सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 30 दिसंबर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 30 दिसंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 30 दिसंबर

भोपाल नाका महिला मंडल आयोजित करेगा, सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा रसामृताम


सीहोर। भोपाल नाका महिला मंडल के द्वारा 2 जनवरी रविवार से 8 जनवरी तक सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा रसामृताम का आयोजन भोपाल मुरली रोड स्थित परिसर में किया जाएगा। कथा व्यास पं.मनोज कृष्ण आचार्य के द्वारा संगीमय कथा का अमृतमय वाचन किया जाएगा। मुरली ग्राम स्थित मंदिर से सुबह 11 बजे कलश यात्रा प्रारंभ होकर कथा स्थल पहुॅचेगी। आयोजित कथा कार्यक्रम को लेकर कथा व्यास पं.मनोज कृष्ण आचार्य ने बताया की प्रथम दिवस रविवार को श्री मद्भागवत पूजन, महात्म एवं कथा का शुभारंभ किया जाएगा। सोमवार को परीक्षित जन्म शुक्रदेवजी आगमन कथा होगी मंगलवार को कपिल अवतार, संती प्रसंग, ध्रुव चरित्र बुधवार को प्रहलाद चरित्र, वामन अवतार, रामावतार,श्रीकृष्ण महोत्सव और गुरुवार को श्रीकृष्ण लीला, श्री गोवर्धन पूजा व छप्पन भोग लगाए जाएंगे। शुक्रवार को गोपीगीत, कंस उद्वार रूकमणी मंगल होली महोत्सव प्रसंग प्रस्तुत किया जाएगा। इसी प्रकार शनिवार को सुदामा चरित्र, परिक्षित मोक्ष व्यास पूजन पूणाहुती, प्रसादी वितरण किया जाएगा। आयोजन समिति भोपाल नाका महिला मंडल के द्वारा सभी श्रद्धालुओं भक्तजनों से कार्यक्रम में पहुंचने की अपील की गई है।


सीहोर वाइस ने लगातार छह मैच जीते


sehore news
सीहोर। शहर के चर्च मैदान पर जारी प्रकाश व्यास काका की स्मृति में आयोजित जिला स्तरीय बेबी लीग फुटबॉल प्रतियोगिता में फुटबाल के छोटे-छोटे खिलाड़ी पूरे उत्साह के साथ खेल का प्रदर्शन कर रहे है। सीहोर वाइस प्रतियोगिता में लगातार छह मैच जीतकर लीग में टाप पर है। गुरुवार को हुए मैच में सीहोर वाइस ने सीहोर ग्रीन को विशाल अंतर से हराया। मैच में जैद और युवराज की जोड़ी ने गोल किए। इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को आठवें दिन पहला मैच सीहोर वॉइस विरुद्ध सीहोर ग्रीन के मध्य खेला गया जिसमें सीहोर वॉइस 3-0 से विजय रही सीहोर वॉइस की तरफ से जैद ने दो गोल किए युवराज कन्नौजिया ने एक गोल किया दूसरा मैच सीहोर चिल्ड्रन विरोध मंडी बॉयज के मध्य खेला गया जिसमें सीहोर चिल्ड्रन 4-0 से विजय रही चिल्ड्रंस की तरफ से सुशांत ने एक गोल किया इशांत ने एक गोल किया वेदांत ने एक गोल किया आवेश ने एक गोल किया प्रतियोगिता में तीसरा मैच सीहोर क्लब विरुद्ध सीहोर मिनी के मध्य खेला गया जिसमें सीहोर क्लब 1-0 से विजय रही सीहोर क्लब की तरफ से हितेश नानकशाही ने एक गोल किया। 


दो जनवरी को होगी एबीडीएम युवा इकाई की बैठक


सीहोर। स्वच्छता के जनक राष्ट्रिय संत श्री गाडगे माहाराज की जन्म जयंति इस वर्ष भी सीहोर एबीडीएम युवा इकाई, सर्व श्री गाडगे रजक कल्याण समिति द्वारा मनाई जाएगी। 23 फरवरी हो होने वाले सामाजिक आयोजन को लेकर दो जनवरी दिन रविवार को बैठक आयोजित कर रूप रेखा तैयार की जाएगी। अखिल भारतीय धोबी महा संघ युवा इकाई के संभाग अध्यक्ष गाविंद मालवीय, जिला अध्यक्ष राकेश मालवीय ने बताया की समिति सदस्य और सामाजिक लोगों की उपस्थिति में इन्दौर नाका स्थित धोबी घाट पर बैठक का आयोजन किया जाएगा। आयोजित बैठक में आयोजन की तैयारियों को लेकर विस्तार से चर्चा की जाएगी। वही सामाजिक लोगों की उपस्थिति में नव वर्ष मिलन समारोह भी आयोजित किया जाएगा। एबीडीएम युवा इकाई और सर्व श्री गाडगे रजक कल्याण समिति के सदस्यों ने सभी सामाजिक लोगों से बैठक में उपस्थित होने की अपील की है।


अमृत महोत्सव के तत्वाधान में भजन-कीर्तन का आयोजन


सीहोर। शहर के सैकड़ाखेड़ी स्थित नशा मुक्ति केन्द्र और संकल्प वृद्धाश्रम में सामाजिक न्याय विभाग के सहयोग से अमृत महोत्सव का आयोजन किया गया था। जिसमें हितग्राहियों और वृद्धजनों ने आस्था के साथ भाग लिया। इस मौके पर वृद्धों के द्वारा भजन-कीर्तन किए गए। इस संबंध में जानकारी देते हुए केन्द्र के संचालक राहुल सिंह ने बताया कि शनिवार को नया साल लग रहा है। इसको लेकर सामाजिक न्याय विभाग के सहयोग केन्द्र के तत्वाधान में अमृत महोत्सव का आयोजन किया गया था। जिसमें हितग्राहियों और वृद्धजनों ने कैरम खेला और भजन-कीर्तन किया गया। 


महिला क्रिकेटर मुस्कान का प्रदेश स्तरीय टीम के कैंप में चयन


sehore news
सीहोर। शहर की प्रतिभाशाली महिला खिलाड़ी मुस्कान मालवीय का आगामी दिनों में इंदौर में होने वाली प्रदेश स्तरीय महिला क्रिकेट प्रतियोगिता के लिए मध्य प्रदेश अंडर-16 महिला टीम के कैंप में हुआ है। इस संबंध में जानकारी देते हुए डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया शहर के बीएसआई मैदान पर अभ्यास करने वाली मुस्कान कक्षा 12 वीं की छात्रा है और बल्लेबाजी के साथ गेंदबाजी करती आ रही है। महिला क्रिकेट के रूप में गत दिनों होशंगाबाद की संभाग टीम की ओर से खेलते हुए दो मैचों में शानदार गेंदबाजी करते हुए सात विकेट भी हासिल किए थे। इसी आधार पर अब उनका इंदौर में जारी मध्यप्रदेश महिला क्रिकेट टीम के कैंप में चयन हुआ है। अब मुस्कान इंदौर में पांच दिवसीय शिविर में चयनीत खिलाड़ी अभ्यास करेंगी। टीम आगामी दिनों में बीसीसीआई द्वारा आयोजित अंडर 16 प्रतियोगिता में भाग लेगी। उनके कोच मदन कुशवाहा एवं अक्षय दुबाने सहित अन्य सीनियर खिलाड़ियों के मार्गदर्शन में कई महिला खिलाड़ी बीएसआई मैदान पर अभ्यास करती आ रही है। जिसमें से एक मुस्कान भी है जिन्होंने पूरे जिले से एक मात्र महिला खिलाड़ी के रूप में प्रदेश टीम के कैंप तक का सफर तय किया है। मुस्कान के चयन पर डिस्ट्रिक क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष सुदेश राय, अतुल तिवारी, वीरेंद्र वर्मा, सुरेन्द्र रल्हन, महेंद्र शर्मा, मनोज दीक्षिम मामा, प्रदीप पाहुजा, इरफान हुसैन, नवनीत तोमर, अमित कटारिया, आशीष शर्मा, नागेंद्र व्यास, कमलेश परोचे, सचिन कीर  उनकी साथी महिला खिलाड़ी निधि भारद्वाज, अंजली मालवीय, रीतिका मेवाड़ा, रानू मेवाड़ा और आस्था राठौर सहित जिला क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बधाई दी है।


सरपंच एकता कल्याण संघ ने की मांग पंचायत चुनाव निरस्त होने से पुन: प्रधान को यथावत करने की


sehore news
सीहोर। गुरुवार को सरपंच एकता कल्याण संघ ने विधायक सुदेश राय से सामूहिक रूप से भेंट कर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से संबोधित पंचायत चुनाव निरस्त होने से पुन: मध्यप्रदेश में प्रधान को यथावत करने के संबंध में एक ज्ञापन सौंपा है। इस संबंध में संघ के जिलाध्यक्ष ऐलम सिंह दांगी ने कहा कि विगत 4 दिसंबर को मध्यप्रदेश निर्वाचन आयोग द्वारा अधिसूचना एवं चुनाव कार्यक्रम घोषित होने से संपूर्ण मध्यप्रदेश में ग्राम का विकास कार्य रूक गया है। यह कि बहुत सारे कार्य ओन गोयिंग होने से प्रारंभ हुए थे और उनकी राशि पूर्णं तरीके से आहरण नहीं हुई थी, उक्त कार्यों को लेकर सरपंच और सचिव असमंजस की स्थिति में है। ग्राम के विकास में प्रधान की सबसे बड़ी जिम्मेदारी होती है। ग्राम में बिजली, पानी, सड़क सहित अन्य गतिविधि में विकास का कार्य उनके बिना नहीं हो पाता है। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में पंचायत ग्रामीण विकास विभाग द्वारा अधोसंरचना, जल संरक्षण, स्वच्छता आदि कार्यों के निर्देश मिल थे कि बीच में मध्यप्रदेश शासन के द्वारा अधिकारियों-कर्मचारियों और सचिवों के ट्रांसफर होने से कार्यों में अवरोध पैदा हुआ है। जैसे-तैसे ट्रांसफर स्थिति स्पष्ट हुई तो तकनीकी कारणों से डीएससी रोक दी गई। जिससे पंचायतें खुले मन से कार्य नहीं कर पायी। इसके अलावा 15 महीने कांग्रेस के शासन में पंचायतों को राशि नहीं मिलने से कार्य नहीं कर पाई। मार्च 2021 में आपके नेतृत्व में सभी पंचायतें कोरोना बचाव अभियान में लग गई। जिससे सरपंचों की बहुत भूमिका है। जुलाई के बाद बारिश में अगस्त तक कार्य रूके रहे। सितंबर 2021 में ट्रांसफर के कारण अवरोध पैदा हुआ। मध्यप्रदेश पंचायत ग्रामीण विकास विभाग द्वारा निर्देशित कार्य का पालन हुआ चार दिसंबर को अधिसूचना लागू हो गई। जिसके कारण सरपंचों का करोड़ों रुपए का भुगतान नहीं हुआ है। जबकि निर्माण कार्य हो गए है, या प्रगतिरत है। संघ के जिलाध्यक्ष श्री दांगी सहित सभी सरपंचों ने मांग की है कि आगामी चुनाव होने और नई पंचायत गठित होने तक पुन: पंचायतों के अधिकार दिए जाए। डीएसी फिर चालू की जाए। 


कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए पुख्ता रहे नियंत्रण की व्यवस्थाएँ - मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • 3 जनवरी से शुरू हो रहे बच्चों के कोरोना टीकाकरण की समय पर करें तैयारी
  • मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कलेक्टर-कमिश्नर कॉन्फ्रेंस में दिए निर्देश

sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कलेक्टर-कमिश्नर कॉन्फ्रेंस में कहा कि पड़ोसी राज्यों में कोरोना के प्रकरण बढ़ रहे हैं। लगभग सभी जगह केस बढ़ रहे हैं। हमें इसके नियंत्रण के लिए पूरी तरह तैयार रहना चाहिए। कलेक्ट्रेट कार्यालय के एनआईसी कक्ष में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर, जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह सहित अनेक अधिकारी उपस्थित थे। कलेक्टर श्री ठाकुर ने मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से दिए गए निर्देशो का पालन सुनिश्चित करने के सभी अधिकारियों को निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में 307 नये केस आए हैं। चारों महानगरों में केस आ रहे हैं। अब धीरे-धीरे सभी जगह फैलने की संभावना है। हमारी रणनीति है कि यदि घर में जगह नहीं है तो रोगी को हॉस्पिटल में एडमिट करें। सभी प्रभारी मंत्री इस ओर ध्यान दें। कोविड केयर सेंटर तैयार करें। जिलों में एक-एक कोविड केयर सेंटर की तैयारी करें। होम आयसोलेशन के मरीज को सावधानी रखने के लिए क्या करना चाहिए, इसकी समझाइश दी जाए। व्यापक पैमाने पर संदेश प्रसारित करें। प्रदेश में ओमिक्रॉन के 9 केस आए हैं, जो सभी स्वस्थ हो गए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इंदौर कलेक्टर को कोरोना नियंत्रण की रणनीति के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। कोविड केयर सेंटर, फीवर क्लीनिक एक्टिव करने, टेस्ट करने आदि के संबंध में निर्देश दिए गए। सबसे ज्यादा सतर्कता और चुनौती इंदौर की ही है। केस तेजी से बढ़ेंगे अतएव व्यवस्थाएँ चाक-चौबंद रहे।मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अन्य सभी कलेक्टर भी पूरी तैयारी कर व्यवस्थाएँ दुरूस्त रखें। अपनी तरफ से कोई कमी नहीं रहने दी जाए। कोविड क्राइसिस मेनेजमेन्ट कमेटियों की बैठक करायें। प्रदेश में पात्र व्यक्तियों को अब तक 94.8 प्रतिशत प्रथम डोज़ तथा 91 प्रतिशत को सेकेण्ड डोज़ लगी है। लगातार वैक्सीनेशन जारी रहे।


महाअभियान के रूप में 15 से 18 वर्ष के बच्चों का वैक्सीनेशन करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 15 से 18 साल के बच्चों के वैक्सीनेशन की तैयारी कर लें। एक साथ सभी शहरों में वैक्सीनेशन करें। युद्ध स्तर पर तेजी से 03 जनवरी से वैक्सीनेशन करना है। महाअभियान के रूप में 15 से 18 वर्ष के बच्चों का वैक्सीनेशन करें। प्राथमिकता के साथ इस कार्य में जुट जाये। लांचिंग के दौरान वैक्सीनेशन की अपील हो। 60 वर्षीय व्यक्तियों को बूस्टर डोज़ लगाने के लिए च्वाइस पर निर्भर है।


रोको-टोको अभियान जारी रहे

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि फीवर क्लीनिक चालू कराये जाये। अभी 20 जिलों में एक्टिव केस हैं। क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठकें जहाँ नहीं हुई हैं, वहाँ जल्द कराई जाये। प्रभारी मंत्रियों से जानकारी ली जाए। आमजन को फेस मॉस्क के लिए प्रेरित किया जाए। रोको-टोको अभियान जारी रहे। अनावश्यक भीड़ वाले आयोजनों से बचा जाए। गरीब की रोजी-रोटी चलती रहे, आर्थिक स्थिति प्रभावित न हो। कोविड केयर सेंटर की व्यवस्थाएँ अच्छी रहे। ऑक्सीजन, पीएसए प्लांट क्रियाशील रहें, एलएमओ टैंक की व्यवस्था भी देख लें। दवाइयों की एक महीने की व्यवस्था रहे। मुख्यमंत्री इन्पेनल्ड अस्पतालों की अवधि 31 मार्च 2022 तक बढ़ा दी गई है। बिस्तरों की मेपिंग कर लें। प्रायवेट एवं शासकीय अस्पतालों में बिस्तरों की व्यवस्था करें। सभी आवश्यक चीजें देखें। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करनी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्कूलों में बात करके बच्चों का वैक्सीनेशन करायें। प्रदेश के 48 लाख बच्चों का वैक्सीनेशन का लक्ष्य है। सांसद, विधायकों, जन-प्रतिनिधियों सभी को इस कार्य में जोड़ना है।


आज की सबसे बड़ी प्राथमिकता रोजगार देना

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आज की सबसे बड़ी प्राथमिकता रोजगार देना है। रोजगार केवल सरकारी नौकरी नहीं है, इसमें स्व-रोजगार की योजनाएँ सम्मिलित हैं। हम लगभग 03 लाख लोगों को हर महीने लाभ देते हैं। स्वामी विवेकानंद की जयंती पर 12 जनवरी को रोजगार दिवस का प्रारंभ होगा। इसे ब्लॉक, नगर पंचायत एवं ग्रामों में भी करें। कार्यक्रम से अधिकाधिक लोगों को जोड़ा जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने डीएलसीसी की बैठकों की जानकारी लेते हुए कहा कि जिला स्तर के साथ ब्लॉक स्तर पर भी बैठकें हों।


मिशन मोड में बैंकों से ऋण दिलवाने का कार्य हो

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मिशन मोड में बैंकों से ऋण दिलवाने का कार्य होना चाहिए। स्व-रोजगार योजनाओं पर फोकस करना है। शत-प्रतिशत लक्ष्य पूरा करना है। युवाओं को मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना का लाभ देने के लिए अच्छे ढंग से प्रचार करें। बिना पूर्व तैयारी के कार्यक्रम नहीं हों। रोजगार मेलों में अधिकाधिक प्रकरणों में स्व-रोजगार के लिए ऋण स्वीकृत हो।


स्वस्थ बालक-बालिका स्पर्धा 08 जनवरी से 14 जनवरी के मध्य

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्वस्थ बालक-बालिका स्पर्धा 08 से 14 जनवरी के मध्य होगी। जन्म से 06 वर्ष तक के बच्चों का वजन, ऊँचाई, ली जायेगी। विभिन्न माप एजेंसियों द्वारा बच्चों की ऊँचाई एवं वजन लिया जायेगा। अस्वस्थ बच्चों को उपचार के लिए चिन्हित किया जायेगा।


बच्चों को स्वस्थ रखना सर्वसमाज की जिम्मेदारी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कलेक्टरों को इस कार्यक्रम की तैयारी के निर्देश दिए। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है। बच्चों की जिंदगी बदलने का है। प्रधानमंत्री जी की सोच बच्चों के प्रति अच्छी है। विभिन्न संस्थाओं एवं जन-प्रतिनिधियों को जोड़ें। बच्चों को स्वस्थ रखना सर्वसमाज की जिम्मेदारी है। सबको आँगनवाड़ी से जोड़े और आँगनवाड़ी की समिति बना लें। अफसरों को स्वयंसेवी संस्थाओं को आँगनवाड़ी से जोड़े। आगामी 08 जनवरी को मंत्रीगण, विधायक आँगनवाड़ियों में जायें। मैं भी एक आँगनवाड़ी में जाऊँगा। शारीरिक माप से कोई बच्चा वंचित न रहे। अभियान का प्रिंट-इलेक्ट्रानिक, सोशल मीडिया में बेहतर प्रचार-प्रसार हो। मीडिया हाऊस भी आँगनवाड़ी गोद लें। बहुप्रचारित करके आँगनवाड़ियों को जोड़ना है। कलेक्टर प्रभारी मंत्री भी एक-एक आँगनवाड़ी से जुड़े। बच्चों को स्वस्थ रखने का संकल्प लें। अभियान बनाकर आँगनवाड़ियों से लोगों को जोड़ा जाए।


प्रदेश में कहीं भी यूरिया की किल्लत नहीं हो

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में प्रदेश में यूरिया की स्थिति की जानकारी ले रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कहीं भी यूरिया की किल्लत नहीं होनी चाहिए। केन्द्र से बात कर यूरिया की आपूर्ति की जायेगी। खाद की कोई कमी नहीं है। जहाँ जरूरत हो वहाँ के कलेक्टर द्वारा यूरिया की मांग की जाये। पर्याप्त यूरिया दिलाया जायेगा। उज्जैन कलेक्टर ने दो रैक यूरिया की मांग की है। रतलाम कलेक्टर ने 2 हजार टन यूरिया की मांग की। प्रदेश में 25 रैक यूरिया की आवश्यकता बताई गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में खाद की कालाबाजारी किसी भी कीमत पर नहीं हो। ऐसा करने वालों को जेल भेजा जायेगा। जनता को कोई भी तकलीफ नहीं हो। प्रभावी प्रशासन व्यवस्था हो। अभी तक 03 लाख कृषकों से 20 लाख टन धान की खरीदी हो गई है। पिछले वर्ष से ज्यादा धान खरीदी गई है। मोटा अनाज उपार्जन की अंतिम तिथि 31 दिसंबर नियत है। धान की सुरक्षित खरीदी है। किसानों को कोई दिक्कत न हो। गैर किसान से धान नहीं खरीदी जाये। समय पर धान की देख-रेख हो। केंप में धान खराब न हो।


माफियाओं के अतिक्रमण पर कार्यवाही हो

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कलेक्टर रायसेन सहित सभी कलेक्टरों से कहा कि पैसे लेने वालों को नौकरी से बर्खास्त किया जायेगा। भ्रष्टाचार करने पर बख्शा नहीं जायेगा। माफियाओं के अतिक्रमण पर कार्यवाही हो। स्वच्छता में नंबर-1 आना है। शहरों को सुंदर रखें। गरीबों की रोजी-रोटी प्रभावित नहीं हो। समाचार-पत्रों में छपी खबरों पर कार्यवाही हो। नकारात्मक समाचार का खंडन करवाया जाए। खबर की सच्चाई सामने आये। तत्काल रिस्पांस हो। संवदेनशीलता से लोगों का दुख दूर करें, तटस्थ न रहे, अच्छा करें।


एक साल में चमत्कार कर दिखायें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि "आयुष्मान भारत" योजना के वीडियो अपलोड करें। सरकार के अच्छे कार्यों का प्रचार आपका कार्य है। यह हमारी ड्यूटी है। कलेक्टर चाहे तो पूरा जिला बदल सकता है। सब मिलकर अच्छा कार्य करें। नये वर्ष की शुभकामनाएँ। अच्छे कार्य के माध्यम से यशस्वी हो। अच्छा परफार्मेंस करें। एक साल में चमत्कार करके दिखायें।


92 हजार 728 किशोर बालक-बालिकाओं के टीकाकरण का लक्ष्य

  • 15 से 18 आयुवर्ग के बालक-बालिकाओं का टीकाकरण 10 जनवरी से प्रारंभ
  • कलेक्टर ने सभी लक्षित हितग्राहियों का टीकाकरण सुनिश्चित करने के दिए निर्देश

प्रदेश के साथ ही जिले में  03 जनवरी 2022 से 15 से 18 वर्ष के किशोर बालक-बालिकाओं का कोविड-19 वैक्सीनेशन तथा 10 जनवरी 2022 से हेल्थ केयर वर्कर, फ्रन्ट लाइन वर्कर एवं 60 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के गंभीर बीमारी ग्रसित नागरिकों के लिये "कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रिकॉशन डोज" प्रारम्भ किया जा रहा है। जिले में 92 हजार 728 किशोर बालक-बालिकाओं के लिए टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मध्यप्रदेश शासन के निर्देशानुसार कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने सीएमएचओ सहित सभी संबंधित अधिकारियो को लक्षित हितग्राहियों का टीकाकरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। समस्त स्कूल-कॉलेज के 15 से 18 वर्ष के किशोर बालक-बालिकाओं को एक निश्चित कार्ययोजना के तहत कोविड-19 वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा। टीकाकरण 03 जनवरी से प्रारंभ कर 20 जनवरी 2022 तक पूर्ण किया जाने के निर्देश दिए गए हैं। वर्ष 2007 तथा उसके पहले जन्में सभी किशोर बालक-बालिका वैक्सीनेशन के लिए पात्र होंगे। वैक्सीनेशन के लिए "डेडिकेटेड वैक्सीनेशन टीम" के साथ "डेडिकेटेड सत्र" स्कूलों में बनाए जाएंगे। 15 से 18 आयुवर्ग के लिए अलग से सत्र बनाकर टीकाकरण के लिए केवल कोवैक्सीन का उपयोग किया जाएगा। वैक्सीनेशन के लिए पंजीयन एक जनवरी 2022 से कोविन पोर्टल पर प्रारम्भ होंगे।


गंभीर बीमारी से ग्रसित नागरिकों के लिए "कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रिकॉशन डोज"

कोविड-19 प्रिकॉशन डोज के लिए हेल्थ केयर वर्कर, फ्रन्ट लाइन वर्कर एवं 60 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के गंभीर बीमारी ग्रसित नागरिक पात्र होंगे। प्रिकॉशन डोज नागरिकों को कोविड-19 के द्वितीय डोज के 09 माह का समय पूरा होने के बाद ही लगाया जाएगा। नागरिकों को प्रिकॉशन डोज के लिए पंजीयन की प्रक्रिया पूर्व की तरह ही होगी।


दिव्यांगजनों को सहायक उपकरण वितरण के लिए रजिस्ट्रेशन, दिव्यांग हितग्राहियों को ट्राई साइकिल का वितरण किया गया


sehore news
आजादी के अमृत महोत्सव के तहत सामाजिक न्याय एवं निशक्त कल्याण विभाग द्वारा कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर के निर्देश पर जिला विकलांग पुनर्वास केंद्र ने विशेष आवश्यकता वाले दिव्यांगजनों के लिए सीडब्ल्यूएसएन दिव्यांगता परीक्षण शिविर बुधनी में आयोजित किया गया। इस शिविर में दिव्यांगजनों का स्वास्थ्य परीक्षण कर सहायक उपकरण वितरण के लिए रजिस्ट्रेशन किए गए। शिविर में मेडिकल बोर्ड की टीम ने 87 दिव्यांगजनों का परीक्षण कर दिव्यांगता प्रमाण पत्र वितरित किए। इसके साथ ही नि:शुल्क सहायक उपकरण वितरण के लिए 43 हितग्राहियों का चिन्हांकन किया गया। इन हितग्राहियों को हियरिंग एड, ट्रायसिकल, व्हीलचेयर, आर्टिफिशियल लिंब,  वैशाखी स्टिक एवं चश्में प्रदाय करने के लिए रजिस्ट्रेशन किया गया। इस अवसर पर पूर्व विधायक श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत, बुधनी सीएमओ श्री सतीश मालवीय सहित पुनर्वास केन्द्र की टीम उपस्थित रही। इसी प्रकार जिला पुनर्वास केंद्र द्वारा दो अस्थि बाधित दिव्यांग हितग्राहियों को ट्राई साइकिल का वितरण सामाजिक न्याय एवं निशक्त कल्याण विभाग के उपसंचालक डॉ. श्रवण कुमार पचौरी द्वारा किया गया।


किसानों की आय बढ़ाने में मददगार होगी नंदन फलोद्यान योजना


सरकार द्वारा किसानों की आय बढ़ाने के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही है। इन योजनाओं के माध्यम से किसान अपनी मुख्य फसल के साथ ही अन्य फसलें एवं बागवानी फसलों से आय बढ़ा सकते हैं। प्रदेश में महात्मागांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना के अन्तर्गत नंदन फलोद्यान योजना के माध्यम से जिले के किसानों को लाभान्वित किया जा रहा है। ग्राम पंचायत मोलगा के ग्राम गोयलखेड़ी के किसान श्री देवी सिंह मेवाड़ा को एक लाख 69 हजार रूपए की राशि फलोद्यान के लिए स्वीकृत की गई है। इसमें एक लाख 15 हजार मनरेगा से तथा 54 हजार रूपए किसान का अंशदान है। श्री मेवाड़ा ने जुलाई में फलोद्यान का कार्य आरंभ किया। उन्हें 193 दिन की मजदूरी भी मिली है। श्री मेवाड़ा ने लखनउ-49 प्रजाति के अमरूद के 100 पौधे लागाएं है। यह अमरूद के पौधे तीन साल बाद फल देने लगेंगे। श्री मेवाड़ा द्वारा अमरूद के पौधों के मध्य खाली जगह में प्याज और लहसुन की फसल भी की जा रही है। श्री मेवाड़ा को तीन साल बाद फलोद्यान से अच्छी आमदनी की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि फलोद्यान योजना मेरी आय बढ़ाने मे मददगार साबित होगी।


जिला स्तरीय वर्चुअल युवा उत्सव आयोजित


जिला खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा जिला स्तरीय (वर्चुअल) युवा उत्सव  चर्च ग्रांउड के इंडोर हॉल में आयोजित किया गया। इस वर्चुअल युवा उत्सव में दो विद्याएं लोकगीत एवं लोकनृत्य थे। जिसमें लोकगीत के प्रतिभागियों ने ही वर्चुअल रुप में भाग लिया। जिसमें पंकेश राव एण्ड ग्रुप का चयन भोपाल में आयोजित वर्चुअल युवा उत्सव के लिए किया गया है। इस कार्यक्रम में खेल एवं युवा कल्याण अधिकारी श्री अरविन्द ईलियाजर, विभागीय कर्मचारी एवं समन्वयक उपस्थित थे।


चंदन की लकड़ी की तस्करी करने वालो एक वर्ष का कठोर कारावास


अवैध रुप से चंदन की लकड़ी की तस्करी के मामले में दोषी पाए जाने पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री अभिलाष जैन द्वारा एक-एक वर्ष के कारावास की सजा एवं कुल 4500 रूपये का जुर्माना लगाया गया है। दोषी पाए जाने पर जिन्हें सजा दी गई उनमें तालिब, कुलदीप, हमीद एवं वहीद आरोपी शामिल है।


जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला


पिछले  24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10143 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10021  हैं। आज 730 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 205, श्यामपुर से 150, नसरूल्लागंज से 74, आष्टा से 146, बुधनी से 101 तथा इछावर से 54 सैंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सैंपल 324132 हैं। जिनमें से 313188 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 714 सेंपलो की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 730 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।


आईयूसीडी मेंटरिंग का प्रशिक्षण सम्पन्न


sehore news
जिला चिकित्सालय के पीपीओटी प्रशिक्षण कक्ष में गुरूवार को परिवार कल्याण के अस्थायी साधन आईयूसीडी के मेंटरिंग का प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया गया।  इस अवसर पर मास्टर प्रशिक्षक डॉ. सुजाता परमार तथा श्रीमती इसरत नेहा खान द्वारा जिले के समस्त विकासखण्ड के प्रशिक्षणार्थियों को उत्कृष्ट, क्वालिटी बेस्ड सेवाओं के लिए रिफ्रेशर प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इस अवसर पर क्लींटन हेल्थ फाउंडेशन भोपाल से श्री अमित कुशवाह, श्री जेपी तिवारी, सुश्री आलिजा एवं अस्पताल प्रबंधक संजूलता भार्गव उपस्थित थे। प्रशिक्षण का समापन सिविल सर्जन डॉ. अशोक कुमार मांझी के संबोधन के साथ संपन्न हुआ।


15 से 18 वर्ष के किशोर बालक, बालिकाओं को वैक्सीनेशन 3 जनवरी से प्रारंभ


तीन जनवरी से 15 से 18 वर्ष के किशोर बालक, बालिकाओं को कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रारम्भ किया जाना है। इस के लिए जिले के समस्त विद्यालयों (सरकारी निजी अनुदान प्राप्त मंदर से, विद्यालय, नवोदय विद्यालय, आर्मी स्कूल, केन्द्रीय विद्यालय एवं एकलव्य पॉलिटेक्निक / आई.टी.आई. कॉलेज तथा अन्य शिक्षा संस्थान) में 15 से 18 वर्ष के किशोर बालक, बालिकाओं को एक निश्चित कार्ययोजना के तहत कोविड-19 वैक्सीन से टीकाकरण किये जाने के लिए के साथ स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी को व्यापक तैयारियों के लिए निर्देशित कर कहा है कि स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय स्थापित कर कार्य को सुनिश्चित किया जाए। स्कूली शिक्षा विभाग ने निर्देश में कहा है कि जिले में पंजीकृत समस्त शिक्षा संस्थान (सरकारी निजी अनुदान प्राप्त मदरसे, एकलव्य विद्यालय नवोदय विद्यालय, आर्मी विद्यालय केन्द्रीय विद्यालय एवं पॉलिटेक्निक / आई टी आई कॉलेज तथा अन्य शिक्षा संस्थान) के अध्ययनरत, ड्रॉपआउट एवं स्कूल छोड़ चुके 15 से 18 वर्ष के विद्यार्थियों की सूची मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को उपलब्ध करा कर स्वास्थ्य अमले से समन्वय स्थापित कर 15 से 18 वर्ष के किशोर बालक / बालिकाओं को वैक्सीनेशन के संबंध में शिक्षकों का उन्मुखीकरण एवं जागरूकता करना। कोविड-19 वैक्सीनेशन में शिक्षा विभाग से संबंधित अधिकारियों, कर्मचारियों, शिक्षकों द्वारा मोबिलाईजेशन में सक्रिय सहयोग करना । डीईओ , बीईओ बीआरसी एवं अन्य अधिकारियों द्वारा शालाओं में होने वाले 'वैक्सीनेशन की शत-प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त करने हेतु मॉनिटरिंग करना जिस से पात्र बालक / बालिका वैक्सीनेशन से वंचित ना रहे। शालाओं में आयोजित होने वाले कोविड-19 वैक्सीनेशन सत्रों हेतु आवश्यक Infrastructure तीन कक्ष (प्रतीक्षा / पंजीयन कक्ष टीकाकरण कक्ष तथा निगरानी कक्ष), पेयजल, टॉयलेट परिसर में स्वच्छता आदि की व्यवस्था एवं कोविड-19 अनुकूल व्यवहार का पालन। आयोजन के दिन शालाओं में पंजीकृत 15 से 18 वर्ष के किशोर बालक बालिकाओं की श-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित किया जाना चाहिए।


युवा संवाद कार्यक्रम का आयोजन


युवा संवाद कार्यक्रम का आयोजन चन्द्रशेखर आजाद शासकीय महाविद्यालय सीहोर में किया गया। जिसमे महाविद्यालयीन विद्यार्थियों को पशुपालन व डेयरी व्यवसाय में रोजगार के अवसरों की विस्तृत जानकारी प्रदान की गई। इस अवसर पर उपसंचालक पशुपालन एवं डेयरी विभाग के डॉ ए के एस भदौरिया ने आत्म निर्भर मध्यप्रदेश के अंतर्गत जिसका मुख्य उद्देश्य जिले में पशुपालन व डेयरी व्यवसाय के अवसरों के तहत दुधारू पशुओं की संख्या को बढाना एवं उनकी देखभाल के साथ-साथ घास-भूसा चारे के रूप में प्रबंध मे उपलब्ध  स्व-रोजगार सुनिश्चित कराना है। इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्य प्रोफेसर सलूजा , विकास खण्ड पशु चिकित्सा अधिकारी सीहोर डॉ दिव्या डहारे सहित अन्य चिकित्सा गण  उपस्थित  थे।  


स्वच्छ सर्वेक्षण अभियान के तहत कलेक्ट्रेट भवन की विशेष सफाई


स्वच्छ सर्वेक्षण रैंकिंग अभ्यास भारत सरकार की एक गतिविधि है जिसका उद्देश्य  राज्यों एवं शहरी स्थानीय निकायों द्वारा स्वच्छता प्रयासों के स्तरों  के सर्वेक्षण का उद्देश्य कस्बों और शहरों को रखने का बेहतर स्थान बनाने की ओर मिलकर बहुसंख्या में भागीदारी को बढ़ावा देना तथा समाज के सभी वर्गों में जागरूकता पैदा करना है । इसके अतिरिक्त सर्वेक्षण से शहरों को स्वच्छ बनाने में और नागरिकों को सेवाएं प्रदान करने में सुधार करने एवं शहरों और कस्बों में एक स्‍वस्‍थ प्रतिस्पर्धा को जागृत करने के लिए आज स्वच्छ सर्वेक्षण  के अंतर्गत कलेक्ट्रेट कार्यालय के दोनों फ्लोर एवं परिसर में विशेष सफ़ाई अभियान कार्यक्रम आयोजित कर साफ-सफाई का कार्य किया गया। कलेक्ट्रेट भवन के अन्दर सभी कार्यालयों की आंतरिक सफ़ाई नगरपालिका के सफाई अमले एवं विभागीय कर्मचारियों के सहयोग से की गई है। 


पीएम किसान योजना के हितग्राहियों के ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूर्ण करें


पीएम किसान योजना के हितग्राहियों के ई-केवाईसी की प्रक्रिया पीएम किसान पोर्टल पर फार्मर कॉर्नर एवं पीएम किसान एप पर नि:शुल्क उपलब्ध कराई गई है। इस सुविधा से आधार लिंक मोबाइल पर ओटीपी के माध्यम से ई-केवाईसी की कार्यवाही पूर्ण करने के निर्देश आयुक्त भू-अभिलेख द्वारा दिए गये है। इस संबंध में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले के सभी तहसीलदारों को निर्देशित किया है कि पीएम किसान पोर्टल पर किसान हितग्राहियों का ई-केवाईसी अपडेट प्राथमिकता के आधार पर काये इस संबंध में आगे बताया है कि सीएससी केन्द्रों पर भी ई-केवाईसी की कार्यवाही हितग्राही द्वारा ओटीपी,बायोमेट्रिक से पूर्ण की जा सकती है इस कार्य के लिए 15 रूपये की दर निर्धारित की गई है। इस कार्यवाही को 31 मार्च,2022 तक पूर्ण किया जाना आवश्यक है।


माध्यमिक शिक्षा मंडल की पूरक परीक्षा 12 जनवरी से


माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा संचालित प्रारंभिक शिक्षा में पत्रोपाधि पाठ्यक्रम (डीएलएड) प्रथम एवं द्वितीय वर्ष (द्वितीय अवसर) पूरक परीक्षा वर्ष 2021 की परीक्षाएं 12 से 22 जनवरी तक प्रातः 9 से दोपहर 12 बजे के मध्य होंगी। इनकी बैठक व्यवस्था के लिए संभाग स्तर पर पूरे प्रदेश में कुल 11 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। परीक्षा कार्यक्रम www.mpbse.nic.in   पर देखे जा सकते है।


संबल योजना में अनुग्रह सहायता के आवेदन की समय-सीमा में हुई वृद्धि


मुख्यमंत्री जन-कल्याण संबल योजना में अनुग्रह सहायता के लिए आवदेन करने की प्रक्रिया को और अधिक सहज बनाया गया है। योजना में आवेदन देने की 90 दिवस की अवधि को बढ़ाकर 180 दिवस किया गया है। इस संबंध में श्रम विभाग द्वारा आदेश जारी किया गया है।  योजना के संचालन के लिए एनआईसी द्वारा निर्मित पोर्टल पर अनुग्रह सहायता राशि के प्रकरण दर्ज किये जाते हैं। हितग्राही द्वारा मृत्यु से 7 दिवस में मुख्य कार्यपालन अधिकारी, मुख्य नगर पालिका अधिकारी को अंत्येष्टि सहायता के लिए आवेदन प्रस्तुत किया जाता है तो अनुग्रह सहायता का प्रकरण दर्ज करने की कोई समय-सीमा नहीं है, लेकिन मृत्यु के 7 दिवस के भीतर अंत्येष्टि सहायता का प्रकरण पोर्टल पर दर्ज नहीं किया जाता है तो अनुग्रह सहायता राशि के प्रकरण दर्ज करने के लिए मृत्यु दिवस से 90 दिवस के स्थान पर अब 180 दिवस की समय-सीमा में हितग्राही अपना आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं।  संबल योजना में आ रही कठिनाइयों के निराकरण के लिए जिला कलेक्टर को अपीलीय अधिकार दिये गये हैं। साथ ही भौतिक सत्यापन में लंबित रह गये प्रकरणों में से सत्यापन की कार्यवाही प्रारंभ कर दी गई है। इसी प्रकार मृत्यु के कारण अथवा अन्य कारणों से अपात्र घोषित किन्तु स्वीकृत प्रकरणों में पूर्ण सत्यापन की कार्यवाही भी जिला स्तर से की जा रही है। 31 मार्च 2021 तिथि के पूर्व के हुई मृत्यु के लंबित ऐसे प्रकरण जिनकी 180 दिवस की अवधि भी समाप्त हो चुकी है। ऐसे प्रकरणों में जिला कलेक्टर अथवा उनके द्वारा नामांकित अपर कलेक्टर द्वारा जाँच उपरांत 180 दिवस से अधिक अवधि के प्रकरणों को भी स्वीकृत करने की छूट लिखित एवं स्पष्ट आदेश द्वारा दी जा सकेगी। ऐसी स्थिति में कलेक्टर अथवा नामांकित अधिकारी द्वारा दी गई स्वीकृति की प्रति विहित प्रदधिकारी को अपने लॉगइन में निर्धारित स्थान पर अपलोड करनी होगी। इसके बाद ही संबंधित हितग्राही का ईपीओ जनरेट हो सकेगा। यहां यह उल्लेखनीय है कि यह छूट केवल 31 मार्च 2021 से पूर्व के मृत्यु प्रकरणों में ही मान्य होंगे।


मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति में प्राप्त अंकों का कट-आफ निर्धारित


पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण विभाग ने बताया कि भारत सरकार के माध्यम से संचालित मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति योजना के तहत अब विद्यार्थियों को परीक्षा में 50 प्रतिशत अंकों की अनिवार्यता से छूट दी गई है। इस छूट का लाभ लेने के लिये विद्यार्थियों से अपील की गई है कि वे छात्रवृत्ति के लिये अपने आवेदन ऑनलाईन नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर करवाएं।


करंट से होने वाली दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए आम जनता जागरूक हो


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने आम जनता से कहा कि करंट से होने वाली दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए आम जनता को जागरूक होना पड़ेगा। इस संबंध में कंपनी ने सुरक्षा संबंधी मापदंड जारी किए हैं। विद्युत सुरक्षा की दृष्टि से विद्युत लाईनों से धरातल, भवनों से सुरक्षित दूरी आदि के लिए केन्द्रीय विद्युत प्राधिकरण द्वारा निम्नानुसार मापदंड निर्धारित् हैं - ऐसा क्षेत्र जहाँ वाहन, टैफिक न हो, वहाँ जमीन से कंडक्टर की दूरी। 4.6 मीटर 5.2 मीटर 5.2 मीटर सड़क के समानांतर विद्युत लाईनों के निचले कंडक्टर से जमीन की दूरी। 5.5 मीटर 5.8 मीटर 5.8 मीटर सड़क क्रासिंग करती विद्युत लाईनों के निचले कंडक्टर की जमीन से दूरी। 5.8 मीटर 6.1 मीटर 6.1 मीटर किसी मकान के ऊपर से गुजरने वाली लाईन के निचले कंडक्टर एवं मकान के सबसे ऊँपर हिस्से के बीच की दूरी 2.5 मीटर 3.7 मीटर 3.7 मीटर किसी मकान के पास से गुजरने वाली लाईन के सबसे नजदीकी कंडक्टर की मकान से दूरी। 1.2 मीटर 2 मीटर 2 मीटर लाईन एवं पेड़ की डाली के बीच की दूरी 1.2 मीटर 2 मीटर 2 मीटर आम जनता से अपील है कि अपने आवासीय परिसर अथवा स्थापनाओं से विद्युत लाइनो की दूरी उपरोक्तानुसार रखें। निम्नदाब और मध्यदाब स्थापनाओं में प्रायः व्यक्ति विद्युतमय चालक के सीधे सम्पर्क में आता है, जबकि उच्च दाब स्थापनाओं में वह विद्युतमय चालक से सीधे सम्पर्क में आने के पूर्व ही फ्लेश ओव्हर डिस्टेंस में आने से स्पार्क हो कर झुलस जाता है। इस प्रकार दुर्घटना का घातक तथा गैर घातक होना दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति के ‘‘डिग्री ऑफ बन्र्स’’ पर निर्भर रहता है। निम्नदाब अथवा मध्यदाब स्थापनाओं में सुरक्षा के लिए साधारणतया केवल फ्यूज लगाए जाते हैं। साधारण फ्यूज अपनी क्षमता से अधिक करंट बहने पर ही गर्म हो कर पिघल जाता है, इसमें कुछ समय लगता है और यही समय ‘‘दुर्घटनाग्रस्त’’ होने के लिए घातक सिद्ध होता है, परन्तु अर्थिंग सही हो तो फ्यूज अतिशीघ्र उड़ जाता है। इसी कारण से विद्युत स्थापनाओं में अर्थिंग व्यवस्था अति महत्वपूर्ण हो जाती है। घरेलू स्थापनाओं में विद्युत दुर्घटनाएं मुख्यतः वायरिंग एवं फिटिंग में खराबी आने से तथा उपकरणों में खराबी आने से लीकेज या शार्ट-सर्किट के कारण होती है। बिजली उपभोक्ताओं से अपील है कि वे आई.एस.आई. मार्क के उपकरण ही उपयोग में लाएं।


प्रदेश में कोविड टीकाकरण में बना नया कीर्तिमान


मध्यप्रदेश में कोरोना से बचाव के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण कार्यक्रम में आज 29 दिसम्बर को फिर एक नया कीर्तिमान बना है। कुल पात्र नागरिकों में 5 करोड़ को वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने में सफलता हासिल हुई है। अब तक 10 करोड़ 20 लाख 92 हजार 641 वैक्सीन डोज लगाई जा चुकी है। इसमें 5 करोड़ 20 लाख 77 हजार 158 नागरिकों को वैक्सीन की प्रथम डोज और 5 करोड़ 15 हजार, 483 नागरिकों को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है। वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने में मध्यप्रदेश देश में अव्वल है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने वैक्सीनेशन कार्य में प्रदेशवासियों द्वारा ली जा रही रूचि और उनकी सजगता के लिए धन्यवाद देते हुए सराहना भी की है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि प्रदेश को कोरोना से सुरक्षा देने के लिए सभी आवश्यक सावधानियों को अपनाने के साथ वैक्सीनेशन लगवाना भी बहुत जरूरी है। लक्षित समूह को शत-प्रतिशत वैक्सीन के दोनों डोज लग जाए, इसके लिए जनभागीदारी के साथ टीकाकरण महाअभियानों की श्रंखला चलाई गई, जिसके परिणामस्वरूप मध्यप्रदेश ने टीकाकरण में कई बार रिकार्ड भी बनाए। उन्होंने कहा कि आज हम वैक्सीन का दूसरा डोज लगाने में देश में नम्बर एक बने है। यह उपलब्धि जनता के सहयोग से प्राप्त की है। इसमें जिले के प्रभारी मंत्री, अधिकारी, चिकित्सकीय अमला, समाजसेवी संस्थाओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं, धर्मगुरु, कोरोना वालेंटियर्स, मीडिया के साथियों सहित जनप्रतिनिधियों ने अहम भूमिका निभाई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश की जागरूकता जनता और सभी के मिले-जुले प्रयासों से हम लक्षित समूह को शीघ्र ही वैक्सीन की दोनों डोज लगाने में सफल होंगे।


कैरियर काउंसलिंग हेतु काउंसलर विशेषज्ञों के पैनल गठन हेतु आवेदन आमंत्रित


कैरियर काउंसलिंग योजनान्तर्गत काउंसलर, विषय विशेषज्ञों के पैनल गठन के लिए 07 जनवरी तक आवेदन आमंत्रित किये गये है। जिला रोजगार अधिकारी ने बताया कि चयनित काउंसलर, विषय विशेषज्ञ को उनके गुणवत्ता के आधार पर प्रत्येक कार्य दिवस का मानदेय समिति द्वारा निर्धारित कर (अधिकतम 1000/-रूपये) प्रदान किया जावेगा। उन्हें सीहोर के सभी विकासखण्डों के शासकीय महाविद्यालयों, हाई, हायर सेकेण्डरी स्कूलों, अन्य शैक्षणिक गैर शैक्षणिक संस्थाओं में काउंसलिंग प्रोग्राम आयोजित करने हेतु जाना होगा। योग्य एवं इच्छुक उम्मीदवार अपना आवेदन पत्र जिला रोजगार कार्यालय में 07 जनवरी तक जमा करवा सकते हैं अथवा ई-मेल deosahar@gmail.com पर भेज सकते हैं। काउंसलर के लिये कांउसलर गाइडेन्स डिप्लोमा अथवा मनोविज्ञान से एम.ए. तथा विषय विशेषज्ञ के लिये स्नातकोत्तर पी.एच.डी. उपाधि होना अनिवार्य है। अनुभवी आवेदकों को प्राथमिकता दी जायेगी। आवेदन पत्र जिला रोजगार कार्यालय कलेक्ट्रेट भवन कक्ष क्रमांक 119 से कार्यालयीन समय में प्राप्त कर सकते है। शासकीय सेवक अपने विभाग के अनापत्ति प्रमाण पत्र के साथ आवेदन पत्र प्रस्तुत करें। उक्त तिथि के उपरांत प्राप्त आवेदन पत्रों पर विचार नहीं किया जावेगा।


जल एवं स्वच्छता मिशन समिति की बैठक 03 जनवरी को


जल जीवन मिशन-2021 के अन्तर्गत जल एवं स्वच्छता मिशन समिति की बैठक कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर की अध्यक्षता में 03 जनवरी,2022 को दोपहर 01:00 बजे आयोजित की गई है। बैठक में 16 जून, 2021 को आयोजित पिछली बैठक का पालन प्रतिवेदन पर चर्चा, शासकीय शालाओं, आंगनवाडी केन्द्रों में पेयजल व्यवस्था के कार्य की समीक्षा। पंचायत भवन, उप स्वास्थ्य केन्द्र, आश्रम, छात्रावास में पेयजल व्यवस्था पर चर्चा। बनेटा, छीपानेर समूह जल प्रदाय योजना अंतर्गत रेट्रोफिटिंग कार्यों का अनुमोदन एवं रेट्रोफिटिंग एवं नवीन नल जल प्रदाय योजनाओं के कार्यों की समीक्षा की जाएगी।


उद्धम क्रांति योजना अन्तर्गत रोजगार देने आएगी अनेक कम्पनियों


उद्धमक्रांति योजना अंतर्गत 12 जनवरी,2022 को स्वरोजगार, मेला उत्सव कार्यक्रम का आयोजन स्थानीय टाउनहाल किया गया है। इस उद्धमक्रांति योजना अंतर्गत स्वरोजगार, रोजगार, स्वरोजगारौजन्मुखी, प्रशिक्षणोंन्मुखी के तहत स्थानीय टाउनहाल में 12 जनवरी को स्वरोजगार मेले का आयोजन किया गया है। इस मेले में विभिन्न विभागों, कंपनियों को आमंत्रित किया गया है। इस वृहद कार्यक्रम प्रात: 10.30 से 4.00 बजे तक आयोजित किया गया है। मेले में बेरोजगार युवक युवतियों को अपने समस्त प्रमाण पत्र लेकर समय पर उपस्थित हो कर मेले का लाभ उठाए।

कोई टिप्पणी नहीं: