बिहार : नीतीश के चहेते पूर्व विधायक करेंगे पियक्कड़ सम्मेलन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 18 जनवरी 2022

बिहार : नीतीश के चहेते पूर्व विधायक करेंगे पियक्कड़ सम्मेलन

ex-jdu-mla-shyam-bahadur-singh-organise-drunk-meet
पटना : बिहार में शराबबंदी कानून लागु है। इस कानून के तहत राज्य में कहीं भी शराब पीना या बेचना क़ानूनी जुर्म है। यदि राज्य कोई भी इंसान इस कार्य में संलिपत पाया जाता है तो उसे सलाखों के पीछे जाना पड़ता है। हालांकि, राज्य में पिछले कुछ दिनों से सीएम का होम जिला में जहरीली शराब से 12 लोगों की मौत होने के बाद शराबबंदी कानून को लेकर लगातार उनकी किरकिरी हो रही है। इसी कड़ी में अब जदयू के पूर्व विधायक ने बड़ा बयान दिया है। दरअसल, जदयू के नचनिया विधायक के नाम से मशहूर श्याम बहादुर सिंह सिवान के गांधी मैदान में पियक्कड सम्मेलन बुलाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा है कि वहां जुटने वाले पियक्कडों के लिए सारा इंतजाम होगा। पूर्व विधायक ने कहा कि यहां इयर-बीयर से लेकर देशी और विदेशी सभी तरह के शराब होगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में ठंड अधिक है, थोड़ी ठंढ़ कम हम जो जाये तब सभी लोगों को बुलायेंगे और जो लोग कहेंगे वह पिलायेंगे। उन्होंने कहा कि बहुत सारा ब्रांड है। पूंजी के हिसाब से जो ठीक बैठेगा वह लोगों को पिलायेंगे। पूर्व विधायक ने कहा कि वह पियक्कड सम्मेलन में लोगों से पूछेंगे कि पीने वाले कितने हैं औऱ न पीने वाले कितने लोग हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह करेंगे कि शराबबंदी में थोड़ी ढील दिया जाए। पूर्व विधायक ने कहा कि बिहार में कभी भी न तो शराब बंद हुआ है और न ही कभी बंद होगा।इसलिए शराब होम सर्विस न होकर पहले की तरह ही सेल्फ सर्विस वाला व्यवस्था हो। विदेशी नहीं तो कम से कम देशी शराब और बियर बिहार में जरूर मिलना चाहिए। वैसे भी गरीब आदमी विदेशी शराब कहां से पीयेगा। उसके लिए देशी का इंतजाम होना चाहिये। उन्होंने कहा की क्या मुख्यमंत्री कोर्ट से ऊपर है ? जब जज लोग शराब का सेवन करते हैं तो उनको इससे क्या समस्या है। उन्होंने कहा कि यदि मुख्यमंत्री जी मेरी बात नहीं मानेंगे तो फरिया लिया जायेगा। इस कारण ही हम वे पियक्कड़ सम्मेलन कराने जा रहे हैं। बता दें कि, श्याम बहादुर कई दफे जेडीयू के टिकट पर विधायक रह चुके हैं, हालांकि पिछला चुनाव हार गये थे। लेकिन ये पार्टी के प्रमुख नेताओं में शामिल किये जाते हैं। ये वही श्याम बहादुर हैं जो रंगीला विधायक के तौर पर जाने जाते रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: