विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 22 दिसंबर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 22 दिसंबर 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 22 दिसंबर

ओबीसी वर्ग को भाजपा की साजिशों को समझना होगा - निशंक जैन


vidisha news
विदिशा:-जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष निशंक कुमार जैन ने मध्यप्रदेश में होने जा रहे त्रिस्तरीय पंचायतीराज चुनावों में ओबीसी आरक्षण समाप्त होने पर प्रेस कांफ्रेंस कर सरकार को जमकर घेरा। आरक्षण को लेकर कांग्रेस पार्टी की नीति एकदम स्पष्ट रही है समाज के के दबे कुचले वर्ग के अनुसूचित जाति, जनजाति और अन्य विछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक वर्ग को समानता का अधिकार देने के लिए आरक्षण मिलना चाहिए। म.प्र. में पंचायती राज चुनाव का आगाज हो चुका है लेकिन भारतीय जनता पार्टी की सरकार की नीतियों को लेकर पूरे प्रदेश मे असमंजस का माहौल है। कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में बनी रामजी महाजन कमेटी ने म.प्र. में त्रिस्तरीय पंचायती राज चुनावो में अन्य पिछड़ा वर्ग को आरक्षण देने के लिए सिफारिशें की थी जिसे तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने जनप्रतिनिधित्व अधिनियम बनाकर अन्य पिछड़ा वर्ग का आरक्षण लागू किया। कमलनाथ जी की सरकार ने ओबीसी वर्ग की लंबित मांग को पूरा करते हुए ओबीसी आरक्षण 14 प्रतिशत से बढ़ाकर 27 प्रतिशत किया था। वहीं 2019 में होने जा रहे पंचायती चुनावो को लेकर परिसीमन किया था जिससे प्रदेश में लगभग 1200 से ज्यादा नई ग्राम पंचायतो का गठन किया गया था जिससे अधिक लोगो को जनप्रतिनिधित्व करने का अवसर  प्राप्त होते साथ ही ग्रामीण विकास को गति मिलती। लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जिद के कारण वह परिसीमन एवं आरक्षण निरस्त कर 2014 के आरक्षण के आधार पर चुनाव कराने का अलोकतांत्रिक निर्णय लिया गया जिसके कारण आज यह स्थिति निर्मित हुई है। आरक्षण समाप्त करना ओ.बी.सी के साथ कुठाराघात है, पूर्व विधायक एवं अध्यक्ष जिला कांर्ग्रेस कमेटी विदिशा श्री निशंक जैन ने म.प्र. पंचायत चुनाव में उच्च न्यायालय में अन्य पिछडा वर्ग को दिए गए आरक्षण को समाप्त करने के निर्णय पर कहा कि उच्च न्यायालय के निर्णय से यह लगता है, कि भाजपा की मौजूदा सरकार ओ.बी.सी का आरक्षण समाप्त करने की साजिश रच रही है। श्री जैन ने कहा कि म.प्र. में ओ.बी.सी पिछडा वर्ग की आबादी 52 फीसदी  है और उन्हे स्थानीय संस्थाओं में 27 फीसदी आरक्षण पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के समय में मिला हुआ था, उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की परिस्थिति दूसरी है, वहॉ मराठा आरक्षण को लेकर विवाद था पर म.प्र. में ऐसा नही है।  श्री जैन ने कहा कि भाजपा के नेता कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य एवं वरिष्ठ अधिवक्ता श्री विवेक तन्खा पर अर्नगल आरोप लगा रही है, जब कि श्री तन्खा ने स्पष्ट कर दिया है, कि रोटेशन प्रणाली को लेकर नयायालय गए थे, आरक्षण के मुद्दे पर नहीं श्री जैन ने कहा कि भाजपा की कथनी करनी का अंतर उजागर हो गया है, कांग्रेस की कमलनाथ सरकार में पंचायत चुनाव की प्रक्रिया की गई थी, उसे दर किनार कर भाजपा सरकार 2014 के आरक्षण पर चुनाव कराना चाहती थी, जो कि पंचायतीराज अधिनियम की भावना के विरूद्ध था।इसी मुददे पर जनहित याचिका भी दायर हुई थी, श्री जैन ने कहा कि भाजपा का आरक्षण विरोधी चेहरा सामने आ गया है। भाजपा सरकार एक तरफ पंचायत चुनाव की जिम्मेदारी से बचना भी चाहती है और दूसरी तरफ श्रेय लेेने के लिए आगे हो जाती है। भाजपा सरकार के गैर जिम्मेदारणा रवैये के कारण अगर पिछड़ा वर्ग को आरक्षण से वंचित होना पडेगा तो भाजपा सरकार इसका खमियाजा भुगतने के लिए तैयार रहे। श्री जैंन ने कहा कि वर्ष 2003 में तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा ओ.बी.सी. को 27 प्रतिशत आरक्षण देने का निर्णय करती है कुछ समय बाद सरकार बदलने पर एवं वी.जेपी. के सत्ता में आने पर आरक्षण पर अमल नही होता बी.जे.पी लगतार  सत्ता में रहकर भी ओ.बी.सी. के  पक्ष में न्यायालय में ठीक से पैरवी नही करती हैं बी.जे.पी. सरकार की कमजोर पैरवी का नतीजा होता है की कांग्रेस सरकार द्वारा वर्ष 2003 में लिये गये ओ.बी.सी. आरक्षण का निर्णय बी.जे.पी सरकार में समाप्त हो जाता है, बी.जे.पी. सरकार लगातार सत्ता में रही पर ओ.बी.सी. का आरक्षण नही बढाया अब यह प्रश्न उठता है कि यदि बी.जे.पी. वास्तविक रूप से ओ.बी.सी. को आरक्षण 27 प्रतिशत देना चाहती है तो वह इसकी पहल क्यों नही करती, वर्ष 2004 से 2018 तक म.प्र. में बी.जे.पी. सत्ता में अधिकांश समय रही एवं शिवराज सिंह चौहान सहित तीनो भाजपा के मुख्यमंत्री ओ.बी.सी. के होने के बाबजूद भी ओ.बी.सी आरक्षण की कोई बात नही हुई दिसम्बर 2018 में म.प्र. में सत्ता परिवर्तन होता हैं कांग्रेस के सत्ता में आते ही कमलनाथ जी मुख्यमंत्री बनते है और कांग्रेस 14 प्रतिशत से 27 प्रतिशत ओ.बी.सी. आरक्षण बढाने की प्रक्रिया प्रारंभ करती है। बी.जे.पी. विरोध के बाबजूद कमलनाथ सरकार जुलाई 2019 में ओ.बी.सी. आरक्षण को 14 प्रतिशत से 27 प्रतिशत कर देती है। ओ.बी.सी. आदिवासीयो एवं दलित साथियो को भाजपा की साजिशों को समझना होगा इनका खुलकर विरोध करना होगा इनका विरोध एवं सम्पूर्ण बहिष्कार ही आरक्षण का बचाव होगा। पत्रकारवार्ता में पूर्व विधायक डॉ मेहताब सिंह यादव,जनपद अध्यक्ष प्रतिनिधि रणधीर सिंह ठाकुर,कार्यकारी अध्यक्ष मोहित रघुवंशी,ब्लॉक कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष दीवान किरार,पिछड़ा वर्ग कांग्रेस अध्यक्ष शिवराज पिपरोदिया,जिला पंचायत सदस्य सोनू यादव,कमल नरवरिया, लक्ष्मण सिंह गुर्जर,अजय कटारे,संयोग जैन ने भी उपस्थित रहकर ओबीसी आरक्षण समाप्त होने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की दुर्भावनापूर्ण कार्यवाही और भाजपा की सोची समझी साजिश बताया।


सारणीकरण एवं निर्वाचन परिणाम की घोषणा रोके जाने के निर्देश जारी


त्रिस्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन वर्ष 2021-22 में सारणीकरण एवं निर्वाचन परिणाम की घोषणा रोके जाने के संबंध में दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी पत्र के संदर्भ में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय से SLP (C) क्रमांक 20734/2021 (Miscellaneous Appllication Diary No (s) 31495/2021) मनमोहन नागर विरुद्ध मध्यप्रदेश शासन एवं अन्य में पारित आदेश दिनांक 17 दिसंबर 21 के पालन में पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य के पदों हेतु मतगणना का सारणीकरण तथा निर्वाचन परिणाम की घोषणा संबंधी कार्यवाही आगामी आदेश तक स्थगित की जाती है एवं स्थगित की गई मतगणना का सारणीकरण तथा निर्वाचन परिणाम की घोषणा के संबंध में आयोग द्वारा प्रथक से आदेश जारी किए जाएंगे। इसके अतिरिक्त निम्नानुसार कार्यवाही किए जाने का भी लेख किया गया है। मतदान केंद्र पर की गई मतगणना (पंच, सरपंच पद के लिए) से संबंधित समस्त अभिलेख, जनपद पंचायत सदस्य/जिला पंचायत सदस्य के विकासखंड मुख्यालय पर ईव्हीएम से की गई मतों की गणना तथा पंच, सरपंच पद की विकासखंड मुख्यालय पर की जाने वाली मतगणना से संबंधित समस्त अभिलेख उपस्थित अभ्यर्थियों, अभिकर्ताओं की उपस्थिति में सीलबंद कर सुरक्षित अभिरक्षा में रखे जाएंगे। किसी भी पद पर निर्विरोध निर्वाचन की स्थिति निर्मित होने की दशा में भी रिटर्निग ऑफिसर द्वारा अभ्यर्थी को समय रूपेण निर्वाचित घोषित नहीं किया जाएगा और ना ही निर्वाचन का प्रमाण-पत्र जारी किया जाएगा। संबंधित रिटर्निंग ऑफिसर, सहायक रिटर्निंग ऑफिसर, विकासखंड तथा ग्राम पंचायत की सूचना फलक पर इस आशय की सूचना चस्पा की जाए तथा इसका व्यापक प्रचार प्रसार किया जावे। 


राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस 24 दिसंबर को


प्रतिवर्ष अनुसार इस वर्ष भी राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस 24 दिसंबर को मनाया जाता है। जिले में ततसंबंध में किए गए प्रबंधों के संबंध में जिला आपूर्ति अधिकारी रश्मि साहू ने बताया कि 24 दिसंबर 2021 शुक्रवार को राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस जिला स्तर पर मनाया जाने की तैयारियां सुनिश्चित की गई है। जिला मुख्यालय पर उपरोक्त आयोजन कलेक्ट्रेट कार्यालय, कंपोजिट भवन के भूतल पर स्थित मीटिंग हाल में दोपहर एक बजे से आयोजित किया गया है। जिसमें उपभोक्ताओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से जिले में निम्न गतिविधियां संचालित की जाना है। इनसे सम्बंधित संस्थाओं आदि को अपने स्तर से अवगत कराते हुए आयोजित राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस में उपस्थित होने के निर्देश दिए गए हैं। उपभोक्ताओं से संबंधित कार्यक्रम, कार्यशाला, बैठक एवं प्रदर्शनी एनजीओ के माध्यम से की जावे तथा उपभोक्ताओं के अधिकारों एवं उत्तरदायित्व के संबंध में व्यापक प्रचार-प्रसार राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस पर किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा उपभोक्ता फोरम द्वारा उपभोक्ताओं के पक्ष में दिए गए निर्णय का प्रचार-प्रसार राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस पर किया जाना है। उपभोक्ता संरक्षण से संबंधित विभिन्न जुड़े विभागों को आमंत्रित कर खुला मंच आयोजित किए जाएं, जिससे विभागों द्वारा संचालित कल्याणकारी कार्यों की जानकारी उपभोक्ताओं को दी जाए। डिजिटल बाजारों के उद्भव के कारण उपभोक्ता संरक्षण में मुद्दे और चुनौतियां विषय पर विशेषज्ञों के माध्यम से सुनिश्चित करने हेतु बैंक अधिकारी एवं पुलिस अधिकारियों को आमंत्रित कर उक्त विषय पर आवश्यक जानकारी का प्रचार प्रसार किया जाए।


शासकीय विद्यालय में कैरियर मार्गदर्शन व रामानुजन जयंती का आयोजन


आज शुक्रवार को शासकीय महाविद्यालय सौंठिया जिला विदिशा में कैरियर मार्गदर्शन व रामानुजन जयंती का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्राचार्य श्रीमती साधना पांडे व विशिष्ट अतिथि सम्राट अशोक अभियांत्रिकी संस्थान महाविद्यालय के श्री केके पंजाबी एवं औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान विदिशा श्री दीपक आचार्य द्वारा सरस्वती वंदना, रामानुज जी के चित्र पर माल्यार्पण कर रामानुज जी के जीवन पर प्रकाश डाला गया एवं राष्ट्रीय गणित दिवस मनाया गया। श्री केके पंजाबी द्वारा कैरियर मार्गदर्शन सप्ताह अंतर्गत बच्चे जीवन में कैसे उन्नति करें विभिन्न उदाहरण देकर समझाया गया। श्री दीपक आचार्य द्वारा कहानी के माध्यम से बताया गया कि कैसे हम तैयारी करें। आईटीआई में 2 वर्षीय 19 एवं 1 वर्षीय 40 कोर्स संचालित हैं। जिनसे बच्चे शासकीय, अशासकीय व रोजगार प्राप्त कर सकते हैं। उक्त कार्यक्रम में करीब 136 विद्यार्थियों व शिक्षकों द्वारा सहभागिता निभाई गई है। कार्यक्रम का संचालन श्री ओम प्रकाश श्रीवास्तव द्वारा किया गया।


प्लेसमेंट ड्राईव में 32 का चयन


जिला मुख्यालय पर स्थित आईटीआई में गत दिवस प्लेसमेंट ड्राईव का आयोजन किया गया था की जानकारी देते हुए संस्था के प्राचार्य श्री एपी श्रीवास्तव ने बताया कि 110 ट्रेनी सम्मिलित हुए थे। जिसमें से निजी कंपनियों द्वारा विभिन्न पदों पर 32 का चयन किया गया है। संस्था के प्राचार्य श्री एपी श्रीवास्तव ने बताया कि चयनित हुए 32 ट्रेनियों का जिन दो निजी कंपनियों के द्वारा चयन किया गया है। उनमें पीथमपुर की अलंकराम के द्वारा 17 का तथा गुजरात की मदरशन कंपनी के द्वारा 15 अभ्यर्थियों का चयन किया गया है।


सफलता की कहानी : पुष्प क्षेत्र विस्तार (ड्रिप) योजना से लाभान्वित हितग्राही को हुई ढाई लाख की आमदनी


vidisha news
शासन की योजना का लाभ हितग्राहियों को मिल सके इसके लिए प्रदेशभर में कई योजनाएं संचालित की जा रही हैं। इन्हीं में से एक योजना पुष्प क्षेत्र विस्तार (ड्रिप) भी है। जिसका लाभ लेकर हरुखेड़ी गांव के किसान श्री दीवानसिंह राजपूत पुत्र श्री हरिसिंह राजपूत ने कम लागत में अच्छा मुनाफा हासिल किया है। कृषक श्री दीवान सिंह राजपूत ने ग्राम हरुखेड़ी में अपने प्रक्षेत्र पर उद्यानिकी विभाग की मदद एवं तकनीकी जानकारी से कृषि फसलों की जगह उद्यानिकी फसल की खेती करना प्रारंभ किया था। वर्ष 2021 22 में विभाग द्वारा पीएमकेएसवाय योजना अंतर्गत ड्रिप की स्थापना कर कृषक ने ग्रीष्मकालीन टमाटर लगाकर 2 लाख 80 हजार की आमदनी प्राप्त की थी। वर्तमान में टमाटर के स्थान पर कृषक श्री दीवान सिंह ने गेंदा लगाकर 50 हजार की लागत से 2 लाख 50 हजार की शुद्ध आमदनी प्राप्त की है। कृषक दीवान सिंह द्वारा संकर गेंदा लगभग 1.5 एकड़ क्षेत्र में रोपण किया गया था। जिससे अक्टूबर माह से उत्पादन मिलने लगा था गेंदा से एक से दो तुडाई और की जा सकती हैं ।जिससे 15 से 20 हजार तक की आमदनी प्राप्त होने की संभावना है। इस प्रकार कृषि फसलों और परंपरागत खेती के स्थान पर उच्च तकनीकी से उद्यानिकी खेती कर कृषक द्वारा दोगुना लाभ प्राप्त किया जा रहा है। 


बाल संरक्षण उपायों से रिसोर्स ग्रुप प्रशिक्षित हुए


vidisha news
महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा विदिशा की डाइट परिसर में जिले के रिसोर्स ग्रुपों के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया था। विभाग के सहायक संचालक श्री विवेक शर्मा ने बताया कि उपरोक्त प्रशिक्षण में बाल ंसंरक्षण के उपायों और कानूनी प्रावधानों की जानकारियां विषय विशेषज्ञो के द्वारा दी गई है। प्रशिक्षणार्थियों को सम्बोधित करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी श्री अतुल मुदगल ने कहा कि बालकों के संरक्षण की आवश्यकता क्यों महसूस की जा रही है। कानूनन प्रावधानों का उल्लंघन होने के कारण ही किसी भी चीज के लिए संरक्षण की आवश्यकता पड़ती है। प्रशिक्षणार्थियों को पुलिस, जनजातीय कल्याण, स्वास्थ्य, शिक्षा विभाग के माध्यम से किए जाने वाले प्रावधानो की जानकारी दी गई। इस अवसर पर जिला बाल कल्याण समिति के सदस्य एवं बाल संरक्षण विभाग के प्रतिनिधि तथा जिला समन्वयक श्री अरविन्द मिश्रा सहित 35 प्रतिभागियों के द्वारा प्रशिक्षण में सहभागिता निभाई गई है। प्रशिक्षणार्थियों को पिरामल संस्था के श्री अंकित पांडे के द्वारा विस्तारपूर्वक जानकारियां दी गई वही प्रसून संस्था के श्री सुधीर भार्गव के द्वारा जेण्डर आधारित भेदभाव, बाल संरक्षण , मनो सामाजिक सहयोग, जेजे एक्ट और पास्को एक्ट के संबंध में प्रशिक्षित किया गया है। जिला रिसोर्स ग्रुप को भोपाल से आई मास्टर ट्रेनर्स इंदु सारस्वत और राखी के द्वारा प्रशिक्षित किया गया है।


टीकाकरण विशेष महा अभियान, 34 हजार से अधिक हितग्राहियों का हुआ टीकाकरण


vidisha news
आज 22 दिसंबर शुक्रवार को कोविड-19 टीकाकरण अभियान के अंतर्गत टीकाकरण का विशेष महाअभियान का क्रियान्वयन किया गया था कि जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह ने बताया कि अभियान अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा घर-घर पहुंचकर आमजनों का टीकाकरण के कार्यो को मूर्तरूप दिया गया है। इसके लिए विशेष माइक्रोप्लान तैयार किया गया था। स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा मोहल्ले-मोहल्ले पहुंचकर अनाउंस करा कर रह गए हितग्राहियों से वैक्सीनेशन का प्रथम व द्वितीय डोज लगवाने की अपील की जा रही थी कई हितग्राहियों ने आगे आकर मौके पर ही टीकाकरण कराया है और टीकाकरण से वंचित रहे लोगों से भी टीकाकरण कराने की अपील की है। कोविड-19 टीकाकरण अभियान के अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग विदिशा रोटरी क्लब एवं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा अभियान चलाकर शेरपुरा क्षेत्र में वैक्सीनेशन टीम के साथ घर-घर जाकर लोगों को समझाईश दी गई। जिन्हें वैक्सीन का प्रथम डोज नहीं लगा था उन्हें प्रथम डोज तथा जिन्हें सेकंड डोज नहीं लगा था उन्हें सेकेंड डोज लगवाया गया। आज शुक्रवार को चलाए गए विशेष टीकाकरण महाअभियान के अंतर्गत 34 हजार से अधिक हितग्राहियों का टीकाकरण किया गया है। शेरपुरा क्षेत्र में जिन हितग्राहियों का टीकाकरण किया गया है, उनमें दंगल सिंह, मुकेश पासी, हेमंत, साक्षी, शालू, मनोज पासी, राज आदिवासी, विजय मालवीय, भावना, पूनम, मोनिका, हरीबाई, संध्या, सुमंत्र, संदीप कुचबंदिया विक्की सेन, किशनलाल, सावित्री संदीपग, मिथलेश आदि शामिल हैं। कार्यक्रम में जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ डीके शर्मा, रोटरी क्लब के अध्यक्ष श्री पवन अग्रवाल, सचिव श्री दीपेश यादव, डॉ सुरेंद्र सोनकर, श्री सुजीत देवलिया, श्री श्रवण लड्ढा, डॉक्टर जादौन, डॉ आनंद जैन, श्री रितेश कपूर, सवास्थ्य विभाग की ओर से श्री राजेश अहिरवार, जीवन राम चंदेल, एएनएम ज्योति चंदेल एवं ममता सेनी सहित स्थानीय आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं अन्य लोग मौजूद रहे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह ने बताया कि सांय छह बजे तक 34 हजार से अधिक नागरिकों का टीकाकरण कार्य संपन्न हुआ है। विकासखण्डवार टीकाकरण कार्य की जानकारी इस प्रकार से है। ग्यारसपुर में 2690, बासौदा में 8770, कुरवाई में 3420, सिरोंज में 3113, लटेरी में 3379, शमशाबाद-नटेरन में 4019, तथा विदिशा एवं पीपलखेडा में 8618 नागरिकों का टीकाकरण कार्य सायं छह बजे तक हुआ है। अनेक टीकाकरण स्थलों पर अभी भी कार्य जारी है।

कोई टिप्पणी नहीं: