बिहार : यूक्रेन से पटना आएं बिहारी छात्र - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 27 फ़रवरी 2022

बिहार : यूक्रेन से पटना आएं बिहारी छात्र

bihar-student-return-to-ukreain
पटना : रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध की शुरुआत के बाद भारतीय मूल के लोगों की चिंता बढ़ गई है। सभी यूक्रेन में फंसे अपने परिजन और बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। बिहार के अलग-अलग जिलों के कई बच्चे जो मेडिकल की पढ़ाई के लिए यूक्रेन गए थे, वो युद्ध के बीच वहां फंस गए हैं। इसी बीच अब यूक्रेन में फंसे बिहार के 7 बच्चे रविवार को पटना पहुंचे। दिल्ली से 8:50 पर आई फ्लाइट से 7 बच्चे पटना आए हैं। यूक्रेन से वापस अपने वतन लौटने पर इन बच्चों के चेहरे पर घर आने की ख़ुशी साफ़ देखी गई। वहीं, इन बच्चों के स्वागत के लिए बिहार के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद, उद्योग मंत्री शाहनवाज़ हुसैन, जल संसाधन मंत्री संजय झा भी पहुंचे थे। एयरपोर्ट परिसर में छात्रों को लाये जाने के दौरान डीएम और अन्य अधिकारी भी पहुंचे हैं। इसी कड़ी में यूक्रेन से वापस लौटे छात्रों ने बताया कि उन्हें वापस लौटने की बड़ी ख़ुशी है। इसके लिए वह भारत और बिहार सरकार का धन्यवाद करते हैं। उन्होंने बताया कि यूक्रेन के हालात अभी बहुत खराब हैं। बाजार बंद हो गये हैं। बमबारी हो रही है। अभी बहुत से छात्र वहां फंसे हुए हैं, उन्हें भी वापस लाया जाये तो ख़ुशी होगी। एक अन्य छात्रा ने बताया कि सरकार की मदद से अभी तक तो यूक्रेन से वापस आने में उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई है। वहीं, छात्रों के स्वागत के लिए पटना एयरपोर्ट पर पहुंचे डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि यह बहुत ख़ुशी की बात है कि हमारे बच्चे वहां फंसे हुए थे, वह सभी वापस आ रहे हैं। 273 बच्चे वहां से आने वाले हैं। सभी अलग अलग समूह में आ जायेंगे। इसके अलावा जल संसाधन मंत्री ने कहा कि हम बच्चों को रिसीव करने आये हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पूरी नज़र बनाये हुए हैं दिल्ली में बिहार भवन भी सक्रिय है किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी। इसके साथ ही उद्योग मंत्री शाहनवाज़ हुसैन ने कहा कि ये संकट की घड़ी है। केंद्र और बिहार सरकार बिहार के बच्चों के लिए चिंतित हैं। पीएम औए सीएम खुद मोनिटरिंग कर रहे हैं। यूक्रेन में फंसे बिहार के सतीश कुमार साहिल मधेपुरा, स्मृति पांडे मुजफ्फरपुर, अमित कुमार अरवल, प्रशांत कुमार भागलपुर, अनमोल मीरा सारण, दिव्या भारती नालंदा यह छात्र-छात्राएं हैं जो दिल्ली से पटना पहुंचे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: