कश्मीर प्रेस क्लब का पंजीकरण बहाल हो : पीसीआई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 16 जनवरी 2022

कश्मीर प्रेस क्लब का पंजीकरण बहाल हो : पीसीआई

pci-demand-press-club-kashmir
नयी दिल्ली, 16 जनवरी, प्रेस क्लब ऑफ इंडिया (पीसीआई) ने कश्मीर प्रेस क्लब में गुटीय विवाद पर रविवार को चिंता जताई। पीसीआई ने कश्मीर प्रेस क्लब का पंजीकरण बहाल करने और उसके पदाधिकारियों के चयन की प्रक्रिया को शांतिपूर्ण ढंग से शुरू कराने की भी अपील की। पीसीआई ने कहा, ‘‘भारी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती के बीच पत्रकारों के एक समूह के स्थानीय प्रशासन की मदद से कश्मीर प्रेस क्लब (केपीसी) का प्रबंधन अपने हाथों में लेने की खबरें बेहद दुखद एवं चिंताजनक हैं। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा को मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए।’’ पीसीआई ने केपीसी परिसर में पुलिस की तैनाती पर आपत्ति जताते हुए इसे ‘अवैध और निंदनीय’ करार दिया। जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा केपीसी का पंजीकरण स्थगित किए जाने के बाद शनिवार को कुछ पत्रकार पुलिसकर्मियों के साथ वहां पहुंचे थे। उन्होंने खुद के केपीसी का ‘नया प्रबंधन’ होने का दावा किया था। हालांकि, कश्मीर के नौ पत्रकार संगठनों ने इस दावे को खारिज किया था। उन्होंने अंतरिम प्रबंधन पर स्थानीय प्रशासन की मदद से केपीसी पर जबरन नियंत्रण हासिल करने का आरोप भी लगाया था। पीसीआई ने एक बयान जारी कर कहा, ‘‘प्रेस क्लब ऑफ इंडिया श्रीनगर स्थित कश्मीर प्रेस क्लब में हुई घटनाओं को लेकर चिंतित है, जहां पदाधिकारियों के चुनाव के लिए मतदान की लोकतांत्रिक प्रक्रिया को जानबूझकर बाधित करने का प्रयास किया गया है। पीसीआई जम्मू-कश्मीर प्रशासन से मांग करता है कि केपीसी का पंजीकरण बहाल करते हुए उसके पदाधिकारियों के चुनाव की प्रक्रिया को शांतिपूर्ण ढंग से कराने की अनुमति दी जाए।’’

कोई टिप्पणी नहीं: