झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 15 जनवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 15 जनवरी 2022

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 15 जनवरी

जब तक संपूर्ण देश में हिन्दू एक नहीं होगा, तब तक धर्मांतरण मुक्त भारत नहीं बन पाएगा -ः विहिप प्रांत मंत्री सोहन विश्वकर्मा

  • ‘‘धर्मांतरण मुक्त भारत, धर्मातंरण मुक्त झाबुआ जिला’’ को लेकर विहिप धर्म प्रसार विभाग का सम्मेलन शगुन गार्डन पर हुआ संपन्न, बड़ी संख्या में विहिप के पदाधिकारी-कार्यकर्ता और ग्रामीणजन रहे उपस्थित 

jhabua news
झाबुआ। विश्व हिन्दू परिषद् धर्म प्रसार विभाग द्वारा जिला स्तरीय सम्मेलन का आयोजन 14 जनवरी, शुक्रवार को मकर सक्रांति पर्व के उपलक्ष में स्थानीय शगुन गार्डन पर दोपहर डेढ़ बजे से किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में बाहर से पधारे पदाधिकारियों में विहिप के प्रांत मंत्री सोहन विश्वकर्मा थे। विशेष अतिथि के रूप में विहिप धर्म प्रसार के अन्य प्रदेश पदाधिकारियों में महेश काग, वासुदेव पंड्या, विहिप ‘मेन’ इकाई के जिलाध्यक्ष अंतिम शर्मा मौजूद रहे। सम्मेलन की अध्यक्षता विहिप धर्म प्रसार विभाग के जिला प्रमुख कमलसिंह महाराज ने की। प्रारंभ में अतिथियों ने विद्या और ज्ञान की देवी महा-सरस्वतीजी, भारत माता और जिले के आदिवासी संत समाज सुधारक स्व. खुमसिंह महाराज की तस्वीर पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलन किया गया। अतिथियों का स्वागत विहिप के जिला उपाध्यक्ष जोगाभाई सिंगाड़ एवं कृष्णलाल शाह, जिला मंत्री आशीष सोनी, बजरंग दल के जिला संयोजक राहुल डामोर, सुनिल भट्ट, वरसिंह भाई, अनिल चावड़ा आदि ने किया। बाहर से पधारे अतिथियों का विहिप की ओर साफा-केसरिया झूलड़ी पहनाकर और तीर-कमान भेंटकर कर किया गया। बाद स्वागत उद्बोधन एवं कार्यक्रम के उद्देश्य पर संक्षिप्त प्रकाश विहिप धर्म प्रसार के विभाग प्रमुख आजाद प्रेमसिंह ने डाला।


हिन्दूआंें को एकजुटता का देना होगा परिचय

अपने उद्बोधन में विहिप के प्रांत मंत्री सोहन विश्वकर्मा ने उपस्थित संगठन के समस्त पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार करते हुए ओजस्वी उद्बोधन में कहा कि विश्व हिन्दू परिषद् ने धर्मांतरण मुक्त भारत का जो सपना देखा है, वह पूरे देश में हिन्दूओं की एकजुटता से ही संभव हो सकेगा। हमे अपने मनभेद और मतभेद भूलाकर अपने धर्म और समाज के विस्तारीकरण के बारे में सोचना होगा। यहि हिन्दू धर्म के लोग जागरूक और सजग होंगे, तभी धर्मांतरण पर संपूर्ण देश में रोक लग सकेगी।


झाबुआ जिले में सक्रियता से हो रहा कार्य

विहिप के प्रादेशिक पदाधिकरी महेश काग एवं वासुदेव पंड्या ने बताया कि झाबुआ जिले में विहिप मेन और धर्म प्रसार तथा बजरंग दल मिलकर अवैध धर्मांतरण को रोकने में सक्रियता से कार्य कर रहा है। जिसके सार्थक परिणाम भी सामने आ रहे है और अब जिले में धर्मांतरण पर काफी हद तक रोक भी लग सकी है। उन्होंने उपस्थित ग्रामीणजनों से आव्हान किया कि आप किसी भी प्रकार के प्रलोभन में ना आकर प्रत्येक गांव, फलिये और घर-घर जाकर हिन्दू धर्म की प्राचीनता और इतिहास के बारे में सभी को जागरूक करे।


स्व. खुमसिंह महाराज के सपनों को कर रहे साकार

विहिप के धर्म प्रसार जिला प्रमुख कमलसिंह महाराज ने कहा कि विहिप जिले में हिन्दू संस्कृति एवं परंपरा को संजाने का काम बखूबी कर रहा है। विहिप से जुड़े सभी पदाधिकारी और कार्यकर्ता पूर्णतः सक्रिय एवं जागरूक है। स्व. खुमसिंह महाराज के सपनों को साकार करने की ओर से संगठन और उससे जुड़े समस्तजन पूरी तरह तप्तर है। कार्यक्रम में जिलेभर से आए विहिप धर्म प्रसार के ब्लॉक-प्रखंड प्रमुख पदाधिकारी-कार्यकर्ता और ग्रामीणजन उपस्थित थे। उक्त भव्य कार्यक्रम का संचालन विहिप धर्म प्रसार के जिला मंत्री राजूभाई निनामा ने किया। अंत में आभार विहिप के रमेश निनामा ने माना।


23 जनवरी नेताजी के जन्म दिन से गणतंत्र दिवस समारोह होगें शुरू

  • प्रधानमंत्री के निर्णय का सांसद श्री गुमानसिंह डामोर ने किया स्वागत, राष्ट्रवीरों के प्रति सम्मान देना ही भाजपा सरकार का लक्ष्य

झाबुआ । रतलाम झाबुआ के सांसद गुमानसिंह डामोर ने केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा गणतंत्र दिवस समारोह अब से 23 जनवरी से मनाये जाने के निर्णय का स्वागत किया है । सांसद गुमानसिंह डामोर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नेताजी सुभाषचन्द्र बोस के जन्म दिन 23 जनवरी से मनाने का जो निर्णय लिया है वह निश्चित ही राष्ट्रनायकों के प्रति पूरे सम्मान का प्रतिक है । अब से नेताजी सुभाषचन्द्र बोस के जन्मदिन 23 जनवरी से शुरू होगा गणतंत्र दिवस समारोह तथा, 29 को बीटिंग द रिट्रीट के साथ खत्म होगा । श्री डामोर के अनुसार अभी तक 24 जनवरी से गणतंत्र दिवस की औपचारिक शुरुआत हो जाती है, जिसका समापन 29 जनवरी को बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम के साथ होता रहा है। इस दौरान सेना की तीनों शाखाएं पारंपरिक धुन बजाते हुए मार्च करती है।ं. विजय चौक में होने वाले इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राष्ट्रपति होते हैं ।. इस दौरान राष्ट्रपति से गणतंत्र दिवस समारोह खत्म करने की अनुमति मांगी जाती है। अब नेताजी के जन्मदिवस 23 जनवरी से ही गणतंत्र दिवस की शुरुआत हो जाएगी. । श्री डामोर ने बताया कि इससे पहले केन्द्र की मोदी सरकार ने सुभाषचंद्र बोस की जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाना शुरू किया था। मोदी सरकार ने साल 2014 में सत्ता में आने के बाद पराक्रम दिवस मनाने का ऐलान किया था। अब प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर बताया है कि 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस के रूप में मनाया जाएगा। जब से प्रधानमंत्री मोदी सत्ता में आए हैं, तब से अभी तक इन महत्वपूर्ण दिवस पर विशेष आयोजन का करने या महत्वपूर्ण दिवस मनाने का ऐलान कर चुके जो निश्चित ही भारत के गौरव के साथ ही राष्ट्रवीरों का सम्मान ही है । संासद डामोर के अनुसार केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा इसके पूर्व भी 14 अगस्त को विभाजन भयानक स्मृति दिवस, 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस (सरदार पटेल की जयंती), 15 नवंबर को आदिवासी गौरव दिवस (भगवान बिरसा मुंडा का जन्मदिन) , 26 नवंबर को संविधान दिवस, 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस (4 साहिबजादों को श्रद्धांजलि), दिवस की घोषणा कर चुकी है। अब नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की जन्म तिथि 23 जनवरी से गणतंत्र दिवस समारोह प्रारंभ करने की घोषणा से पूरे देश में उत्साह एवं प्रसन्नता जाहिर की जारही । हमारे महापुरूषों का स्मरण जहां नई पीढी को उर्जा प्रदान करता हे वही हम सभी का माथा भी गर्व से उंचा हो जाता हे । श्री डामोर पूरे लोक सभा क्षेत्र की ओर से 23 जनवरी से गणतंत्र दिवस समारोह प्रारंभ करने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का धन्यवाद ज्ञापित किया है ।उक्तजानकारी जिला आईटी प्रकोष्ठ प्रभारी अर्पित कटकानी ने दी ।


श्री ब्रह्मा बाबाजी के 53वें पुण्य स्मृति दिवस के उपलक्ष में विश्व शांति हेतु त्रि-दिवसीय अखंड राजयोग का आयोजन ग्राम गोपालपुरा स्थित शिव-स्मृति भवन पर 16 जनवरी से, विश्व शांति, मानसिक शांति एवं कोरोना को समाप्त करने हेतु सत्त 72 घंटे होगा महा-मेडिटेशन

  • जिले के सभी भ्राता-बहनों से सहभागिता हेतु अपील

jhabua news
झाबुआ। श्री प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के संस्थापक पिता श्री ब्रह्मा बाबाजी के 53वें पुण्य स्मृति दिवस 18 जनवरी को संस्था द्वारा विश्व शांति के उद्देश्य से त्रि-दिवसीय उत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। इस उपलक्ष में ब्रह्माकुमारिज् परिवार के संपूर्ण विश्व के 140 देशो के 12 लाख से भी अधिक ब्रह्मा वत्स निरंतर 72 घंटे विश्व शांति हेतु अखंड राजयोग (मेडिटेशन) का प्रयोग करेगे। इसी क्रम में शहर के समीपस्थ ग्राम गोपालपुरा स्थित ब्रह्माकुमारिज के स्थानीय सेवा केंद्र पर भी ब्रह्मा वस्त प्रतिदिन दोपहर 3 से रात्रि 8 बजे तक राजयोग का अभ्यास कर विश्व शांति का हवन कर रहे है। गोपालपुरा संस्था की बीके जयंती दीदी ने बताया कि 16, 17 एवं 18 जनवरी को तीन दिनों तक विशेष 72 घंटे राजयोग का महा-अभ्यास होगा।


अधिक से अधिक भाग लेकर प्राप्त करे मानसिक शांति

बीके ज्योति दीदी ने शहर सहित आसपास के क्षेत्रों के समस्त भाई-बहनों से विश्व मे व्याप्त मानसिक अशांति, कोरोना वायरस, अराजकता को समाप्त करने हेतु किए जा रहे इस महा-राजयोग में समयानुसार उपस्थिति दर्ज करवाकर सहभागी बनने हेतु आव्हान किया है। साथ ही इस दौरान परम् पिता (शिव बाबा) की याद (राजयोग) के कवच से मन को सशक्त कर खुशहाल एवं निरोगी जीवन जीने का मंत्र को भी साकार करे।


संकुल केंद्र झाबुआ अंर्तगत शासकीय बालक उमा विद्यालय रातीतलाई में प्रतिभा पर्व की महत्वपूर्ण बैठक का हुआ आयोजन, 15 से 18 वर्ष तक के छात्र-छात्राओं के शत-प्रतिशत टीकाकरण पर दिया गया जोर, शाला त्यागी बच्चों को भी लगाए जाए टीके


jhabua news
झाबुआ। संकुल केंद्र झाबुआ अंर्तगत शासकीय बालक उमा विद्यालय रातीतलाई में प्रतिभा पर्व की महत्वपूर्ण बैठक संपन्न हुई। उक्त बैठक संस्था प्राचार्य रविन्द्रसिंह सिसोदिया, जिला परियोजना समन्वयक रालूसिंह सिंगार, खंड अकादमिक समन्वयक इदरीस खान एवं चंदन भाभर, जनशिक्षक जुल्फिकार अली सैयद एवं ब्रजकिशोर सिकरवार तथा संकुल के समस्त संस्था प्रधान की उपस्थिति में संपन्न हुई। प्रारंभ में प्राचार्य श्री सिसोदिया ने वैक्सीनेशन पर विस्तृत चर्चा की। जिसमें 15 से 18 वर्ष तक के समस्त छात्र-छात्राओ का टीकाकरण करवाने हेतु आव्हान किया। साथ ही शाला त्यागी बच्चों को भी टीका लगवाने हेतु संस्था प्रधान को निर्देशित किया। खंड अकादमिक समन्वय श्री खान ने प्रतिभा पर्व के बारे में विस्तृत रूप से बताया एवं संशोधित समय सारणी को समझाया तथा किस प्रकार से स्कूल खुला रहता है या बंद रहता है, तो परीक्षा कैसे संपन्न करवाई जाए, इसकी विस्तृत रूप से जानकारी दी।


शत-प्रतिशत टीकाकरण कार्य हो

जनशिक्षक चंदन भाभर ने 100 दिवसीय पठन अभियान को समझाया तथा उदाहरण देकर इस कार्य को बताया। डीपीसी श्री सिंगार ने उक्त सभी बिंदुओं पर संस्था प्रधान से चर्चा की एवं सभी अभियान में झाबुआ संकुल केे आगे रहने पर प्रशंसा व्यक्त की तथा विभिन्न प्रश्न पूछकर सहीं उत्तर पर भी सराहना की। उन्होंने उपस्थित सभीजनों को विद्यालयांे में 15 से 18 वर्ष तक के सभी छात्र-छात्राओं का शत-प्रतिशत टीकाकरण करवाने हेतु निर्देशित किया। बैठक का सफल संचालन जनशिक्षक बृजकिशोरसिंह सिकरवार ने किया। अंत में आभार जुल्फीकार अली सैयद ने माना।


झाबुआ के छोटे तालाब स्थित राधा-कृष्ण बिहारी मंदिर का 16वां स्थापना दिवस मनाया गया, मंदिर समिति एवं आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट ने मिलकर महाआरती एवं प्रसादी का किया विशेष आयोजन

  • कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए इम्यूनिटी बढ़ाने हेतु सभी को दवाई पिलाई गई, शाम को महिला मंडल ने किए भजन-किर्तन

jhabua news
झाबुआ। शहर के छोटे तालाब स्थित राधा-कृष्ण बिहारी मंदिर में मकर संक्राति पर्व एवं मंदिर के 16वें स्थापना दिवस के उपलक्ष में विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम संपन्न हुए। जिसमें प्रातःकाल भगवान का महाभिषेक, विशेष श्रृगार, मंगला आरती बाद दोपहर में महाआरती का आयोजन कर सभी को तिल-पपड़ी, ड्रायफ्रूट्स, फल-मिष्ठान आदि का प्रसाद वितरित किया गया। इस दौरान मंदिर में आने वाले समस्त भक्तजनांे को कोरोना की तीसरी लहर से निपटने हेतु शरीर का इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाने के लिए दवाई भी पिलाई गई। जानकारी देेते हुए मंदिर के सेवक पं. गोपालदास बैरागी ने बताया कि प्रतिवर्ष 15 जनवरी, को मकर संक्राति के दिन ही मंदिर का स्थापना दिवस रहता है। इस बार शासन-प्रशासन के कोविड के नियमों का पालन करते हुए मंदिर की वर्षगांठ मनाई गई। जिसमें सुबह 9 बजे राधा-कृष्ण बिहारी एवं मंदिर में स्थापित गणेशजी एवं हनुमानजी सहित समस्त प्रतिमाओं का अभिषेक, पूजन कर मंगला आरती कर सुंदर श्रृंगार किया गया। दोपहर ठीक 12 बजे महाआरती का आयोजन हुआ। बाद सभी को प्रसादी वितरण के साथ इम्यूनिटी बढ़ाने हेतु दवाई पिलाई गई। इस दौरान सभी भक्तजनों में राधा-कृष्ण सरकार के जमकर जयघोष भी लगाए। शाम 5.30 से 7 बजे तक मंदिर से जुड़ी महिलाओं ने भगवान के समुधर संगीतमय भजनों की प्रस्तुति देकर उस पर नृत्य भी किया। स्थापना दिवस के उपलक्ष में मंदिर में दिनभर भक्तजनों का दर्शन-पूजन के लिए आना-जाना लगा रहा।


इनकी रहीं सहभागिता

सभी आयोजन में आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष राजेश नागर, आजीवन अध्यक्ष श्रीमती वंदना व्यास, सचिव नीरजसिंह राठौर, कोषाध्यक्ष पं. द्विजेन्द्र व्यास, सेवा प्रकल्प अध्यक्ष रविराजसिंह राठौर, सचिव सुनिल चौहान, परामर्शदाता सुधीरसिंह कुशवाह, वरिष्ठ सदस्य इंदरसेन संघवी, मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी, श्री शाह, तन्मय नागर सहित मंदिर समिति से जुड़ी महिलाआंे में सिद्धी बैरागी, अंगूरबाला, पुष्पा, सुमित्रा, अर्चना एवं आरती बैरागी, मीरा एवं छाया कुश्वाह आदि की मुख्य रूप से उपस्थित रहीं।


झाबुआ के कैथोलिक चर्च प्रांगण में हुआ तीन दिवसीय फुटबाल प्रतियोगिता का शुभारंभ, जिले के अलग-अलग स्थानों की टीमे ले रहंी भाग, अंतिम दिन विजेताओं को प्रदान किए जाएंगे पुरस्कार


jhabua news
झाबुआ। शहर के बस स्टेंड के पीछे न्यू कैथोलिक मिशन स्कूल के प्रांगण में 14 जनवरी, शुक्रवार से तीन दिवसीय फुटबाल प्रतियोगिता का शुभारंभ हुआ। यह प्रतियोगिता एंजल क्लब द्वारा आयोजित की जा रहंी है। जिसमें जिले के अलग-अलग स्थानों की टीमे भाग ले रहीं है। जानकारी देते हुए आयोजक एंजल क्लब के अध्यक्ष आशीष भूरिया एवं सचिव आनंद खड़िया ने बताया कि उक्त आयोजन शासन-प्रशासन के कोविड के नियमों के पालन के साथ किया जा रहा है। यह 13वां आयोजन कैथोलिक डायोसिस झाबुआ के पूर्व बिश्प स्वामी डॉ. बंसिल भूरिया एवं जिले के अन्य दिवगंत फादरगणों की स्मृति में हो रहा है। शुभारंभ कैथोलिक चर्च के प्रभारी फा. प्रताप बारिया एवं फा. विरेन्द्र भूरिया ने प्रथम मैच खेलने वाली टीम एंजल क्लब सी और ईश्गढ़ पिपलीया से परिचय प्राप्त कर लिया।


दो दिन ज्योति भवन में होंगे मैच

अतिथियों का स्वागत पुष्पामाला पहनाकर आयोजकों ने किया। बाद मैच आरंभ हुए। मैच में प्रथम एवं द्वितीय पुरस्कार रखा गया है। आगामी 15 एवं 16 जनवरी, को दो दिनांे तक स्थानीय दिलीप क्लब स्थित ज्योति भवन में मैचों का आयोजन किया जाएगा। तीन दिवसीय प्रतियोगिता को सफल बनाने में आयोजक क्लब के समस्त पदाधिकारी एवं सदस्य तत्परता से जुटे हुए है।


’मकर संक्रांति उत्साह से भरने वाला वैदिक उत्सव है ’’- श्रीमती सूरज डामोर

  • महिला पतंजलि योग समिति ने वनवासी आश्रम के बच्चों के बीच मनाया संक्रांति पर्व, हल्दी कुंमकुम का किया गया आयोजन ।

jhabua news
झाबुआ । तमसो मा ज्योतिर्गमय’ अंधकार में से प्रकाश की ओर प्रयाण करने की वैदिक ऋषियों की प्रार्थना इस दिन के संकल्पित प्रयत्नों की परंपरा से साकार होना संभव है। कर्मयोगी सूर्य अपने क्षणिक प्रमाद को झटककर अंधकार पर आक्रमण करने का इस दिन दृढ़ संकल्प करता है। इसी दिन से अंधकार धीरे-धीरे घटता जाता है। मकर संक्रांति के दिन से हमें कोई भी एक संकल्प पूरे साल के लिए अपनाकर उसे पूरा करने का प्रयास करना चाहिए। मकर संक्रांति उत्साह से भरने वाला वैदिक उत्सव है। प्रकृति के कारक के तौर पर इस पर्व में सूर्य देव को पूजा जाता है, जिन्हें शास्त्रों में भौतिक एवं अभौतिक तत्वों की आत्मा कहा गया है। हम परम सत्ता एवं प्रकृति रूपी शक्ति से प्रार्थना अथवा कामना करते हैं , कि मेरा मन शान्तिमय विचारों वाला होवे । यह सब हमारे सकंल्पशक्ति से ही सम्भव है। उक्त सारगर्भित उद्बोधन स्थानीय वनवासी आश्रम झाबुआ में महिला पंतंजलि योग समिति द्वारा वनवासी बच्चों को कम्बल वितरण एवं उन्हे स्वल्पाहार कराने तथा इन बच्चों के बीच मकर संक्रांति पर्व मनाने के अवसर पर पूर्व आईएएस अधिकारी श्रीमती सूरज डामोर ने उपस्थित बच्चों एवं महिला योग समिति की महिलाओं को संबोधित करते हुए कही । महिला पतंजलि योग समिति द्वारा मकर संक्रांति के अवसर पर वनवासी आश्रम में वहां अध्ययन कर रहे निवासरत वनवासी बालकों के साथ मनाया गया । समिति की सदस्याओं ने बच्चों के साथ स्वल्पाहार भी किया तथा महिला योग समिति की श्रीमती सूरज डामोर द्वारा बालकों को गरम कंबल भेंट किए गए । इस अवसर पर रूकमणी वर्मा ने मकर संक्रांति का पर्व क्यों मनाया जाता है, के बारे में संक्षिप्त जानकारी दी । श्रीमती किरण शर्मा ने कहा कि तन-मन एवं अन्तर्मन के लिए शक्तिदाता है- मकर संक्रांति का महापर्व। उन्होने कहा कि सूर्य एक राशि में एक माह रहते हैं । सूर्य प्रत्येक माह और राशि बदलते हैं। सूर्य का एक राशि से दूसरे राशि में जाना संक्रमणकाल या संक्रांति कहलाती है। मकर संक्रांति का महत्व इसलिए ज्यादा है कि इस दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में आते हैं और यही से उत्तरायण आरम्भ हो जाता है। इस अवसर पर उपस्थित महिलाओं द्वारा  परस्पर हल्दी कुंकु लगा कर एक दूसरों को शुभकामनाएं दी गई । इस अवसर पर सूरज डामोर, रुकमणी वर्मा, किरण शर्मा, माया पवार ,कृति छाजेड, रजनी पाटीदार,, राधा पटेल पूनम सिन्हा, लीला पटेल, मोना, गीता वाणी ,किरण पाटीदार ,शोभा वमार्, अर्चना सिसोदिया, मधु व्यास, प्रभावी पाटीदार एवं आश्रम संचालक गणेश भाई, महेश भाई ,एवं मुजाल्दे भाभी तथा आश्रम के बच्चे शामिल हुए।


शहीद चंद्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय झाबुआ द्वारा ग्राम कागझर में किया गया जागरूकता कार्यक्रम, महिलाओं के साथ समभाव रखने एवं उन्हें समान अधिकार दिए जाने हेतु किया प्रेरित


झाबुआ। शहीद चंद्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय झाबुआ द्वारा मप्र के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की घोषणा क्रमांक सी-537 एवं सी-538 के अंतर्गत ग्राम कागझर में युवाओं को महिलाओं के प्रति समभाव रखने तथा समाज में समान अधिकार प्रदान करने संबंधी जागरूक किया गया। साथ ही महिलाओं के घरेलू कार्य में मद्द करने हेतु प्रेरित किया। घोषणा क्रमांक सी-538 के अनुसार महिलाओं के विरुद्ध होने वाले अपराधों में युवाओं की मानसिक प्रवृत्ति में परिवर्तन पर प्रोफेसर जेएस भूरिया ने व्याख्यान दिया। इस अवसर पर महाविद्यालय की वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. अंजना मुवेल, डॉ. संजू गांधी,  प्रो. दिलीपसिंह राठौर, डॉ. संगीता मसानी भाबोर, डॉ. लोहारसिंह ब्राह्मणे, प्रो. मुकामसिंह चौहान, प्रो. अंतिम कलवार, दीपक भूरिया एवं महाविद्यालय के कई छात्र छात्राएं उपस्थित रहे।


कोविड टीकाकरण के लक्ष्य को शत प्रतिशत पूरा करावें- मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • मुख्यमंत्री ने वीसी के माध्यम से क्राईसिस मैनेजमेंट ग्रुपों को किया संबोधित कोरोना वारयस संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव के दिये निर्देश

jhabua news
झाबुआ। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोविड-19 के पॉजिटिव तथा एक्टिव केसो की संख्या में तेजी से बढोत्तरी को दृष्टिगत रखते हुए कोविड टीकाकरण के लक्ष्य को शत प्रतिशत पूरा कराने की दिशा में कदम उठाये जावे। जिससे कोविड टीका लगने से तीसरी लहर को रोकने में सफलता मिलेगी। वे आज मंत्रालय भोपाल से वीसी के माध्यम से जिलों के जिला, ब्लॉक, पंचायत स्तरीय क्राइसेस मेंनेजमेंट गु्रपों को सम्बोंधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि तीसरी लहर की बडी चुनौती हम सभी के सामने है, जिससे घबराने की जरूरत नही है, बल्कि सर्तक रहने की आवश्यकता है। उन्होने कहा कि इस लहर के दौरान कोविड-19 का वायरस गले तक पहुंच रहा है। बल्कि भीतर नही जाता है। उन्होने कहा कि तीसरी लहर से बचने के लिए जिलों को दिया गया कोविड-19 टीकाकरण का लक्ष्य शत प्रतिशत पूरा किया जावे। इसको पूरा करने में सभी की भागीदारी आवश्यक है। उन्होने कहा कि जनप्रतिनिधि और प्रभारी मंत्री अपने क्षेत्रो में टेसिं्टग पर अधिक ध्यान दें। उन्होने काईसिस मैनेजमेंट गु्रपों से अपील की कि टीकाकरण से कोई भी नही छूटना चाहिए। साथ ही शहर और गांवो को केन्द्रीत कर संपूर्ण टीकाकरण कराया जावे। इस दिशा में पर्याप्त मात्रा में फीवर क्लीनिकों की संख्या बढाई जावे। साथ ही टेस्ट में आने वाले पॉजिटिव व्यक्तियों को होमआईसोलेट किया जावे। साथ ही ऐसे मरीजों से सतत संपर्क रखा जावे और उनको शीघ्र दवाईयो की किट पहुंचाई जावे। इसके अलावा आवश्यकतानुसार कोविड मरीजों को भर्ती कराने के लिए एम्बुलेस तैयार रखी जावे। उन्होने कहा कि जनता की सेवा करना हम सभी का दायित्व है। इसलिए कोविड-19 की गाइडलाइनों का पालन करने में सहयोग किया जावे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी को मास्क लगाने के लिए प्रेरित किया जावे। साथ ही सोशल डिस्टेसिंग की व्यवस्था कायम रखी जाकर भीड-भाड इक्कठी नही होनी चाहिए। उन्होने कहा कि संभागायुक्त कोविड-19 के अतंर्गत रिपोर्ट को 24 घंटे में पहुंचाने के कार्य पर निगरानी रखे। उन्होने कहा कि काईसिस मैनेजमेंट गु्रप के सदस्य अपने क्षेत्र के ऑक्सीजन प्लांटो को चलाकर देखे। साथ ही वैक्सीन लगाने की व्यवस्था को कारगर बनाने में मदद करें। संसाधनो की कमी नही आने दी जावे। उन्होने कहा कि टेसिं्टग की व्यवस्था बस स्टैंड, एयरपोर्ट पर भी कराई जावे। उन्होने कहा कि जिला चिकित्सालयों का निरीक्षण भी काईसिस मैनेजमेंट समिति समय-समय पर करती रहें। साथ ही होमआईलेशन की व्यवस्था को भी चैक किया जावे। इसी प्रकार मरीजो को उनके उपचार आदि की जानकारी ली जावे। उन्होने कहा कि जिले के कोविड केयर सेंटर को देख लिया जावे। साथ ही सेंटर की जानकारी रोज प्राप्त की जावे। उन्होने कहा कि जिला कलेक्टर पोर्टल एस-3 पर जानकारी को अपलोड कराने की व्यवस्था सुनिश्चित करे। साथ ही ऑक्सीजन की व्यवस्था, टीकाकरण के अलावा कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन कराने की दिशा में कदम उठावे। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पॉजिटिव तथा एक्टिव मरीजो की संख्या में बढोत्तरी को दृष्टिगत रखते हुए कक्षा 1 से कक्षा 12वीं तक समस्त स्कूल एवं हास्टल 31 जनवरी 2022 तक किया बंद रहेंगे। जनवरी 2022 में आयोजित होने वाली प्री बोर्ड परीक्षाओ के संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा पृथक से आदेश जारी किये जावेगे। सभी प्रकार के मेले (धार्मिक/व्यवसायिक) जिनमें जनसमुह एकत्रित होता है, प्रतिबंध रहेगे। समस्त जुलूस या रैली सामाजिक प्रतिबंध रहेगी। समस्त राजनैतिक/सांस्कृतिक/धार्मिक/सामाजिक/शैक्षणिक/मंनोरजन आदि के आयोजनों में 250 व्यक्तियों से अधिक की उपस्थिति प्रतिबंधित रहेगी। बंद हॉल में हॉल की क्षमता के 50 प्रतिशत से कम की उपस्थिति के ही आयोजन/कार्यक्रम आयोजित हो सकेंगे। खेलकूद संबंधी गतिविधियों के लिए स्टेडियम की क्षमता के 50 प्रतिशत से अधिक उपस्थिति के आयोजन प्रतिबंधित रहेंगे। कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन अनिवार्य होगा। कोविड उपयुक्त व्यवहार जैसे मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेसिंग आदि का पालन सुनिश्चित कराया जावे। मास्क नही लगाने वाले व्यक्तियों पर नियमानुसार जुर्माना वसूली की कार्यवाही की जावे। आज इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा, पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता ,मुख्य अधिकारी जिला पंचायत सिद्धार्थ जैन ,अपर कलेक्टर श्री जीएस बघेल, डिप्टी कलेक्टर डॉ श्री अभय सिंह खराड़ी ,मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी श्री डॉक्टर जे पी एस ठाकुर ,जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ राहुल गणावा, जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री राजाराम खन्ना, व्यापारी संघ के अध्यक्ष श्री संजय काठी, सामाजिक महासंघ के अध्यक्ष श्री नीरज राठौर एवं अन्य उपस्थित थे।इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कलेक्टर श्री सोमेश  मिश्रा के द्वारा जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए किए जा रहे प्रयासों का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया। जिस पर माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा संतोष व्यक्त किया गया।


नगरीय निकायों की मतदाता सूची का होगा वार्षिक पुनरीक्षण-2022


झाबुआ,। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगरीय निकायों के निर्वाचन के लिए एक जनवरी 2022 की संदर्भ तारीख के आधार पर फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण के लिए कार्यक्रम निर्धारित कर दिया गया है। सचिव राज्य निर्वाचन आयोग श्री बी.एस. जामोद ने जानकारी दी है कि रजिस्ट्रीकरण एवं सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, मास्टर ट्रेनर्स की नियुक्ति, दावे-आपत्ति केन्द्रों का निर्धारण और जिला स्तरीय प्रशिक्षण 14 से 17 जनवरी तक किया जाएगा। मतदाताओं की शिफिं्टग संबंधी विवादों के निराकरण के लिये 14 फरवरी को बैठक होगी। मतदाता सूची के प्रारूप प्रकाशन के संबंध में पृथक से कार्यक्रम घोषित किया जायेगा।


घर बैठे पाए आयुष चिकित्सा का लाभ आयुष क्योर एप पर


झाबुआ। मध्यप्रदेश शासन आयुष विभाग ने कोरोना की तीसरी लहर की रोकथाम के लिए जन सामान्य को आयुष स्वास्थ्य सेवा घर पर ही सुलभ कराने के उद्देश्य से यह टेलीमेडिसिन एप लॉन्च किया है। इस “आयुष क्योर“ एप का उपयोग रोगी तथा चिकित्सक दोनों कर सकेंगे। इसके द्वारा रोगी सीधे वीडियो कॉल के माध्यम से चिकित्सक से परामर्श प्राप्त कर सकेंगे। “आयुष क्योर“ एक एंड्रॉयड आधारित ऐप है। यह गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकेगा। रजिस्ट्रेशन के बाद आप अपनी पसंद की आयुष चिकित्सा पद्धति (आयुर्वेद, होम्योपैथी और यूनानी) के विशेषज्ञ चिकित्सक से अपनी सुविधा अनुसार अपॉइंटमेंट बुक कर सकेंगे। चुने गए चिकित्सक द्वारा निर्धारित समय अनुसार ही ऐप के माध्यम से वीडियो कॉल कर चिकित्सा परामर्श दिया जाएगा। आयुष चिकित्सा पद्धति को घर-घर तक पहुंचाने के लिए एवं जो रोगी चिकित्सालय में पहुंच पाने में असमर्थ है, उनके लिए यह सुविधा अच्छी साबित होगी।


त्रि-स्तरीय पंचायत का परिसीमन-सामान्य निर्वाचन वर्ष 2022


झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा दिनांक 14 जनवरी को मध्यप्रदेश शासन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग भोपाल के परिपत्र क्रमाक /एफ 16-5/2022/22/पं-2/498 दिनंाक 11 जनवरी 2022 से प्राप्त निर्देशों का जारी किया है। जिसमें त्रि-स्तरीय पंचायत का परिसीमन-सामान्य निर्वाचन वर्ष 2022 के परिसीमन की कार्रवाई हेतु निर्देश प्राप्त हुए है। पत्र में उल्लेखित समयबद्ध कार्यक्रम के तहत आगामी कार्यवाही समय-सीमा में संपन्न की जाना है। उक्त निर्वाचन क्षेत्रों का परिसीमन एवं निर्धारण कार्यक्रम निम्नानुसार है। ग्राम पंचायतों का कार्यक्रम 1 क. नगरीय निकाय में सम्मिलित या पृथक ग्राम या ग्राम पंचायत/किसी सिंचाई परियोजना से डूब में आ गये ग्राम या ग्राम पंचायत/पिछले परिसीमन में छुट गये ग्राम (जो वर्तमान में नगरीय पंचायत ग्रामीण क्षेत्र किसी में भी सम्मिलित नहीं हैं) ऐसी ग्राम पंचायत का विस्थापन/पुनर्गठन किये जाने संबंधी प्रारंभिक प्रकाशन(जनगणना 2011 के आधार पर) दिनंाक 17 जनवरी 2022 (सोमवार)। 1 ख.नगरीय निकाय में सम्मिलित या पृथक ग्राम या ग्राम पंचायत/किसी सिंचाई परियोजना से डूब में आ गये ग्राम या ग्राम पंचायत/पिछले परिसीमन में छूट गये ग्राम (जो वर्तमान में नगरीय या पंचायत ग्रामीण क्षेत्र में किसी में भी सम्मिलित नहीं हैं) ऐसी ग्राम पंचायत की स्थापना/विस्थापन/पुनर्गठन किये जाने संबंधी प्रारंभिक प्रकाशन कर दावे आपत्तियॉ एवं सुझाव प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि। 25 जनवरी 2022 (मंगलवार)। 1 ग. नगरीय निकाय में सम्मिलित या पृथक ग्राम या ग्राम पंचायत/किसी सिंचाई परियोजना से डूब में आ गये ग्राम या ग्राम पंचायत/पिछले परिसीमन में छुट गये ग्राम (जो वर्तमान में नगरीय या पंचायत ग्रामीण क्षेत्र किसी में भी सम्मिलित नहीं हैं) ऐसी ग्राम पंचायत की स्थापना/विस्थापन/पुनर्गठन किये जाने संबंधी प्रारंभिक प्रकाशन पर दावें आपत्तियॉ एवं सुझाव पर निराकरण की तिथि 29 जनवरी, 2022 (शनिवार)। नगरीय निकाय में सम्मिलित या पृथक ग्राम या ग्राम पंचायत/किसी सिंचाई परियोजना से 1 घ. नगरीय निकाय में सम्मिलित या पृथक ग्राम या ग्राम पंचायत/किसी सिंचाई परियोजना से डूब में आ गये ग्राम या ग्राम पंचायत/पिछले परिसीमन में छूट गये ग्राम (जो वर्तमान में नगरीय या पंचायत ग्रामीण क्षेत्र किसी में भी सम्मिलित नहीं हैं) ऐसी ग्राम पंचायत का विस्थापन/पुनर्गठन किये जाने संबंधी प्रारंभिक प्रकाशन कर दावे आपत्तियॉ एवं सुझाव पर निराकरण उपरांत धारा 3 के अंतर्गत ग्राम पंचायत के गठन का अंतिम प्रकाशन 03 फरवरी, 2022( गुरूवार)। 2 क. ग्राम पंचायत के वार्ड का निर्धारण तथा उनका प्रारंर्भिक प्रकाशन। 11 फरवरी,2022 (शुक्रवार)। 2 ख. प्रभावित ग्राम पंचायत के वार्डो के प्रारंभिक प्रकाशन पर दावे आपत्ति एवं सुझाव प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि। 18 फरवरी, 2022 (शुक्रवार)। 2 ग. प्रभावित ग्राम पंचायत के वार्डो के प्रारंभिक प्रकाशन पर प्राप्त दावे आपत्ति एवं सुझाव पर निराकरण की तिथि।, 21 फरवरी, 2022 (सोमवार)। 2 घ. प्रभावित ग्राम पंचायत के वार्डो के प्रारंभिक प्रकाशन पर प्राप्त दावे, आपत्ति एवं सुझाव के आधार पर निराकरण एवं अधिसूचना का अंतिम प्रकाशन। 23 फरवरी, 2022 (बुधवार)। जनपद एवं जिला पंचायत का कार्यक्रम 3 क. जनपद पंचायत और जिला पंचायत के निर्वाचन क्षेत्रों का निर्धारण तथा उनके क्षेत्र आदि का प्रारंम्भिक प्रकाश्न 04 फरवरी, 2022 (शुक्रवार)। 3 ख. जनपद एवं जिला पंचायत के निर्वाचन क्षेत्रों के प्रारंभिक प्रकाशन पर दावें आपत्ति एवं सुझाव प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि।11 फरवरी, 2022 (शुक्रवार)। 3 ग. जनपद एवं जिला पंचायत के निर्वाचन क्षेत्रों के प्रांरभिक प्रकाशन पर दावे आपत्ति एवं सुझाव के निराकरण करने की तिथि। 15 फरवरी,2022 (मंगलवार)। 3 घ. प्रभावित जनपद पंचायत,जिला पंचायत के निर्वाचन क्षेत्रों के प्रारंभिक प्रकाशन पर प्राप्त सुझाव एवं आपत्तियों के निराकरण एवं अधिसूचना का अंतिम प्रकाशन।18 फरवरी, 2022 (शुक्रवार)।  4 उपरोक्त क्रमांक (1) से क्रमांक (5)का समेकित प्रतिवेदन प्ररूप-5 एवं 6 में आयुक्त, पंचायतराज संचालनालय भोपाल को भेजने की अंतिम तिथि 24 फरवरी, 2022 (गुरूवार)। 5. आयुक्त पंचायत राज संचालनालय द्वारा संपूर्ण राज्य की संकलित जानकारी एवं प्रतिवेदन राज्य शासन को भेजने की अंतिम तिथि। 28 फरवरी, 2022 (सोमवार)। उपरोक्त अनुसार पत्र मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत समस्त को भेजे गए है। जिस के साथ प्रेषित परिपत्र भी भेजे गए है। जिसमें में उल्लेखित निर्देशों के तहत समस्त ग्राम पंचायत में चस्पा कर कार्यवाही की जाना सुनिश्चित करें। साथ ही समय सीमा के पूर्व प्रत्येक जनपद पंचायत का प्रतिवेदन जिला पंचायत कार्यालय झाबुआ को भिजवाना सुनिश्चिित करें। जिससे की समय सीमा में जानकारी वरिष्ठ कार्यालय को भेजी जा सकें।


युवाओं को यूपीएससी, एमपीपीएससी की निःशुल्क कोचिंग की सुविधा, प्रभारी मंत्री द्वारा किया गया संकल्प योजना का शुभारंभ


झाबुआ,। राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर शासकीय आदर्श महाविद्यालय झाबुआ में संकल्प योजना के अंतर्गत सिविल सेवा केरियर गाइडेंस के लिए  यू.पी.एस.सी, एम.पी.पीएससी और अन्य प्रतियोगी परीक्षा के लिए निःशुल्क कोचिंग का शुभारंभ 12 जनवरी को जिले के माननीय प्रभारी मंत्री श्री इन्दरसिंह परमार, राज्यमंत्री, स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) एवं सामान्य प्रशासन विभाग मध्यप्रदेश शासन, के द्वारा किया गया। आदिवासी अंचल के लिए इस प्रकार संकल्प योजना का शुभारंभ किया जाना बड़े गौरव की बात है और यह विद्यार्थियों को लाभान्वित करेगा। इस अवसर पर माननीय श्री कलसिंह भाबर जी, माननीय श्री शांतिलाल बिलवाल जी अन्य अतिथि भी उपस्थित रहे। संकल्प योजना निःशुल्क कोचिंग का शुभारंभ करने में जिले के जिलाधीश माननीय श्री सोमेश मिश्रा जी के मार्गदर्शन में किया गया उन्होंने बताया कि कोचिंग के मार्गदर्शन के लिए बाहर से भी एक्सपर्ट को बुलाया जाएगा और लेक्चर का आयोजन किया जाएगा और विद्यार्थियों को इस से जुड़ी हर सुविधाओं संसाधन उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा कार्यक्रम का संचालन व्याख्याता लोकेन्द्रसिंह चौहान द्वारा किया गया इस अवसर पर जिले के एसपी आशुतोष गुप्ता जी, सीईओ जिला पंचायत सिद्धार्थ जैन, पेटलावद एसडीएम श्री शिशिर गेमावत के साथ अग्रणी महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ जे सी सिन्हा ने स्वागत भाषण दिया गया और आदर्श महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. एस सी. जैन आभार प्रकट किया गया, इस अवसर पर महाविद्यालय प्रशासनिक अधिकारी डॉ दिनेश कुमार पाटीदार, महाविद्यालय के सहायक प्राध्यापक डॉ राकेश बघेल, डॉ दिलीप परसेडिया, डॉ शिल्पी वर्मा, प्रो. प्रगति मिमरोट, डॉ ब्रह्म प्रकाश डा. राज चंदेलकर  प्रो. धूल सिंह खरत प्रो. मुकेश बघेल प्रो. प्रो केवल सिंह ठाकुर आदि आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: