विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 15 जनवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 15 जनवरी 2022

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 15 जनवरी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ओलावृष्टि क्षेत्रों का जायजा लिया

  • पीड़ित कृषकों से संवाद कर ढांढस बंधाया, शीघ्र राहत राशि मुहैया कराने के निर्देश

vidisha news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ओलावृष्टि से फसलों को हुए नुकसान की पूरी भरपाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि 50 फीसदी से अधिक के नुकसान पर किसानों को प्रति हेक्टेयर 30 हजार रुपये की क्षतिपूर्ति के साथ ही फसल बीमा कम्पनी से प्रारंभिक रूप से 25 प्रतिशत और शेष 75 प्रतिशत राशि क्लेम फाइनल होने पर दी जाएगी। उन्होंने प्रभावित किसानों के कर्ज को अल्पकालीन से मध्यमकालीन में परिवर्तित करने और एक वर्ष के ब्याज की राशि राज्यशासन द्वारा भरे जाने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को विदिशा जिले की लटेरी तहसील के ग्राम उनारसीकला एवं छोटी राघौगढ में ओलावृष्टि से धनिया, सरसो, चना, गेंहू फसलों को हुई क्षति का जायजा लेने के बाद किसानों को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्राम उनारसीकलां में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्वीकृत करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने धनिया, गेहूं, चना और सरसों के खेत मे जाकर ओला से फसलों को हुए नुकसान का जायजा लिया और किसानों को ढांढस बंधाया है। उन्होंने कहा कि किसान चिंता न करे साल हारा है जिंदगी नही हारने देंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कलेक्टर को निर्देश दिए कि पारदर्शी व्यवस्था अपनाई जाए और सर्वे सूची ग्राम में चस्पा करें और जिन किसानों को आपत्ति हो उनका पुनः सर्वे किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे मध्यप्रदेश में जहाँ भी क्षति हुई है वहाँ इसी पैमाने से सहायता राशि दी जाएगी । उन्होंने ईंट भट्ठा, घरों और मवेशी आदि की क्षति के लिए भी सहायता राशि नियमानुसार दिए जाने के निर्देश दिए है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किसानों को आश्वस्त किया कि वे घबराएं नहीं, सरकार पूरी तरह संवेदनशील है किसानो की मेहनत पर पानी नहीं फिरने देंगे। उन्हें आरबीसी के प्रावधानो के अलावा अन्य शासकीय योजनाओं का लाभ उन्हें दिया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने छोटी राघौगढ़ में बुर्जुग किसान श्रीमती फूलबाई के खेत भी पहुंचकर ओलावृष्टि से क्षति हुई चने की फसल का नुकसान देखा और उन्होंने लगभग 80 वर्षीय श्रीमती फूलबाई को गले से लगाकर उनके आंसू पोछे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कलेक्टर को निर्देश दिए कि श्रीमती फूलबाई को आज ही 50 हजार रुपये की सहायता दी जाए। उल्लेखनीय है कि उनारसी कलां और छोटी राघौगढ समेत लटेरी तहसील में लगभग 18 गांव में 1720 किसानों की करीब 2020 हेक्टेयर से अधिक चना, धनिया, सरसो और गेहूं की फसल को नुकसान हुआ है। राजस्व अमले ने सर्वे कार्य कर लटेरी तहसील के प्रभावित ग्रामो हेतु  पांच करोड़ 50 लाख की सहायता राशि पारित की है। ग्राम उनारसीकलां के एकीकृत शाला शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के समीप आयोजित कार्यक्रम को सिरोंज विधायक श्री उमाकांत शर्मा के अलावा अन्य जनप्रतिनिधियों ने सम्बोधित किया। इससे पहले कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले की लटेरी एवं सिरोंज तहसील के ग्रामो में हुए ओलावृष्टि से हुए नुकसान के संबंध में जानकारी दी है। इस अवसर पर बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, जिला क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्य डॉ राकेश जादौन के अलावा अन्य जनप्रतिनिधिगण, पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला समेत विभिन्न विभागो के अधिकारी एवं कृषकगण तथा ग्रामीणजन मौजूद रहें।


117 सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुए


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अखण्ड प्रताप सिंह ने बताया कि विदिशा जिले में शनिवार 15 जनवरी को 117 सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुए है जिसमें सर्वाधिक विदिशा विकासखण्ड में 78, बासौदा में 26, सिरोंज में 04, ग्यारसपुर में 04, नटेरन में 03, लटेरी में 01 तथा कुरवाई में 01 सेम्पल पॉजिटिव  प्राप्त हुआ है।

कोई टिप्पणी नहीं: