कप्तानी का मौक़ा मेरे लिए सम्मान की बात होगी : बुमराह - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 17 जनवरी 2022

कप्तानी का मौक़ा मेरे लिए सम्मान की बात होगी : बुमराह

bumrah-happy-to-be-captan
पार्ल (दक्षिण अफ्रीका ), 17 जनवरी, भारतीय टीम इस समय बदलाव के दौर से गुज़र रही है, हाल ही में रवि शास्त्री की जगह राहुल द्रविड़ प्रमुख कोच बने हैं। कुछ और नए सपोर्ट स्टाफ़ भी टीम के साथ जुड़े हैं। अब विराट कोहली किसी भी फ़ॉर्मेट में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान नहीं हैं जबकि बुधवार से दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ शुरू हो रही वनडे सीरीज़ में कप्तान की ज़िम्मेदारी लोकेश राहुल के कंधों पर होगी। इस सीरीज़ में जसप्रीत बुमराह टीम इंडिया के उप-कप्तान होंगे। पार्ल में खेले जा रहे पहले वनडे से पहले मीडिया को मुख़ातिब करते हुए बुमराह ने सोमवार को वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि सभी लोग बदलाव को सकारात्मक तरीक़े से देख रहे हैं और कोई भी किसी चीज़ को लेकर परेशान या हैरान नहीं है। बुमराह ने साथ ही कहा,"अगर मुझे कप्तानी का मौक़ा मिलता है तो ये मेरे लिए सम्मान की बात होगी। मुझे नहीं लगता कि कोई भी खिलाड़ी इस मौक़े को स्वीकार नहीं करेगा, और मैं भी अलग नहीं हूं।" तेज गेंदबाज ने बदलाव पर कहा,"सभी क्या सोचते हैं उनका तो मैं नहीं कह सकता लेकिन मैं अपना जानता हूं। मैं इतना कह सकता हूं कि इन बदलाव से बहुत ज़्यादा अंतर नहीं होने जा रहा। हम सभी हर हाल में एक दूसरे की मदद के लिए तत्पर रहते हैं। मुझे लगता है सभी इन बदलावों को सकारात्मक तरीक़े से ले रहे हैं।" बुमराह ने अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा, "सभी एक दूसरे की इज़्ज़त करते हैं और सभी जानते हैं कि हम बदलाव की प्रक्रिया से गुज़र रहे हैं। हम सभी ने इतनी क्रिकेट ज़रूर खेली है जो ये समझने के लिए काफ़ी है कि खेल और समय इसी तरह से आगे चलता है और बदलता है।" केपटाउन टेस्ट के ठीक बाद कोहली ने टेस्ट कप्तानी से इस्तीफ़ा दे दिया था और अब वह सिर्फ़ एक खिलाड़ी के तौर पर टीम के साथ हैं। लेकिन बुमराह का मानना है कि कोहली हमेशा से ही एक लीडर हैं और आगे भी वह टीम को आगे ले जाने में मदद करते रहेंगे। बुमराह ने आगे कहा, "कोहली ने हमें टेस्ट के बाद एक मीटिंग में बताया कि वह अब कप्तानी नहीं करेंगे। ये उनका व्यक्तिगत फ़ैसला है और हम सभी उनके इस निर्णय का सम्मान करते हैं। उन्हें बख़ूबी पता है कि उनका शरीर और मानसिक स्थिति कैसी है। वह हमेशा से ही टीम के अंदर एक अलग क़िस्म की ऊर्जा लेकर आते हैं, और वह इस ग्रुप के हमेशा से ही नेतृत्वकर्ता हैं और आगे भी वह अपना योगदान टीम की भलाई के लिए देते रहेंगे।" रोहित शर्मा को भारतीय क्रिकेट टीम का सीमित ओवर कप्तान पहले ही नियुक्त कर दिया गया है और वह अब टेस्ट कप्तान के भी प्रबल दावेदार हैं। बुमराह से जब ये जानने की कोशिश की गई कि क्या वह भी टेस्ट कप्तान बनना चाहेंगे तो उन्होंने कहा कि ऐसा हुआ तो उनके लिए सम्मान की बात होगी।

कोई टिप्पणी नहीं: