न्यूयॉर्क के एक अपार्टमेंट में भीषण आग, नौ बच्चों सहित 19 लोगों की मौत - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 10 जनवरी 2022

न्यूयॉर्क के एक अपार्टमेंट में भीषण आग, नौ बच्चों सहित 19 लोगों की मौत

fire-in-newyork-19-dead
न्यूयॉर्क (अमेरिका), 10 जनवरी, न्यूयॉर्क सिटी के ब्रोंक्स में एक अपार्टमेंट में कथित तौर पर ‘इलेक्ट्रिक स्पेस हीटर’ के खराब होने के कारण भीषण आग लगने से नौ बच्चों सहित 19 लोगों की मौत हो गई। न्यूयॉर्क सिटी दमकल विभाग (एफडीएनवाय) ने बताया कि रविवार को पूर्वाह्न करीब 11 बजे ब्रोंक्स में 19 मंजिला इमारत में घटनास्थल पर करीब 200 दमकल कर्मियों को भेजा गया। फिलाडेल्फिया में कुछ दिन पहले एक घर में आग लगने से आठ बच्चों सहित 12 लोगों की मौत हो गई थी। न्यूयॉर्क सिटी के मेयर एरिक एडम्स ने कहा कि यह ऐसी भयावह दुर्घटना है, जिससे हुए नुकसान को आकलन नहीं किया जा सकता। एडम्स ने रविवार को ट्वीट किया, ‘‘ आज हमने अपने 19 पड़ोसी खो दिए... उनकी आत्मा की शांति की प्रार्थना करने के लिए मेरे साथ आएं, खासकर नौ मासूम बच्चों के लिए...।’’ इस हादसे में 30 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। एडम्स ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यह न्यूयॉर्क शहर के लिए बेहद भयावह, दुखद पल है। यह हादसा वास्तव में हमारे शहर में दर्द और निराशा लाएगा...यह आधुनिक समय में हमारे द्वारा देखी गई सबसे भीषण आग की घटनाओं में से एक होने जा रही है।’’ एडम्स ने कहा कि इमारत में काफी हद तक मुस्लिम आबादी रहती थी, जिसमें अफ्रीका के गाम्बिया के कई प्रवासी थे। एडम्स के साथ मौजूद न्यूयॉर्क की गवर्नर कैथी होचुल ने कहा कि शहर ‘‘स्तब्ध है।’’ उन्होंने कहा कि उन परिवारों को देख पाना बुहत मुश्किल है, जिन्होंने बहुत कुछ खो दिया है। गवर्नर कैथी होचुल ने कहा कि हरेक प्रभावित परिवार को मदद के लिये पीड़ित मुआवजा कोष स्थापित करेंगी और नए मकान मुहैया कराने में भी मदद की जाएगी। मेयर एडम्स ने कहा कि 32 लोग बुरी तरह झुलस गए और उनकी जान को खतरा है, नौ लोगों की हालत गंभीर है और 22 अन्य खतरे से बाहर हैं।


न्यूयॉर्क सिटी दमकल विभाग के आयुक्त डेनियल निग्रो ने घटना को बेहद ‘‘दुखद’’ बताया और कहा कि आग लगने की सूचना मिलने के तीन मिनट के भीतर की दमकल कर्मी मौके पर पहुंच गए थे। उन्होंने कहा, ‘‘ हॉलवे में ही उन्हें आग मिल गई, बेहद घना धुआं और भीषण आग लगी थी। दमकल कर्मी किसी तरह अंदर दाखिल हुए। धुआं पूरी इमारत में फैल गया था, ऐसा दुर्लभ ही होता है। दमकल कर्मियों को हर मंजिल पर पीड़ित मिले, जिन्हें दिल का दौरा पड़ा गया था या सांस लेने में तकलीफ हो रही थी।’’ उन्होंने बताया कि 32 लोगों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है, जिनकी जान को खतरा है। उन्होंने कहा कि ‘‘इलेक्ट्रिक स्पेस हीटर के खराब होने’’ के कारण आग लगी। हीटर एक अपार्टमेंट के कमरे में था। आग पहले एक कमरे में फैली और फिर पूरे अपार्टमेंट को खाक कर दिया। अपार्टमेंट का दरवाजा खुला था, इसलिए आग और धुआं हर जगह फैल गया। उन्होंने बताया कि ‘एयर टैंक’ खत्म होने के बावजूद दमकलकर्मी इमारत से लोगों को बचाने की कोशिश करते रहे। कई निवासी इसलिए इमारत से नहीं निकल पाए क्योंकि हर जगह घना धुआं फैल गया था। दमकल विभाग ने सोशल मीडिया पर कई संदेश जारी कर नागरिकों से आग से बचने के लिए दरवाजे बंद रखने का आग्रह किया है। विभाग ने एक संदेश में कहा, ‘‘दरवाजे बंद रखने से ही आपकी जान बच पाएगी।’’ इस बीच, ‘सीएनएन’ ने अपनी एक खबर में इमारत से जुड़े दस्तावेज के हवाले से बताया कि आवासीय इमारत 50 साल पुरानी थी और इसमें 120 इकाई थी। इमारत के खिलाफ किसी भी बड़े उल्लंघन का कोई मामला दर्ज नहीं है। पिछले मामूली उल्लंघनों को ठीक कर दिया गया था और कोई संरचनात्मक उल्लंघन का मामला भी सामने नहीं आया है। न्यूयॉर्क सिटी के मेयर एरिक एडम्स ने कहा कि एक प्राथमिकता यह सुनिश्चित करना होगा कि सम्मानपूर्वक तरीके से अंतिम संस्कार किए जाएं और दूसरी यह कि स्थानीय लोगों का सम्पर्क मुसलमान नेताओं से कराया जाए। सरकारी सहायता का अनुरोध करने वाले लोगों के नाम आव्रजन एवं सीमा शुल्क प्रवर्तन को नहीं सौंपे जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि लोग सहज रूप से सामने आए। यह जरूरी है कि हम जमीन पर मौजूद लोगों से जुड़ें ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उन्हें सभी संदेश मिल पाएं।’’ न्यूयॉर्क आपात सेवा के प्रथम आयुक्त क्रिस्टीना फैरेल ने रविवार को ‘सीएनएन’ के फिल मैट्टिंगली से कहा था कि इमारत में रहने वाले लोगों को पास ही के एक माध्यमिक स्कूल में ठहराया गया है। ‘रेड क्रास’ की मदद हमारे पास अब होटल के कमरे और अन्य संसाधन उपलब्ध हैं, जहां लोग रात आराम से गुजार पाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: