचन) श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने आदेश जारी कर म.प्र. सम्पत्ति विरूपण निवारण अधिनियम 1994 के अनुसार सीहोर, आष्टा, इछावर, नसरूल्लागंज तथा बुधनी त्रि-स्तरीय आम निर्वाच 2021-22 के दौरान सार्वजनिक सम्पत्ति जिसमें शासकीय/अशासकीय भवन, उनकी दीवारें माईल स्टोन, टेलीफोन, विद्युत खम्बों पर नारे लिखकर, पोस्टर चिपकाकर, प्रतीकों की पेंटिंग ध्वज लगाकर उसे विरूपित करते है अथवा किसी निजी सम्पत्ति भवन, दीवार पर उसकी अनुमति के बिना प्रचार-प्रसार करने की अनुमति नहीं है। सड़क के दोनों छोर मिलाकर बैनर लगाना भी संज्ञेय अपराध के लिये दंडित किया जा सकता है। आदेश के तहत राजनैतिक दलों उनके कार्यकर्ता, अभ्यर्थियों से अपेक्षा की जाती है कि उक्त अधिनियम का पालन करते हुए प्रचार-प्रसार का कार्य जनपद पंचायत समस्त जिला सीहोर के लिए त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन वर्ष 2021-22 के लिये करेंगा। उक्त विरूपण अधिनियम का पालन नहीं करने की दशा में भारतीय दण्ड के प्रावधान अन्तर्गत कार्यवाही की जायेगी। इसके लिये जिला एवं जनपद स्तर पर अधिनियम का पालन कराने के लिये दल गठित किये गए है।


धारा 144 प्रभावशील


त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने तथा आदर्श आचार संहिता का पालन सुनिश्चित करने के लिए दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए कलेक्ट्रेट परिसर, सीहोर, आष्टा, इछावर, नसरूल्लागंज, बुदनी में संपूर्ण उपखण्ड/तहसील कार्यालय परिसर में जनसभा एवं जुलूसो पर प्रतिबंध लगाया है। इन परिसरों में धारा 144 के तहत 04 दिसम्बर 2021 से 23 फरवरी 2022 तक की अवधि के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित किया गया है।


होटल, लॉज, धर्मशाला मे ठहरने वाले व्यक्तियों की जानकारी उपलब्ध कराना अनिवार्य


जिले के त्रि-स्तरीय आम निर्वाचन 2021-22 के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने सराय अधिनियम 1967 की धारा 8 के अंतर्गत सीहोर, आष्टा, इछावर, नसरूल्लागंज, बुदनी की पंचायत सीमा के भीतर सभी सराय, धर्मशालाओं, होटल तथा लॉज के मालिकों एवं प्रबंधकों को उनके संस्थानों में ठहरने वाले व्यक्तियों की प्रतिदिन संबंधित थाना प्रभारी एवं निकटतम कार्यपालिक दण्डाधिकारी को लिखित जानकारी देने के आदेश दिए गए है। यह आदेश 04 दिसम्बर 2021 से 23 फरवरी 2022 तक लागू रहेगा।

कोई टिप्पणी नहीं: