कांग्रेस प्रत्याशी को सीधी टक्कर दे रहे हैं सावियो रोड्रिक्स - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 4 फ़रवरी 2022

कांग्रेस प्रत्याशी को सीधी टक्कर दे रहे हैं सावियो रोड्रिक्स

savio-rodrigs-in-velim-goa
वेलिम.भारतीय जनता पार्टी पहली बार गोवा की सभी 40 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. गोवा में बीजेपी ने " सबका साथ, सबका विकास,सबका विश्वास" का संकल्प पूरा करने में कामयाब है.उसने 40 में से 12 (30%) सीटों पर कैथोलिक समुदाय के उम्मीदवारों को उतारा हैं.यह संख्या साल 2012 में पार्टी द्वारा उतारे गए सभी कैथोलिक उम्मीदवारों की दोगुनी है. उन चुनावों में ये सभी 6 उम्मीदवार विजयी हुए थे. इसके अलावा पार्टी ने साल 2017 के विधानसभा चुनावों में 7 कैथोलिक उम्मीदवारों को टिकट दिया था, जिनमें से सातों ने जीत दर्ज की थी.इस बार 12 कैथोलिक समुदाय में वेलिम सीट पर सावियो रोड्रिक्स मैदान में हैं.यहां पर कांग्रेस प्रत्याशी से सीधी टक्कर है बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के राज्य में 3.5 लाख सदस्य हैं, जिनमें से 18 प्रतिशत कैथोलिक हैं. जबकि गोवा की आबादी में हिंदुओं की संख्या 66% से अधिक है. राज्य में लगभग 25%  ईसाई और 8% मुस्लिम हैं. 12 कैथोलिकों को टिकट दिए जाने को लेकर भाजता के प्रदेश अध्यक्ष सदानंद शेत तनावडे ने कहा कि भाजपा सांप्रदायिक पार्टी नहीं है. हम समाज के सभी वर्गों को प्रतिनिधित्व देना चाहते हैं और उसी के अनुसार हमने अल्पसंख्यक समुदाय के 12 सदस्यों को उम्मीदवार बनाया है. हालांकि भाजपा ने मुस्लिम समुदाय से कोई उम्मीदवार नहीं उतारा है.  बता दें कि इस बार गोवा में विधानसभा का चुनाव लड़ने के लिए 587 लोगों ने पर्चा भरा है.नामांकन की जांच 29 जनवरी को की जाएगी और नामाकंन वापस लेने की आखिरी तारीख 31 जनवरी है. साल 2017 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने सबसे ज्यादा सीटें जीती थीं, लेकिन भाजपा तमाम छोटे बड़े दलों के साथ गठबंधन कर सरकार बनाने में सफल रही. वहीं, इस बार का चुनाव किसी भी पार्टी के लिए आसान नहीं रहने वाला है क्योंकि इस बार के चुनावों में चार बड़ी पार्टियां आमने सामने होंगी. हालांकि मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच ही होने की उम्मीद है, लेकिन आम आदमी पार्टी और टीएमसी सरकार बनाने में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं. गोवा विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सत्ता का संग्राम आरम्भ हो चुका है. सभी दल जनता को लुभाने और सत्ता पर काबिज होने के लिए पूरी ताकत से अपने-अपने क्षेत्र में जुट गए हैं. हालांकि हर विधानसभा के अपने-अपने समीकरण हैं, जिस पर जनता अपना विधायक चुनती रही है. मौजूदा समय में साउथ गोवा जिले की वेलिम विधानसभा सीट पर कांग्रेस का कब्जा है. इस वेलिम सीट पर सबसे ज्यादा बार कांग्रेस का कब्जा रहा है. जबकि भाजपा अपना खाता तक नहीं खोल सकी है. इस सीट पर निर्दलीय प्रत्याशियों का भी बोलबाला रहा है. यह गोवा की महत्वपूर्ण विधानसभा सीट है. 2022 के विधानसबा चुनाव में यहां कांग्रेस को कड़ी टक्कर मिलेगी.


वेलिम विधानसभा सीट गोवा के 40 निर्वाचन क्षेत्रों में से एक है. यह साउथ गोवा जिले का एक हिस्सा है. इस सीट पर 1989 में कांग्रेस काबिज हुई थी. फर्टाडो फैरेल बेनिटो इस वेलिम सीट से जीते और विधायक बने थे. उन्होंने जनता दल के उम्मीदवार रोड्रिग्स गेब्रियल मिंगुएल को 6706 वोटों के बड़े अंतर से हराया था. 1994 में इस सीट से निर्दलीय उम्मीदवार फर्नांडीस मनु जीते और विधायक बने. उन्होंने कांग्रेस के उम्मीदवार ग्रेसियस फैरेल एल्विस को 2477 वोट के अंतर से मात दी थी. 1999 में कांग्रेस के फिल्पे नेरी रोड्रिग्स इस वेलिम सीट से विधायक बने. उन्होंने गोवा राजीव कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार फर्नांडीस मनु जोस को 5272 वोट से हराकर जीत हासिल की. 2002 में इस वेलिम सीट से निर्दलीय उम्मीदवार रोड्रिग्स फिलिप नेरी ने जीत दर्ज की. उन्होंने कांग्रेस के उम्मीदवार डिसिल्वा मार्कस सेबेस्टियानो को 5516 वोट के अंतर से पराजित किया. 2007 में कांग्रेस के उम्मीदवार रोड्रिग्स फिलिप नेरी इस वेलिम सीट से दोबारा विधायक बने. उन्होंने गोवा फ्रंट की उम्मीदवार सिल्वा बेंजामिन 2754 वोट से परास्त किया. 2012 में वेलिम विधानसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार बेंजामिन सिल्वा जीते और विधायक बने. उन्हें कुल 13164 वोट मिले थे. वहीं कांग्रेस के उम्मीदवार फिलिप नेरी रॉड्रिक्स 8238 वोट के साथ दूसरे स्थान पर रहे. वह 4926 वोट से चुनाव हार गए. 2017 में वेलिम विधानसभा क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या 31178 थी. इसमें वैध मतों की कुल संख्या 23527 थी. इस चुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवार फिलिप नेरी रोड्रिग्स इस सीट से जीते और चौथी बार विधायक बने. उन्हें कुल 10417 वोट मिले थे. वहीं निर्दलीय उम्मीदवार बेंजामिन सिल्वा कुल 5164 वोट पाकर दूसरे स्थान पर सिमट गए. वह 5253 वोट से चुनाव हार गए थे. इस बार कांग्रेसी गढ़ को तोड़ने को अमादा हैं वेलिम सीट के बीजेपी प्रत्याशी सावियो  रोड्रिक्स  . इस प्रत्याशी ने ट्रांसफॉर्मिंग वेलिम का नारा दिया है.उनका कहना है कि चुनाव जीतना वेलिम के लोगों का विश्वास जीतने का नतीजा है. अभी काफी संख्या में लोग मुझ पर भरोसा करते हैं. मैं विश्वास हासिल करने के लिए पैसे का उपयोग करने से इनकार करता हूं क्योंकि यह विश्वास नहीं बल्कि पैसे की वासना होगी. इस बीच बिहार से बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के उपाध्यक्ष राजन क्लेमेंट साह साउथ गोवा में डेरा डाल दिये हैं.वहां से हिंदी भाषी लोगों के बीच में जनसम्पर्क चला रहे हैं.

कोई टिप्पणी नहीं: