उत्तर प्रदेश : परीक्षा नियंत्रक संजय कुमार सहित तीन गिरफ्तार - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 2 दिसंबर 2021

उत्तर प्रदेश : परीक्षा नियंत्रक संजय कुमार सहित तीन गिरफ्तार

tet-paper-leak-three-arrest
लखनऊ, 01 दिसम्बर, उत्तर प्रदेश में शिक्षक पात्रता परीक्षा-2021 (यूपी टीईटी) का पेपर लीक होने के बाद विशेष कार्य बल (एसटीएफ) ने सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकारी, सचिव संजय कुमार उपाध्याय सहित तीन लोगों को इस मामले में बुधवार को गिरफ्तार कर लिया । एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि इस मामले में अब तक कुल 34 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि पेपर लीक मामले में किसी भी संदिग्ध को छोड़ा नही जाएगा। एसटीएफ के अपर महानिदेशक अमिताभ यश ने बताया कि पैसे लेकर पेपर आउट कराने वाले गिरोह के सदस्य टप्पल निवासी गौरव कुमार को भी इस मामले में उत्तरप्रदेश के अलीगढ़ से एसटीएफ ने गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा यूपी एसटीएफ ने प्रश्नपत्र छापने वाली एजेंसी आर.एस.एम. फिनसर्व लिमिटेड के निदेशक राय अनूप प्रसाद को भी गिरफ्तार किया है। इस एजेंसी को प्रश्न पत्र छापने का वर्क आर्डर संजय उपाध्याय ने जारी किया था। प्रश्न पत्र की छपाई के दौरान गोपनीयता एवं सुरक्षा मानकों की अनदेखी की गयी, जिसकी वजह से पेपर आउट हो गया और परीक्षा रद्द करनी पड़ी । उल्लेखनीय है कि बीते माह 28 नवंबर को उत्तरप्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) दो पालियों में आयोजित की गई थी। लेकिन परीक्षा शुरू होने से पहले ही प्रदेश के गाजियाबाद, मथुरा और बुलंदशहर से सोशल मीडिया पर पेपर आउट हो गया। जिसके कारण परीक्षा रद्द कर दी गई। अभ्यर्थियों से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी गौरव कुमार ने कई अभ्यर्थियों से दो-दो लाख रुपये लेकर टीईटी का पेपर बेचकर मोटी रकम वसूला था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले के सख्ती से जांच के आदेश दिए और पूरे मामले को एसटीएफ को सौंप दिया। 

कोई टिप्पणी नहीं: