विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 30 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 30 दिसंबर 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 30 दिसंबर

सड़क सुरक्षा संसदीय समिति की बैठक सम्पन्न, यातायात सुझावों पर अमल होगा


vidisha news
जिला सड़क सुरक्षा संसदीय समिति की बैठक आज विदिशा के नवीन कलेक्ट्रेट सभागार कक्ष में सम्पन्न हुइ्र। इस बैठक में शमशाबाद विधायक श्रीमती राजश्री रूद्रप्रताप सिंह, कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव, पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के अलावा बस आपरेटर यूनियन की ओर से श्री तेजिन्दर सिंह, ट्रक यूनियन की ओर से श्री झिरमल सिंह तथा ऑटो यूनियन की ओर से श्री घनश्याम अहिरवार भी उपस्थित रहें। बैठक में यातायात एवं वाहन पार्किंग सुविधाओं को ध्यानगत रखते हुए समिति के सुझावों पर अमल करने का निर्णय लिया गया है। पुलिस अधीक्षक ने शिकायत हेतु फोन नम्बर बस यात्रियों को उपलब्ध कराने, जिले मेंं चिन्हित दस ब्लैक स्पॉट की जानकारी देते हुए उन स्थानो पर सुधार कार्य कराए जाने के अलावा विदिशा नगर के मुख्य बाजार में सडको के दोनो और फ्लोरोसेंट पेंट से पार्किंग लाइन बनवाकर पार्किंग करने के संबंध में निर्णय लिया गया है। उपरोक्त बैठक में मुख्य बाजार विदिशा नगर में सब्जी ठेलो एवं हाथ ठेलो के लिए स्थान चिन्हित करवाना, शहर में बस स्टेण्ड, माधवगंज, रेल्वे स्टेशन, पेढी ब्रिज के नीचे एटीएम तिराहा, दुर्गानगर चौराहा, पीतल मील चौराहा एवं शहर के अन्य मुख्य चौराहो पर ऑटो रिक्शा स्टेण्ड बनाकर खडे होने वाले आटो की संख्या निर्धारित की जाये। एसएटीआई कॉलेज के गेट के सामने स्टूडेंट क्रांसिग के लिए फ्लोरोसेंट पेंट से स्पीड ब्रेकर पेंट करवाना एवं डिवाइडर पर ब्लिंकर पोल एवं रेडियम प्लेट लगवाना, मिर्जापुर गल्ला मंडी के बाहर मेन रोड पर दोनो ओर गति अवरोधक बनाए जायें। विदिशा शहर के बडा बाजार, बाल बिहार, पुराना वेयर हाउस की खाली पडी भूमि, नीमताल, ओबरब्रिज के नीचे पार्किंग के लिए स्थान चिन्हित किए गए है जिस पर नगरपालिका द्वारा पार्किग का निर्माण कराया जाकर दो पहिया वाहन हेतु पार्किंग की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाएगी जबकि बस स्टेण्ड पर सांकल कुंआ मंदिर के सामने खाली स्थान पर दो पहिया और पीछे की ओर चार पहिया वाहन के लिए पार्किंग की व्यवस्था की जाए। इसी प्रकार माधवगंज से तिलक चौक तक वनवे घोषित किया जाए। शहर में भारी वाहनो के प्रवेश को प्रतिबंधित किया जाना शामिल है। सौराई रेकपाइंट मार्ग जो कि नई गल्ला मंडी के पीछे सौराई रेक पाइंट तक गया है, वहां सिंगल रोड होन के कारण कई बार क्रासिग में जंग की स्थिति बनती है। ट्रको के फंसने से रेक पांइट महत्वपूर्ण यातायात अवरूद्ध होता है। अतः रास्ते को डबल रोड किया जाना आवश्यक है। थोक सब्जी मंडी के बाहर मेन रोड जिसका चौडीकरण हो गया है पर वाहन पार्किंग एवं सड़क के मध्य लाइन डाला जाना। विवेकानंद चौराहा पर जेब्रा कं्रासिंग बनाना, दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्र कुआंखेडी के पास नदी पुल एवं गुलाबगंज मोड के बीच तथा इसी रूट पर आगे खरी मार्ग मोड पर पर्याप्त संकेतक एवं सूचनाएं लगाना, रामलीला तिराहे से ईदगाह तिराहे की ओर डिवाइडर बनाया जाना। अशोकनगर रोड पर उदयगिरी एवं जम्बार बागरी मार्ग पर संकेतक लगाना। एसएटीआई गेट के सामने डिवाईडर पर रेडियमयुक्त संकेतक लगाना एवं नगरपालिका द्वारा पशुओं का व्यवस्थापन किया जाना शामिल है। उपरोक्त बैठक में जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरजेश वर्मा, पीडब्ल्यूडी के कार्यपालन यंत्री श्री हेमंत कुमार राजपूत, यातायात थाना प्रभारी श्री आशीष राय, नगरपालिका के सहायक यंत्री श्री भदौरिया के अलावा अन्य विभागो के अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे। 


समर्थन मूल्य पर क्रय फसलों की देखरेख हो


vidisha news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज गुरूवार को वीडियो कांफ्रेसिग के माध्यम से विभिन्न मुद्दो पर कलेक्टरों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए है। विदिशा जिले में भण्डारित धान खराब होने की सूचना के संबंध में मुख्यमत्री जी ने कहा कि समर्थन मूल्य पर क्रय की गई फसलों की देखरेख अनिवार्यतः हो बारिश के कारण भण्डारित अनाज  खराब ना हो इसके लिए समय-समय पर देखरेख के प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं।  मुख्यमंत्री जी को कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने वस्तुस्थिति से अवगत कराते हुए बताया कि वर्ष 2017 का विदिशा मंडी में भण्डारित 953 मैटिक धान खराब नहीं हुआ है, नीलामी हेतु विज्ञापन जारी किया जा चुका है। एनआईसी के व्हीसी कक्ष में इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला, जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट के अलावा विभिन्न विभागो के अधिकारी मौजूद थे। 


राजस्व कार्यो की समीक्षा


 कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने गुरूवार को राजस्व कार्यो की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि शासकीय योजनाओं का क्रियान्वयन मिशन मोड के रूप में करें। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि राजस्व कार्यो के सम्पादन हेतु यह अवसर प्राप्त हुआ है जिसका आमजनों की समस्याओं के निदान में सदुपयोग कर राजस्व अधिकारी अपने सुव्यवस्थित त्वरित संपादन से जाने जाएं। उन्होंने नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन संबंधी प्रकरणों में अस्सी प्रतिशत से अधिक उपलब्धि हासिल करने के दिशा निर्देश शासन स्तर से जारी किए गए है। अतः इससे नीचे जिले में कदापि प्रगति परलिक्षित ना हो। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि भू-अर्जन संबंधी कार्यो की जानकारी अब पोर्टल पर दर्ज की जानी है अतः जिले में संचालित सभी प्रकार के प्रोजेक्ट समय सीमा में पूरे हो उनके क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की समस्याएं आती है तो राजस्व अधिकारियों का यह नैतिक दायित्व है कि वे अविलम्ब हल कराना सुनिश्चित करें ताकि प्रोजेक्ट के क्रियान्वयन की अवधि में वृद्धि ना हो। यदि किसी प्रोजेक्ट में समयावधि बढाई जाती है तो हर चीज प्रभावित होती है समय पर उसका आमजनों को लाभ मिलना शुरू नही होता वही प्रोजेक्ट की अवधि बढने से लागत राशि में भी वृद्धि हो जाती है। कलेक्टर श्री भार्गव ने समस्त राजस्व अधिकारियों से कहा कि उनके कार्यक्षेत्रों की कोई भी समस्या हो उसे अनावश्यक रूप से लंबित ना रखें। ऐसी समस्याएं जिनका समाधान स्थानीय स्तर पर संभव नहीं है उन समस्याओं की जानकारी अविलम्ब वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में जरूर लाएं। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से क्रियान्वित प्रोजेक्टो पर प्रकाश डालते हुए शासन के महत्वपूर्ण कार्यो का क्रियान्वयन समय पर हो इस ओर सतत मानिटरिंग करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि पुष्कर योजना के तहत तालाबो के सौंदर्यीकरणों के कार्य हेतु जिले का चयन किया गया है वहीं गौ-शालाओं के उन्नयनीकरण हेतु तीन करोड की राशि प्राप्त हुई है अतः ऐसी गौ-शालाएं जिन्हें मॉडल के रूप में स्थापित किया जा सकता है और उन गौ-शालाओ में कौन-कोन से कार्य कराया जाना आवश्यक है कि सूची उपलब्ध कराए ताकि कार्यो हेतु राशि आवंटित की जा सकें। जिला पंचायत सीईओ डॉ भरसट ने समस्त राजस्व अधिकारियों से बैठक में कहा कि मुख्यमंत्री जी की प्राथमिकता वाला कार्यक्रम अंकुर के तहत अधिक से अधिक पौधरोपण कार्य हेतु अधिकारी, कर्मचारियों के साथ-साथ आमजनों को अभिप्रेरित करना है। उन्होंने बताया कि जिले को दस हजार पौधे रोपित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। पौधे की समस्त जानकारी गूगल प्ले स्टोर से वायुदूत एप डाउनलोड कर उस पर दर्ज की जानी है। सिटीजन लॉगिग कर मोबाइल नम्बर इन्टर करना होगा इसके पश्चात् ओटीपी प्राप्त होगी। ओटीपी डालने के बाद वेरीफाई बटन पर क्लियर करना होगा। इसके बाद जिले का नाम, जेण्डर तथा पता डालकर प्रोफाइल तैयार करनी होगी। प्रोफाइल पर न्यू प्लान्टेंशन आप्शन दिखाई देगा जिस पर क्लिक करने से लगाए गए पौधे का नाम सिलेक्ट करना होगा और पौधे का फोटो क्लिक करना सबमिट करना होगा। इस प्रकार नागरिकगण अपने जन्मदिन पर परिजनों की पुण्यतिथि पर या अन्य कोई कार्यक्रम में पौधरोपण कार्य पर्यावरण को बचाने का कार्य कर सकते है। नागरिकगण जहां भी सुरक्षित स्थान हो या अपने निजी खेत की मेड हो पर ऐसे पौधे लगाकर वायुदूत पोर्टल पर अपनी जानकारी अपलोड करें । छह महीने तक समुचित जानकारियां फोटो सहित दर्ज कराने पर पुरस्कार हेतु कम्प्यूटर रेण्डमाइजेशन से राज्य स्तर पर चयन किया जाएगा। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा राजस्व अधिकारियों के कार्यो की समीक्षा की गई है उनमें राजस्व वसूली, राजस्व प्रकरणों की समीक्षा, ई-हस्ताक्षर, आरसीएमएस पर ऑनलाइन केस दर्ज करने के लिए प्रोत्साहित करना एवं न्यायालय शुल्क लिए जाने बावत, आरसीएमएस के माध्यम से प्रवासी श्रमिक राहत-शामक मॉडयूल के संबंध में डेटा प्रविष्टि व राहत राशि का वितरण, भूमि अधिग्रहण प्रशासनिक शुल्क के संबंध में, रेल्वे एनएच और सिंचाई परियोजनाओं आदि के अधिग्रहण के मामल, भू-अर्जन, लंबित बीएस आश्वासन, याचिका, लोक लेखा समिति, अभयदान का जबाव संबंध में, न्यायालय में लंबित गतिशील प्रकरणों को अद्यतन स्थिति, सीएम हेल्पलाइन का गुणवत्तापूर्ण समय सीमा में निराकरण, लोक सेवा गारंटी, एनएफबीसी वित्तीय कंपनियों द्वारा जमा राशि स्वीकार, वापसी एवं आयुक्त के पत्र पर कार्यवाही एवं निजी भूमि स्वामी (खदान पट््टे) इत्यादि शामिल है। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती आरती यादव, श्रीमती अमृता गर्ग, श्रीमती अनुभा जैन के अलावा समस्त एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार सहित अन्य विभागो के अधिकारी मौजूद रहें। 


कलेक्टर ने मीडिया में प्रसारित जानकारी को त्वरित संज्ञान में लेकर जांच कराई

  • ग्राम घाटखेडी के हितग्राही बुद्वाराम को विभिन्न शासकीय योजनाओं का लाभ मिला, जांच दल ने पालन प्रतिवेदन प्रस्तुत किया

vidisha news
विदिशा जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत सायर का ग्राम घाटखेडी के निवासी श्री बुद्वाराम के संबंध में इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिन्ट मीडिया में प्रसारित खबरो को कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने त्वरित संज्ञान में लेते हुए वस्तुस्थिति से अवगत होने हेतु उन्होंने जांच दल गठित करने के निर्देश जिला पंचायत सीईओ को दिए। गठित जांच दल द्वारा मौके पर पहुंचकर जांच की गई है। जांच दल के प्रतिवेदन अनुसार इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर प्रसारित खबर के संबंध में अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत किया है कि जानकारी देते हुए जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने बताया कि हितग्राही श्री बुद्वाराम जी को पीएम आवास, उज्जवला योजना सहित शासन की अन्य योजनाओं का लाभ दिलाया गया है। मीडिया पर प्रसारित समाचार में हितग्राही श्री बुद्धाराम निवासी घाटखेड़ी को योजना का लाभ नहीं मिलना व मकान के दरवाजे के लिए राशि 14 हजार रुपये वसूले जाने सहित घर में लगे पंखे को निकाले जाने का समाचार इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर प्रसारित किया गया था। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में प्रसारित समाचार अनुसार ग्राम घाटखेड़ी में हितग्राही से दरवाजे की राशी रुपए 14 हजार मांगना, लगा हुआ पंखा निकाल लेना, बिजली कनेक्शन काटे जाने एवं उज्ज्वला योजना अंतर्गत गैस कनेक्शन केवल दिखावे के लिए देना व अन्य योजनाओं का लाभ नहीं देना जिसमें महामहिम राज्यपाल महोदय के ग्राम घाटखड़ी में भ्रमण एवं बुद्धाराम के घर पर महामहिम राज्यपाल महोदय के भोजन का उल्लेख शामिल है। जिसके बाद मामले की जांच के लिए टीम गठित कर मौके पर पहुंचाई गई थी। उपरोक्त संबंध में तत्काल कार्यवाही हेतु जांच बिंदु निर्धारित किए गए एवं नायब तहसीलदार तहसील विदिशा श्री सुनील गढ़वार, ब्लॉक समन्वयक प्रधानमंत्री आवास योजना जनपद पंचायत विदिशा श्री खूबचंद पाल एवं विकास सामान्य वाटर शेड जनपद पंचायत विदिशा का तीन सदस्यीय जांच दल गठित किया गया। जांच के समय पटवारी सचिव ग्राम पंचायत, ग्राम रोजगार सहायक, हितग्राही श्री बुद्धाराम एवं ग्रामीण उपस्थित थे। जांच टीम द्वारा मौके पर पंचनामा, वीडियो तैयार किया गया है। गठित जांच दल के प्रतिवेदन अनुसार इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर प्रसारित समाचार सही नहीं पाया गया है। श्री बुद्धाराम द्वारा किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं की गई है प्रसारित समाचार का खंडन किया गया है। हितग्राही श्री बुद्धा राम द्वारा स्वयं बताया गया है कि उसे शासन की योजनाओं का लाभ मिला है वह उसे किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं है। जांच टीम के द्वारा हितग्राही श्री बुद्धराम के घर पहुंच कर देखा गया तो उज्ज्वला योजना अंतर्गत गैस कनेक्शन मौके पर रखा हुआ पाया गया एवं हितग्राही श्री बुद्धाराम की पत्नी द्वारा बताया गया कि उज्जवला योजना अंतर्गत प्रदाय गैस कनेक्शन चूल्हे पर खाना बनाते हैं। और शेष समय गेस चूल्हे को सिलेंडर से निकाल कर रख देते हैं। और वहीं अन्य योजना अंतर्गत कान की मशीन, वृद्धावस्था पेंशन, बिजली कनेक्शन, खाद्यान्न पर्ची आदि योजनाओं का लाभ भी हितग्राही श्री बुद्धाराम को दिया गया है। 


अवैध मदिरा धरपकड कार्यवाही जारी, 35 हजार से अधिक मूल्य की मदिरा व सामग्री जप्त


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा जिले में मिलावट एवं विभिन्न प्रकार के माफियाओं पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश संबंधित विभागों के जिलाधिकारियों को दिए गए है। उन्होंने जिले की भौगोलिक सीमा में सघन जांच पड़ताल पर अवैध मदिरा की धरपकड़ परिवहन व विक्रय संबंधी कार्यो पर त्वरित लगाम लगाए जाने के भी निर्देश दिए है। जिला आबकारी अधिकारी श्री शैलेष जैन ने बताया कि विभागीय अधिकारियों एवं अमले द्वारा हर स्तर पर दबिश देकर अवैध मदिरा की धरपकड कार्यवाही जारी है। उन्होंने जिले के नागरिकों, खासकर ग्रामीणजनों से आव्हान किया है कि अवैध मदिरा का सेवन ना करें और ना ही किसी को करने दें। यदि किसी के द्वारा कही भी अवैध मदिरा का निर्माण किया जा रहा है तो अविलम्ब सूचना दें। सूचनाकर्ता का नाम उजागर नहीं किया जाएगा। सहायक आबकारी अधिकारी श्री राहुल ढोंके के द्वारा अवैध मदिरा की धरपकड़ हेतु विशेष अभियान क्रियान्वित किया जा रहा है। सहायक आबकारी अधिकारी श्री ढोंके ने बताया कि विभागीय अमले के द्वारा सिरोंज वृत्त क्षेत्र के ग्राम मदागंज में नदी किनारे दुरंग के टपरो, संतोषपुर व लटेरी में चैनपुरा, इसरवास में दबिश देकर 55 लीटर अवैध हाथ भट्टी मदिरा करीबन 450 किलोग्राम महुआ लहान जप्त कर आबकारी अधिनियमों के तहत पांच प्रकरण पंजीबद्ध कर मौके पर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। जप्त की गई मदिरा एवं महुआ लहान का बाजार मूल्य 35 हजार दो सौ रूपए आंकलित किया गया है। अभियान के नेतृत्व कर रहे सहायक आबकारी अधिकारी श्री ढोंके ने बताया कि विभागीय अधिकारी, कर्मचारियों के द्वारा गुरूवार को सम्पन्न हुई उपरोक्त कार्यवाही को सिरोंज प्रभारी श्री पुष्पेन्द्र सिंह ठाकुर के अलावा आबकारी उपनिरीक्षक श्री सुनील चौहान, श्री महेश विश्वकर्मा, डॉ अर्चना जैन के साथ-साथ विभाग के आरक्षक व नगर सैनिकों का सराहनीय सहयोग रहा है।


भैंसवंश के गर्भपात को रोकने हेतु टीकाकरण अभियान


पशुओं में गौ-वंश, भैंस वंश के गर्भधारण करने पर सात से आठ माह में बीमारी के कारण गर्भपात हो जाते है इसे रोकने हेतु जिले में एनएडीसीपी योजनांतर्गत एक माह तक पशुओं में ब्रुसल्ला का टीकाकरण लगाए जाने का अभियान संचालित किया जाएगा। पशु चिकित्सा सेवाएं विभाग के उपसंचालक श्री ओम प्रकाश गौर ने बताया कि विदिशा जिले में एक जनवरी से 31 जनवरी तक जिले में विशेष टीकाकरण अभियान संचालित किया जाएगा। उक्त टीका ऐसे पशुवंश जो गर्भधारण कर रहे है उन्हें लगाया जाएगा ताकि बीमारी से गर्भपात ना हो। गौ-वंश, भैंसवंश के चार से आठ माह के पशुओं में ब्रुसल्ला का टीकाकरण किया जाएगा। प्रत्येक ग्राम में शिविर आयोजित कर टीकाकरण कार्यो को सम्पन्न कराया जाएगा। टीकाकरण से होने वाले लाभ के संबंध में बताया गया कि गौ-वंश, भैंसवंश गर्भधारण करने पर सात से आठ माह में गर्भपात की बीमारी होती है वह नहीं होगी एवं ब्रीडिंग में लाभ मिलेगा अतः जिले के समस्त किसान भाईयों से विभाग के द्वारा आग्रह किया गया है कि वे अपने-अपने पशुओं का टीकाकरण अवश्य रूप से कराएं।


’करंट से होने वाली दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए आम जनता जागरूक हो’


मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने आम जनता से कहा कि करंट से होने वाली दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए आम जनता को जागरूक होना पड़ेगा। इस संबंध में कंपनी ने सुरक्षा संबंधी मापदंड जारी किए हैं। विद्युत सुरक्षा की दृष्टि से विद्युत लाईनों से धरातल, भवनों से सुरक्षित दूरी आदि के लिए केन्द्रीय विद्युत प्राधिकरण द्वारा निम्नानुसार मापदंड निर्धारित् हैं -

ऐसा क्षेत्र जहाँ वाहन, टैफिक न हो, वहाँ जमीन से कंडक्टर की दूरी। 4.6 मीटर 5.2 मीटर 5.2 मीटर

सड़क के समानांतर विद्युत लाईनों के निचले कंडक्टर से जमीन की दूरी।    5.5 मीटर      5.8 मीटर       5.8 मीटर

सड़क क्रासिंग करती विद्युत लाईनों के निचले कंडक्टर की जमीन से दूरी।    5.8 मीटर      6.1 मीटर       6.1 मीटर

किसी मकान के ऊपर से गुजरने वाली लाईन के निचले कंडक्टर एवं मकान के सबसे ऊँपर हिस्से के बीच की दूरी    2.5 मीटर      3.7 मीटर      3.7 मीटर

किसी मकान के पास से गुजरने वाली लाईन के सबसे नजदीकी कंडक्टर की मकान से दूरी।    1.2 मीटर       2 मीटर 2 मीटर


लाईन एवं पेड़ की डाली के बीच की दूरी 1.2 मीटर 2 मीटर 2 मीटर

आम जनता से अपील है कि अपने आवासीय परिसर अथवा स्थापनाओं से विद्युत लाइनो की दूरी उपरोक्तानुसार रखें। निम्नदाब और मध्यदाब स्थापनाओं में प्रायः व्यक्ति विद्युतमय चालक के सीधे सम्पर्क में आता है, जबकि उच्च दाब स्थापनाओं में वह विद्युतमय चालक से सीधे सम्पर्क में आने के पूर्व ही फ्लेश ओव्हर डिस्टेंस में आने से स्पार्क हो कर झुलस जाता है। इस प्रकार दुर्घटना का घातक तथा गैर घातक होना दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति के ‘‘डिग्री ऑफ बर्न्स’’ पर निर्भर रहता है। निम्नदाब अथवा मध्यदाब स्थापनाओं में सुरक्षा के लिए साधारणतया केवल फ्यूज लगाए जाते हैं। साधारण फ्यूज अपनी क्षमता से अधिक करंट बहने पर ही गर्म हो कर पिघल जाता है, इसमें कुछ समय लगता है और यही समय ‘‘दुर्घटनाग्रस्त’’ होने के लिए घातक सिद्ध होता है, परन्तु अर्थिंग सही हो तो फ्यूज अतिशीघ्र उड़ जाता है। इसी कारण से विद्युत स्थापनाओं में अर्थिंग व्यवस्था अति महत्वपूर्ण हो जाती है। घरेलू स्थापनाओं में विद्युत दुर्घटनाएं मुख्यतः वायरिंग एवं फिटिंग में खराबी आने से तथा उपकरणों में खराबी आने से लीकेज या शार्ट-सर्किट के कारण होती है। बिजली उपभोक्ताओं से अपील है कि वे आई.एस.आई. मार्क के उपकरण ही उपयोग में लाएं।


फसल बीमा की अंतिम तिथि आज


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अन्तर्गत सभी अऋणी कृषक बंधु 31 दिसंबर 2021 तक प्रीमियम भरकर लाभ उठा सकते हैं। कृषि विभाग के उपसंचालक श्री पीके चौकसे ने बताया कि जिले में रबी मौसम 2021-22 हेतु गेहूं सिंचित, गेहूं असिंचित, चना फसल पटवारी हल्का स्तर एवं मसूर फसल जिला स्तर पर अधिसूचित की गई है। जिसका स्केल आफ फायनेंस के आधार पर 1.5 प्रतिशत के मान से गेहूं सिंचित हेतु 525 रूपये प्रति हेक्टेयर, गेहूं असिंचित हेतु 394.50 रूपए, चना हेतु 525 रूपए प्रति हेक्टेयर तथा मसूर हेतु 330 रूपए प्रति हेक्टेयर कृषकों द्वारा फसल बीमा प्रमीयिम राशि रबी 2021-22 हेतु जमा की जाना है।


आवश्यक दस्तावेज

1. भू-अधिकार पुस्तिका, 2. सक्षम अधिकारी (पटवारी अथवा ग्राम पंचायत) द्वारा बुआई प्रमाण पत्र, 3. पूर्णतः भरा हुआ प्रस्ताव फार्म एवं चार पहचान पत्र (आधार कार्ड) हैं। आवश्यक दस्तावेजों के साथ में कृषक बैंक खाता पासबुक की फोटोकॉपी भी जिसमें आईएफएससी कोड एवं बैंक खाता क्रमांक स्पष्ट रूप से अंकित हो अनिवार्य रूप से लगायें ताकि देय बीमा क्लेम राशि कृषक के खाते में समायोजित हो सके। अऋणी कृषकों द्वारा रबी फसल बीमा कराये जाने हेतु बैंक में प्रस्ताव जमा करने की अंतिम तारीख 31 दिसंबर 2021 है। अतः अऋणी कृषकों से अनुरोध है कि अधिसूचना अनुसार फसल बीमा हेतु निर्धारित प्रीमियम राशि एवं दस्तावेज 31 दिसंबर 2021 तक बैंक में जमा कराकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ उठायें। अधिक जानकारी के लिए कृषक बंधु कृषि विभाग के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, विकासखण्ड में वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी एवं सहकारी बैंक शाखा/राष्ट्रीयकृत बैंक शाखा एवं बीमा कम्पनी द्वारा नियुक्त जिला प्रतिनिधि श्री त्रिलोकसिंह लोधी से मोबाइल नं 7772905842 पर अथवा तहसील स्तर पर नियुक्त किए गये बीमा कम्पनी के प्रतिनिधि से सम्पर्क कर सकते हैं। 


’मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति में प्राप्त अंकों का कट-आफ निर्धारित’


सहायक संचालक पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण ने बताया कि भारत सरकार के माध्यम से संचालित मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति योजना के तहत अब विद्यार्थियों को परीक्षा में 50 प्रतिशत अंकों की अनिवार्यता से छूट दी गई है। इस छूट का लाभ लेने के लिये विद्यार्थियों से अपील की गई है कि वे छात्रवृत्ति के लिये अपने आवेदन ऑनलाईन नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर करवाएं। 


’माध्यमिक शिक्षा मंडल की पूरक परीक्षा 12 जनवरी से’


माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा संचालित प्रारंभिक शिक्षा में पत्रोपाधि पाठयक्रम (डीएलएड) प्रथम एवं द्वितीय वर्ष (द्वितीय अवसर) पूरक परीक्षा वर्ष 2021 की परीक्षाएं 12 से 22 जनवरी तक प्रातः 9 से दोपहर 12 बजे के मध्य होंगी। इनकी बैठक व्यवस्था के लिए संभाग स्तर पर पूरे प्रदेश में कुल 11 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। परीक्षा कार्यक्रम www.mpbse.nic.in पर देखे जा सकते है। 

कोई टिप्पणी नहीं: