अरुणाचल में विकास की रफ्तार तेज : मोदी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 20 फ़रवरी 2022

अरुणाचल में विकास की रफ्तार तेज : मोदी

arunachal-developing-fast-modi
नयी दिल्ली, 20 फरवरी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को कहा कि सरकार ने अरुणाचल प्रदेश में विकास को गति देने के लिए ‘अभूतपूर्व काम’ किया है और राष्ट्रीय सुरक्षा परिदृश्य में प्रदेश की भूमिका को देखते हुए वहां पर आधुनिक अवसरंचना का निर्माण किया जा रहा है। अरुणाचल प्रदेश के 36वें स्थापना दिवस और राज्य को अरुणाचल प्रदेश का नाम दिए जाने के 50 साल पूरे होने के मौके पर अपने संदेश में प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका पक्का विश्वास है कि पूर्वी भारत खासकर पूर्वोत्तर 21वीं सदी में देश के विकास का इंजन बनेगा। उन्होंने कहा कि सरकार अरुणाचल को पूर्वी एशिया का एक प्रमुख ‘गेटवे’ बनाने में पूरी ताकत से जुटी है। मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए प्रदेश के लोगों को संबोधित करते हुए कहा, “मुझे इस बात का भी बहुत संतोष है कि हमारे युवा मुख्यमंत्री पेमा खांडू जी के नेतृत्व में जिस आकांक्षा के साथ आपने हम पर भरोसा जताया है, उस पर सरकार खरी उतर रही है।” उन्होंने कहा, “आपका विश्वास डबल इंजन की सरकार को और अधिक काम करने के लिए प्रोत्साहित करता है और अधिक प्रयास करने की शक्ति देता है।”


मोदी ने कहा कि ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास’ का ये मार्ग अरुणाचल प्रदेश के बेहतर भविष्य को सुनिश्चित करने वाला है। प्रधानमंत्री ने कहा, “इसी भावना के साथ अरुणाचल प्रदेश के विकास को गति देने के लिए बीते सात सालों में अभूतपूर्व काम किया गया है। संपर्क (कनेक्टिविटी) और बिजली से जुड़ी अवसंरचना पर व्यापक काम आज अरुणाचल में जीवन और व्यापार-कारोबार को आसान बना रहा है।“ उन्होंने कहा, “राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज़ से भी अरुणाचल की भूमिका को देखते हुए आधुनिक अवसंरचना का निर्माण किया जा रहा है।’’ अपने संबोधन में मोदी ने भारत रत्न डॉ भूपेन हज़ारिका के प्रसिद्ध गीत ‘अरुणाचल हमारा’ की पंक्तियों का भी जिक्र किया। प्रधानमंत्री ने राष्ट्रभक्ति और सामाजिक सद्भाव की भावना को बढ़ावा देने और देश की सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करने के लिए अरुणाचल प्रदेश की प्रशंसा की। उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के उन शहीदों को श्रद्धांजलि दी जिन्होंने देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर किए हैं। मोदी ने प्रदेश के अपने कई दौरों को याद किया और मुख्यमंत्री खांडू के नेतृत्व वाली डबल इंजन सरकार के तहत विकास की गति पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि अरुणाचल प्रगति, प्रकृति, पर्यावरण और संस्कृति का सामंजस्य बैठाकर लगातार आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘आप सभी के प्रयास से यह आज देश के सबसे प्रमुख जैव विविधता वाले क्षेत्रों में से एक है।” उन्होंने स्वास्थ्य, शिक्षा, कौशल विकास, महिला सशक्तिकरण और स्वयं सहायता समूहों के क्षेत्र में विकास के लिए मुख्यमंत्री के प्रयासों पर भी प्रसन्नता व्यक्त की। प्रधानमंत्री ने राज्य के विकास के लिए लगातार काम करने के लिए केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू की भी प्रशंसा की। उन्होंने वैश्विक स्तर पर अरुणाचल की पर्यटन क्षमता को साकार करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराई। उन्होंने ट्विटर पर भी अरुणाचल प्रदेश के लोगों को स्थापना दिवस पर बधाई दी। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘राज्य के लोग अपनी शानदार प्रतिभा और मेहनती स्वभाव के लिए पहचाने जाते हैं। ईश्वर करें कि राज्य आने वाले वक्त में विकास की नयी ऊंचाइयों को छूए।’’

कोई टिप्पणी नहीं: