सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 20 फ़रवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 20 फ़रवरी 2022

सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 20 फ़रवरी

बच्चों को वृद्धाश्रम में माता पिता को छोडऩे के महापाप से बचना होगा

  • जिन्होने जन्म दिया उन्हे घर में हीं देवी देवताओं की तरह पूजना होगा- साध्वी प्रतिमाजी
  • गणेश मंदिर रोड स्थित संत आशाराम बापू आश्रम में मनाया गया मातृ पितृ पूजन दिवस,

sehore-news-20-fabruary
सीहोर। युवापीढ़ी को माता पिता के महत्व को समझना होगा। जिन्होने जन्म दिया उन्हे घर में हीं देवी देवताओं की तरह पूजना होगा। बच्चों को वृद्धाश्रम में माता पिता को छोडऩे के महापाप से बचना होगा।  उक्त विचार रविवार को संत श्री आशाराम बापू के आश्रम में आयोजित मातृ पितृ पूजन दिवस कार्यक्रम में अहमदबाद आश्रम से पहुंची साध्वी प्रतिमाजी ने व्यक्त किए। विभिन्न कथा प्रसांगों के माध्यम से साध्वी ने कहा की यह मत सौचना की माता पिता के साथ किए जाने वाले बुरे व्यवहार को कोई देख नहीं रहा है भगवान सब देखते है और समय आने पर दंड भी देते है। माता पिता की सेवा से बढ़कर इस संसार में कोई दूसरी सेवा नहीं है। भगवान गणेश की मातृ पितृ भक्ति और श्रवण कुमार की सेवा से सभी परिचित है। मातृ पितृ पूजन दिवस हमें सेवा के साथ विदेशी झूठे भ्रमक त्योहारों से भी सचेत रहने की शिक्षा देता है। कार्यक्रम में पहुंचे श्रीमद भागवत कथा वाचक पंडित मोहितराम पाठक और पंडित देवेंद्र व्यास ने भी सैकड़ो श्रद्धालुओं साधक साधिकाओं को संबोधित करते हुए धर्म संस्कृति से जुडऩे और माता पिता की सेवा करने घर को हीं आश्रम बनाने सहित योग साधना करने धार्मिक कथाओं के श्रवण करने का संदेश दिया। तत्पश्चात सामुहिक रूप से मंत्रों के साथ साध्वी के सानिध्य में आश्रम पहुंचे बच्चों ने अपने माता पिता का विधिवत पूजन किया। भजन कीर्तन सत्संग के कार्यक्रम आयोजित किए गए। कार्यक्रम में संतोष यादव, प्रकाश प्रहलकर, केके विश्वकर्मा, रघुवीर सिंह परिहार, चंद्रसिंह ठाकुर, मुन्नालाल प्रजापति, महेश प्रजापति, अंकित भाठी, अभिषेक पांडे, पत्रकार पवन विश्वकर्मा, जितेंद्र नारोलिया, राकेश मेवाड़ा आदि का महत्वपूर्ण सहयोग रहा।


स्वच्छता सिपाईयों का नागरिकों ने किया पुष्पों से सम्मान


सीहोर। कचरा गाड़ी के माध्यम से रहवासी क्षेत्र में नियमित रूप से नागरिकों के हित में स्वच्छता का पुनित कार्य करने वाले नगर पालिका परिषद के सफाई दूत कचरा गाड़ी के ड्राइवर महेश गौर हेल्पर प्रदीप रघुवंशी का रविवार को वार्ड नम्बर 12 दुर्गा कॉलोनी के नागरिकों ने पुष्प मालाओं से स्वागत कर सम्मान किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से संतोष शाक्य, संतोष मेवाड़ा,सीताराम मेवाड़ा, विजय मीना, जितेंद्र सोनी विशाल राठौर,भेरू सिंह सेन आदि नागरिक गण शामिल रहे।


भव्य अलौकिक और दर्शनीय होगी भगवान भोले नाथ की बारात, देश भर के कलाकार आएंगे,युद्ध स्तर पर की जा रही समिति द्वारा तैयारीया                                


sehore news
सीहोर/ शिवरात्रि उत्सव से नगर में एक अलग ही आलौकिक माहौल रहता है इस दिन शिवालयों में पूजा अर्चना की जाती है वही नगर में एक भव्य चल समारोह महाशिवरात्रि उत्सव समिति सीहोर के तत्वाधान में निकाला जाता है। महाशिवरात्रि उत्सव समिति के संस्थापक लोकेश सोनी ने बताया  कि नगर के शिव बारात चल समारोह ने अपनी एक अलग प्रतिष्ठा स्थापित की है, हज़ारो की संख्या में शिव भक्त बाराती के रूप में शामिल होते है, इस वर्ष भी समिति द्वारा भगवान भोले नाथ की बारात तैयारी युद्व स्तर पर की जा रही है । भगवान भोले नाथ की बारात 1 मार्च को शाम 4:00 बजे श्री बटेश्वर महादेव इंदौर नाके से प्रारंभ होकर नगर के प्रमुख मार्गों से होते हुए श्री काशीपति विश्वनाथ मंदिर हनुमान फाटक कस्बे में भगवान शिव की पूजा अर्चना के साथ संपन्न होगी। भव्य शिवबारात चल समारोह के अध्यक्ष राजीव गुजराती ने बताया कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी एक भव्य चल समारोह धर्ममय माहौल में निकाला जाएगा। इस चल समारोह में कई अनूठे और दर्शनीय आयोजन किये जायेंगे  वही बाबा महाकाल की अलौकिक झाकिया निकाली जाएगी। शिव बारात चल समारोह में इस वर्ष भी इस वर्ष भी शिवरात्रि महोत्सव पर देश भर के कलाकार आयोजन की शोभा बढ़ाएंगे। कार्यक्रम में उज्जैन के श्री भस्म रंमैया भक्त मंडल, करनाल हरियाणा के गौरव महादेव एंड आर्ट ग्रुप, नागपुर महाराष्ट्र के  श्री शिव प्रताप ढोल ताशा व ध्वज परहक, मथुरा की रासलीला की प्रस्तुति दी जाएगी वही इंदौर के कलाकारों द्वारा बाबा महाकाल की झांकिया कार्यक्रम में सुंदरता अपने रंग बिखेरेंगी, स्थानीय कलाकारों द्वारा बनाई जा रही    भगवान भोलेनाथ के आदि योगी स्वरूप की भव्य प्रतिमा के साथ भक्तो को 12 ज्योतिर्लिंग के दर्शन होंगे वही दूसरी रास लीला शिव तांडव की प्रस्तुति दी जाएगी।  महाशिवरात्रि उत्सव समिति के प्रमुख संरक्षक सन्नी महाजन, सहित सेवा यादव, लोकेश सोनी, राजीव गुजराती, कमलेश अग्रवाल, दीपेंद्र कांसोटिया, राजू खत्री, सयोजक यश अग्रवाल, ऋषि सोलंकी,चल समरोह प्रभारी संदीप  कुशवाह , धीरू यादव , चल समारोह उपाध्यक्ष यश यादव, प्रणय शर्मा ने सभी धर्म प्रेमी बंधुओ माता बहनो से अधिक से अधिक संख्या में चल समारोह में शामिल होने की अपील की है ।इस बार भी कार्यक्रम में हज़ारो लीटर दूध के टेंकर से चल समरोह में बटेगा प्रसाद वही दूसरी ओर सभी भक्तों  के माथे पर चंदन के तिलक लगाएं जाएंगे। इस तरह एक भव्य कार्यक्रम सीहोर नगर में आयोजित किया जाना है। कार्यक्रम की तैयारियों में समिति के हेमंत वर्मा, सागर सोनी, अभिषेक त्यागी, पीयूष मालवीय, देवेंद्र ठाकुर, यश यादव, सर्वेश व्यास, मनीष मेवाड़ा, हरिओम सिसोदिया, अनुभव सेन, अनूप चौधरी, प्रमोद वर्मा, जागेंद्र खत्री,मुकेश वशिष्ठ, जयदीप नहलानी, दिनेश चावड़ा, सुनील भावसार , रवि खत्री, बल्ला खत्री, विक्की भासवार, गीताश भावसार, रोहित बाबा, देवेंद्र सेंगर, सुधीर सोनी, अनूप चौधरी, राजेश भावसार, दिनेश चावड़ा,  लव चावड़ा, राकेश राठौर, अशोक गौतम, सागर सोनी, शुर्यांश जादौन, विक्की विश्वकर्मा, तनीश त्यागी, अभिषेक लोधी,  सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता दिन रात कार्यक्रम को सफल बनाने की तैयारी कर रहे है।


भव्य रुद्राक्ष महोत्व के लिए हजारों की संख्या में महिलाओं ने ली जिम्मेदारी, शुभारंभ से समापन तक देंगी अपनी सेवाएं


sehore news
सीहोर। जिला मुख्यालय के समीपस्थ चितावलिया हेमा स्थित निर्माणाधीन मुरली मनोहर एवं कुबेरेश्वर महादेव मंदिर में भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा के सानिध्य में इस वर्ष भी सभी की सुख-समृद्धि की कामना और धर्म को जन-जन तक पहुंचाने के लिए सात दिवसीय भव्य रुद्राक्ष महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इस भव्य महोत्सव में जिम्मेदारी लेने के लिए स्वयं से प्रेरित होकर शहर सहित आस-पास के क्षेत्र की बड़ी संख्या में महिलाएं जिम्मेदारी लेने के लिए आगे आ रही है। शहर के बड़ा बाजार स्थित विठलेश सेवा समिति के तत्वाधान में इस साल भागवत भूषण पंडित श्री मिश्रा के सानिध्य में होने वाले भव्य आयोजन को लेकर तैयारियों का सिलसिला जारी है। धार्मिक कार्यक्रम में देश के अलावा विदेशों से लाखों की संख्या में श्रद्धालु शामिल होंगे। इसके लिए शहर के अनेक महिला मंडलों ने समिति की ओर से श्रीमती ज्योति अग्रवाल और श्रीमती भावना परिहार की उपस्थित में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की सेवा कार्य करने के साथ-साथ भोजन आदि अलग-अलग व्यवस्थाओं के लिए अपनी-अपनी टीम अपने-अपने नाम समिति को दिए है। समिति के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि इस तरह महोत्सव को सफल बनाने के लिए करीब चार हजार से अधिक महिलाओं ने अलग-अलग व्यवस्थाओं की कमान संभालने की जिम्मेदारी ली है। इसके इसके अलावा हजारों युवाओं ने कार्यक्रम को सफल बनाने के गत दिनों अपनी टीम के नाम समिति को सौंपे है। पांच दर्जन से अधिक टीमें यहां पर आने वाले श्रद्धालुओं और साधु-संतों के साथ तो कोई रसोई में कोई पेयजल तो कोई अन्य व्यवस्थाओं में सेवाएं देंगे।


पांच दर्जन टीम करेगी लाखों श्रद्धालुओं की व्यवस्था

लगातार दूसरे साल होने वाले महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर भव्य रुद्राक्ष महोत्सव एवं श्री शिव महापुराण कथा के आयोजन को लेकर पांच दर्जन से अधिक टीम में करीब पांच हजार से अधिक युवाओं के अलावा महिलाओं को जिम्मेदारी सौंपी जा रही है। क्षेत्रवासियों के अलावा बाहर से आने वाले भक्त भी यहां पर सेवा देने के लिए उत्साहित है। विठलेश सेवा समिति की ओर से रविवार को आयोजित महिला मंडलों की बैठक में शहर के सभी समाज की महिलाओं ने सामूहिक रूप से आगे बढ़कर जिम्मेदारी ली है। आयोजन आगामी 28 फरवरी से आयोजित किया जाएगा। इस मौके पर सुबह लाखों की संख्या में रुद्राक्ष का अभिषेक आदि धार्मिक कार्यक्रम सुबह सात बजे से नौ बजे तक किया जाएगा और उसके पश्चात दोपहर एक बजे से चार बजे तक श्री शिव महापुराण का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा महोत्सव में प्रतिदिन रात्रि को बाहर से आए कलाकारों के द्वारा भी फाग महोत्सव आदि का आयोजन किया जाएगा।


सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण में जिला प्रदेश में दूसरे स्थान पर 79.69 प्रतिशत शिकायतों का किया गया संतुष्टि पूर्वक निराकरण


sehore news
कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर के निर्देश पर सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण के लिए बीते कुछ दिनों से निरंतर कार्यशाला आयोजित की गई। इस कार्यशाला में सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को मार्गदर्शन एवं तकनीकी सहयोग प्रदान किया गया। जिसका नतीजा यह रहा कि सीहोर जिला 79.69 प्रतिशत शिकायतो का संतुष्टिपूर्ण निराकरण के साथ प्रदेश में दूसरे स्थान पर रहा। सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण के लिए राज्य स्तर पर की जाने वाली ग्रेडिंग में शिकायतों के समय सीमा में संतुष्टिपूर्ण निराकरण को सर्वाधिक वेटेज दिया जाता है। जिले में  4728 शिकायतें प्राप्त हुई थी। जबकि 80.07 प्रतिशत शिकायतों का संतुष्टि पूर्ण निराकरण कर छिन्दबाड़ा प्रथम स्थान पर रहा है। कलेक्टर श्री ठाकुर सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों का त्वरित और संतुष्टिपूर्ण निराकरण के लिए सभी अधिकारियों को लगातार प्रेरित करते रहे। कार्यशाला में सभी विभागों के अधिकारियों का मार्गदर्शन और तकनीकी सहयोग के साथ ही नियमित मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी डिप्टी कलेक्टर श्रीमती प्रगति वर्मा एवं सीएम हेल्पलाइन की नोडल अधिकारी श्रीमती ममता दुबे पाण्डे को दी गई थी। इन दोनों अधिकारियों ने सतत शिकायतों के निराकरण की मानिटरिंग की और निराकरण में कठिनाई आने पर संबंधित अधिकारियों को सहयोग किया।


ऐसे किया शिकायतों का संतुष्टिपूर्ण निराकरण

विगत कुछ दिनो से कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर के निर्देश पर कलेक्ट्रेट कार्यालय में सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण के लिए कार्यशाला आयोजित की गई। ताकि शिकायतों का त्वरित और संतुष्टि पूर्वक निराकरण किया जा सके। कार्यशाला आयोजित कर शिकायतों के निराकरण में आ रहे गतिरोध को दूर करने तथा संबंधित अधिकारियों को शिकायत के संतुष्टि पूर्वक निराकरण के लिए मार्गदर्शन दिया गया। तकनीकी सहयोग के लिए लोक सेवा प्रबंधन और एनआईसी के अधिकारियों को भी कार्यशाला में बैठाया गया। जिसके सार्थक परिणाम के रूप में जिला प्रदेश में दूसरे स्थान पर आ गया।


अधिकारियो ने भी गंभीरता से किए प्रयास

सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के संतुष्टिपूर्ण निराकरण के लिए विभागीय अधिकारियों द्वारा भी गंभीरता से प्रयास किए गए। शिकायतों से संबंधित अधिकारियों ने लगातार संपर्क कर हितग्राहियों की समस्या को जाना और उसका संतुष्टि पूर्वक निराकरण किया। अपने वरिष्ठ कार्यालयों से भी निराकरण के लिए प्रयास किए।


फील्ड पर जाकर शिकायतकर्ताओं  से मिले अधिकारी

सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों का  निराकरण करने के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियो ने फील्ड पर जाकर शिकायतकर्ताओं से भेंट की। उनकी समस्याएं सुनी और शिकायतों का निराकरण किया। अनेक शिकायतकर्ताओं ने प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा इस तरह फील्ड पर जाकर निराकरण करने की सराहना की।


जिले के ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाएं समाज में बना रही अपनी एक नई पहचान


sehore news
ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाएं खुद का व्यवसाय प्रारंभ कर न केवल परिवार को आगे बढ़ाने में मदद कर रही हैं, बल्कि वे आत्मनिर्भर भी हो रही हैं। स्व सहायता समूह और महिलाओं के  आर्थिक उत्थान के लिए काम करने वाली संस्थाओं के माध्यम से महिलाओं को आर्थिक मजबूती मिल रही है, जिससे वे समाज में अपनी एक नई पहचान बना रही है। जिले में कार्यरत स्वस्ति फाउंडेशन से जुड़कर महिलाएं अजीविका बढ़ाने के लिए छोटी-छोटी आर्थिक गतिविधियां संचालित कर रही हैं जिससे वे 9 से 10 हजार रूपये महीने कमा रही है। नसरुल्लागंज के ग्राम ढाबा में स्वस्ति संस्था द्वारा आयोजित स्वास्थ्य शिविर में कलेक्टर श्री चंद्रमोहन ठाकुर ने 6 गांव की 120 महिलाओं से विस्तारपूर्वक चर्चा की। कलेक्टर श्री ठाकुर ने 3 घंटे शिविर में उपस्थित रहकर महिलाओं के अनुभव सुने। कलेक्टर श्री ठाकुर ने महिलाओं द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि वर्तमान परिदृश्य में समाज और देश के विकास में महिलाएं महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं। हर क्षेत्र में महिलाएं अब तेजी से आगे बढ़ रही हैं।


स्वास्थ्य को लेकर जागरूक हैं महिलाएं

परिवार के स्वास्थ्य का ध्यान रखने में खुद के स्वास्थ्य की चिंता न करने वाली महिलाएं अब स्वास्थ्य को लेकर जागरूक हो रही है। शिविर में आई महिलाओं ने कलेक्टर श्री चंद्रमोहन ठाकुर को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देते हुए बताया कि नॉर्मल बीपी कितना होना चाहिए, शुगर कितना होना चाहिए, हीमोग्लोबिन कितना होना चाहिए, पल्स कितनी होना चाहिए, बच्चों और गर्भवती महिलाओं का पोषण आहार कैसे होना चाहिए। सामान्य बीमारियों से सावधानी रखकर बचाव के बारे में विस्तार से बताया। कलेक्टर श्री ठाकुर इन महिलाओं द्वारा दी जा रही जानकारी से अत्यंत प्रभावित हुए।


9 से 10 हजार रुपया महीना कमा रही है महिलाएं

संस्था की महिलाएं विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से 9 से 10 हजार रुपये महीना प्रतिमाह कमा रही हैं। इनमें श्रीमती कविता गौर दोना पत्तल का व्यवसाय, श्रीमती कविता मनिहारी का, कोसी किराने का, माया बाई बकरी पालन का, निरूफा बाई सिलाई का व्यवसाय कर रही है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने महिलाओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।  कलेक्टर श्री ठाकुर से प्रशस्ति पत्र मिलने के बाद अनेक महिलाओं ने कहा कि वे अत्यधिक उत्साहित हैं। शिविर में स्वस्ति संस्था की कम्युनिटी वैलनेस डायरेक्टर सुश्री संतोषी तिवारी, अनिरुद्ध वर्मा ,धर्मेंद्र सिंह, स्वस्तिका अखिलेश, नीलम साहू, सरोज अभिनव सहित अनेक महिलाएं उपस्थित थी।


36 हजार 176 किसानों ने कराया रबी उपार्जन के लिए पंजीयन


रबी विपणन वर्ष 2022-23 में समर्थन मूल्य पर गेहूँ की खरीदी के लिए किसानों को पंजीयन किया जा रहा है। जिला आपूर्ति अधिकारी श्री एस के तिवारी ने बताया कि 20 फरवरी को दोपहर 1.30 बजे तक कुल 36 हजार 176 किसानों का पंजीयन किया जा चुका है। पंजीयन केन्द्र द्वारा 32 हजार 683 पंजीयन, किसान एप से 259 पंजीयन, कॉमन सर्विस सेन्टर से 2269, पंजीयन लोक सेवा केन्द्र द्वारा 22 एवं एमपी ऑनलाइन कियोस्क द्वारा 659 किसानो का पंजीयन किया जा चुका है।


एक से पांच मार्च तक चलाया जाएगा पौधारोपण महाअभियान, कलेक्टर ने सभी संबंधित अधिकारियों को पूरी गंभीरता से अभियान संचालित करने  के दिए निर्देश


पौधारोपण को जन आन्दोलन बनाने के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के संकल्प को जन भागीदारी से एक महाअभियान का रूप दिया जा रहा है। इसी क्रम में राज्य शासन ने निर्णय लिया है कि नागरिकों समुदायों, शासकीय विभाग एवं स्वैच्छिक संगठनों के सहयोग से एक मार्च से 5 मार्च 2022 तक अधिक से अधिक संख्या में पौधारोपण का अभियान चलाया जाए। पाँच मार्च, 2022 को राज्य एवं जिला स्तरीय समारोह में पर्यावरण विभाग द्वारा संचालित अंकुर कार्यक्रम अन्तर्गत प्राणवायु अवार्ड प्रदान किये जाएंगे। कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने इस अभियान को पूरी गंभीरता से संचालित करने सभी संबंधित अधिकारियों को राज्य शासन द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के लिए कहा है। राज्य शासन के निर्देशानुसार अभियान के सफल संचालन के लिए जिला स्तरीय समिति का गठन जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में किया जाएगा, जिसमें सभी स्टेक होल्डर्स को सम्मिलित किया जाएगा। समिति एक से 5 मार्च, 2022 के पौधारोपण अभियान का सतत समन्वय, अनुश्रवण एवं मॉनिटरिंग करेगी तथा जनभागीदारी सुनिश्चित करेगी। इस अभियान के लिए कोई लक्ष्य निर्धारित कर आवंटित नहीं किया जा रहा है। समस्त शासकीय कार्यालयों के भवनों,सार्वजनिक उपक्रमों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों, निगम, मंडलों के कार्यालयों के प्रांगण में उपयुक्त स्थान पर पौधारोपण किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त स्कूल, कॉलेज, आंगनवाडी, छात्रावास, पंचायत आदि के परिसरों में भी पौधारोपण किया जा सकता है। उपलब्ध अन्य शासकीय एवं वन भूमियों पर भी पौधारोपण किया जा सकेगा। जिलों के अशासकीय संगठन, समुदाय आधारित संगठनों एवं निजी संगठनों को इस अभियान में जोड़ते हुए उनके परिसरों एवं अन्य योग्य स्थलों पर पौधारोपण का कार्य किया जा सकता है। जिलों के अशासकीय संगठन, समुदाय आधारित संगठनों एवं निजी संगठनों को इस अभियान में जोड़ते हुए उनके परिसरों एवं अन्य योग्य स्थलों पर पौधारोपण का कार्य किया जा सकता है। पौधों की व्यवस्था संबंधित व्यक्ति/संस्था के द्वारा स्वयं भी की जाएगी। वन/उद्यानिकी/कृषि विभाग की नर्सरी में उपलब्ध पौधों का उपयोग प्रचलित नियमानुसार किया जाएगा। रोपित पौधों की सुरक्षा, सिंचाई एवं देखभाल की जिम्मेदारी पौधारोपण करने वाले व्यक्ति, संगठन, शासकीय संस्था की होगी। इस अभियान से जुड़ने वाला प्रत्येक व्यक्ति किए गए पौधारोपण का विवरण फोटो सहित, की जानकारी अंकुर कार्यक्रम के "वायुद्रुत-अंकुर" ऐप पर अपलोड करेगा। साथ ही व्यक्ति MP-CMEVENTS पोर्टल https://webcast.gov.in/mp/cmevents पर तथा एक से 5 मार्च, 2022 के मध्य विशेष रूप से बनाई गई मिसकॉल सेवा नम्बर 0755-2706666 पर मिसकॉल देकर सूचना दे सकते है। सामूहिक रूप से किये गये पौधारोपण कार्यक्रमों में भाग लेने वाले सभी व्यक्तियों से मिस्ड काल देने की अपील की गई है। स्पष्ट है कि अगर कोई व्यक्ति अपने निजी आंगन में एक भी पौधा स्वप्रेरणा से लगाता है, तो वह यह जानकारी तीनों माध्यमों में से किसी एक माध्यम से दे सकेगा। 


पीएमएस डाटा अपलोड एवं अप्लाई करने के लिए अंतिम तिथि अब 28 फरवरी


प्रदेश के समस्त शासकीय, अशासकीय महाविद्यालय में अध्ययनरत अनुसूचित जनजाति वर्ग के छात्र, छात्राओं को अनुसूचित जनजाति पोस्टमैट्रिक छात्रवृत्ति पोर्टल हेतु वर्ष 2021-22 में एमपीटीएएसएस के पीएमएस मॉड्यूल अंतर्गत शैक्षणिक वर्ष 2021-22 पीएमएस डाटा अपलोड़ एवं एप्लाई करने की निर्धारित तिथि 31 जनवरी 2022 को बढ़ाकर अब 28 फरवरी 2022 (पीएमएस छात्रवृत्ति एवं आवास हेतु) तक निर्धारित की गई है। जानकारी के लिए आदिम जाति कल्याण विभाग में सम्पर्क किया जा सकता है।


जिले में 20 फरवरी को 30 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले


जिले में 20 फरवरी को प्राप्त रिपोर्ट में 30 व्यक्तियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव केस की संख्या 212 हो गई है।


मदरसों की मान्यता नवीनीकरण के ऑनलाइन आवेदन प्रारंभ


राज्य मदरसा बोर्ड द्वारा शिक्षण-सत्र 2022 23 के लिए मदरसों की मान्यता नवीनीकरण के आवेदन 21 मार्च 2022 तक किये जा सकते हैं। एमपी ऑनलाइन पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। आवेदन से संबंधित आवश्यक सर्कुलर और जानकारी मदरसा बोर्ड की वेबसाइट www.mpmb.org और एमपी ऑनलाइन के मदरसा बोर्ड पोर्टल पर उपलब्ध है। मदरसों को ऑनलाइन आवेदन करने के साथ आवेदन की एक प्रति सभी दस्तावेजों के साथ मदरसा बोर्ड और जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में जमा करना आवश्यक होगा।


अशासकीय विद्यालयों की नवीन मान्यता एवं  नवीनीकरण के लिये अंतिम तिथि आज


नि:शुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम-2009 के तहत कक्षा 8 तक के अशासकीय स्कूलों के लिए नवीन मान्यता और मान्यता नवीनीकरण की संशोधित समय सारणी जारी की गई है। इच्छुक अशासकीय विद्यालय मान्यता नवीनीकरण और नवीन मान्यता के आवेदन आरटीई एमपी ऐप के माध्यम से 21 फरवरी 2022 तक कर सकेंगे। इसके पूर्व 10 फरवरी 2022 आवेदन अंतिम तिथि निर्धारित की गई थी, जिसे विद्यालयों की सुविधा के लिए बढ़ाया गया है। बीआरसीसी प्राइवेट स्कूलों का 28 फरवरी तक भौतिक सत्यापन कर निरीक्षण प्रतिवेदन जिला शिक्षा अधिकारी को भेजेंगे। जिला शिक्षा अधिकारी 10 मार्च तक मान्यता आवेदन का निराकरण करेंगे। आवेदन निरस्तीकरण की अपील 45 कार्य दिवस के भीतर कलेक्टर के समक्ष की जा सकेगी।


औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान सीहोर एवं बुधनी में रोजगार मेला आज


कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर के निर्देश पर जिले के सभी विकासखण्डों में रोजगार एवं स्वरोजगार मेले आयोजित किए जा रहे हैं। जिले में 18 महाविद्यालयों, पॉलिटेक्निक एवं आईटीआई संस्थानो में रोजगार मेले आयोजित किए जा रहे है। इसी श्रृंखला में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान सीहोर एवं औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान बुदनी में 21 फरवरी को रोजगार मेला आयोजित किया जाएगा। साथ ही शासकीय महाविद्यालय जावर में 22 फरवरी को, शासकीय महाविद्यालय शाहगंज में 23 फरवरी को, पॉलिटेक्निक कॉलेज नसरुल्लागंज में 23 फरवरी को एवं शासकीय महाविद्यालय गोपालपुर में 24 फरवरी को रोजगार मेला आयोजित किया जाएगा।


राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान अब 27 फरवरी से


कोविड-19 की तीसरी लहर को देखते हुए 23 जनवरी 2022 को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान की तिथि में परिवर्तन किया गया था। यह अभियान अब 27 फरवरी 2022 से आयोजित होगा। अभियान के दौरान बच्चों को घर-घर जाकर पोलियो की दवा पिलाई जाती है।


किसानों को कृषि अधोसंरचनाओं के निर्माण के लिए दो करोड़ रूपये तक का ऋण


कृषि विकास और उत्पादन की गति को बढाने के उद्देश्य से कृषक, एफ.पी.ओ., स्व-सहायता समूह, पैक्स एवं कृषि अधोसंरचनाओं के निर्माण के लिए बैंकों से बिना किसी जमानत के दो करोड रूपये तक ऋण मुहैया कराया जायेगा। मात्र तीन प्रतिशत प्रतिवर्ष के ब्याज की छूट 7 वर्ष की अवधि के लिये किसानों को यह ऋण मिलेगा। कृषक एवं कृषि उद्यमी यह वित्तीय सहायता भंडार की सुविधा, प्राथमिक प्रक्रिया इकाई (चावल/दाल/आटा चक्की), कस्टम हायरिंग सेन्टर, जैविक इनपुट उत्पादन, कोल्ड स्टोरेज, वेयरहाउस, पैक हाउस, ग्रेडिंग, पैकेजिंग आदि कार्यो के लिए आवश्यकता अनुसार कृषि विभाग के माध्यम से डी.पी.आर. तैयार करा सकते हैं। यह डीपीआर व आवेदन बेवसाईट https://agriinfra.dac.gov.in पर ऑनलाइन भरा जा सकता है। इच्छुक किसानों, एफ.पी.ओ., स्व-सहायता समूह, पैक्स एवं कृषि उद्यमियों से इस योजना का अधिक से अधिक लाभ लेने की अपील की गई है।


डीएलएड एवं डीपीएसई पाठ्यक्रम के लिए 10 मार्च तक आवेदन आमंत्रित


डीएलएड एवं डीपीएसई (पीपीटीसी) पाठ्यक्रम संचालित करने वाले संस्थान सत्र 2022-23 हेतु नवीन संबद्धता एवं संबद्धता नवीनीकरण आवेदन 10 मार्च तक माध्यमिक शिक्षा मंडल कार्यालय में जमा कर सकते हैं। निर्धारित आवेदन मंडल की वेबसाइड पर उपलब्ध है। निर्धारित शुल्क सचिव, के नामें, माध्यमिक शिक्षा मंडल, मप्र भोपाल परिसर में स्थित यूको बैंक, शाखा हबीबगंज में चालान अथवा आरटीजीएस, एनईएफटी के माध्यम से (खाता क्रमांक 02830100006001 आईएफसी नंबर यूसीबीए 0000283) जमा कर सकते हैं। शुल्क सहित आवेदन की प्रति 10 मार्च तक मंडल कार्यालय में आवश्यक रूप से प्रस्तुत किया जाना सुनिश्चित करें। शुल्क मंडल खाते में स्थानांतरित नहीं होने की स्थिति में संपूर्ण जवाबदारी संस्था की होगी। साथ ही संस्था द्वारा संबद्धता नवीनीकरण हेतु प्रस्तुत आवेदन के संलग्न 100 रुपये के स्टाम्प पर नोटरी कराकर इस आशय का शपथ-पत्र प्रस्तुत करें कि संस्था एनसीटीई से सत्र 2022-2023 हेतु मान्यता प्राप्त है।


आयुष चिकित्सा का लाभ 'आयुष क्योर' एप पर


मध्यप्रदेश शासन आयुष विभाग ने कोरोना की तीसरी लहर की रोकथाम के लिए जन सामान्य को आयुष स्वास्थ्य सेवा घर पर ही सुलभ कराने के उद्देश्य से यह टेलीमेडिसिन एप लॉन्च किया है। इस  "आयुष क्योर" एप  का उपयोग रोगी तथा चिकित्सक दोनों कर सकेंगे।  इसके द्वारा रोगी सीधे वीडियो कॉल के माध्यम से चिकित्सक से परामर्श प्राप्त कर सकेंगे। "आयुष क्योर" एक एंड्रॉयड  आधारित  ऐप है। यह गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकेगा। रजिस्ट्रेशन के बाद आप अपनी पसंद की आयुष चिकित्सा पद्धति (आयुर्वेद, होम्योपैथी और यूनानी) के विशेषज्ञ चिकित्सक  से अपनी सुविधा अनुसार अपॉइंटमेंट बुक कर सकेंगे। चुने गए चिकित्सक द्वारा निर्धारित समय अनुसार ही ऐप के माध्यम से वीडियो कॉल कर चिकित्सा परामर्श दिया जाएगा। आयुष  चिकित्सा पद्धति को  घर-घर तक पहुंचाने के लिए एवं जो रोगी  चिकित्सालय में  पहुंच पाने में असमर्थ है, उनके लिए यह सुविधा अच्छी साबित होगी।


महिला उद्यमियों के व्यापार संवर्धन के प्रशिक्षण के लिए पंजीयन 25 तक


राष्ट्रीय महिला आयोग भारत सरकार नई दिल्ली के सहयोग से महिला उद्यमियों एवं व्यापार करने की इच्छुक महिलाओं को सशक्त बनाने और उन्हें बढ़ावा देने के लिए व्यापार के नए विचारों से नए कौशल तथा व्यापार संवर्धन के लिए भारतीय प्रबंधन संस्थान बेंगलुरू कर्नाटक द्वारा 06 सप्ताह का नि:शुल्क ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। संपूर्ण प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन हिंदी में किया जायेगा। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का संपूर्ण विवरण महिला सशक्तिकरण वेबसाइट https://innovateindia.mygov.in/ पर उपलब्ध है। इसी वेबसाइट के माध्यम से प्रशिक्षण कार्यक्रम हेतु ऑनलाइन पंजीयन किया जा सकता है। प्रशिक्षण में सम्मिलित होने हेतु अभ्यर्थी की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता कक्षा 10वीं तथा प्रशिक्षण के लिए अंतिम तिथि 28 फरवरी की गई है।


आयुष महाविद्यालयों में प्रवेश प्रक्रिया 25 से


आयुष महाविद्यालयों में ऑनलाइन काउंसलिंग की प्रक्रिया 24 फरवरी तक सीट आवंटन के साथ चलेगी। इसके बाद 25 फरवरी से विद्यार्थियों के प्रवेश की प्रक्रिया की जायेगी, जो एक मार्च तक चलेगी। आयुष संचालनालय ने ऑनलाइन काउंसलिंग की समय-सारणी जारी की है। ये काउंसलिंग बीएएमएस, बीएचएमएस और बीयूएमएस के लिये की जा रही है। ऑनलाइन काउंसलिंग कार्यक्रम में केन्द्रीय आयुष मंत्रालय, नई दिल्ली से अनुमति प्राप्त शासकीय, स्वशासी, निजी आयुष महाविद्यालयों को शामिल किया गया है। काउंसलिंग के संबंध में नियम और निर्देश विभागीय वेबसाइट www.ayush.mp.gov.in और एमपी ऑनलाइन पोर्टल www.mponline.gov.in पर देखे जा सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: