सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 11 दिसंबर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 11 दिसंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 11 दिसंबर

कीचड़ गदंगी से संक्रमित बीमारियों के शिकार हो रहे है चंदेरी के ग्रामीण, लापरवाह है सरपंच सचिव,नहीं की जा रही गंदे पानी की निकासी,आक्रोश    


sehore news
सीहोर। पीपलिया मीरा ग्राम पंचायत के सरंपच और सचिव की लापरवाहियों का खामियाजा ग्राम चंदेरी के सैकड़ों ग्रामीणों को रोज भुगतना पड़ रहा है। गांव में नियमित साफ सफाई और गंदे पानी की निकासी नहीं होने से ग्रामीणजन संक्रमित बीमारियों के शिकार हो रहे है। घरों से निकला गंदा पानी क"ाी सड़कों पर भराकर कीचड़ उत्पन्न कर रहा है। हालात एैसे है की ग्रामीण महिलाओं और ब"ाों सहित बुजुर्गो का पैदल चलना भी दुष्वार हो गया है। एैसा नही है की परेशान ग्रामवासियों ने कभी कोई शिकायत नही की हो लेकिन कोई भी सरकारी अफसर और जनप्रतिनिधि सुनने को तैयार नही है। जिस कारण लम्बे समय से चंदेरी के ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामवासियों का कहना है की रसूखदारों को सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है सभी सरकारी योजनाओंं का लाभ दिया जाता है लेकिन पात्र होने के बाद भी गरीब ग्रामीणों को सरकारी दस्तावेजों में अमीर बताकर योजनाओंं के लाभ से वंचित कर दिया जाता है। चंदेरी में काफी कम लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिया गया है जबकी पीपलिया मीरा में सबके पक्के मकान बनवा दिए है। प्रशासनिक अधिकारी भी इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे है। चंदेरी के राजेश मेवाड़ा, गजराज सिंह, चिंटू कुशवाहा, राहुल कुमार, राजा मेवाड़ा, मोरसिंह मेवाड़ा, रामकिशन कुशवाहा, कोमल बाई, सुंदर बाई, रेणूका अयोध्या बाई, पूजा बाई, सुमित्रा बाई, रीना बाई, ममता बाई, दीपा बाई रोहित कुशवाहा,राकेश कुशवाहा आदि ग्रामीणों ने समस्याओं के निराकरण कराने प्रधानमंत्री आवास योजना का पात्र ग्रामीणों को लाभ दिलाने और सरपंच सचिव के द्वारा बीते सात सालों में किए गए सरकारी निर्माण कार्यो की जांच कराने की मांग जिला कलेक्टर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से की है। 


विकास सस्ते की शानदार अद्र्धशतकीय पारी की बदौलत पीपीसीए ने डीसीए को 141 रन के विशाल अंतर से हराया


sehore news
सीहोर। शहर के बीएसआई मैदान पर खेली जा रही तीन मैच की सीरिज के पहले मैच शनिवार को प्रतिभाशाली बल्लेबाज विकास सस्ते की शानदार 61 रन की अद्र्धशतकीय पारी की बदौलत एक तरफा मुकाबले में पीपीसीए ने 141 रन के विशाल अंतर से डीसीए को शिकस्त देकर सीरिज में 1-0 की बढ़त बना ली है। शनिवार की सुबह पहले बल्लेबाजी करने उतरी पीपीसीए टीम ने निर्धारित 40 ओवर के मैच में दस विकेट के नुकसान पर 269 रन का स्कोर खड़ा किया था। इसमें विकास सस्ते ने 61 रन, निर्भय प्रजापति 42 रन, मिलन नरवारे 26 रन और राज कुशवाहा ने 25 रन की पारी खेली। वहीं डीसीए की ओर से रोहन ने दो विकेट, सुमित राय, शरद, दिलीप, पवन और ऋतुराज ने एक-एक विकेट हासिल किया। डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी डीसीए की टीम मात्र 23.4 ओवर में 128 रन के मामूली स्कोर पर ढेर हो गई। इसमें सचिन ने 34 रन, आयुष ने 18 और ऋतु और शरद ने 11 रन की संघर्षपूर्ण पारी खेली। इसके अलावा पीपीसीए की ओर से गेंदबाजी करते हुए मानस-कृष्ण ने दो-दो विकेट, स्वप्रिल तीन विकेट, रेहान, आर्यन और हरिओम ने एक-एक विकेट हासिल किया। मैच के अंत में कोच चेतन मेवाड़ा, अतुल त्रिवेदी, आदर्श राय, राजेश विलय बंटी आदि ने शनिवार को खेले गए इस मैच में पीपीसीए की ओर से इस मैच में 61 रन की पारी खेलने वाले प्रतिभाशाली बल्लेबाज को मैन आफ द मैच का पुरस्कार दिया। 


तानाशाहों को किसानों के आगे झुकना ही पड़ा, सात सौ किसानों का बलिदान व्यर्थ नही गया

  • अखिल भारतीय किसान सभा किसानों के हित में लड़ाई रखेगा जारी- प्रदेश महासचिव बैरागी

सीहोर। तानाशाह पूर्ण रवैये के कारण 379 दिन चले किसान आन्दोलन में सर्दी गर्मी बरसात आंधी-तूफान और लखीमपुर हमलो को झेलते हुए 700 से अधिक किसान शहीद किसानों का बलिदान व्यर्थ नहीं गया किसानों के आगे केंद्र सरकार को झुकना पड़ा लेकिन किसानों के हित में अखिल भारतीय किसान सभा लड़ाई जारी रखेगी। अखिल भारतीय किसान सभा मध्यप्रदेश के प्रांतीय महासचिव संयुक्त किसान मोर्च के संयोजक मण्डल सदस्य प्रहलाद दास बैरागी ने शनिवार को कहा की संयुक्त किसान मोर्च के नेतृत्व मे आजादी के बाद का सबसे बडा एक ऐतिहासिक किसान आन्दोलन था। आन्दोलन की शुरुआत कोरोना लाकडाउन के समय कृषि कानूनों के विरोध शुरू किया गया था। किसान संगठनो ने दिल्ली मे घेरा डालो डेरा डालो का आव्हान किया था। इस ऐतिहासिक आंदोलन के लिए मध्यप्रदेश से भी किसानों का जत्था निकाला था शहीद किसानो की शहादत ओर देश के किसान मजदूर की एकता की यह जीत है। लेकिन अभी किसानों को बकाया प्रधानमंत्री फसल बिमा राहत राशि और गेंहू का वोनस सोयाबीन का भंवतर दिलाना शेष बाकी है। बिजली बिल के खिलाफ  मध्यप्रदेश के सभी किसान संगठनों से अखिल भारतीय किसान सभा के द्वारा चर्चा की जा रही है। व्यापक किसान आन्दोलन खडा किया जाएगा।


साल की अंतिम नेशनल लोक अदालत सफलतापूर्वक सम्पन्न

  • नेशनल लोक अदालत में 19 करोड़ 88 लाख 15 हजार 752 रुपये के 2132 प्रकरणों का हुआ निराकरण 

sehore news
राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के  निर्देश पर सीहोर जिला मुख्यालय सहित सभी तहसील न्यायालयों में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिला न्यायालय में आयोजित नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री आरएन चंद ने किया। श्री चंद कहा कि नेशनल लोक अदालत त्वरित एवं सुलभ न्याय का अच्छा अवसर है। लोगों को नेशनल लोक अदालत में आकर इस अवसर का लाभ उठाना चाहिए। 


नेशनल लोक अदालत में 2132 प्रकरणों का हुआ निराकरण

विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री मुकेश कुमार दांगी ने जानकारी दी कि नेशनल लोक अदालत में प्रकरणों के निराकरण 26 खण्डपीठें गठित की गई थी। नेशनल लोक अदालत में आपसी समझौते के आधार पर निराकरण कराने के लिए न्यायालय में लंबित कुल 5917 प्रकरण रखे गये थे, जिनमे से 775 प्रकरणों का निराकरण आपसी राजीनामा के आधार पर होकर समझौता राशि 17 करोड़, 06 लाख, 76 हजार, 276 रूपये जमा कराई गई। इसी प्रकार नेशनल लोक अदालत की खण्डपीठ के समक्ष कुल प्रिलिटिगेषन 16 हजार 911 प्रकरण रखे गये थे, जिनमें से 1357 प्रकरणों का निराकरण कराकर 02 करोड़, 81 लाख, 39 हजार, 476 रूपये समझौता राशी जमा कराई गई। नेशनल लोक अदालत में कुल 2132 प्रकरणों का निराकरण किया गया। जिसमें 19 करोड़, 88 लाख, 15 हजार, 752 रूपये समझौता राशि जमा कराई गई। इस अवसर पर द्वितीय अपर जिला न्यायाधीश श्री अशोक भारद्वाज, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री अभिलाष जैन सहित अन्य न्यायाधीश एवं अधिवक्ता उपस्थित थे।


नेशनल लोक अदालत में सिविल प्रकरण में हुआ समझौता

नेशनल लोक अदालत में एक सिविल प्रकरण व्यवहार वाद क्रमांक 02-ए/21 राजकुमार आदि वि. टीकाराम आदि जो वादी राजकुमार भारती निवासी ब्रहम्पुरी कालोनी सीहोर एवं रंजीत राठौर निवासी राठौर मोहल्ला सीहोर के द्वारा संविदा के विर्निष्ट अनुपालन के लिए रूपये 05 करोड 15 लाख रूपये का प्रतिवादीगण टीकाराम व अन्य के विरूद्ध प्रस्तुत किया गया था। इस प्रकरण में प्रधान जिला न्यायाधीश के निर्देश पर वादी तथा प्रतिवादीगण ने स्वेच्छया एवं सहमति तथा न्यायाधीश के अथक प्रयास से राजीनामा किया गया। राजीनामा के दौरान उभयपक्ष न्यायालय में उपस्थित रहे तथा उन्हे प्रधान जिला न्यायाधीश  के द्वारा पौधे भेंट किये गये। वादीगण की ओर से श्री जितेन्द्र व्यास अधिवक्ता ने पैरवी की तथा प्रतिवादीगण की ओर से श्री रवि पारे अधिवक्ता द्वारा पैरवी की गई।


नेशनल लोक अदालत में हुआ एक करोड 14 लाख रूपये के सिविल प्रकरण का राजीनामा

श्री संजय कुमार शाही प्रथम अपर जिला न्यायाधीश सीहोर के न्यायालय में आरसीएस प्रकरण क्रमांक 21-ए/2015 मेसर्स फ्यूजन्स इन्फ्रा इस्टेट प्रा.लि. द्वारा कनाडिया रोड इंदौर निवासी 47 वर्षीय चेयरमेन श्री राजेश पिता सुखलाल हजारी के विरूद्ध श्यामला रोड भोपाल निवासी श्रीमती ज्योति गोयल पत्नी अशोक गोयल ने उक्त सिविल वाद के मामले का एक करोड 14 लाख रूपये में पीठासीन अधिकारी श्री संजय कुमार शाही के अथम प्रयासों से वर्ष 2015 से 06 साल पुराना लंबित प्रकरण का राजीनामे के आधार पर निपटारा किया गया।


दम्पति ने कहा अब कभी अलग नहीं होंगे हम

नेशनल लोक अदालत में प्रकरण क्रमांक 145/2021 श्रीमती दीपा वि. राकेश गोरसकर के प्रकरण में आवेदिका श्रीमती दीपा को प्रताड़ित कर तीन से छोड़ रखा था जिससे परेशान होकर उसने कुटुम्ब न्यायालय में भरण-पोषण का केस दर्ज किया। आवेदिका की एक पुत्री दिव्यांका होकर वह अभी वर्तमान में 05 माह की गर्भवती है। प्रकरण में न्यायालय के पीठासीन अधिकारी श्री अनिल कुमार अग्रवाल द्वारा कई बार समझाईश दी जाकर प्रकरण का निराकरण किया गया। राजीनामा होने से दोनो पक्ष खुश हुये। दंपति ने कहा कि वह अब कभी नही लड़ेगे तथा सुखमय दाम्पत्य जीवन व्यतीत करेंगे। इसी प्रकरण क्रमांक 17/2021 केन्द्र वि. प्रियंका के प्रकरण में दोनों का एक पुत्र चंद्रप्रकाश होकर उसकी उम्र 04 वर्ष है। अनावेदिका को आवेदक द्वारा मानसिक व शारीरिक प्रताड़ना किये जाने से वह अपने मायके में रहने लगी। माह-जनवरी 2021 में आवेदक देवेन्द्र ने कुटुम्ब न्यायालय सीहोर में आवेदन पत्र पेश किया जिसमें श्री अनिल कुमार अग्रवाल पीठासीन अधिकारी द्वारा दोनो पक्षो को कई बार समझाईश दी जाकर उन्होंने प्रकरण में दोनो पक्षों की आपसी सहमति के आधार पर राजीनामा किया गया। दोनों प्रकरणों में दम्पतियों को भविष्य में अच्छे से रहने की समझाइश दी गई। नेशनल लोक अदालत में भारी संख्या में प्रकरणों के निराकरण में पक्षकारों एवं अभिभाषक की उत्सुकता देखी गई। अधिकांश पक्षकार अपने प्रकरण का निराकरण समझौते के माध्यम से होने से चेहरे पर मुस्कान लेकर बिदा हुए।


मुख्यमंत्री के निर्देश पर रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन को रोकने लगातार कार्यवाही जारी

  • कलेक्टर-एसपी ने किया छीपानेर घाट का निरीक्षण, खनिज रेत के परिवहन के लिए बनाए अस्थाई पुल को तोड़ा गया

sehore news
जिले में रेत के अवैध उत्खनन एवं परिवहन को रोकने के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा बीते कुछ दिनो से लगातार कार्यवाही की जा रही है। छीपानेर से रेत के अवैध उत्खनन की शिकायत मिलने पर कलेक्टर श्री चंद्रमोहन ठाकुर, एसपी श्री मयंक अवस्थी तथा राजस्व पुलिस एवं खनिज अमले द्वारा आज छीपानेर खनन क्षेत्र का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान छीपानेर में खनिज रेत के परिवहन के लिए बनाए गए अस्थाई पुल को तोड़ा गया एवं रेत के अवैध उत्खनन में संलिप्त स्थानीय लोगो को समझाइश दी गई कि वे रेत का अवैध उत्खनन न करें। कलेक्टर श्री ठाकुर ने राजस्व एवं खनिज अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस केवट एवं ढीमर जाति के लोगों का सर्वे किया जाए जिससे उन्हें रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा।  इसके अलावा किसी अन्य समुदाय के व्यक्ति जो कि रेत की अवैध उत्खनन से संलिप्त है, उन्हें इन स्थानों से हटाया जाएगा। इसके पश्चात भी यदि किसी व्यक्ति के द्वारा अवैध उत्खनन किया जाता है तो उनके विरूद्ध एफआइआर दर्ज की जाएगी। कलेक्टर श्री ठाकुर ने रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन को रोकने के लिए लगातार कार्यवाही करने के खनिज अधिकारी को निर्देश दिए । कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि जिले में कहीं भी कनिष्क खनिजों खनिजों का अवैध उत्खनन और परिवहन करते पाया गया तो उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की  जाएगी। उल्लेखनीय है कि गत दिवस जाजना नेहलाई रेत खदान के संबंध में पाइप लगाकर धार रोककर अवैध परिवहन के लिए बनाए गए पुल को भी तोड़ा गया। इस कार्यवाही में बुधनी एसडीएम श्री शैलेन्द्र हिनोतिया, जिला खनिज अधिकारी श्री राजेन्द्र परमार सहित राजस्व, पुलिस एवं खनिज विभाग का अमला शामिल था।


मध्यप्रदेश की एक मात्र महिला रेफरी बनी शहर की ज्योति गौर


sehore news
जिले की महिला फुटबॉल खिलाड़ी ज्योति गौर एक शानदार फुटबॉल खिलाड़ी होने के साथ ही मध्यप्रदेश की एक मात्र फुटबॉल टीम की इंडिया रेफरी हैं। ज्योति गत 6 वर्षो से फुटबॉल में रेफरी है। उन्होंने अभी तक नेशनल लेवल पर कई मैच खेले है और हीरो इंडियन वूमेंस लीग एवं खेलो इंडिया फुटबाल प्रतियोगिता में भी ज्योति ने मध्यप्रदेश रेफरी बोर्ड की तरफ से रेफरशिप की है। ज्योति ने 02 दर्जन से ज्यादा बार नेशनल फुटबॉल प्रतियोगिता में रेफरशिप की हैं। वे वर्तमान में एक निजी स्कूल में फुटबॉल कोच के रूप में पदस्थ हैं एवं शिक्षक के रूप में अपनी भूमिका निभा रही हैं और हाल ही में भारत के सबसे बड़े महिला फुटबॉल प्रतियोगिता में  मैच खिला रही हैं। हीरो इन्डियन सीनियर वूमेंस चैम्पियनशिप केरला के कोजीखोड़े जिले में 25 नवंबर से आयोजित की जा रही हैं जिसमे ज्योति गौर भारतीय फुटबॉल संघ की तरफ से बतोर मैच निर्णायक के रूप में पोस्टेड की गई हैं।


मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति के लिए 50 प्रतिशत अंकों की अनिवार्यता से छूट


सहायक संचालक पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण ने बताया कि भारत सरकार के माध्यम से संचालित मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति योजना के तहत अब विद्यार्थियों को परीक्षा में 50 प्रतिशत अंकों की अनिवार्यता से छूट दी गई है। इस छूट का लाभ लेने के लिये विद्यार्थियों से अपील की गई है कि वे छात्रवृत्ति के लिये अपने आवेदन ऑनलाईन नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर करवाएं।


वरिष्ठ नागरिकों के लिए एल्डर लाइन नम्बर 14567


वरिष्ठजन के साथ शारीरिक या भावनात्मक रूप से दुर्व्यवहार किया जा रहा है, तो वह एल्डरलाइन नंबर 14567 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार तथा सामाजिक न्याय और निशक्तजन कल्याण विभाग के अंतर्गत वरिष्ठ नागरिकों की सुविधाओं एवं मार्गदर्शन हेतु सहायता के लिए हेल्पेज इंडिया द्वारा हेल्पलाइन टॉलफ्री नम्बर जारी किया गया है। वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्थापित एक योजना है, जो मप्र के सभी जिलों में संचालित है। यह हेल्पलाइन सप्ताह के सातों दिन सुबह 08 बजे से रात 08 बजे तक कार्य करती है। एल्डर लाइन के अतंर्गत सेवाओं के एक भाव के रूप में मुफ्त कानूनी मार्गदर्शन प्रदान किया जाता है तथा वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण और रख-रखाव के अधिनियम 2007 के बारें में और पेंशन योजनाओं के बारें में जानकारी प्रदाय की जाती है। यदि किसी वरिष्ठजन के साथ शारीरिक या भावनात्मक रूप से दुर्व्यवहार किया जा रहा है, तो वह इस हेल्पलाइन नंबर पर रिपोर्ट कर सकतें है। कोई भी वरिष्ठजन अकेला हो या भावनात्मक रूप से कमजोर महसूस कर रहा हों, वे फोन करके बात कर सकतें है। हेल्पलाइन के माध्यम से भावनात्मक परामर्श प्रदान करने, परित्यक्त वृद्ध लोगों को अस्थाई आश्रय प्रदान करनें, उन्हें फिर से उनके परिवार के साथ मिलानें में मदद की जाती है। इसके अलावा वृद्धाश्रम, देखभाल करने वाली संस्थाओं, अस्पतालों आदि के बारें में भी जानकारी प्रदान की जाती है।


आरा-मशीनों के लायसेंस 5 साल में होंगे नवीनीकरण


प्रदेश में स्थापित आरा-मशीनों के लिये 05 साल की अवधि में लायसेंस नवीनीकरण कराये जाने का प्रावधान कर दिया गया है। अभी तक 3 साल में नवीनीकरण कराया जाना अनिवार्य था। राज्य शासन के वन विभाग द्वारा मध्यप्रदेश काष्ठ चिरान (विनियमन) नियम-1984 में यह संशोधन किया गया है। लायसेंस नवीनीकरण के लिये 2500 रुपये आवेदन शुल्क निर्धारित है।


होम क्वारंटाइन व्यक्तियों के लिए कोविड-19 कमांड कॉल सेंटर


जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद के लिए जिला स्तरीय कोविड–19 कमाण्ड कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर -07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर के मोबाइल नंबर 942540273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है।  राज्य स्तर पर 104 या 181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीनेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 24x7 हेल्पलाइन नंबर 104 पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती है। होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस तथा साइकोलॉजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं। मोबाईल मेडिकल यूनिट द्वारा होम आइसोलेट व्यक्तियों की सतत् निगरानी की जा रही है।


रिटर्निंग ऑफिसर एवं ब्लॉक स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स का प्रशिक्षण


sehore news
जिला पंचायत सभाकक्ष में रिटर्निंग ऑफिसर, सहायक रिटर्निंग ऑफिसर एवं ब्लाक स्तरीय मास्टर ट्रेनरों का प्रशिक्षण आयोजित किया गया। प्रशिक्षण में नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने एवं समस्त चुनाव प्रक्रियाओं से संबंधित प्रशिक्षण दिया गया। इसके साथ ही ई.व्ही.एम मशीनों की सीलिंग और हेंड टोन  की ट्रेनिंग भी दी गई। प्रशिक्षण मास्टर ट्रेनर के द्वारा दिया गया। इसमें जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती गुंचा सनोबर, डिप्टी कलेक्टर प्रगति वर्मा, श्री रवि वर्मा, श्री आदित्य जैन एवं समस्त अधिकारी उपस्थित रहे।


कुपोषण बच्चों के मेम श्रेणी से श्रेणी परिवर्तन में जिले को प्रदेश मे प्रथम स्थान, अक्षय पात्र फाउंडेशन ने किया जिले के कुपोषित बच्चों को ग्रोसरी किट का वितरण


sehore news
जिले में संचालित बाल आरोग्य संवर्धन कार्यक्रम के तहत कुपोषण मुक्ति अभियान में कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर के निर्देश पर जिले में विभिन्न गतिविधियां एवं नवाचार किए जा रहे हैं जिसके सार्थक परिणाम प्राप्त हो रहे हैं। राज्य स्तर से जारी कुपोषित बच्चों के ग्रेड परिवर्तन की जानकारी में मेम श्रेणी से बच्चों की श्रेणी परिवर्तन में सीहोर जिला मध्य प्रदेश में प्रथम स्थान पर आया है एवं मेम श्रेणी से सामान्य श्रेणी में आए बच्चों के श्रेणी परिवर्तन में जिला राज्य में प्रथम तीन स्थान पर आया है। इस कार्यक्रम का लक्ष्य जिले को कुपोषण से मुक्त करना है इसी कड़ी में जिला प्रशासन की पहल पर अक्षय पात्र फाउंडेशन द्वारा चलाए जा रहे कोविड-19 रिलीफ फीडिंग प्रोग्राम के तहत जिले के कुल 464 सेम व मैम श्रेणी के बच्चों को ग्रोसरी किट वितरित किए गए। इस किट में बच्चों के अभिभावकों को दो किलो चावल, दो किलो चने की दाल, गेहूं का आटा 05 किलो, हल्दी पाउडर 100 ग्राम, गरम मसाला 100 ग्राम, तेल एक लीटर, शक्कर एक किलो  सामग्रियां प्रदान की गई। इस  सामग्री वितरण का मुख्य उद्देश्य इन बच्चों के घर में रहने के उपरांत अतिरिक्त रूप से इस खाद्य सामग्री का उपयोग कर अपने भोजन में संपूर्ण पौष्टिक आहार को शामिल करना है। जिससे बच्चे का पूर्ण रूप से शारीरिक व मानसिक रूप से विकास हो सके और बच्चे कुपोषण की श्रेणी से बाहर आकर सामान्य श्रेणी में आए।


एमपीपीएससी एवं यूपीएससी की तैयारी कर रहे छात्र-छात्राओं को डीपीसी ने समझाया सीसैट और क्वालीफाइंग पेपर


sehore news
नगरपालिका सीहोर की लाइब्रेरी में जिले के यूपीएससी एवं एमपीपीएससी तैयारी कर रहे छात्र-छात्राओं को नि:शुल्क कोचिंग क्लासेज संचालित की जा रही हैl  कोचिंग के छात्र-छात्राओं को डीपीसी श्री अनिल श्रीवास्तव ने अंग्रेजी विषय के सिलेबस पर चर्चा करते हुए सीसैट पेपर आधारित कम्युनिकेशन स्किल को समझाया। उन्होंने बताया कि अंग्रेजी विश्व के 67 देशों में प्राथमिक भाषा के तौर पर एवं 27 देशों में द्वितीयक भाषा के तौर पर प्रयोग की जाती है जिनमें भारत भी शामिल है। उन्होंने छात्रों से कहा कि शब्दों को जानने के साथ ही उनके प्रयोग का ज्ञान होना भी आवश्यक है।


पशुधन मिशन में आवेदन की तिथि 15 दिसम्बर तक बढ़ी


राष्ट्रीय पशुधन मिशन के उद्यमिता विकास कार्यक्रमों में आवेदन आमंत्रित करने की तिथि को बढ़ाया गया है। पूर्व योजना में आवेदन की तिथि 30 नवंबर 2021 निर्धारित थी। अब राष्ट्रीय पशुधन मिशन के उद्यमिता विकास कार्यक्रमों में आवेदन की तिथि बढ़ाकर 15 दिसंबर 2021 तक की गयी है। इच्छुक पात्र उद्यमियों और हितग्राहियों को आवेदन ऑनलाइन करना होगा। आवेदन योजना के पोर्टल https://www.nlm.udyamimitra.in/  के माध्यम से किया जा सकता है।


बढ़ते हुए महानगरों में कानून व्यवस्था की अलग प्रकार की समस्याओं से निपटने में पुलिस कमिश्नर सिस्टम प्रभावी और कारगर सिद्ध होगा – मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • कोरोना की तीसरी लहर को रोकना सभी की चिंता कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन आवश्यक राज्य सरकार की तैयारियां जारी प्रभारी मंत्री देख रहे हैं जिलों में अस्पतालों की व्यवस्थाएँ

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के दो महानगरों भोपाल और इंदौर में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू हो गया है। बढ़ते हुए महानगरों में कानून व्यवस्था की अलग प्रकार की समस्याएँ होती हैं। मुझे विश्वास है कि यह प्रणाली प्रभावी और कारगर सिद्ध होगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान स्मार्ट सिटी में पौध-रोपण के बाद मीडिया के प्रतिनिधियों से चर्चा कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर को रोकना सभी की चिंता है। इसे रोकने के आवश्यक प्रयत्न करते हुए कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन हो। इसके लिए जनता के साथ मिलकर प्रयास किए जा रहे हैं। क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियाँ पुन: सक्रिय हो गई हैं। राज्य सरकार भी सभी आवश्यक व्यवस्थाएँ कर रही हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रतिदिन पॉजीटिव केसेस आ रहे हैं, परंतु अभी चिंता की स्थिति नहीं है। असावधानी के परिणामस्वरूप केस अधिक संख्या में आने लगते हैं, जो धीरे-धीरे लहर का रूप ले लेते हैं। हमारी पहली प्राथमिकता है कि प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर न आ पाए, फिर भी हमारी तैयारी जारी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी प्रभारी मंत्री साथी अपने-अपने प्रभार के जिलों में अस्पतालों में व्यवस्थाएँ देख रहे हैं। ऑक्सीजन प्लांट, ऑक्सीजन लाइनें, कॅसन्ट्रेटर, वेंटीलेटर, अस्पतालों के बिस्तर, बच्चों के वार्ड, दवाईयाँ आदि सभी आवश्यक तैयारियाँ की जा रही हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जनता से अपील की है कि कोरोना अनुकूल व्यवहार का पालन कर तीसरी लहर की संभावनाओं को न्यूनतम करने में सहयोग दें।


जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10143 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10021  हैं। आज 706 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 202, श्यामपुर से 140, नसरूल्लागंज से 82, आष्टा से 159, बुधनी से 70 तथा इछावर से 53 सैंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सैंपल 310729 हैं। जिनमें से 297813 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 753 सैंपलो की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कुल 2702 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।

कोई टिप्पणी नहीं: