सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 जनवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 1 जनवरी 2022

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 जनवरी

वरिष्ठ समाजसेवी राकेश राय ने किया नए साल पर जरूरतमंदों को अनाज का वितरण


sehore-news
सीहोर। कांग्रेस के पूर्व नपाध्यक्ष एवं समाजसेवी राकेश राय ने नए साल का स्वागत कर गरीबो को अनाज वितरित किया। इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को अनाज वितरण कार्यक्रम मुख्य बाजार स्टेट बैंक के सामने स्थित कार्यालय पर किया गया। इस मौके पर अनाज का वितरण श्री राय ने किया। वरिष्ठ समाजसेवी पूर्व नपाध्यक्ष श्री राय पिछले करीब 25 से अधिक सालों से नए साल का स्वागत अपने विशेष अंदाज में करते हैं। श्री राय हर साल एक जनवरी को दोपहर एक बजे गरीबों को अनाज का वितरण करते हैं। अनाज वितरण जरूरतमंदों को किया गया। कार्यक्रम के दौरान अशफाक खान, एआर शेख मुंशी, बहादुर सिंह दांगी, धर्मेन्द्र यादव, घनश्याम यादव, पवन राठौर, गोविन्द शर्मा, पवन अरोरा, राजेन्द्र नागर, परवेज शेख, सोनू बावनिया, रोहित परमार, परितोष शर्मा, रफीक खान, रसीद अली राजा, मनुव्वर मामू, उमेश माहेश्वरी, नरेन्द्र मेवाड़ा आदि शामिल थे।


फुटबाल प्रतियोगिता के दूसरे दौर में जैद और युवराज की जोड़ी ने किए शानदार गोल, सीहोर वाइस ने एक तरफा मुकाबले में सीहोर क्लब को 13-0 से दी शिकस्त


सीहोर। शहर के चर्च मैदान पर जारी जिला स्तरीय बेबी लीग फुटबॉल प्रतियोगिता में सीहोर वाइस के स्ट्राइकर जैद और युवराज की जोड़ी ने शानदार प्रदर्शन जारी रखा है। इस दौर में भी सीहोर वाइस अजेय टीम के रूप में प्रतियोगिता में छाई हुई है। अब तक हुए सभी मैचों में अपनी विरोधी टीम को हराते हुए प्रतियोगिता के टाप पर है। जिला फुटबॉल संघ द्वारा आयोजित स्वर्गीय प्रकाश व्यास काका की स्मृति में जिला स्तरीय बेबी लीग फुटबॉल प्रतियोगिता में आज नए वर्ष के दिन पहला मैच सीहोर वॉइस विरुद्ध सीहोर क्लब के मध्य खेला गया जिसमें सीहोर 13-0 से विजय रही सीहोर वॉइस की तरफ से गोल मारने वालों में जैद ने 6 गोल किए युवराज कन्नौजिया ने 5 गोल किए रोहन ने एक गोल किया ऋषभ वर्मा ने एक गोल किया प्रतियोगिता में दूसरा मैच मंडी वॉइस विरोध सीहोर ग्रीन के मध्य खेला गया जिसमें मंडी वॉइस 5-1 से विजय रही मंडी वॉइस की तरफ से गोरव देसाबरी ने एक गोल किया नकुल ने एक गोल किया विकास रावत ने दो गोल किए सीहोर ग्रीन की तरफ से फरहन ने एक गोल किया प्रतियोगिता में तीसरा में सीहोर चिल्ड्रन विरोधी और मिनी के मध्य खेला गया जिसमें सीहोर चिल्ड्रन 2-0 से विजय रही थी और सीहोर चिल्ड्रन की तरफ से अबिश ने एक गोल किया अंकित मालवीय ने एक गोल किया


गौरव की मात्र 33 गेंद पर 66 रन की आतिशी अर्द्धशतकीय पारी की बदौलत सीहोर जूनियर फाइनल में

  • आज खेला जाएगा खिताबी मुकाबला सीहोर जूनियर और पीपीसीए के मध्य

sehore news
सीहोर। बीएसआई पर जारी चैम्पियन लीग टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता में शनिवार को खेले गए प्रथम सेमीफाइनल मैच के दौरान आल राउंडर गौरव पिचोनिया की मात्र 33 गेंद पर 66 रन और अतुल कुशवाहा की 41 गेंद पर 87 रन की अर्द्धशतकीय पारियों की बदौलत एक तरफा मुकाबले में सीहोर जूनियर ने रायल स्टार टीम को 133 रन के विशाल अंतर से हराया। वहीं एक अन्य सेमीफाइनल में पीपीसीए अकादमी ने सीहोर कोल्ड को 38 रन से हराकर प्रतियोगिता के फाइनल में प्रवेश किया। रविवार को प्रतियोगिता का फाइनल मैच पीपीसीए और सीहोर जूनियर के मध्य खेला जाएगा। डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि पहले बल्लेबाजी करते हुए सीहोर जूनियर ने मात्र 20 ओवर में पांच विकेट खोकर 257 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया था। जिसमें अतुल कुशवाहा ने 87 रन, गौरव पिचोनिया 66 रन, आदर्श राय ने 20 गेंद पर 52 रन और मयंक जैन ने मात्र नौ गेंद पर 20 रन की पारी खेली। इधर रायल स्टार की ओर से गेंदबाजी करते हुए विमल ने दो विकेट, योगेन्द्र, रमन और कान्हा ने एक-एक विकेट हासिल किया। जवाब में लक्ष्य का पीछा करनने उतरी रायल स्टार की टीम मात्र 15.5 ओवर में 124 रन पर ढेर हो गई। वहीं सीहोर जूनियर की ओर से शानदार गेंदबाजी करते हुए शुभम-मयंक जैन ने दो-दो विकेट के अलावा विपिन वर्मा, धर्मेन्द्र, आदर्श राय और गौरव पिचोनिया ने एक-एक विकेट हासिल किया।


पीपीसीए ने सीहोर कोल्ड को हराया

इसके अलावा दूसरे सेमीफाइनल में पीपीसीए ने सीहोर कोल्ड को 38 रन से हराकर प्रतियोगिता के फाइनल में प्रवेश किया। इस मैच में पहले बल्लेबाजी करने उतरी पीपीसीए ने सात विकेट के नुकसान में निर्धारित 20 ओवर में 154 रन बनाए थे। जिसमें राज कुशवाहा ने 39 रन, चेतन मेवाड़ा 28 रन, प्रखर सेन 16 रन और स्वप्रिल भारिया ने 14 रन की पारी खेली। वहीं लक्ष्य का पीछा करने उतरी सीहोर कोल्ड की टीम नौ विकेट खोकर 116 रन ही बना सकी। इधर पीपीसीए की ओर से गेंदबाजी करते हुए विशांक शिंदे ने चार ओवर में 11 रन देकर तीन विकेट की शानदार गेंदबाजी की।


गौरव और विशांक बने मैन आफ द मैच

शनिवार को खेले गए सेमीफाइनल मैचों में सीहोर जूनियर के आल राउंडर गौरव पिचोनिया के दोहारे प्रदर्शन और पीपीसीए के विशांक शिंदे को उनकी शानदार गेंदबाजी की बदौलत मैन आफ द मैच का पुरस्कार दिया गया। वहीं रविवार को फाइनल मैच खेला जाएगा। इसके समापन अवसर पर जिला क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष और विधायक सुदेश राय, केन्द्रीय विद्यालय के प्राचार्य जीवन वर्मा, एसोसिएशन के सचिव अतुल तिवारी, वीरेंद्र वर्मा, सुरेन्द्र रल्हन, महेंद्र शर्मा, प्रदीप पाहुजा, इरफान हुसैन, नवनीत तोमर, अक्षय दुबाने, मदन कुशवाहा, आशीष शर्मा, नागेंद्र व्यास, कमलेश परोचे, सचिन कीर, राकेश धनगर, हेमंत केसरिया, संजय पटेल, महेन्द्र शर्मा बंटी विलय गौरव खरे, अमित कटारिया, रुपेश पारोचे, राकेश धनगर, सुरेश नाविक, सुनील जलोदिया आदि शामिल रहेंगे जो खिलाड़ियों को उत्साहवर्धन के साथ पुरस्कारों का वितरण करेंगे।  


श्रृंखला बनाकर शोषण के खिलाफ  आशा उषा आशा, सहयोगीनियों के संयुक्त मोर्चा सीटू ने लिया संकल्प


sehore news
सीहेार। शनिवार को श्रृंखला बनाकर शोषण के खिलाफ  आशा उषा आशा सहयोगीनियों के संयुक्त मोर्चा सीटू एकता यूनियन ने डाक घर पहुंचकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और स्वास्थ्य मंत्री प्रभूराम चौधरी और मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मध्य प्रदेश को पत्र प्रेषित किया। जिस के बाद सड़क पर मानव श्रृंखला बनाकर आशा उषा आशा सहयोगीनियों के द्वारा शोषण के खिलाफ  लडऩे का संकल्प लिया गया। मिशन संचालक के निर्णय के आधार पर वेतन वृद्धि करते हुये आशा को 10 हजार पर्यवेक्षकों को 15 हजार रु. वेतन निश्चित प्रोत्सहन राशि दिये जाने की मांग आशा उषा आशा सहयोगीनियों के द्वारा के द्वारा की गई। महासचिव ममता राठौर एवं शुकुन पाटिल ने बताया की आशा, ऊषा एवं आशा पर्यवेक्षक केन्द्र सरकार द्वारा दिये जा रहे 2000 रुपये के अल्प वेतन में अपनी जिन्दगी चलाने के लिये विवश है। अन्य राज्य सरकार अपनी ओर से आशा एवं पर्यवेक्षकों को अतिरिक्त वेतन देकर उन्हें राहत पहुंचा रही है, लेकिन प्रदेश सरकार आशाओं को अपनी ओर से कुछ भी नहीं दे रही है। प्रदेश को आशा एवं सहयोगी अपनी दयनीय स्थिति राहत पाने के लिये राज्य सरकार से अतिरिक्त वेतन की मांग को लेकर लगातार संघर्ष कर रही है। कई बार मुख्यमंत्री,स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री,मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, मुख्य सचिव, मध्य प्रदेश शासन प्रमुख सचित्र स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, वित्तमंत्री, मध्य प्रदेश शासन सहित कई मंत्रियों, विधायकों, सांसदों को व्यक्तिगत एवं जिला प्रशासन के माध्यम से ज्ञापन दिये गये। लेकिन अत्यंत खेद की बात है। स्वास्थ्य मिशन मध्य प्रदेश की ओर से आशा को 10,000 रुपये एवं सहयोगियों को 15,000 रुपये का निश्चित राशि एक रूप में दिये जाने के लिए  राज्य सरकार के पास प्रस्ताव भेजेंगे। इसके बाद स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जुलाई 2021 को यह आश्वासन दिया था लेकिन वेतन वृद्धि नही ंकी गई। प्रदर्शन में सुनीता राठौर,मनीषा मेहरा ,शिप्रा सरियामहोरामनी मेहरा,लता मीना,सुनिता माली,यशोदा मेहरा, अनिता सल्लाम,सुखवती वर्मा,किरण केथले,माया, आशा,सुषमा, आशा,रेवा मेहरा, तीजा उइके,सरोज राठौर, सुनीता ककोडिया रीना धनवारी,अन्तिम पंवार,शकुन पाटिक सुलोचना, गायत्री भल्लारी, मीरा कुमरे,पिंकी बारेला,सुषमा शाह आदि शामिल रही। 


जिला उपभोक्ता परिषद एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन, ग्राहकों को बताए उनके अधिकार, दी जानकारी


sehore news
सीहोर। शहर के बस स्टैंड स्थित सिंधी धर्मशाला में जिला उपभोक्ता संरक्षण परिषद के तत्वाधान में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन कर राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस सप्ताह का समापन किया गया। इस मौके पर परिषद के जिलाध्यक्ष विष्णु प्रजापति के द्वारा ग्राहकों को उनके अधिकार आदि की जानकारी दी गई। कार्यक्रम के दौरान जिला उपभोक्ता परिषद के शहराध्यक्ष हीरु बेलानी ने कहा कि एक पुरानी कहावत है कि पूंजीवादी समाज में उपभोक्ता ही राजा होते हैं क्योंकि वे उद्योगपतियों के उत्पादों के प्रति जो अनुक्रिया अपनाते हैं, उनसे ही उस समाज की पूरी अर्थव्यवस्था का स्वरूप निर्धारित होता है। दूसरे शब्दों में, बाजार नियंत्रित समाजों की मूलभूत प्रकृति यह है कि यहां उत्पादक एवं उपभोक्ता पूरी अर्थव्यवस्था को चलाने के लिए दो पहियों की तरह काम करते हैं मगर व्यवहारत: उपभोक्ता उत्पादक की तुलना में अधिक आधार प्रदान करता है। इधर इस मौके पर परिषद के मीडिया प्रभारी मनोज दीक्षित मामा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की अनदेखी के चलते शहर में कई अवैध पैथोलॉजी लैब चल रही हैं। खास बात यह है कि एक ही लाइसेंस पर कई-कई पैथोलोजी लैब चल रही हैं। अहम बात यह है कि इसकी जानकारी अधिकारियों को भी है। बावजूद अंजान बने हुए हैं। कार्रवाई न होने की वजह से अवैध लैब संचालकों के हौंसले इतने बढ़ गए हैं कि लैब में मरीजों का खुले आम खून चूसा जा रहा है, क्योंकि इन लैब में कराई गई जांचों की रिपोर्ट कितनी सही होगी, इसका जवाब देने के लिए कोई भी तैयार नही है। लंबे समय से शहर में अनेक डॉक्टर वर्षों से जमा है जिसके कारण इनकी मनमानी चल रही है। पैथोलॉजी में एक ही जांच के अलग-अलग दाम वसूले जा रहे है। इसके अलावा जांच में भी विभिन्नता आ रही है। स्वास्थ्य सेवा संबंधित अन्य समस्याओं के बारे में शीघ्र ही परिषद जिला प्रशासन को एक ज्ञापन सौंपेंगी आदि के बारे में चर्चा की गई। कार्यक्रम के दौरान समाजसेवी गगन खत्री, नंदकिशार संधानी, विवेक श्रीवास्तव, मांगीलाल टिमराई, पप्पू सेन, हरिओम दाऊ, भगवत, इकबाल खान, मनोहर पुंशी, बाबू सुंदराणी, कृष्णा संधानी आदि शामिल थे। 


वर्ष 2022 में राष्ट्रीय स्तर पर 4 लोक अदालत होंगी


वर्ष 2022 में समस्त न्यायालयों में आयोजित होने वाली लोक अदालतों के लिए कार्यक्रम और तिथियां निर्धारित की गयी है।  वर्ष 2022 में 12 मार्च,14 मई, 13 अगस्त तथा 12 नवंबर को लोक अदालत का आयोजन किया जायेगा।


राज्य रूपंकर कला पुरस्कार प्रदर्शनी के लिए 15 जनवरी तक कलाकृतियाँ आमंत्रित


उस्ताद अलाउद्दीन खाँ संगीत एवं कला अकादमी द्वारा मध्यप्रदेश राज्य रूपंकर कला पुरस्कार प्रदर्शनी-2022 का आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश के ख्यातिलब्ध कलाकारों के नाम से स्थापित रूपंकर एवं ललित कलाओं के दस पुरस्कारों के लिए अकादमी ने  15 फरवरी 2022 तक कलाकृतियाँ आमंत्रित की हैं। प्रत्येक पुरस्कार की राशि 51 हज़ार रुपये है। प्रदर्शनी में दो कलाकृतियों मान्य की जायेगी और 25 से 55 वर्ष तक की आयु के कलाकार भाग ले सकेंगे। कलाकारों को कलाकृतियों के साथ प्रदर्शनी में प्रवेश शुल्क के रूप में दो सौ रुपये नगद जमा करना होंगे।  कलाकारों की मौलिक कलाकृतियाँ जो दिसम्बर 2020 के बाद सृजित हो मान्य की जायेंगी। कला प्रदर्शनी की विवरणिका शासकीय ललित कला महाविद्यालय जबलपुर, धार, खण्डवा, इंदौर, ग्वालियर तथा अकादमी कार्यालय से प्राप्त की जा सकती है।  इच्छुक कलाकार अपनी कलाकृतियाँ उस्ताद अलाउद्दीन खाँ संगीत एवं कला अकादमी रवीन्द्रनाथ ठाकुर मार्ग, बाणगंगा चौराहा, भोपाल में 15 जनवरी, 2022 की शाम 5 बजे तक जमा करा सकेंगे। इसके बाद प्राप्त होने वाली कलाकृतियाँ स्वीकार नहीं की जायेगी। फेसबुक (www.facebook.com/kalamitrabpl) एवं अन्य माध्यम से डाउनलोड आवेदन विवरणिका की फोटो प्रतियाँ (ए4 साइज) भी प्रवेश-पत्र के रूप में स्वीकार की जायेगी।


होम क्वारंटाइन व्यक्तियों के लिए कोविड-19 कमांड कॉल सेंटर


जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद के लिए जिला स्तरीय कोविड–19 कमाण्ड कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर -07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर के मोबाइल नंबर 942540273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है।  राज्य स्तर पर 104 या 181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीनेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 24x7 हेल्पलाइन नंबर 104 पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती है। होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस तथा साइकोलॉजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं। मोबाईल मेडिकल यूनिट द्वारा होम आइसोलेट व्यक्तियों की सतत् निगरानी की जा रही है।


बच्चों के लिए "संवेदना" टोल फ्री टेली काउंसलिंग


कोरोना संक्रमण के चलते मानसिक रूप से प्रभावित हो रहे बच्चों के लिए बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने नई पहल की है। आयोग ने "संवेदना" नाम से टोल फ्री टेली काउंसलिंग शुरू की है। इसके लिए टोल फ्री नम्बर 1800-1212-830 जारी किया गया है, जिस पर बच्चे कॉल कर विशेषज्ञों से बात कर अपनी समस्या का समाधान पा सकते हैं। कोविड-19 के दौरान 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा असर पड़ा है। ऐसे बच्चे टोल फ्री नम्बर पर सुबह 10 से 1 बजे तक और दोपहर 3 से रात्रि 8 बजे तक सोमवार से शनिवार तक अपनी समस्याओं पर विषय विशेषज्ञों, काउंसलर से बात कर सकते हैं।


आत्मरक्षा कौशल शिविर आयोजित


जिले के शासकीय महाविद्यालय शाहगंज में महिला आत्मरक्षा विषय पर छात्राओं के लिए आत्मरक्षा कौशल शिविर आयोजित किया गया। इस शिविर में छात्राओं को बताया गया कि समाज में बढ़ते अपराधों को देखते हुए महिलाओं को आत्मरक्षा के कौशल जानना आवश्यक है। शिविर के माध्यम से छात्राओं को अपने अधिकारों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। इस शिविर में छात्राओं सहित महाविद्यालय का स्टॉफ उपस्थित था।


गंभीर बिमारी से ग्रसित नागरिकों के लिए "कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रिकॉशन डोज"


प्रदेश के साथ ही जिले में  03 जनवरी 2022 से 15 से 18 वर्ष के किशोर बालक-बालिकाओं का कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रारम्भ किया जा रहा है। जिसके लिए पंजीयन की प्रक्रिया 01 जनवरी से शुरू हो गई है। इसी प्रकार 10 जनवरी 2022 से हेल्थ केयर वर्कर, फ्रन्ट लाइन वर्कर एवं 60 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के गंभीर बीमारी ग्रसित नागरिकों के लिये "कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रिकॉशन डोज" प्रारम्भ किया जा रहा है। कोविड-19 प्रिकॉशन डोज उन नागरिकों को लगाया जाएगा जिनका कोविड-19 के द्वितीय डोज की 09 माह की अवधि पूर्ण हो चुकी है।


जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला


पिछले  24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10143 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10021  हैं। आज 810 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 238, श्यामपुर से 171, नसरूल्लागंज से 75, आष्टा से 169, बुधनी से 101 तथा इछावर से 56 सैंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सैंपल 325687 हैं। जिनमें से 314263 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 651 सेंपलो की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1210 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।


मानधन योजना का लाभ लेने की नागरिकों से अपील


प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना केन्द्र सरकार की महत्वाकांक्षी पेंशन योजना है जिसमें हितग्राहियों को 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने के पश्चात प्रतिमाह 3 हजार की पेंशन प्राप्त होगी। इस योजनांतर्गत 18 वर्ष से 10 वर्ष की आयु तक के ऐसे व्यक्त्ति सम्मिलित हो सकते हैं जिनकी मासिक आय 15 हजार रूपये या इससे कम है, जो आयकर दाता नही है तथा जो ईएसआईसी अथवा ईपीएफ इत्यादि में सम्मिलित ना हो। प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के अंतर्गत हितग्राही द्वारा दिया जाने वाला मासिक अंशदान ऑटो डेबिट सुविधा से 55 रूपये से 200 रूपए योजना में सम्मिलित होने की आयु अनुसार है। हितग्राही के मासिक अंशदान के समान राशि का अंशदान केन्द्र सरकार द्वारा दिया जायेगा। उक्त्त योजना में सम्मिलित होने के लिए हितग्राही किसी भी नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) पर आधार कार्ड एवं बचत खाता व जनधन खाता ले जाकर अपना पंजीयन करा सकता है।


12 जनवरी से शुरू होंगी माध्यमिक शिक्षा मंडल की पूरक परीक्षा


माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा संचालित प्रारंभिक शिक्षा में पत्रोपाधि पाठयक्रम (डीएलएड) प्रथम एवं द्वितीय वर्ष (द्वितीय अवसर) पूरक परीक्षा वर्ष 2021 की परीक्षाएं 12 से 22 जनवरी तक प्रातः 9 से दोपहर 12 बजे के मध्य होंगी। इनकी बैठक व्यवस्था के लिए संभाग स्तर पर पूरे प्रदेश में कुल 11 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। परीक्षा कार्यक्रम www.mpbse.nic.in पर देखे जा सकते है।


दिव्यांगों के यूडीआईडी कार्ड बनाने में मध्यप्रदेश देश में पहले स्थान पर


बस सेवाओं में दिव्यांग व्यक्तियों को 50 प्रतिशत छूट देने के निर्देश दिये हैं। दिव्यांग व्यक्ति को यूडीआईडी कार्ड दिखाने पर यह छूट मिल जायेगी। दिव्यांग व्यक्ति को दिव्यांगजन सक्षम प्राधिकारी के प्रमाण-पत्र के रूप में केन्द्र या राज्य शासन द्वारा जारी यूनीक डिसऐबिलिटीज आई.डी. कार्ड प्रस्तुत करने पर किराये में 50 प्रतिशत छूट का लाभ दें। उल्लेखनीय है कि केन्द्रीय दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग द्वारा यूनीक आई.डी. फॉर पर्सन विद डिसऐबिलिटीज (यूडीआईडी) प्रोजेक्ट चलाया जा रहा है। इसमें दिव्यांगों को यूडीआईडी कार्ड दिये जा रहे हैं। कार्ड के माध्यम से दिव्यांग केन्द्र एवं राज्य शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं। यूडीआईडी कार्ड निर्माण में मध्यप्रदेश देश में पहले स्थान पर है।


प्रदेश में जनता को समय पर सुगमता से लोक-सेवाओं का प्रदाय, सुशासन के क्षेत्र में प्रदेश में हुए क्रांतिकारी बदलाव


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की सुशासन की अवधारणा है "जनता को बिना लिए-दिए समय पर बिना किसी असुविधा के लोक-सेवाएँ प्रदान करना।" इस अवधारणा को मध्यप्रदेश में मूर्तरूप दिया गया है। वर्ष 2010 में सुशासन के क्षेत्र में ऐतिहासिक पहल करते हुए लोक सेवा गारंटी कानून को मध्यप्रदेश में लागू किया गया। प्रदेश में इस कानून के प्रभावी क्रियान्वयन और आधुनिक तकनीकी के भरपूर उपयोग से कम से कम समय में सुगमता के साथ जनता को लोक-सेवाएँ प्रदान की जा रही हैं। सीएम जन-सेवा योजना से जनता को उनके मोबाइल फोन पर ही खसरे की नकल जैसी सुविधाएँ तथा लोक सेवा गारंटी अधिनियम के अंतर्गत कुछ सेवाओं के लिये "डीम्ड सेवा प्रदाय" का प्रावधान क्रांतिकारी कदम हैं। वर्तमान में लोक सेवा गारंटी कानून में जनता को कुल 560 सेवाएँ सफलतापूर्वक दी जा रही हैं। इस कानून की एक विशेषता यह है कि समय-सीमा में आवेदन का निराकरण न करने पर जिम्मेदार अधिकारी के विरुद्ध अर्थ-दण्ड का प्रावधान है। राजस्व प्रशासन में लोकोन्मुखी सेवाओं की संख्या अधिक होने से यह विभाग नवाचारों का केन्द्र-बिन्दु रहा है। इन नवाचारों की प्रमुख विशेषताएँ हैं जनता के हित में कानूनों, नियमों एवं प्रक्रियाओं में संशोधन एवं उनका सरलीकरण, आधुनिक तकनीकी का प्रभावी प्रयोग, लैण्ड रिकार्ड मॉर्डनाइजेशन जैसे कार्यक्रमों से अभिलेखों का डिजिटाइजेशन और कॉल-सेंटर, मोबाइल जैसे सेवा प्रदाय के नये साधनों का प्रयोग।


भू-अभिलेखों की डिजिटल उपलब्धता

जनता के लिये भू-अभिलेखों की डिजिटल उपलब्धता बड़ी सफलता है। जनता को घर बैठे ऑनलाइन आवेदन, लोक सेवा केन्द्र/एमपी ऑनलाइन कियोस्क से आवेदन, तहसील कार्यालय के आईटी सेंटर में आवेदन एवं सीएम हेल्पलाइन कॉल-सेंटर 181 पर कॉल करने पर भू-अभिलेखों की डिजिटल उपलब्धता हो जाती है। अगस्त-2018 से अब तक प्रदेश में 3 करोड़ 51 लाख से अधिक भू-अभिलेखों की प्रतियाँ जनता को ऑनलाइन प्रदान की गई हैं। पहले पाँच दिवस में राजस्व अभिलेख जनता को मिलते थे, अब रियल टाइम उपलब्धता हो गई है।


डायवर्सन पूरी तरह ऑनलाइन

भूमि का डायवर्सन भी पूरी तरह ऑनलाइन कर दिया गया है। इसके लिये जनता को ऑनलाइन पोर्टल पर आवेदन कर डायवर्सन राशि का ऑनलाइन भुगतान करना होता है। अनुविभागीय अधिकारी द्वारा 15 दिन में ऑनलाइन पुष्टि कर डायवर्सन किया जाता है। पिछले 3 वर्ष में प्रदेश में एक लाख 37 हजार से अधिक डायवर्सन के प्रकरणों का ऑनलाइन निराकरण किया गया।


ऑनलाइन भूमि बंधक प्रक्रिया

प्रदेश में अब भूमि बंधक की प्रक्रिया को भी पूरी तरह ऑनलाइन कर दिया गया है। किसान को ऋण लेने के लिये बैंक में ऑनलाइन आवेदन करना होता है, बैंक द्वारा पोर्टल से भूमि के ब्यौरे का एवं आधार डेटा से किसान का सत्यापन किया जाता है, बैंक द्वारा बंधक आवेदन पोर्टल पर ऑनलाइन प्रेषित किया जाता है, इसका सत्यापन पोर्टल पर ही पटवारी द्वारा किया जाता है एवं तहसीलदार द्वारा ऑनलाइन स्वीकृति दी जाती है। विगत ढाई वर्ष में प्रदेश में 4 लाख 98 हजार से अधिक आवेदन निराकृत किये जा चुके हैं। पहले इसके लिये कोई समय-सीमा निर्धारित नहीं थी, अब इन आवेदनों का निराकरण 3 दिन में हो जाता है।


भूमि क्रय-विक्रय के लिये पोर्टल इंटीग्रेशन

जनता की सुविधा के लिये प्रदेश में भूमि क्रय-विक्रय (रजिस्ट्री) को भी भू-अभिलेख पोर्टल के इंटीग्रेशन से सरल बनाया गया है। सम्पदा पोर्टल और रेवेन्यू केस मैनेजमेंट पोर्टल (त्ब्डै) को इंटीग्रेट किया गया है। जनता को रजिस्ट्री के समय भूमि का सत्यापन किये जाने की सुविधा दी गई है एवं उसी समय नामांतरण के लिये प्रकरण दर्ज कर लिया जाता है। सम्पदा पोर्टल पर रजिस्ट्री होते ही रेवेन्यू केस मैनेजमेंट पोर्टल पर नामांतरण स्वतरू दर्ज हो जाता है एवं पेशी की तारीख भी तय हो जाती है। विगत 3 वर्ष में प्रदेश में 6 लाख 20 हजार से ज्यादा प्रकरण निराकृत किये गये हैं। भविष्य में सायबर तहसील के माध्यम से रजिस्ट्री के नामांतरण किये जाने की योजना है।


सी.एम. जन-सेवा

प्रदेश में 26 दिसम्बर, 2020 से एक अभिनव योजना श्सी.एम. जनसेवा" चालू की गई, जिसके द्वारा जनता को उनके मोबाइल फोन पर ही 5 सेवाएँ खसरा नकल, खतौनी, नक्शा, आय प्रमाण-पत्र तथा स्थानीय निवासी प्रमाण-पत्र प्रदान की जा रही हैं। इसके लिये टोल-फ्री नम्बर-181 पर मोबाइल कॉल करना होता है। मोबाइल पर ही सेवाएँ प्राप्त हो जाती हैं। प्रदेश में अब तक 66 हजार से अधिक व्यक्तियों को मोबाइल पर ये सेवाएँ प्रदान की गई हैं।


डीम्ड सेवा प्रदाय

मध्यप्रदेश में लोक-सेवाओं के प्रदाय में अनावश्यक विलंब को समाप्त करने के लिये "डीम्ड सेवा प्रदाय" एक क्रांतिकारी कदम है। इसमें लोक सेवा गारंटी कानून में प्राप्त आवेदन पर यदि प्राधिकृत अधिकारी नियत समय-सीमा में कार्यवाही नहीं करता है, तो इसके बाद वह सेवा सिस्टम से ऑटो जनरेट होकर नागरिक को प्राप्त हो जाती हैं। वर्तमान में मोबाइल टॉवर लगाने की अनुमति, निवेशकों को लेटर ऑफ इण्डेंट जारी करना, डायवर्सन की सूचना आदि 19 लोक-सेवाओं को इस व्यवस्था से जोड़ा गया है। प्रदेश में अब तक 13 हजार से अधिक आवेदनों पर डीम्ड सेवाएँ प्रदाय की जा चुकी हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: