बिहार : कार्य निष्पादन नहीं होने पर आंदोलन की धमकी दिये - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 12 जनवरी 2022

बिहार : कार्य निष्पादन नहीं होने पर आंदोलन की धमकी दिये

patna-nagar-nigam
पटना. पटना नगर निगम के वार्ड नं.22 ए.के लोग परेशान हैं.वार्ड नं.22 ए.के वार्ड पार्षद है दिनेश कुमार.वार्ड पार्षद दिनेश कुमार और पाटलिपुत्र अंचल के अधिकारियों से लोग नाखुश हैं.उन लोगों के द्वारा जो काम वार्ड नं.22 ए.में शुरू करवाया जाता हैं उक्त काम को पूरा नहीं करवाया जाता है और न ही कोशिश की जाती है.यह हाल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सात निश्चय का धज्जियां उड़ाते देखा जा रहा है. मखदुमपुर दीघा की तटबंध संख्या-89 के सामने नाली और गली का पक्कीकरण करना था.नाली तो बना और गली पक्कीकरण नहीं हुआ.बालूपर मुसहरी को लालू नगर कहा जाता है.यहां शौचालय अधूरा छोड़ दिया गया.यहां के महादलित खुले मैदान में शौचक्रिया करने को बाध्य हैं.महादलित जर्जर भवन में रहने को बाध्य हैं. इस समय बांसकोठी जंगली पीर के लोग आंदोलन करने के मूड में आ गये हैं.बांसकोठी जंगलीपीर में सामाजिक कार्यकर्ता उमेश कुमार उर्फ उमेश कुमार चौधरी रहते हैं.उनका कहना है कि वर्ष 2016 में बोरिंग किया गया.इसके बाद पानी टंकी लगा दी गयी.2 साल पूर्व हर घर नल का जल पहुंचाने के लिए पाईप लाइन पिछाया गया.दुर्भाग्य से पाइप लाइन का संयोजन घर तक नहीं किया गया.घर तक पाइप तक संयोजन नहीं करने से महादलित करीब 500 मीटर पैदल जा कर  कमेटी हॉल के पास से बाल्टी में पानी भरकर लाते हैं.यहां काफी भीड़ हो जाती है. सामाजिक कार्यकर्ता उमेश कुमार उर्फ उमेश कुमार ने कहा कि पटना नगर निगम के वार्ड नं. 22A पाटलिपुत्र अंचल में आता है.उन्होंने कहा कि  बांसकोठी जंगलीपीर मोहल्ला में सभी जगहों में पाइप  बिछाया गया है. परन्तु घरों में कनेक्ट नहीं किया गया है.साल दर साल बीत रहा है ,पर अब तक कनेक्शन नहीं होने से यहां के गरीब जनता को पानी नहीं मिल रहा है.उन्होंने कहा कि ठेकेदार से लेकर अधिकारी तक पटना नगर निगम  के रुपयों का दुरुपयोग किया जाता हैं.यही कारण है कि हजारों घरों की संख्या होने के बाद भी नजर अंदाज किया जा रहा है.  बता दे कि हर घर नल का जल योजना बिहार का मकसद बिहार के सभी शहरी और ग्रामीण इलाकों में पाइपलाइन से साफ पानी पहुंचाना है. इस योजना के तहत सुबह, दोपहर और शाम दो-दो घंटे पेयजल की आपूर्ति की जाती है.नीतीश सरकार ने सितंबर 2016 में आधिकारिक तौर पर इस योजना की शुरुआत की थी. पटना नगर निगम के तीन नए वार्डों का गठन किया गया. प्रमंडलीय आयुक्त के अनुमोदन के बाद जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीएम द्वारा इसकी गजट अधिसूचना जारी कर दी गई थी. अब पटना नगर निगम में कुल 75 वार्ड हो गए हैं.नए वार्डों का गठन वार्ड संख्या 22- ए, 22-बी और 22-सी किया गया है. 22 -ए उत्तर में गंगा नदी, दक्षिण रेलवे लाइन अशोक राजपथ (कुर्जी बालू पर से कुर्जी पुल तक).पूरब में नाला कुर्जी बालू पर रोड (अशोक राजपथ से नाला तक) और पश्चिम में रेलवे लाइन.22- ए में कुल जनसंख्या 22421है. एससी 4079 और  एसटी 274 हैं.2011की जनगणना के अनुसार है. इस समय बांसकोठी जंगलीपीर मोहल्ला में सिवरेज का काम हो रहा है.इसके बाद सड़क निर्माण होगा.यहां के लोगों का कहना है कि हर घर नल का जल योजना का काम पूरा करने के बाद ही सड़क निर्माण हो गया.मगर पटना नगर निगम के पाटलिपुत्र अंचल के अधिकारी व पार्षद धृतराष्ट्र बन गये हैं.यहां के लोगों ने आंदोलन करने की धमकी दिये हैं.

कोई टिप्पणी नहीं: